Vitamin A : विटामिन ए क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date जून 27, 2020 . 4 mins read
Share now

विटामिन ए (vitamin A) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

विटामिन ए आंखों की रोशनी को तेज करने, हेल्दी इम्यून सिस्टम और कोशिकाओं की ग्रोथ के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। विटामिन ए दो प्रकार का होता है:

  • विटामिन ए रेटिनोइड,जो मुख्य रूप से पशु उत्पादों से मिलता है।
  • बीटा-कैरोटीन विटामिन ए का दूसरा प्रकार है, जो पौधों से मिलता है।

मैं विटामिन ए (vitamin A) को कैसे इस्तेमाल करूं?

विटामिन ए के कैप्सूल या टैबलेट को हमेशा पानी के साथ निगलना चाहिए। इस कैप्सूल को कभी भी चबाएं या चूसे नहीं। इसको जल्द से जल्द पानी से निगल लेना चाहिए। इसे भोजन या दूध के साथ लें। अपने चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय पर इस दवा को लें।

यह दवा आपको किसी तरह का नुकसान ना पहुंचाए इसके लिए आपको ब्लड टेस्ट कराना जरूरी होता है।

इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले आपके लिवर के टेस्ट की भी जरूरत हो सकती है। इसके लिए नियमित तौर पर डॉक्टर से पास जाए और उनसे सलाह लें।

मैं विटामिन ए (vitamin A) को कैसे स्टोर करूं?

विटामिन ए के रखरखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। विटामिन ए को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में विमाटिन ए के अलग-अलग ब्रांड है जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा- निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं।

जब भी विटामिन ए खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के विटामिन ए को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : त्वचा और बालों के लिए विटामिन ई के फायदे

विटामिन ए का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

विटामिन ए का उपयोग करना सेहत के लिए जोखिम भरा हो सकता है। इसलिए इससे होने वाले फायदे के साथ-साथ इससे होने वाली हानिओं को भी पूरी तरह से समझना चाहिए। इस्तेमाल से पहले एक बार जरूर डॉक्टर की सलाह लें। साथ ही निम्नलिखित स्थितियों में दवा का सेवन नहीं करना चाहिए:

ये भी पढ़ें : Sea Buckthorn: सी बकथॉर्न क्या है?

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान विटामिन ए (vitamin A) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार गर्भावस्था में विटामिन ए लेना जोखिम की A कैटेगरी में आता है

एफडीए गर्भावस्था जोखिम श्रेणी:

 A= कोई जोखिम नहीं

B = कुछ अध्ययनों में कोई जोखिम नहीं

C = कुछ जोखिम हो सकते हैं

D = जोखिम के सकारात्मक प्रमाण हैं

X = निषेध 

N = कोई जानकारी नहीं

विटामिन ए (vitamin A) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

ऐसे किसी भी लक्षण को आप महसूस करते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करेः

हल्के-फुल्के साइड इफेक्ट्स में शामिल हैं :

ऐसा जरूरी नहीं है कि हर किसी को यह साइड इफेक्ट्स ही हों। इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताएं गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

यह भी पढ़ें- बच्चे को फूड एलर्जी से बचाने के लिए अपनाएं ये तरीके

कौन सी दवाएं विटामिन ए (vitamin A) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

कुछ दवाओं के साथ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। साथ ही अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें। बिना डॉक्टर के सलाह के किसी भी दवा की खुराक को कम या ज्यादा ना करें। किसी दवा का सेवन बंद कर रहे हैं तो भी डॉक्टर की सलाह ले अवश्य लें।

  • एंटीबायोटिक, विटामिन ए के साथ परस्पर प्रभाव डाल सकता है :
    विटामिन ए कुछ एंटीबायोटिक दवाओं, जैसे कि डेमेक्लोसाइक्लिन, टेट्रासाइक्लिन, मिनोसाइक्लिन के साथ ये इंट्रैक्ट कर सकती है। इनके साथ विटामिन ए की ज्यादा मात्रा से लेने से आपको गंभीर साइड इफेक्ट झेलने पड़ सकते हैं, जिसे जिसे इंट्राक्राॅनियल हाइपरटेंशन कहा जाता है।  
  • दवाएं जो विटामिन ए के साथ ली जाए तो लिवर को नुकसान पहुंचा सकती हैंः

अगर आप लिवर से संबंधित कोई भी दवा ले रहे हैं तो ज्यादा मात्रा में विटामिन ए का इस्तेमाल ना करें। लिवर की दवाओं के साथ ज्यादा मात्रा में विटामिन ए लेना नुकसानदायक साबित हो सकता है। जैसेः एसिटामिनोफेन (टाइलेनॉल और अन्य), अमियोडैरोन (कॉर्डेरोन), कार्बामाजेपाइन (टेग्रेटोल), आइसोनियाजिड (आईएनएच), मेथोट्रेक्सेट (रूमेट्रेक्स), मेथिल्डोपा (एल्डोमेटा), फ्लुकोनाजोल (डिफ्लुकन), इट्राकोनाजोल (स्पोरानॉक्स), एरिथ्रोमाइसिन (एरीथ्रोसिन, इलोसोन, अन्य), फिनाइटोइन (दिलान्टिन), लिवास्टैटिन (मेवाकोर), प्रवास्टैटिन (प्रवाचोल), सिवास्टैटिन (जोकोर) लिवर की दवाएं शामिल है।

  • वार्फारिन (कौमडिन) जो विटामिन ए के साथ परस्पर प्रभाव डाल सकती है

    वार्फारिन का इस्तेमाल ब्लड क्लॉटिंग को धीमा करने के लिए किया जाता है। अगर आप ज्यादा मात्रा में विटामिन ए लेते हैं तो यह भी ब्लड क्लॉटिंग को धीमा करता है। वार्फारिन के साथ विटामिन ए का इस्तेमाल करने से चोट लगने और खून बहने की संभावना बढ़ सकती है।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ विटामिन ए (vitamin A) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ विटामिन ए का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

विटामिन ए (vitamin A) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

विटामिन ए (vitamin A) आपकी स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार काम करता है। कई मामलों में यह दवा घातक भी साबित हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि इसके इस्तेमाल से पहले अपने स्वास्थ्य की मौजूदा स्थिति के बारे में डॉक्टर को बताएं।

यह भी पढ़ें- Vitamin O: विटामिन-ओ क्या है?

डॉक्टर की सलाह

विटामिन ए (vitamin A) कैसे उपलब्ध है?

विटामिन ए निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:

  • कैप्सूल: 7,500, 8000, 10,000, 25,000 यूनिट्स
  • टैबलेट: 10,000, 15,000 यूनिट्स
  • विटामिन ए , जैल, क्रीम, लिक्विड में उपलब्ध है।

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें (115) या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप विटामिन ए की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

यह भी पढ़ें- Calcium : कैल्शियम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Keratosis pilaris: कैराटोसिस पाईलारिस क्या है?

कैराटोसिस पाईलारिस एक ऐसी कंडीशन है जिसमें स्किन के ऊपर खुरदुरे पैचेज, ड्राई स्किन, छोटा उभार दिखाई देता है। कैराटोसिस पाईलारिस ऊपरी बांह, गाल, जांघ या नितंब में दिखाई पड़ सकते हैं। इसके कारण स्किन सैंडपेपर की तरह महसूस होती है।

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Bhawana Awasthi

बार-बार बीमार होना और थका हुआ फील करना है विटामिन डी की कमी के लक्षण

जानिए विटामिन डी in Hindi, विटामिन डी क्या है, Vitamin D के फायदे, विटामिन-डी के स्त्रोत, विटामिन-डी के फूड्स, शरीर में विटामिन-डी कैसे बढ़ाएं।

Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
Written by Aamir Khan