home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Urethral Stricture : यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|लक्षण|कारण|जोखिम|उपचार|घरेलू उपाय
Urethral Stricture : यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर (Urethral Stricture) क्या है?

यूरेथ्रा (Urethra) यानी मूत्रमार्ग एक ट्यूब है जो मूत्राशय से मूत्र को शरीर से बाहर निकालने का कार्य करती है। आमतौर पर मूत्रमार्ग चौड़ा होता है, जिससे यूरिन पास करने में कोई समस्या नहीं होती है। लेकिन, अगर यही मूत्रमार्ग सिकुड़ जाए या पतली हो जाए, तो मूत्र के प्रवाह को रोक सकती है। इस समस्या को यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर (Urethral Stricture) यानी पेशाब की नली में ब्लॉकेज कहा जाता है।

कितना सामान्य है यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर?

पेशाब की नली में ब्लॉकेज की समस्या एक स्वास्थ्य समस्या होती है। जिसकी शिकायत पुरुषों में अधिक देखी जाती है। यह किसी भी उम्र को प्रभावित कर सकती है। कभी-कभार इसकी समस्या जन्मजात भी हो सकती है। हालांकि, महिलाओं में इसकी समस्या दुर्लभ होती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक से चर्चा करें।

और पढ़ेंः Urinalysis : पेशाब की जांच क्या है?

लक्षण

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के लक्षण क्या हैं?

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के सामान्य लक्षणों में शामिल हैंः

  • सीमन में खून आना
  • मूत्राशय से डिसचार्ज होना
  • गहरे रंग का मूत्र होना
  • मूत्र में खून आना
  • पेशाब करने की तीव्र इच्छा और बार-बार पेशाब आना
  • पेशाब करते समय दर्द होना
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द होना
  • मूत्र की धीमी गति
  • लिंग की सूजन

इसके सभी लक्षण ऊपर नहीं बताएं गए हैं। अगर इससे जुड़े किसी भी संभावित लक्षणों के बारे में आपका कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

मुझे डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर ऊपर बताए गए किसी भी तरह के लक्षण आपमें या आपके किसी करीबी में दिखाई देते हैं या इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें। हर किसी का शरीर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया करता है।

कारण

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के क्या कारण हैं?

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के कारण मूत्रमार्ग में मूत्र फंस जाती है। यह आमतौर पर ऊतकों में सूजन या ऊतकों में किसी घाव के होने के कारण होता है। ऊतकों में घाव कई कारकों की वजह से हो सकता है। जिन युवा लड़कों ने हाल ही में हाइपोस्पेडिया सर्जरी (hypospadias surgery) होती है या जिन पुरुषों में पेनाइल इम्प्लांट (penile implants) हुआ होता है, उनमें यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर होने की संभावना अधिक होती है। हाइपोस्पेडिया सर्जरी अविकसित मूत्रमार्ग को सही करने की एक प्रक्रिया होती है।

स्ट्रैडल इंजरी इसका सबसे सामान्य कारण हो सकता है। स्ट्रैडल इंजरी के कई कारण हो सकते हैं, जैसेः

  • साइकिल बार पर गिरना
  • अंडकोश के पास के क्षेत्र में चोट लगना
  • बहुत कसाव वाले पैंट पहनना।

मूत्रमार्ग में ब्लॉकेज होने के अन्य संभावित कारण भी हो सकते हैंः

दुर्लभ कारणों में शामिल हो सकते हैंः

जोखिम

कैसी स्थितियां यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के जोखिम को बढ़ा सकती हैं?

ऐसी कई स्वास्थ्य स्थितियां हैं, जो यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के जोखिम को बढ़ा सकती हैं, जैसेः

  • यौन संचारित संक्रमण (Sexually Transmitted Infection- STI)
  • ब्लैडर से यूरिन निकालने के लिए हाल ही में कैथेटर का इस्तेमाल किया जाना
  • इंफेक्शन के कारण या किसी अन्य स्थिती के कारण मूत्रमार्ग में सूजन या खुजली होना
  • बढ़ा हुआ प्रोस्टेट

और पढ़ेंः योनि से जुड़े तथ्य, जो हैरान कर देंगे

उपचार

यहां प्रदान की गई जानकारी को किसी भी मेडिकल सलाह के तौर पर ना समझें। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर का निदान कैसे किया जाता है?

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर का निदान करने के लिए शारीरिक परीक्षण किया जाता है, जो निम्न स्थितियों की जानकारी देता हैः

  • मूत्रमार्ग का छोटा होना
  • मूत्रमार्ग से डिस्चार्ज होना
  • बढ़ा हुआ ब्लैडर
  • बढ़ा हुआ या शुरूआती प्रोस्टेट
  • लिंग के नीचे की सतह का कठोर होना
  • लिंग में लालिमा या सूजन की स्थिति

कभी-कभी, इन टेस्ट के दौरान किसी भी तरह ही असामान्यताएं नहीं पाई जाती हैं। जिसके बाद निम्न टेस्ट भी किए जा सकते हैंः

  • सिस्टोस्कोपी (Cystoscopy)
  • पोस्टवॉइड अवशिष्ट की मात्रा
  • गोनोरिया या क्लैमाइडिया के लिए टेस्ट
  • मूत्र का विश्लेषण
  • यूरिन फ्लो टेस्ट
  • यूरिन कल्चर

यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर का इलाज कैसे होता है?

सिस्टोस्कॉपी के दौरान मूत्रमार्ग चौड़ी हो सकती है। इसकी प्रक्रिया शुरू करने से पहले सुन्न करने वाली दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बाद मूत्रमार्ग को बड़ा करने के लिए इसके अंदर एक पतला औजार डाला जाता है। कई बार इसकी प्रक्रिया अस्पताल के बजाय घर पर भी डॉक्टर की देखरेख में की जा सकती है।

अगर मूत्रमार्ग के चौड़ा करने के बाद इसकी समस्या दूर नहीं होती है, तो आपको सर्जरी कराने की जरूरत हो सकती है। सर्जरी का प्रकार आपके मूत्रमार्ग की लंबाई और स्थान पर निर्भर कर सकती है। अगर सिकुड़न की क्षेत्र छोटी है और यह ब्लैडर से बाहर जाने वाली मांसपेशियों के नजदीक नहीं है, तो सिकुड़न वाले स्थान को काटा जा सकता है या चौड़ा किया जा सकता है।

ओपन यूरेथ्रोप्लास्टी (open urethroplasty) की प्रक्रिया में अधिक सिकुड़न की स्थिति में की जा सकती है। इस सर्जरी से सिकुड़न वाले भाग को हटाया जा सकता है। इसके बाद उसे ठीक करके दोबारा से उसके स्थान पर लगाया जा सकता है। इसके परिणाम सिकुड़न की लंबाई और आकार के साथ-साथ आपके सरर्जन के अनुभवों पर भी निर्भर कर सकती है।

इसके अलावा अगर इसकी स्थिति अधिक गंभीर है, तो ऐसे मामलों में यूरिन पास करने के लिए सुपरप्यूबिक कैथेटर का इस्तेमाल किया जा सकता है, जो आपातकालीन उपचार होता है। यह मूत्राशय को पेट के माध्यम से बाहर निकालता है।

हालांकि, वर्तमान में इस बीमारी के लिए कोई दवा उपचार नहीं हैं। अगर कोई अन्य उपचार काम नहीं करता है, तो मूत्रवर्धक जिसे अपेंडिक्स वेसिकोस्टॉमी (appendico vesicostomy) की प्रक्रिया से उपचार किया जा सकता है।

और पढ़ेंः पेनिस (लिंग) में खुजली होने के कारण, लक्षण व उपाय

घरेलू उपाय

जीवनशैली में होने वाले बदलाव क्या हैं, जो मुझे यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर को रोकने में मदद कर सकते हैं?

निम्नलिखित जीवनशैली में बदलाव लाने और घरेलू उपायों से आप यूरेथ्रल स्ट्रीक्चर के खतरे को कम कर सकते हैंः

  • मूत्रमार्ग के सिकुड़ने का एक कारण यौन संचारित रोग भी होते हैं, ऐसी स्थिति में यौन क्रिया के दौरान सुरक्षा का ध्यान रखें।
  • हालांकि, चोट लगने या अन्य चिकित्सक स्थिति से स्वंय से बचाव नहीं किया जा सकता है। ऐसे में अगर आपको मूत्रमार्ग में कठोरता के लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • गंभीर चोटों और जटिलताओं से बचने के लिए जल्द से जल्द इस समस्या का इलाज कराएं।

अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो उसकी बेहतर समझ के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Urethral Stricture. https://www.healthline.com/health/urethral-stricture. Accessed November 20, 2019.

Urethral stricture. https://medlineplus.gov/ency/article/001271.htm. Accessed November 20, 2019.

Urethral Stricture in Men. https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/15537-urethral-stricture-in-men. Accessed November 20, 2019.

What is Urethral Stricture Disease? https://www.urologyhealth.org/urologic-conditions/urethral-stricture-disease. Accessed November 20, 2019.

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 28/11/2019
x