Coriander : धनिया क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj

धनिया का परिचय (Use of Coriander In Hindi)

धनिया का इस्तेमाल किसलिए किया जाता है ?

विशेषज्ञों के मुताबिक, धनिया का इस्तेमाल खसरा, बवासीर, दांत दर्द, कीड़े, और जोड़ों के दर्द के साथ-साथ बैक्टीरिया और फंगस के कारण होने वाले संक्रमण के इलाज के लिए भी किया जाता है। परंपरागत भारतीय घरों में महिलाएं धनिया का इस्तेमाल दूध के प्रवाह को बढ़ाने के लिए करती हैं।

ऐसा माना जाता है कि धनिये का सेवन करने से स्तनपान कराने वाली महिलाओं का दूध बढ़ता है। आजकल के टाइम में धनिया का उपयोग दवाओं और तम्बाकू में स्वाद बढ़ाने वाले के लिए किया जाता है। कुछ कंपनी ब्यूटी प्रोडक्ट्स और साबुन की खुशबू को बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल करते हैं।

धनिया कैसे काम करती है?

यह हर्बल सप्लीमेंट कैसे काम करता है, इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें। हालांकि कुछ अध्ययन में यह भी कहा गया है कि इसमें एंटी-लिपिड और एंटी-डायबिटिक पाए जाते हैं। कुछ स्थानों पर धनिया का तेल भी इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़ें : Ginseng : जिनसेंग क्या है?

धनिया से जुड़ी सावधानियां एवं चेतावनी (Precautions and warnings related to Coriander In Hindi)

धनिया का सेवन से पहले मुझे इसके बारे में क्या-क्या जानकारी होनी चाहिए?

इसका इस्तेमाल करने से पहले इस बात का जान लीजिए की इसको हमेशा धूप और नमी से बचाकर एक सील कंटेनर में ही रखना चाहिए।

सर्जरीः हालही में हुए अध्ययन के मुताबिक, अगर शरीर में किसी भी तरह की मेडिकल सर्जरी कराई हो तो उन लोगों को धनिया का इस्तेमाल कुछ वक्त तक छोड़ देनाा चाहिए।

ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगरः यह रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) और रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) के स्तर को कम करने में काफी लाभदायक सााबित हो सकता है। अगर आप ब्लड प्रेशर को कम करने और ब्लड शुगर को कम करने के लिए किसी तरह की दवाई का इस्तेमाल कर रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लीजिए।

हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम, दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की ज़रुरत है। इस हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना ज़रुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

धनिया कितना सुरक्षित है?

इसपर हुए नए अध्ययन में हुए यह बात सामने आई है कि गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान धनिया (औषधीय रूप से) का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आपके घर में छोटे बच्चे हैं तो सीधे तौर पर इसका प्रयोग करने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें : Garlic : लहसुन क्या है?

धनिया के साइड इफेक्ट (Coriander Side Effects In Hindi)

शोध के मुताबिक, इसका प्रयोग करने से एंटी-डायबिटिक दवाओं का प्रभाव बढ़ सकता है। अगर आप किसी बीमारी से जूझ रहे हैं और एंटी-डायबिटिक दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लीजिए।

अधिक मात्रा में इसका इस्तेमाल करने से मतली, उल्टी, एनोरेक्सिया, वसायुक्त यकृत ट्यूमर, नाफिलेक्सिस जैसी समस्या हो सकती हैं। नए अध्ययन में धनिया के दुष्प्रभावों को लेकर कई सारी बातें सामने नहीं आ पाई है।

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हों ऐसा ज़रुरी नहीं है। कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

धनिया की खुराक (Doses Of Coriander In Hindi)

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प ना मानें। किसी भी दवा या सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह ज़रुर लें।

आमतौर पर कितनी मात्रा में धनिया खाना चाहिए?

इस हर्बल सप्लीमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

अगर आप इसका इस्तेमाल काढ़े के तौर पर रहे हैं तो 150 मिली लीटर उबलते पानी में 2 चम्मच धनिया डालकर उबालकर पीजिए। नए शोध के मुताबिक, इसका काढ़ा भोजन से पहले पीने से तनाव का स्तर गिरता है और शरीर की एकाग्रता क्षमता बढ़ती है।

धनिया किन-किन रूपों में उपलब्ध है?

यह हर्बल सप्लीमेंट क्रूड एक्सट्रैक्ट, टिंचर और साबूत दानों में बाजार में उपलब्ध है।

और पढ़ें : Fenugreek : मेथी क्या है?

रिव्यू की तारीख जुलाई 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 15, 2019