backup og meta

Nephrectomy: नेफ्रेक्टोमी या किडनी रिमूवल क्या है?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Ankita mishra द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/12/2019

Nephrectomy: नेफ्रेक्टोमी या किडनी रिमूवल क्या है?

परिचय

नेफ्रेक्टोमी (Nephrectomy) क्या है?

नेफ्रेक्टोमी (Nephrectomy) की मदद से किडनी के कुछ या सभी हिस्सों को हटाया जाता है। हमारे शरीर में दो किडनी होती है, जो राजमे के आकार में होती है। ये खून से पानी और शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थों को अलग करती है और कुछ तरह के हार्मोन्स का उत्पादन भी करता है। इसे किडनी रिमूवल सर्जरी भी कहा जाता है।

किडनी रिमूलव सर्जरी से किडनी में कैंसर और ट्यूमर का इलाज किया जाता है। इसके अलावा कुछ मामलों में अगर किडनी बहुत ज्यादा खराब हो गई है तो नेफ्रेक्टोमी की तकनीक से उसे हटाया और रिप्लेस भी किया जा सकता है।

नेफ्रेक्टोमी क्यों की जाती है?

निम्नलिखित स्थितियों में किडनी रिमूवल या नेफ्रेक्टोमी सर्जरी की जा सकती है:

यह भी पढ़ेंः Ankle Fracture Surgery : एंकल फ्रैक्चर सर्जरी क्या है?

जोखिम

नेफ्रेक्टोमी करवाने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

किडनी रिमूवल की यह प्रक्रिया हर किसी के लिए पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हो सकती है। गुर्दे के कुछ हिस्से या सभी हिस्सों को बाहर निकालना एक बहुत ही गंभीर प्रक्रिया होती है। इसलिए इस सर्जरी की सलाह हमेशा आखिरी विकल्प के तौर पर देते हैं।

अगर आप शारीरिक रूप से ठीक से काम नहीं कर रहे हैं तो आपकी किडनी के कुछ हिस्से या पूरी किडनी को निकालना पड़ सकता है। किसी बीमारी, चोट या संक्रमण के कारण भी अगर किडनी सही तरह से अपना काम करना बंद कर देती है तो ऐसी स्थिति में भी उसे निकाला जा सकता है। इसके अलावा अगर आपको किडनी का कैंसर है तो भी आपकी किडनी को प्रत्यारोपित किया जा सकता है। हालांकि, अगर आपकी किडनी में ट्यूमर है तो ऐसी स्थिती में किडनी के सिर्फ उस हिस्से को ही अलग किया जा सकता है।

इसके अलावा से लोगो जो अपनी किडनी दान करना चाहते हैं या जिन्हें नए किडनी की जरूरत है उन्हें भी नेफ्रेक्टोमी सर्जरी की जरूरत होती है। हालांकि, ऐसी स्थिति में मृत शरीर से भी किडनी का दान किया जा सकता है, लेकिन विशेषज्ञों के मुताबिक मृत दाताओं की तुलना में जीवित दाताओं की दान की गई किडनी का प्रत्यारोपण ज्यादा सुरक्षित और सफल होता है।

नेफ्रेक्टोमी के क्या साइड इफेक्ट्स और समस्याएं हो सकती हैं?

सामान्य नेफ्रेक्टोमी की तुलना में लेप्रोस्कोपिक नेफ्रेक्टोमी सर्जरी कम पीड़ादायक होती है। हालांकि, इस सर्जरी के दौरान भी दर्द होता है। सर्जरी के बाद दर्द कम करने और उससे राहत पाने के लिए आपका डॉक्टर आपको दर्द निवारक दवाओं के खुराक के निर्देश दे सकते हैं।

इस सर्जरी से जुड़े कुछ जोखिम भी हैं जिनमें कुछ स्थिति दुर्लभ तो कुछ सामान्य भी हो सकती हैः

  • शरीर में खून की कमी
  • दिल का दौरा
  • स्ट्रोक का खतरा
  • एनेस्थीसिया या अन्य दवाओं के कारण एलर्जी होना
  • पैरों में खून के थक्के जमना जो फेफड़ों में जाता है
  • सांस लेने में तकलीफ
  • सर्जरी के दौरान लगाए गए चीरे वाली त्वचा या आसपास की जगह में इंफेक्शन होना।

नेफेरेक्टोमी के कारण होने वाले अन्य जोखिमः

  • किडनी के आसपास अन्य अंगों या ऊतकों को नुकसान होना
  • हर्निया के कारण चीरे वाले अंगों में उभार या सूजन होना
  • इस सर्जरी के बाद किडनी से जुड़ी समस्याओं का अनुभव कर सकते हैं। आमतौर पर अगर आप किडनी की सर्जरी कराते हैं जो इससे जुड़े जोखिम के खतरे बढ़ सकते हैं। हालांकि, अगर दान की गई किडनी प्रत्यारोपित कराते हैं तो यह प्रक्रिया ज्यादा सुरक्षित हो सकती है।

    नेफ्रेक्टोमी सर्जरी कराने से पहले इससे होने वाले लाभ और संभावित खतरों के बारे में अपने डॉक्टर और सर्जन से बात करें।

    यह भी पढ़ेंः Chemical Peel : केमिकल पील क्या है?

    प्रक्रिया

    नेफ्रेक्टोमी के लिए मुझे खुद को कैसे तैयार करना चाहिए?

    ऐसी महिलाएं जिनके प्रेग्नेंट होने की संभावना है, उन्हें इसके बारे में अपने डॉक्टर और सर्जन को बताना चाहिए। इसके अलावा, काउंटर से मिलने वाली दवाएं या अन्य दवाएं जिनका इस्तेमाल आप करते हैं उनकी जानकारी भी अपने डॉक्टर को दें। क्योंकि, कुछ तरह की दवाओं का सेवन इस सर्जरी से पहले बंद कर देना चाहिए जैसे खून को पतला करने वाली दवाएं।

    सर्जरी से कुछ दिन पहले,  डॉक्टर आपका खून के नमूने लेंगे। ताकि वह यह पता कर सकें कि आपके खून का प्रकार क्या है या इस सर्जरी के दौरान आपको किस तरह के इंफेक्शन होने की संभावना अधिक हो सकती है।

    साथ ही, सर्जरी से पहले कुछ समय के लिए आपको सिर्फ तरल पदार्थ ही पीने के निर्देश दिए जाएंगे। इस दौरान आपको कुछ भी नहीं खाना होगा।

    नेफ्रेक्टोमी में होने वाली प्रक्रिया क्या है?

    किडनी रिमूवल की सर्जरी में तीन घंटे या इससे भी अधिक घंटे का समय लग सकता है।

    नेफेरेक्टोमी सर्जरी की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। आपको किस तरह की सर्जरी करानी चाहिए, किडनी का कितना हिस्सा हटाया जाना चाहिए या किडनी का प्रत्यारोपण करना है या दान करना है इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए आपकी किडनी रिमूवल सर्जरी की प्रक्रिया का निर्धारण किया जाता है। जिसके प्रकार हैंः

    • लेप्रोस्कोपिक सर्जरी- इस सर्जरी के दौरान चीरे कम और छोटे लगाएं जाते हैं। सर्जन आपके पेट में कुछ छोटे चीरे लगाते हैं, शरीर के अंदर के अंगों को देखने के लिए छोटा वीडियो कैमरा और छोटे सर्जिकल डिवाइस की मदद ली जाती है। अगर आपकी पूरी किडनी को बाहर निकालने की जरूरत है, तो सर्जन इस चीरे को थोड़ा बड़ा कर सकती है।
    • रोबोट-एस्टिटेड लेप्रोस्कोपिक सर्जरी- यह लैप्रोस्कोपिक सर्जरी से बहुत अलग होती है। इसमें सर्जन लैप्रोस्कोपिक की जगह रोबोट की मदद लेते हैं। इस प्रक्रिया में बहुत कम लंबाई का चीरा लगाया जाता है। साथ ही, शरीर के अंगर अंगों को 3-डी की छवियों में देखा जा सकता है। जो सर्जरी की प्रक्रिया को आसान बना सकते हैं।
    • ओपन सर्जरी- ओपन नेफेरेक्टोमी सर्जरी में, यूरोलॉजिकल सर्जन पेट पर एक कट (चीरा) लगाते हैं। जो बड़े आकार में होता है।
    • रैडिकल नेफेरेक्टोमी- रैडिकल नेफेरेक्टॉमी में, सर्जन पूरे गुर्दे को हटा देते हैं और साथ ही गुर्दे के आसपास के वसायुक्त ऊतक और किडनी को मूत्राशय से जोड़ने वाली नली का एक हिस्सा भी हटा देते हैं। अगर ट्यूमर इसके करीब है या एड्रि‍नल ग्रंथि के अंदर है तो इस दौरान सर्जन एड्रि‍नल ग्रंथि भी हटा सकते हैं जोकि किडनी के ऊपर होता है। कुछ मामलों में लिम्फ नोड्स या अन्य ऊतकों को भी हटाया जा सकता है।
    • आंशिक नेफेरेक्टोमी- आंशिक नेफेरेक्टोमी, जिसे किडनी-स्पैरिंग (नेफ्रॉन-स्पैरिंग) सर्जरी भी कहा जाता है। इस सर्जरी की प्रक्रिया के दौरान सर्जन कैंसरग्रस्त ट्यूमर या रोगग्रस्त ऊतकों को हटाते हैं और सिर्फ स्वस्थ ऊतक ही किडनी में छोड़ते हैं।

    नेफेरेक्टोमी के बाद क्या होता है?

    किडनी रिमूवल सर्जरी के आपके शरीर को रिकवर करने में कितना कम या अधिक समय लग सकता है, यह आपके उपचार की प्रक्रिया पर निर्भर कर सकता है। सर्जरी के बाद आपको कुछ दिनों तक अस्पताल में रहना पड़ सकता है।

    अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो इसे बारे में अपने डॉक्टर या सर्जन से बात करें।

    यह भी पढ़ेंः Oophorectomy : उफोरेक्टमी क्या है?

    रिकवरी

    नेफेरेक्टोमी के बाद मुझे खुद का ख्याल कैसे रखना चाहिए?

    आपको किस तरह का भोजन या आहार अपने खाने में शामिल करना चाहिए, इसके बारे में आपका डॉक्टर आपको निर्देश दे सकते हैं। आपको हर दिन थोड़ी-बहुत शारीरिक गतिविधियां भी करनी चाहिए। लेकिन सर्जरी के कुछ हफ्तों बाद तक आपको आराम करने की जरूरत होती है।

    अधिकतर मामलों में पाया गया है कि इस सर्जरी के बाद लोगों की सामान्य शारीरिक क्रियाएं प्रभावित नहीं होती हैं। लेकिन अगर सर्जरी के कुछ समय बाद आपको अपने शारीरिक क्रिया में किसी तरह की समस्या आए तो इस बारे में आपने डॉक्टर को जानकारी दें।

    और पढ़ेंः Varicose Veins Surgery: वैरिकोस वेन सर्जरी क्या है?

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    Ankita mishra द्वारा लिखित · अपडेटेड 18/12/2019

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement