home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

अनचाही प्रेग्नेंसी (Unplanned Pregnancy) से कैसे डील करें?

अनचाही प्रेग्नेंसी (Unplanned Pregnancy) से कैसे डील करें?

आप शादीशुदा हों या लिव इन में रह रहे हो। दोनों ही परिस्थितियों में आपके और पार्टनर के करियर या आर्थिक क्षेत्र में खुद को स्ट्रॉन्ग करने से संबंधित कुछ गोल्स होते हैं। ऐसे में यदि अनचाही प्रेग्नेंसी आ जाए तो इस सिचुएशन को हैंडल करना मुश्किल हो सकता है। क्योंकि इस सिचुएशन के लिए आप तैयार नहीं थे। आज हम इस आर्टिकल में कुछ ऐसे पक्षों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी जानकारी होने पर आप और आपका पार्टनर अनचाही प्रेग्नेंस से आसानी से डील कर सकते हैं। इसके लिए हमने दिल्ली के पीतमपुरा में स्थित मैक्स अस्पताल में सीनियर कंसल्टेंट साइकैट्रिस्ट डॉक्टर सुमित गुप्ता की मदद ली है।

अनचाही प्रेग्नेंसी से कैसे डील करें (Unplanned Pregnancy)

अनचाही प्रेग्नेंसी – स्थिति को स्वीकार करें (Accept the situation)

अनचाही प्रेग्नेंसी (Pregnancy) को अक्सर महिलाएं भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक रूप से स्वीकार नहीं कर पाती हैं। इसका सबसे बड़ा कारण होता है कि वे उस समय मां बनने के लिए दिल और दिमाग से तैयार नहीं होती। इस स्थिति में उनके दिमाग में कई नकारात्मक विचार आने लगते हैं। इस स्थिति को स्वीकार करना चाहिए। बेहतर होगा कि खुद को कुछ समय दें और सोच-विचार करके सही डिसीजन लें।

और पढ़ें – शीघ्र गर्भधारण के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

लिव इन में बढ़ती है दिक्कत

लिव इन में रह रहे कपल्स को अनचाही प्रेग्नेंसी (Pregnancy) के दौरान सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहां तक कि कई बार प्रेग्नेंसी को कैसे हैंडल किया जाए इसके बारे में उन्हें सही जानकारी भी नहीं होती है।

इस बारे में दिल्ली के पीतमपुरा में स्थित मैक्स अस्पताल में सीनियर कंसल्टेंट साइकैट्रिस्ट डॉक्टर सुमित गुप्ता ने बताया कि, ‘लिव इन में रह रहे कपल्स को अक्सर अनचाही प्रेग्नेंसी के बारे में किसी से बात करने में शर्मिंदगी महसूस होती है। कहीं ना कहीं समाज में इसको लेकर स्वीकार्यता ना होना बड़ा कारण है। इस स्थिति में उन्हें तत्काल गायनोकोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए।’ डॉक्टर गुप्ता का कहना है कि, ‘अनचाही प्रेग्नेंसी होना एक सामान्य बात है, जो किसी भी कारण से हो सकती है। इस स्थिति में सूझबूझ से काम लें कि अब आप इससे कैसे डील करना चाहते हैं।’

मैरिड कपल्स (Married Couples) कैसे करें हैंडल?

मैरिड कपल्स में अनचाही प्रेग्नेंसी के सवाल पर डॉक्टर गुप्ता ने कहा, ‘अनचाही प्रेग्नेंसी होने पर कपल्स को शांति से डिसीजन लेना चाहिए। यदि वे प्रेग्नेंसी को कैरी करना चाहते हैं तो उनके लिए आने वाले समय की प्लानिंग करना बेहद जरूरी है। सही प्रेग्नेंसी प्लानिंग तमाम तरह की परेशानियों को पैदा होने से पहले ही खत्म कर देती है।’ उन्होंने बताया, ‘अनचाही प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अपना आत्मविश्वास नहीं खोना चाहिए। संभवतः यह स्थिति उन्हें मानसिक रूप से परेशान कर सकती है। जरूरत पड़ने पर साइकैट्रिस्ट की मदद ली जा सकती है।’

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें – पीएमएस और प्रेग्नेंसी के लक्षण में क्या अंतर है?

परिवार से अनचाही प्रेग्नेंसी की जानकारी शेयर करने के सवाल पर डॉक्टर गुप्ता ने कहा, ‘कपल्स यदि परिवार से अलग रहते हैं तो ऐसे में यह जरूरी है कि वे इस बारे में फैमिली में बात करें। जरूरी नहीं है हर सदस्य को इसकी जानकारी दी जाए। जो ज्यादा करीब हो उसके साथ जानकारी साझा करें। ऐसा करने से उन्हें मानसिक तौर पर से सपोर्ट मिलेगा।’

अनचाही प्रेग्नेंसी – खुद के प्रति ईमानदार रहें

अनचाही प्रेग्नेंसी के मामले में महिलाओं और पुरुष दोनों के दिल में कई तरह की भावनाएं उमड़ती हैं। मन में आने वाले इन ख्यालों का असर आपकी बॉडी पर भी हो सकता है। आप इन अहसासों को एक प्राइवेट नोट बुक में लिख सकते हैं। इससे सत्यता का मूल्यांकन करने में मदद मिलेगी। इस स्थिति में आप जितना हो सके अपनी भावनाओं के प्रति ईमानदारी बरतें। अपनी भावनाओं को दबाएं नहीं। हो सकता है कि आपके मन में अपने अजन्मे शिशु के लिए प्यार छिपा हो।

थोड़ा समय दें

अनचाही प्रेग्नेंसी आपके लिए चुनौतीपूर्ण हो सकती है। इस स्थिति में दूसरे विषय जैसे नौकरी, शिक्षा और परिवार की राय को एकतरफ रखें। इन विषयों को एक साथ मिक्स ना करें। इस स्थिति में अपने हौसले पर भरोसा रखें। इसके साथ ही इसे अपनी प्राइवेट नोटबुक में जरूर लिखें। यदि आप कमिटेड रिलेशनशिप में हैं तो हो सकता है प्रेग्नेंसी की खबर इस रिश्ते में विवाद पैदा कर दे।

और पढ़ें – हेल्दी प्रेग्नेंसी के लिए खानपान में शामिल करें ये 9 चीजें

अनचाही प्रेग्नेंसी की खबर को सुनकर आपका/ आपकी पार्टनर भी हैरत में पड़ सकती है। बेहतर होगा कि आप अपने रिश्ते को थोड़ा वक्त दें, जिससे चीजें सामान्य हो सकें।

अनचाही प्रेग्नेंसी – यदि आपका पार्टनर बच्चा चाहता हो

कई बार देखा गया है कि अनचाही प्रेग्नेंसी के मामले में महिला तैयार नहीं होती है लेकिन, पार्टनर पिता बनने की इच्छा रखता है। तो वहीं कई बार महिला तैयार होती है तो पुरुष तैयार नहीं होते। यह स्थिति दोनों के लिए परेशानी खड़ी कर सकती है। इस स्थिति को संभालने के लिए दोनों को अपनी भावनाओं और इच्छाओं के बारे में एक-दूसरे से खुलकर बात करनी चाहिए। दोनों आपसी सहमित से मिलकर इस संबंध में फैसला ले सकते हैं।

घबराएं नहीं

ऐसी महिलाएं जिन्होंने प्रेग्नेंसी प्लानिंग की होती है और वे खुद को स्वास्थ्य, रिश्ते और पैसे के मामले में सही स्थिति में मानती हैं उनके मन में भी एक अच्छी मां ना बन पाने का डर होता है। तो अनचाही प्रेग्नेंसी में इस प्रकार का डर होना सामान्य है। यदि आपके बच्चे में जन्म दोष है या फिर आप पहले ही प्रेग्नेंसी के अनुभव को महसूस कर चुकी हैं तो अनचाही प्रेग्नेंसी में यह डर दोबारा पैदा हो सकता है।

इस स्थिति में आपको यह ध्यान रखना है कि सारी चीजें आपके बस में नही हैं। अपने हौसले से डर को जीतने की कोशिश करें।

और पढ़ें- गर्भवती होने के लिए फर्टिलिटी ड्रग के फायदे और नुकसान

डॉक्टर से सलाह लें

यदि आप और आपका पार्टनर अनचाही प्रेग्नेंसी के लिए तैयार नही हैं तो इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए डॉक्टर की मदद ले सकते हैं। गर्भपात की किसी भी दवाई का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। तभी यह आपकी हेल्थ के लिए ठीक रहेगा।

अंत में हम यही कहेंगे कि अनचाही प्रेग्नेंसी के मामले में हड़बड़ी या जल्दबाजी में किसी भी प्रकार का निर्णय ना लें। बच्चे को बनाए रखना या गर्भपात करना दोनों ही बड़े फैसले हैं। खुद को और पार्टनर को मानसिक रूप से कमजोर ना होने दें। अपने पार्टनर के साथ शांतिपूर्वक इस विषय पर चर्चा करें और दोनों की सहमति से निणर्य लें। चर्चा करने से आप एक-दूसरे की भावनाओं और राय को अच्छी तरह समझ पाएंगे और एक बेहतर निर्णय लेने में सक्षम होंगे। जिससे दोनों ही लोगों की आगे की जिंदगी और बच्चे की इस संसार में आने के बाद की जिंदगी काफी सुखी और सकारात्मक रूप से व्यतीत होगी।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Unplanned pregnancy – https://www.womenshealth.gov/pregnancy/you-get-pregnant/unplanned-pregnancy

Unintended Pregnancy – https://www.cdc.gov/reproductivehealth/contraception/unintendedpregnancy/index.htm

Consequences of Unintended Pregnancy – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK232137/

Unintended Pregnancy and Its Adverse Social and Economic Consequences on Health System: A Narrative Review Article – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4449999/

Unplanned pregnancy – https://www.healthdirect.gov.au/unplanned-pregnancy

लेखक की तस्वीर
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 12/05/2021 को
Mayank Khandelwal के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड