backup og meta

स्टेप-बाय-स्टेप जानिए महिला कॉन्डम (Female Condom) का इस्तेमाल कैसे करें

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. हेमाक्षी जत्तानी · डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


Ankita mishra द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/05/2021

स्टेप-बाय-स्टेप जानिए महिला कॉन्डम (Female Condom) का इस्तेमाल कैसे करें

आप चाहें महिला कॉन्डम का इस्तेमाल करें या फिर पुरुष कॉन्डम का, दोनों ही स्थितियों में कॉन्डम का सही इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कॉन्डम का इस्तेमाल तभी सफल होता है, जब इसे उचित तरीके से पहना जाए। महिला कॉन्डम और पुरुष कॉन्डम में काफी अंतर होता है। बात करें पुरुष कॉन्डम की, तो इनका इस्तेमाल अब बहुत ही आम हो गया है। इसे पहना भी बहुत आसान होता है। हालांकि, महिला कॉन्डम का इस्तेमाल अभी भी बहुत ही कम लोग करते हैं। यही वजह है कि कई लोगों को महिला कॉन्डम का इस्तेमाल करने के तरीके के बारे में कम जानकारी होती है। इसके इस्तेमाल करने के तरीके से लेकर इसकी सफलता पर भी लोगों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं और इससे जुड़े कुछ सवालों का जवाब आज हम आपको यहां दे रहे हैं।

और पढ़ेंः क्या कंडोम (Condom) के इस्तेमाल के बाद प्रेग्नेंट होती हैं महिलाएं?

क्या है महिला कॉन्डम (Female condom)?

  1. फीमेल कॉन्डम (Female condom) के इस्तेमाल से अनचाही प्रेग्नेंसी और यौन संबंधी रोगों से बचा जा सकता है। यह पोलीयूरेथेन से बनी होती है, जो एक लंबी पोलीयूरेथेन की थैली जैसी दिखाई देती है।

    इसके दो छोर होते हैं और दोनों ही लचीले होते हैं। इसके एक छोर पर रिंग होती है, जिसे योनि के बाहर फिट करना होता है।

  2. इसे पहनने के बाद महिलाओं का गुप्तांग पूरी तरह कवर हो जाता है। साथ ही सेक्स के बाद इसमें स्पर्म इकठ्ठा हो जाता हैं।

तो चलिए जानते हैं महिला कॉन्डम (Female condom) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • सेक्स के दौरान महिला कॉन्डम का इस्तेमाल करने से पहले इसे लगाने का थोड़ा अभ्यास कर लें।
  • महिला कॉन्डम का पैकेट खोलने से पहले उसका एक्सपायरी डेट जरूर देखें। साथ ही, अगर पैकेट फटा हुआ हो, तो उसका इस्तेमाल न करें।
  • अब पैकेट को सावधानीपूर्वक खोलें। इसे कैसे खोलना चाहिए, इसके बारे में जरूरी दिशा-निर्देश पैकेट के ऊपर भी लिखे होते हैं। इन्हें पढ़कर आप सुरक्षित तरीके से कॉन्डम को खोल सकते हैं।
  • वैसे तो महिला कॉन्डम चिकनाई युक्त होता है लेकिन, योनि के अंदर इसे लगाने से पहले आप इसके ऊपर अलग से बेबी ऑयल का इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे चिकनाई बढ़ जाएगी और आप आसानी से इसका इस्तेमाल कर पाएंगीं।
  • और पढ़ेंः जानिए 60 की उम्र के बाद भी कैसे कायम रखें सेक्स

    [mc4wp_form id=’183492″]

    महिला कॉन्डम (Female condom) कैसे पहनें?

    • महिला कॉन्डम को पहनने के लिए एकदम सीधी खड़ी हो जाएं।
    • अपने एक पैर को कुर्सी पर और दूसरे पैर को जमीन पर रखें।
    • अगर आपने पहले कभी पीरियड्स के दौरान टैम्पोन का इस्तेमाल किया है, तो ठीक उसी पुजिशन में आ जाएं।
    • इसके दोनों सिरों पर लचीले रिंग होते हैं। अब एक तरफ से बंद वाले सिरे के रिंग को पकड़कर कॉन्डम को योनि में डालें।
    • फिर दूसरे सिरे के रिंग को योनि से बाहर यानि कि योनि के मुख पर रखें, ताकि बाद में रिंग पकड़कर कॉन्डम को आसानी से बाहर निकाला जा सके।
    • कॉन्डम के जिस सिरे को पकड़कर योनि में डाल रही हैं, उसे हल्का-सा धक्का देकर योनि में डालें, ताकि यह सर्विक्स तक सीधे पहुंचे और इसमें सिकुड़ न आए।
    • इसके अलावा, अगर इस तरह योनि के अंदर कॉन्डम का इस्तेमाल करने में कोई परेशानी आ रही हो, तो इसे एक उंगली में फंसाकर योनि के अंदर डालें।
    • फीमेल कॉन्डम का इस्तेमाल करने के बाद सेक्स के दौरान पुरुष साथी के लिंग को हाथों का इस्तेमाल करते हुए योनि के अंदर लगे कॉन्डम के बीच में डालें।

    जब सेक्स की क्रिया पूरी हो जाए, तो हल्के हाथों के इस्तेमाल से कॉन्डम के बाहरी रिंग को खींचकर बाहर निकालें। ध्यान रखें कि इस दौरान कॉन्डम में जमा सीमेन योनि के अंदर न गिरे और न ही यह फटे।

    और पढ़ेंः सेक्शुअल अट्रैक्शन या रोमांटिक अट्रैक्शन : दोनों के बीच फर्क समझें

    महिला कॉन्डम (Female condom) का इस्तेमाल करते समय बरतें सावधानी

  • महिला कॉन्डम का इस्तेमाल सेक्स शुरू होने से लेकर खत्म होने तक करें। सेक्स के बीच में इसे न पहनें और न ही उतारें।
  • फीमेल कॉन्डम का इस्तेमाल करने से पहले इसके पैकेट पर लिखी बातों को जरूर पढ़ें।
  • महिला कॉन्डम हमेशा ठंडी और सूखी जगह पर स्टोर करें। इसे धूप या नमी वाले स्थान में न रखें।
  • महिला कॉन्डम का इस्तेमाल कर रहें है, तो पुरुष कंडोम का उपयोग न करें।
  • पीरियड्स के दौरान इसका इस्तेमाल न करें।
  • एक महिला कॉन्डम का इस्तेमाल सिर्फ एक बार ही कर सकते हैं। दोबारा उसी कॉन्डोम का इस्तेमाल न करें।
  • कभी भी शौचालय में महिला कॉन्डम को फ्लश न करें। न ही इसे बच्चों या पालतू जानवरों के संपर्क में आने दें।
  • महिला कॉन्डम का इस्तेमाल एनल सेक्स और ओरल सेक्स के दौरान भी कर सकते हैं। हालांकि, अगर पहली बार इसका इस्तेमाल कर रहें है, तो इससे जुड़ी जरूरी बातों को जानने और समझने के लिए अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं।

    और पढ़ेंः अब वो कॉन्डम के लिए खुद कहेंगे हां, जरा उन्हें भी ये आर्टिकल पढ़ाइए

    महिला कॉन्डम का इस्तेमाल करते समय फट जाए तो क्या करें

    अगर सही तरीके से महिला कॉन्डम का इस्तेमाल किया जाए तो इसके फटने की संभावना बहुत कम होती है। हालांकि।  अगर महिला कॉन्डम टूट जाती है या योनि से हटाए जाने पर रिसाव होने लगता है या अगर बाहरी रिंग योनि के अंदर ऊपर की ओर चली जाती है या इसके अलावा कुछ गलत हो जाता है जैसे लिंग और कॉन्डम के बीच सेक्स के दौरान लिंग का फिसलना तो ऐसे में घबराएं नहीं।

    अगर ऐसा कुछ भी होता है तो यहां बताए गए आसान टिप्स आजमाएं :

    • सेक्स के दौरान पेनिस तुरंत हटा लें
    • जितना हो सके उतना सीमन निकालें
    • सेक्स के बाद बाथरूम जाएं और अपने यूरेथरा के आसपास की सफाई करें। इससे अगर यहां कोई सीमन होगा तो वो भी साफ हो जाएगा।
    • अगर आप गर्भावस्था को रोकने के लिए किसी अन्य गर्भनिरोधक का उपयोग नहीं कर रही हैं, तो आप यौन संबंध बनाने के 72 घंटों के भीतर इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव लेने के बारे में सोच सकती हैं।

    और पढ़ें : World Women’s Equality Day: जानें मल्टी टास्किंग महिलाओं का क्या सोचना है वूमन इक्वैलिटी को लेकर

    फीमेल कॉन्डम से जुड़े तथ्य

    • अगर ठीक तरह से इस्तेमाल किया जाए तो फीमेल कॉन्डम 95 फीसदी असरकारी होती हैं।
    • फीमेल कॉन्डम प्रेगनेंसी से बचती हैं और यौन संचारित संक्रमनॉन से भी रक्षा करती हैं।
    • पेनिस के संपर्क में ये बिना फीमेल कॉन्डम को योनि के अंदर लगाना चाहिए।
    • हमेशा सीई मार्क देखकर ही फीमेल कॉन्डम खरीदें। इसका मतलब होता है कि फीमेल कॉन्डम को सुरक्षा मानकों के अनुसार टेस्ट किया जा चुका है।
    • सेक्स के दौरान फीमेल कॉन्डम योनि के अंदर पुश हो सकती है लेकिन ऐसा होने पर घबराएं नहीं क्योंकि आप आसानी से इसे बाहर निकाल सकती हैं।
    • जो महिलाएं अपने यौन अंगों को छूने में सहज नहीं होती हैं, उन्हें इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
    • हर बार नई फीमेल कॉन्डम का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

    अधिकांश सेक्सुअल हेल्थ प्रोफेशनल आपको असुरक्षित यौन संबंध के 10 दिन बाद या कॉन्डम टूटने की स्थिति में (या पहले यदि आप किसी भी लक्षण के बारे में चिंतित हैं) यौन स्वास्थ्य परीक्षण कराने की सलाह देंगे। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी

    डेंटिस्ट्री · Consultant Orthodontist


    Ankita mishra द्वारा लिखित · अपडेटेड 20/05/2021

    advertisement iconadvertisement

    Was this article helpful?

    advertisement iconadvertisement
    advertisement iconadvertisement