पेनिस (लिंग) में खुजली होने के कारण, लक्षण व उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

खुजली एक ऐसी समस्या है जो कहीं भी, कभी भी शुरू हो सकती है। वहीं, बात करें पेनिस में खुजली की समस्या के बारे में, तो यह बेहद आम से लेकर एक गंभीर समस्या हो सकती है। पेनिस में खुजली पुरुषों के पूरे जीवन को प्रभावित कर सकती है, जिसका समय पर उपचार करना बेहद जरूरी होता है। पेनिस में खुजली यौन संचारित रोग भी हो सकती है लेकिन, हर स्थिति में इसे गंभीरता से लेना चाहिए। क्यों होती है पेनिस में खुजली आज हम इसी से जुड़े संभावित कारणों के बारे में जानने वाले हैं।

पेनिस में खुजली के कारण

लिंग पर खुजली की समस्या लिंग में यीस्ट इंफेक्शन के कारण होती है, जो एक तरह का फंगल होता है। ये यीस्ट त्वचा में ही रहते हैं। खासतौर पर शरीर के नमी और शुष्क स्थानों पर इनका असर हो सकता है, जिसका प्रभाव गुप्तांग पर सबसे ज्यादा देखा जाता है। ये लिंग पर दाने के रुप में या फंफूदी के तौर पर हो सकते है। ये खुजलीदार होते है जिनमें जलन और रेडनेस भी हो सकती है।

जानिए लिंग में खुजली होने के कारण

जेनिटल हर्पीस

जेनिटल हर्पीस, हर्पीस सिंप्लेक्स वायरस (HSV) के कारण होने वाला एक तरह का यौन रोग होता है, जिसके कारण लिंग में दर्द और खुजली की समस्या हो सकती है। इसका प्रभाव लिंग में कई सालों तक रह सकता है। इसकी समस्या होने पर लिंग में खुजली और मवाद भरे फोफले हो सकते हैं।

और पढ़ेंः 5 जेनिटल समस्याएं जो छोटे बच्चों में होती हैं

लाइकेन नाइटिडस

लाइकेन नाइटिडस त्वचा कोशिकाओं की सूजन से जुड़ी होती है, जिसके कारण लिंग के साथ-साथ शरीर के अन्य हिस्सों में भी छोटे-छोटे फोफले निकल आते हैं।

स्केबीज

स्केबीज के कारण भी लिंग में खुजली हो सकती है। यह समस्या माइट के कारण होती है, जो त्वचा के भीतर जाकर काफी जलन व खुजली का कारण बनते हैं।

जेनिटल वार्ट्स

यह एक यौन संचारित संक्रामक रोग है, जो ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एचपीवी) के कारण हो सकता है। इसकी समस्या में लिंग पर मस्से निकल आते हैं।

कैंडिडिआसिस (पुरुष थ्रश)

कैंडिडिआसिस  यानी यीस्ट संक्रमण के तौर पर भी जाना जाता है, जो लिंग के सिरे पर होता है। इसके कारण लिंग में खुजली की समस्या, जलन, लालिमा, दाद आदि समस्या हो सकती है।

सोरायसिस

लिंग में खुजली सोरायसिस इंफेक्शन के कारण भी हो सकती है। जिसमें पेनिस के ऊपरी हिस्से पर छोटे व लाल पैच दिखने लगते हैं। इसके अलावा, जननांग के ऊपरी भाग पर भी प्लेग सोरायसिस हो सकता है। सोरायसिस में त्वचा की कोशिकाएं असामान्य रूप से विकसित होने लगती हैं, जिससे लिंग की त्वचा पर स्किन सेल जमा होने लगता है। इससे काफी लंबे समय तक परेशानी हो सकती है।

पेनिस में खुजली होने के लक्षण

पेनिस में खुजली अनेक कारण हो सकते हैं। हालांकि, इसके लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार यौन रोग और उचित साफ-सफाई न रखना हो सकता है। जिसके लक्षण इन बातों से पता लगाया जा सकता है:

  • पेशाब करने में परेशानी
  • पेशाब करते समय दर्द महसूस करना
  • बार-बार पेशाब जाना
  • जननांग क्षेत्र में गांठ (Lump), फोड़ा या बिना चोट के घाव होना
  • सेक्स के दौरान दर्द
  • स्खलन के दौरान दर्द होना
  • लिंग में लाल चकत्ते उत्पन्न होना
  • वृषण (टेस्टिस) में दर्द होना
  • लिंग की त्वचा ड्राई होना।

और पढ़ें : स्टेप-बाय-स्टेप जानिए महिला कंडोम (Female condom) का इस्तेमाल कैसे करें

पेनिस में खुजली दूर करने के उपाय

पेनिस में खुजली की समस्या को घरेलू उपायों के साथ-साथ काउंटर पर मिलने वाली दवाओं से भी दूर किया जा सकता है। लेकिन, हर स्थिति में अपने डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी होता है।

1.बेकिंग सोडा

अगर लिंग में फंगस की समस्या है, तो बेकिंग सोडा को नहाने के गुनगुने पानी में मिलाकर नहाएं। इसके अलावा, बेकिंग सोडा का पेस्ट बनाकर लिंग पर लगाएं। फिर इसे थोड़ी देर बाद साफ पानी से धो लें और लिंग को अच्छे से सुखा कर लें।

2.बर्फ की सिकाई

कॉटन के कपड़े में बर्फ का टुकड़ा रखें, फिर उससे लिंग की सिकाई करें। इसकी जगह पर गीला, ठंडा कपड़ा भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे सूजन की समस्या और दर्द से राहत मिलेगी।

3.सेब का सिरका

अगर लिंग पर खुजली सोरायसिस के कारण हो रही है, तो लिंग को सेब के सिरके से साफ करें। इससे खुजली और जलन दोनों में राहत मिलेगी। इसके अलावा, सेब के सिरके को लिंग पर लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। बाद में साफ पानी से लिंग को धो लें।

ध्यान रखें कि अगर आपकी लिंग की त्वचा में दरार या कहीं पर खरोंच या कटने का निशान है, तो सेब का सिरका न लगाएं। इससे त्वचा जल सकती है।

4.साफ-सफाई का रखें ध्यान

जिस तरह नियमित तौर पर आप ब्रश करके दांतों को साफ करते हैं ठीक उसी तरह सुबह उठते समय अपने लिंग को भी अच्छी तरह से साफ करें। फिर उसे सुखा करें। शौच के बाद लिंग को अच्छी तरह से धोना चाहिए।

5. सेंधा नमक

सेंधा नमक भी पेनिस की खुजली दूर करने में मदद करता है। आप गुनगुने पानी में सेंधा नमक डालें और कुछ देर उस पानी में रहें।

इसके अलावा, लूज अंडरवियर पहनें। टाइट अंडरवियर से स्किन पर रैशेज हो सकते हैं।

और पढ़ेंः जानें शरीर में बनने वाले महत्वपूर्ण हाॅर्मोन और उनकी भूमिका

पेनिस में खुजली का मेडिकल इलाज

यदि घरेलू उपचार प्रभावी नहीं हैं, तो आपको एक ओवर-द-काउंटर या प्रिस्क्रिप्शन टॉपिकल क्रीम की जरूरत हो सकती है। दवा किस तरह की होगी यह पेनाइल खुजली क्यों हो रही या कबसे हो रही इसपर निर्भर करता है।

पेनिस में खुजली के लिए ये विकल्प हो सकते हैंः

और पढ़ेंः Anal Sex: एनल सेक्स से जुड़े मिथक और उनके पीछे का सच

पेनिस में खुजली या पेनिस फंगल इंफेक्शन की समस्या से बचने के लिए डॉक्टर के पास कब जाएं?

पेनिस में खुजली या पेनिस इंफेक्शन होने के कुछ कारणों में आपको डॉक्टर को देखने की जरूरत नहीं है। उदाहरण के लिए बालतोड़ होने की सूरत में लगभग एक सप्ताह में पेनिस की खुजली अपने आप ठीक हो जात है। इसी तरह कॉन्टेक्ट डर्मेटाइटिस की वजह से लालिमा और सूजन अपने आप दूर हो सकती है जब आप एलर्जन या इरिटेंट के संपर्क में नहीं आते हैं। हालांकि कुछ परेशानी उपचार के बिना दूर नहीं हो सकती हैं। अगर परेशानी ठीक नहीं होती तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं कि क्या लिंग की खुजली या पेनिस में दर्द की समस्या ज्यादा है या इसमें सुधार नहीं हुआ है या पेनिस के पास डिस्चार्ज, फफोले, दर्द, पेनिस फोरस्किन इंफेक्शन या पेनिस पर सफेद दाने जैसे लक्षण हैं।

एक डॉक्टर आपकी त्वचा की जांच करने के बाद लिंग की खुजली के कारण का निदान करने में सक्षम हो सकता है। इन सब उपायों के अलावा, आप सीधे काउंटर से भी दवाई या मलहम का इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि, किसी भी तरीके को अपनाने से पहले अपने डॉक्टर की परामर्श जरूर लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Priapism: प्रायपिज्म क्या है?

जानिए प्रायपिज्म क्या है in hindi, प्रायपिज्म के कारण और लक्षण क्या है, Priapism को ठीक करने के लिए क्या उपचार उपलब्ध है, जानिए यहां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 31, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Goat’s rue: गोट्स रू क्या है?

जानिए गोट्स रू की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, गोट्स रू उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Goats rue डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Sporotrichosis: स्पोरोट्राइकोसिस क्या है?

जानिए स्पोरोट्राइकोसिस क्या है in hindi, स्पोरोट्राइकोसिस के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, sporotrichosis को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन क्या है? जानें इसके लक्षण, प्रकार और घरेलू उपचार

जानें कैंडिडियासिस फंगल इंफेक्शन क्या है in hindi. ये फंगल इंफेक्शन किस कारण से हो सकता है और इससे बचने के लिए किन उपायों को अपनाया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया indirabharti
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Candiforce 200: कैंडिफोर्स 200

Candiforce 200: कैंडिफोर्स 200 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जून 24, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
बेटनोवेट जीएम

Betnovate GM: बेटनोवेट जीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish Singh
प्रकाशित हुआ जून 18, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
पेनिस साइज मिथ-penis size myths

जानें पुरुषों के पेनिस साइज से जुड़े कुछ तथ्याें के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
क्रिल ऑयल

Krill Oil: क्रिल ऑयल क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Sunil Kumar
प्रकाशित हुआ मार्च 31, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें