backup og meta

Circumcision For Children: सरकमसीजन सर्जरी (चाइल्ड) क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/05/2020

Circumcision For Children: सरकमसीजन सर्जरी (चाइल्ड) क्या है?

क्या होता है बच्चों में सरकमसीजन सर्जरी?

सरकमसीजन सर्जरी में पेनिस के ऊपरी सिरे फोरस्किन कहते हैं उसके ऊपरी भाग के छोटे से हिस्से को काटा जाता है। कुछ खास देशों में लड़के के जन्म के बाद ही इसे काट दिया जाता है। बच्चे (लड़के) के बड़े होने के बाद भी सर्जरी की जा सकती है। लेकिन, तब परेशानी ज्यादा होती है।

कुछ खास समुदाए के लोगों में सरकमसीजन (पेनिस के ऊपरी सिरे को काटना) अनिवार्य होता है। भारत समेत कई में इसे खतना भी कहा जाता है। इसके अलावा लड़के सेक्शुअल ऑर्गन की ठीक तरह से सफाई कर सकते हैं साथ ही इससे एसटीडी (STDs) का खतरा भी कम हो सकता है।

बच्चों में सरकमसीजन सर्जरी (Circumcision For Children) क्यों की जाती है?

निम्नलिखित कारणों की वजह से सरकमसीजन सर्जरी की जाती है:

  • मेडिकल कारण: फाइमोसिस (PHIMOSIS) पैराफाइमोसिस (फोर्स्किन को वापस लेने में असमर्थता), बैलेनोपोसथाइटिस  और बैलेनाइटिस जेरोटिका ओबेरिटान्स (लिंग की त्वचा का स्क्लेरोजिंग) और संक्रमण बार-बार होता है।
  • फाइमोसिस: फाइमोसिस में पेनिस की सबसे ऊपरी स्किन जिसे फोरस्किन कहते हैं वो टाइट हो जाती है। टाइट होने की

    वजह से स्किन पीछे की ओर नहीं जा पाती है।

  • पैराफाइमोसिस- फोरस्किन पीछे जाने के बाद वापस पेनिस के टिप पर नहीं पहुंच पाती है।
  • बैलेनोपोसथाइटिस : पेनिस और फोरस्किन में सूजन की समस्या शुरू हो जाती है।
  • धार्मिक कारण: भारत समेत अफ्रीकी देशों में कुछ खास समुदाए के लोगों में सरकमसीजन सर्जरी करवाना अनिवार्य होता है।

कुछ देशों में सरकमसीजन सर्जरी (खतना) क्यों करवाना अनिवार्य है:

19वीं सदी में मेडिकल एक्सपर्ट सरकमसीजन सर्जरी को अच्छी सेहत से जोड़ कर देखते थें। धर्म के आधार से हटकर इंग्लैंड में सरकमसीजन सर्जरी करवाना बेहतर माना जाने लगा। हालांकि, सरकमसीजन सर्जरी धीरे-धीरे कम हो गया है। क्योंकि चिकित्सा समुदाय के कई सदस्यों का तर्क था कि अधिकांश मामलों में इसका कोई वास्तविक स्वास्थ्य चिकित्सा लाभ नहीं होता था।

इस उपचार के कुछ विकल्पों के बारे में जानना चाहिए:

  • बैलेनाइटिस जेरोटिका ओब्लेट्रान्स सरकमसीजन सर्जरी का सबसे अच्छा और सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है।
  • डॉक्टर से सलाह लेकर निर्णय लिया जा सकता है।

खतरों को समझो

बच्चों में किन कारणों से सरकमसीजन का खतरा बढ़ सकता है?

ऐसे कई कारण हैं जिसकी वजह से सरकमसीजन का खतरा बढ़ सकता है, जो इस प्रकार हैं :

  • रुटीन सरकमसीजन से फायदा भी मिल सकता है, जैसे कि कुछ प्रकार के बैक्टीरिया या वायरल संक्रमणों के खतरों को कम करता है।हालांकि, अधिकांश हेल्थ एक्सपर्ट अब इस बात से सहमत हैं कि सरकमसीजन सर्जरी से इंफेक्शन, ब्लीडिंग या कोई और स्वास्थ लाभ हो सकता है।
  • सरकमसीजन की सामान्य समस्या में ब्लीडिंग और इंफेक्शन हो सकता है।

[mc4wp_form id=’183492″]

सरकमसीजन सर्जरी की वजह से त्वचा संबंधी परेशानी हो सकती है। इन परेशानियों में शामिल हैं :

  • स्किन को कम या ज्यादा काटा जा सकता है।
  • स्किन कभी-कभी ठीक नहीं हो सकती है।
  • परेशानी होने पर सरकमसीजन की माइनर सर्जरी भी की जा सकती है।

परेशानी को समझना जरूरी है या अगर आप कुछ समझना चाहते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें – Abscess Surgery : फोड़ा या एबसेस सर्जरी क्या है?

जानिए क्या होता है ?

बच्चों को सरकमसीजन सर्जरी (Circumcision Surgery) के लिए कैसे समझें?

सर्जरी के पहले डॉक्टर आपको पूरी प्रक्रिया समझाएंगे और सर्जरी से होने वाले लाभ भी आपको बताएंगे। अगर आप अपने बेटे का सरकमसीजन सर्जरी करवाते हैं, तो आपको अस्पताल के ओर से एक पेपर दी जाएगी, जिसपर आपको हस्ताक्षर करना होगा (यह प्रक्रिया किसी भी सर्जरी के पहले होती है)। आपको अपने डॉक्टर को यह बताना जरूरी है की बच्चे को किन-किन चीजों से एलर्जी है और कोई बीमारी है या नहीं। डॉक्टर के बताए गए निर्देश का पालन अवश्य करें।

आइए अब जानते हैं कि इस सर्जरी के दौरान क्या होता है।

बच्चों में सरकमसीजन सर्जरी (Circumcision Surgery) के दौरान क्या होता है?

सर्जरी के पहले बच्चे को एनेस्थेसिया दी जाती है और फिर सर्जरी की जाती है। अगर आपके मन में कोई सवाल है, तो डॉक्टर से समझ सकते हैं। आपको इसके पूरी डीटेल आपके डॉक्टर दे देंगे और सर्जरी की पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताएंगे।

आइए अब जानते हैं कि कैसे इस सर्जरी के बाद रिकवरी होती है।

रिकवरी

सरकमसीजन सर्जरी (Circumcision Surgery) के बाद बच्चों में क्या होता है?

सर्जरी के बाद बच्चे को ठीक होने में कम से कम 10 दिनों का वक्त लग सकता है। शुरुआत में पेनिस के ऊपरी हिस्से में जलन, सूजन, लाल, या पीले रंग का तरल पदार्थ निकल सकता है। परेशानी महसूस होने पर डॉक्टर से सलाह लें। ड्रेसिंग नियमित रूप से करवाएं और साफ-सफाई का ध्यान रखें। पेनिस में सर्जरी के दौरान एक रिंग लगाई जाती है जो एक हफ्ते में अपने आप हट जाएंगे। पेनिस के पूरी तरह से ठीक होने के बाद पानी और साबुन से साफ कर सकते हैं। अगर कोई परेशानी महसूस होती है, तो डॉक्टर से सम्पर्क करें।

अगर नीचे बताई गई समस्या में से कोई भी समस्या मरीज को होती है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करने में देरी न करें।

  • सर्जरी के 12 घंटे बाद अगर यूरिन संबंधी में परेशानी होने पर इसे अनदेखा न करें।
  • ब्लीडिंग होने पर भी अनदेखा न करें। आप तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।
  • सर्जरी के दौरान लगाई गई रिंग अगर अपने आप 2 सप्ताह तक न निकले, तो डॉक्टर से संपर्क करें ताकि डॉक्टर सही उपचार कर सकें।

उम्मीद है आपको सरकमसीजन सर्जरी (Circumcision Surgery) सर्जरी से जुड़ी जरूरी जानकारियां हमारे इस आर्टिकल में मिल गई होंगी। इस आर्टिकल में हमने आपको इस सर्जरी की प्रक्रिया से लेकर इसके साइड इफेक्ट्स और सर्जरी के बाद की देखभाल के बारे में जानकारी दी है। इस आर्टिकल की मदद से आपको इस सर्जरी को कराने वाले की देखभाल करने में आसानी होगी। आशा करते हैं आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपके मन में इस बारे में और भी सवाल हैं, तो हमसे जरूर पूछें। आपको आपके सवालों के जवाब हमारे मेडिकल एक्सपर्ट्स से दिलाने की पूरी कोशिश की जाएगी। इसके साथ ही इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करना न भूलें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने सर्जन से जरूर पूछ लें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/05/2020

ad iconadvertisement

Was this article helpful?

ad iconadvertisement
ad iconadvertisement