backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Naproxen : नेप्रोक्सेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Mayank Khandelwal


Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/07/2020

Naproxen : नेप्रोक्सेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

नेप्रोक्सेन (Naproxen) किसलिए प्रयोग की जाती है?

नेप्रोक्सेन का उपयोग सिरदर्द, मांसपेशियों के दर्द, टेंडोनाइटिस, दांत-दर्द और पीरियड्स में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए किया जाता है। यह दवा गठिया, बर्साइटिस औरगाउट के कारण होने वाले दर्द, सूजन और जोड़ों की अकड़न को भी कम करती है। इस दवा को नॉन स्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लमेटरी ड्रग (NSAID) के रूप में जाना जाता है। नेप्रोक्सेन (Naproxen) शरीर के कुछ प्राकृतिक पदार्थों (जो सूजन का कारण बनते हैं) के उत्पादन को रोककर बीमारी पर काम करती है ।

नेप्रोक्सेन (Naproxen) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

जब तक डॉक्टर आपको कोई और निर्देश ना दें, तब तक इस दवा को एक पूरे गिलास पानी (आठ औंस/240 मिलीलीटर) के साथ लें। ध्यान रहे कि दवा लेने के 10 मिनट तक लेटे नहीं। पेट की गड़बड़ी को रोकने के लिए, इस दवा को खाने, दूध या एंटासिड (antacid) के साथ लें।

इसकी खुराक की मात्रा डॉक्टर रोगी की चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर निर्धारित करते हैं। पेट की ब्लीडिंग या अन्य साइड इफेक्ट्स के जोखिम को कम करने के लिए, नेप्रोक्सेन का सबसे कम प्रभावी डोज कम समय के लिए डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। दवा का डोज ना बढ़ाएं और ना ही निर्धारित समय से अधिक बार लें क्योंकि इससे गंभीर दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है। गठिया जैसी स्थिति के लिए, हमेशा अपने डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार ही दवा लेना जारी रखें।

कुछ स्वास्थ्य स्थितियों (जैसे गठिया) में दवा के लाभ के लिए दो सप्ताह तक का समय लग सकता है।

यदि आप इस दवा को “आवश्यकतानुसार’ (नियमित समय पर नहीं) ले रहे हैं, तो याद रखें कि दर्द में राहत दिलाने वाली दवाएं तब प्रभावी रूप से काम करती हैं जब वे दर्द के शुरुआती लक्षणों में ही उपयोग की जाती हैं। यदि आप दर्द बढ़ने का इंतजार करते हैं, तो हो सकता है दवा भी काम न करे।

अगर दवा लेने के बावजूद भी आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है या स्थिति बदतर हो रही हो, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ेंः घर पर ब्लड प्रेशर चेक करने के तरीके

मैं नेप्रोक्सेन (Naproxen) को कैसे स्टोर करूं?

मार्केट में नेप्रोक्सेन के अलग-अलग ब्रांड हैं, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। नेप्रोक्सेन को हमेशा रूम टेम्प्रेचर पर ही स्टोर करें। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में न रखें। नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल करने से पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ना चाहिए। अगर फिर भी कोई समस्या आती है तो अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। अगर यह एक्सपायर हो चुकी है, तो इसका इस्तेमाल न करें। नेप्रोक्सेन को बाथरूम या ठंडी जगह में भी नहीं रखना चाहिए। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे ना ही टॉयलेट में फ्लश करें और ना ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

और पढ़ेंः Ivabrad 5 mg : आइवाब्राड 5 एमजी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

इस्तेमाल

नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

नेप्रोक्सेन (Naproxen) लेने से पहले,

  • डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं कि आपको नेप्रोक्सेन, एस्पिरिन या अन्य NSAIDs जैसे इबूप्रोफेन (Advil, Motrin) और केटप्रोफेन (Orudis KT, Actron), दर्द या बुखार की कोई दवा या अन्य किसी भी तरह की दवाओं से एलर्जी है।
  • अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं कि आप कौन से नुस्खे, गैर-पर्चे वाली दवाएं, विटामिन, न्यूट्रिशनल सप्लिमेंट्स (nutritional supplements) और हर्बल उत्पाद ले रहे हैं या भविष्य में लेने की सोच रहे हैं। निम्नलिखित दवाओं के बारे में भी डॉक्टर को बताएं: एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम (एसीई) इन्हिबिटर्स जैसे-बेनाजिपिल (Lotensin), कैप्टोप्रिल (Lotensin), एनालाप्रिल (Vasotec), फेनिनोप्रिल (Monopril), लिसिनोप्रिल (Prinivil, Zestril), मोइक्सिप्रिल (Univasc), पेरिनडोप्रील (Aceon), किनप्रैल (Accupril), रैमीप्रील (Altace) और ट्रांडोलप्रिल (Mavik); एंजियोटेंसिन II रिसेप्टर ऐन्टैगॅनिस्ट (एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर्स; एआरबी) जैसे कैंडेसेर्टन (Atacand), एप्रोसेरटन (Teveten), इर्बेसारटन (Avapro, in Avalide), लोजार्टन (Cozaar, in Hyzaar), ओल्मेसार्टन (Benicar), टेल्मीसार्टन (Micardis), वाल्सर्टन (Diovan); बीटा ब्लॉकर्स जैसे एटेनोलोल (Tenormin), लेबेटालोल (Normodyne), मेटोप्रोलोल (Lopressor, Toprol XL), नडोलोल (Corgard) और प्रोप्रानोलोल (Inderal); कोलेस्टिरमाइन (Questran); मूत्रवर्धक (वाटर पिल्स); लिथियम (Eskalith, Lithobid), मधुमेह के लिए दवाएं; मेथोट्रेक्सेट (Rheumatrex); प्रोबेनेसिड (Benemid); सेलेक्टिव सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर्स जैसे-सीतालोप्राम (Celexa), एस्सिटालोप्राम (Lexapro), फ्लुओक्सेटीन (Prozac), फ्लुवोक्सामाइन (Luvox), पेरोटीन (Paxil), और सेराट्रलाइन (Zoloft); सल्फा मेडिसिन जैसे-सल्फामेथोक्साजोल (in Septra, Bactrim); और वारफेरिन (कौमडिन)। यदि आप डिलेड रिलीज टेबलेट या एंटासिड या सुक्रालफेट (Carafate) का उपयोग कर रहे हैं, तो अपने डॉक्टर को बताएं। आपके डॉक्टर को दवा की खुराक बदलने या साइड इफेक्ट के लिए अधिक सावधानी से निगरानी करने की आवश्यकता हो सकती है
  • जब तक कि डॉक्टर सलाह न दें तब तक दर्द के लिए अन्य दवा को नॉनप्रिस्क्रिप्शन वाली नेप्रोक्सेन के साथ न लें।
  • डॉक्टर को बताएं अगर आपको कम सोडियम वाली डायट लेने को कहा गया है और यदि आपको कभी अस्थमा रहा है। खासकर अगर नाक हमेशा भरी हुई या बहती रहती हो, नेजल पॉलीप्स (नाक के अंदर की सूजन) हो, हाथ, पैर, टखनों या तलवों में सूजन; एनीमिया (लाल रक्त कोशिकाएं शरीर के सभी हिस्सों में पर्याप्त ऑक्सिजन नहीं पहुंचा पा रही हो); या किडनी/लिवर की बीमारी।
  • यदि आप गर्भवती हैं, खासकर यदि आप अपनी गर्भावस्था के आखिरी महीनों में हैं या बेबी प्लान कर रही हैं, या आप स्तनपान करवा रही हैं, तो डॉक्टर को जरूर बताएं। यदि आप नेप्रोक्सेन लेने के दौरान प्रेग्नेंट हो जाती हैं, तो अपने डॉक्टर को बताएं।
  • यदि आप 65 वर्ष या उससे अधिक उम्र के हैं तो नेप्रोक्सेन के साइडइफेक्ट्स और लाभों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें। अधिक उम्र के वयस्कों को आमतौर पर कम समय के लिए नेप्रोक्सन की कम खुराक ही लेनी चाहिए क्योंकि हो सकता है नियमित रूप से उपयोग की जाने वाली उच्च खुराक अधिक प्रभावी न हो और गंभीर दुष्प्रभाव की संभावना बन जाए।
  • यदि आप सर्जरी करवा रहे हैं, जिसमें डेंटल सर्जरी भी शामिल है, तो डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं कि आप नेप्रोक्सेन (Naproxen) ले रहे हैं।
  • आपको पता होना चाहिए कि नेप्रोक्सेन से आपको चक्कर आ सकते हैं, सुस्ती या मन भी उदास हो सकता है। इसलिए दवा लेने के बाद कार चलाना या किसी तरह का मशीनरी कार्य अवॉयड करें।
  • ट्रीटमेंट के दौरान शराब का उपयोग न करें क्योंकि इससे आप ज्यादा सुस्त हो सकते हैं।

और पढ़ें- किडनी डैमेज होने के कारण और 8 संकेत

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान नेप्रोक्सेन (Naproxen) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या स्तनपान के दौरान नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में नेप्रोक्सेन के इस्तेमाल से पहले हमेशा इसके फायदे और नुकसान के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें- नवजात शिशु को ब्रेस्ट मिल्क फिडिंग कराने के टिप्स

[mc4wp_form id=’183492″]

साइड इफेक्ट्स

नेप्रोक्सेन (Naproxen) के साइड-इफेक्ट्स क्या हैं?

पित्ती, सांस लेने मे तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले की सूजन जैसे कोई भी लक्षण दिखें, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

नेप्रोक्सेन का उपयोग तुरंत बंद कर देना चाहिए और डॉक्टर से परामर्श करें, यदि ये लक्षण दिखें। जैसे-

  • सीने में दर्द, कमजोरी, सांस लेने में तकलीफ, बोलने में तकलीफ या धीमा बोलना, दिखने में समस्या आना या बैलेंस बनाने में दिक्कत आना
  • काला स्टूल या स्टूल में ब्लड आना
  • उल्टी या मुंह से खून आना जो कॉफी के दानों की तरह दिखता है
  • सूजनया तेजी से वजन बढ़ना, बहुत कम या यूरिन पास न होना
  • मतली, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द, खुजली, भूख में कमी, यूरिन का रंग गहरा होना, मिट्टी के रंग जैसा स्टूल पास होना, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना)
  • चोट, गंभीर झुनझुनी, सुन्नता, दर्द, मांसपेशियों की कमजोरी,
  • बुखार, सिरदर्द, गर्दन में जकड़न, ठंड लगना, रोशनी के प्रति ज्यादा संवेदनशील होना, त्वचा पर बैंगनी धब्बे, दौरे (ऐंठन)
  • गंभीर स्किन रिएक्शन-बुखार, गले में खराश, चेहरे या जीभ में सूजन, आंखों में जलन, त्वचा में दर्द, इसके बाद लाल या बैंगनी रंग के चकत्ते पड़ जाते हैं जो (विशेषकर चेहरे या ऊपरी शरीर में) फैल जाते हैं और छाले का कारण बनते हैं।

नेप्रोक्सेन के सामान्य दुष्प्रभाव हो सकते हैं:

  • खराब पेट, हल्का पेट-दर्द या सीने में जलन, दस्त, कब्ज
  • सूजन, गैस
  • चक्कर आना, सिरदर्द, घबराहट
  • त्वचा की खुजली या दाने
  • धुंधला दिखना या ऐसा महसूस होना कि आपके कान बज रहे हों

हालांकि, दवा का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों में ये लक्षण नजर आए ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्ट को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें:  Cinnarizine : सिनेरीजीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इंटरैक्शन

कौन-सी दवाएं नेप्रोक्सेन (Naproxen) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

नेप्रोक्सेन के साथ अगर किसी तरह की अन्य दवा का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उससे होने वाली परेशानियों के बारे में पहले अपने डॉक्टर से बात करें। डॉक्टर की सलाह के बिना इसका सेवन न करें और न ही इसकी खुराक को किसी दूसरी दवा के साथ बदलें। किसी भी तरह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आपको उन सभी दवाओं की एक लिस्ट रखनी चाहिए जिनका आप उपयोग कर रहे हैं (जिसमें डॉक्टर के पर्चे वाली दवाएं, गैर-पर्चे वाली दवाएं और हर्बल प्रोडक्ट्स शामिल हैं) और इसे अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को दिखाएं। अपनी सुरक्षा के लिए, डॉक्टर की स्वीकृति के बिना किसी-भी दवा की खुराक को शुरू ना करें, ना ही दवा लेना बंद करें और ना ही खुराक को बदलें।

नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से पूछें। अगर आप एंटी-डिप्रेसेंट लेते हैं जैसे-सीटालोप्राम (citalopram), एस्सिटालोप्राम (escitalopram), फ्लुओक्सेटीन (Prozac), फ्लुवोक्सामाइन (fluvoxamine), पैरॉक्सैटिन (paroxetine), सेराट्रलाइन (Zoloft), ट्रैजोडोन (trazodone) या विलाजोडोन (vilazodone) लेते हैं। इनमें से कोई भी दवा NSAID के साथ लेने से आपको चोट लग सकती है या ब्लीडिंग हो सकती है।

यदि आप निम्नलिखित में से किसी भी दवा का उपयोग कर रहे हैं, तो नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें-

  • ब्लड थिनर (warfarin, Coumadin),
  • लिथियम,
  • मिथोट्रेक्सेट (methotrexate),
  • मूत्रवर्धक दवाएं (वाटर पिल्स)
  • स्टेरॉयड (प्रेडनिसोन और अन्य),
  • एस्पिरिन या अन्य NSAIDs – इबुप्रोफेन (एडविल, मोट्रिन), सेलेकॉक्सिब (celecoxib), डाइक्लोफेनाक (diclofenac), इंडोमेथासिन (indomethacin), मेलोक्सिकैम (meloxicam) या अन्य,
  • हृदय या रक्तचाप की दवा – बेनाजिप्रिल, कैंडेसेर्टन (candesartan), एनालाप्रिल (enalapril), लिसिनोप्रिल (lisinopril), लोसार्टन (losartan), ओल्मार्ट्सन (olmesartan), क्विनप्रिल (quinapril), रामिप्रिल (ramipril), टेलिमिसर्टन (telmisartan), वाल्सार्टन (valsartan) और अन्य।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी विशेष डायट या एल्कोहॉल के साथ नेप्रोक्सेन का सेवन कर रहें हैं तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं। कुछ मामलों में इसके परिणाम खतरनाक साबित हो सकते हैं।

और पढ़ेंः ड्रग एब्यूज डिसऑर्डर जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

नेप्रोक्सेन (Naproxen) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

नेप्रोक्सेन, आपकी स्वास्थ्य स्थिति को खराब कर सकती है या दवा के काम करने के तरीके को बदल सकती है। इस दवा के उपयोग से पहले अपने चिकित्सक और फार्मासिस्ट को वर्तमान की सभी स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बताएं, विशेष रूप से अगर आपको इनमें से कोई भी समस्या है:

  • एनीमिया या
  • ब्लीडिंग की समस्या
  • रक्त के थक्के जमना या
  • एडिमा(वॉटर रिटेंशन या शरीर में सूजन) या
  • दिल का दौरा या हृदय रोग (जैसे हार्ट फेलियर) या
  • उच्च रक्तचाप (हाई बीपी) या
  • किडनी की बीमारी या
  • लिवर की बीमारी (जैसे, हेपेटाइटिस) या
  • पेट या आंतों का अल्सर या रक्तस्राव
  • स्ट्रोक
  • एस्पिरिन के प्रति संवेदनशीलता
  • हार्ट सर्जरी (जैसे-कोरोनरी आर्टरी बायपास ग्राफ्ट [CABG]) – सर्जरी से ठीक पहले या बाद में दर्द से राहत पाने के लिए नेप्रोक्सेन का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Mayank Khandelwal


Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/07/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement