home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय जिससे आपको मिल सकती है खुशखबरी

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय जिससे आपको मिल सकती है खुशखबरी

आजलकल की बदलती लाइफस्टाइल को देखते हुए नए शादी-शुदा कपल्स फैमिली प्लानिंग में देर नहीं करते हैं। ऐसे में जल्दी गर्भधारण करने के उपाय उनके लिए कारगर साबित हो सकते हैं। पूनम और विपिन, शादी के कुछ समय बाद से ही बेबी प्लानिंग कर रहे थे दो साल बीत गए लेकिन, सफलता नहीं मिली। डॉक्टर को भी दिखाया, सारे चेकअप भी नार्मल थे। इस पर डॉ. रीता बक्शी (सफदरगंज हॉस्पिटल, दिल्ली सीनियर आईवीएफ स्पेशलिस्ट एवं सीनियर गायनोकोलॉजिस्ट), ने कपल को सलाह दी कि बस कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना होगा जिससे गर्भधारण आसानी से हो जाएगा। “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में जानते हैं जल्दी गर्भधारण करने के उपाय जिनको फॉलो करके कंसीव करने के चांसेज बढ़ सकते हैं-

और पढ़ें- ऑव्युलेशन टेस्ट किट से जाने कंसीव करने का सही समय

जानें गर्भधारण का सही समय (Right Time of Conceiving)

कंसीव करने की सबसे ज्यादा संभावना फर्टाइल पीरियड (fertile period) में होती है। इसलिए, फैमिली प्लानिंग करने वाले कपल्स को इस दौरान फिजिकल इंटिमेसी बढ़ा देनी चाहिए। कई मेडिकल एक्सपर्ट के अनुसार अगर महिला का मासिक चक्र 28 दिन का है, तो उसके ऑव्युलेशन का समय 11वें से 14वें दिन के बीच हो सकता है। हालांकि, जिन महिलाओं के पीरियड्स नियमित नहीं रहते हैं, उनके ऑव्युलेशन का सटीक समय पता लगाना मुश्किल होता है। गर्भधारण का सही समय जानने के लिए ऑव्युलेशन कैलक्युलेटर की मदद भी ली जा सकती है। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में गर्भधारण का सही समय जानना सबसे जरूरी है।

ऑव्युलेशन के दौरान अंडा अंडाशय से निकलकर फैलोपियन ट्यूब में जाता, जहां स्पर्म के पहुंचने पर गर्भाधान होता है। फैलोपियन ट्यूब में यह अंडा 12 से 24 घंटे तक जीवित रहता है और स्पर्म महिला के शरीर में 48 से 72 घंटे तक रहता है। इसलिए, यह अनुमान लगाया जाता है कि इस दौरान अगर कपल्स हर दूसरे दिन सेक्स करते हैं है, तो शीघ्र गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में आप ओव्युलेशन कैलकुलेटर पर नजर रख सकते हैं।

और पढ़ें- प्रेग्नेंसी में भूख ज्यादा लगती है, ऐसे में क्या खाएं?

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में वजन संतुलित रखें (Maintain Healthy Weight)

एक संतुलित वजन गर्भधारण की संभावना को बढ़ा सकता है। अधिक या कम वजन कंसीव करने में मुश्किलें पैदा कर सकता है। दरअसल, जरूरत से ज्यादा वेट होने से अंडे और शुक्राणु की क्वालिटी प्रभावित होती है और प्रेग्नेंट हाेने की संभावना कम हो जाती है। वहीं, अंडरवेट होने से भी प्रजनन क्षमता कम हो सकती है। शरीर में फैट अधिक होने से एस्ट्रोजन हार्मोन ज्यादा बनने लगता है जो ऑव्युलेशन की प्रक्रिया में बाधा डालता है। अगर महिला का वजन ज्यादा है और गर्भधारण में मुश्किलें आ रही हैं तो सबसे पहले वजन को नियंत्रित करें। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात है आपका वजन। कभी-कभी अधिक वजन की वजह से महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती।

बॉडी मास इंडेक्स या बीएमआई से आप पता कर सकती हैं कि आपका वजन संतुलित है या नहीं। बीएमआई नंबर पता करने के लिए बीएमआई कैलक्युलेटर का उपयोग भी आप कर सकते हैं। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में आपको अपने वजन पर ध्यान देना सबसे जरूरी है।

  • 18.5 और 24.9 के बीच बीएमआई को ‘स्वस्थ वजन’ माना जाता है।
  • 18.5 से नीचे के बीएमआई को ‘कम वजन’ माना जाता है।
  • 25 और 29.9 के बीच बीएमआई को ‘अधिक वजन’ माना जाता है।
  • 30 से ज्यादा बीएमआई ‘मोटापा’ माना जाता है।

और पढ़ें- गर्भवती महिला में इन कारणों से बढ़ सकता है प्रीक्लेम्पसिया (preeclampsia) का खतरा

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में हेल्दी लाइफस्टाइल चुनें (Keep Healthy Lifestyle)

ऐसे तो स्वस्थ रहने के लिए एक अच्छी जीवनशैली अपनाने की सलाह डॉक्टर हमेशा ही देते हैं। वैसे ही गर्भधारण की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए भी एक हेल्दी लाइफस्टाइल जरूरी है। इसलिए गर्भधारण की तैयारी कर रही महिलाएं पौष्टिक और संतुलित आहार लें और कैफीन और एल्कोहॉल का सेवन बंद कर दें। माना जाता है कि 200 मिली ग्राम से अधिक कैफीन की मात्रा महिलाओं की प्रजनन-क्षमता को प्रभावित कर सकती है। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में सबसे जरूरी है आपका एक हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करना।

डॉ. रीता बक्शी के अनुसार जो कपल्स फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं, उन्हें अपने आहार में फोलिक एसिड, जिंक, आयरन और सेलेनियम जैसे तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। सेलेनियम, विशेष रूप से स्पर्म की क्वालिटी बढ़ाने में मदद करता है और जिंक स्पर्म काउंट में वृद्धि करता है।” वे बताती हैं, “विटामिन बी 6 और सी महिलाओं की फर्टिलिटी पर अच्छा प्रभाव डालते हैं। संतुलित आहार के माध्यम से इन तत्वों को लेने की सलाह दी जाती है।” इसके साथ ही कुछ हल्के-फुल्के व्यायाम को डेली रूटीन में शामिल करें। भरपूर नींद लें। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में फोलिक एसिड, जिंक, आयरन और सेलेनियम के लिए बहुत से फूड्स मार्केट में उपलब्ध हैं।

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में तनाव से दूरी है जरूरी (Avoid Stress)

स्ट्रेस लेने से हॉर्मोनल संतुलन बिगड़ता है, जिससे न सिर्फ महिलाओं की बल्कि पुरुषों की प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में सबसे आसान है तनाव को बाय कहना। अगर गर्भधारण के बारे में सोच रही हैं तो तनावपूर्ण स्थिति से ध्यान हटाने की कोशिश करें। स्ट्रेस से आपके ऑव्युलेशन पर बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए, स्ट्रेस से बचने के लिए ध्यान लगाएं, एक्यूपंक्चर का सहारा लें और हो सके तो ज्यादा से ज्यादा खुश रहें। खुश रहने और तनावमुक्त रहने से हॉर्मोनल संतुलन बना रहेगा और प्रजनन क्षमता पर भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में तनाव ऐसी परेशानी है जिसका उपाय आपके हाथ में है।

और पढ़ें- मिसकैरिज से जुड़े 7 मिथ जिन पर महिलाएं अभी भी विश्वास करती हैं

डॉक्टर से जांच कराएं

जल्दी गर्भधारण करने के उपाय करते हुए आप कुछ मेडिकल कारणों को नजरअंदाज कर देते हैं। मां बनने की योजना शुरू करने से पहले, जरूरी है कि आप मेडिकल जांच कराएं। अगर पहले से ही थायराॅइड, पीसीओडी (PCOD) जैसी समस्याएं हैं, तो डॉक्टर से जांच कराकर यह सुनिश्चित कर लें कि बीमारी की मौजूदा स्थिति क्या है। अगर जांच में किसी तरह की समस्या नजर आए, तो घबराएं नहीं। बीमारी का इलाज कराएं। यदि आपकी उम्र 30 से ज्यादा है तो डॉक्टर की सलाह के अनुसार गर्भधारण करें। जल्दी गर्भधारण करने के उपाय में पीसीओडी की प्रॉब्लम आपको कंसीव करने में परेशान कर सकती है लेकिन इसका इलाद है। आपको जरूरत है बस अपने डॉक्टर से सलाह लेने की।

जल्द प्रेग्नेंसी के लिए टिप्स : इन बातों का भी रखें ध्यान

  • अगर आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रही हैं तो आपको फोलिक एसिड का सेवन शुरू कर देना चाहिए। फोलिक एसिड का सेवन होने वाले बच्चे को बर्थ डिफेक्ट से बचाने का काम करता है। आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रहे हैं तो गर्भावस्था के करीब तीन माह पहले ही फोलिक एसिड का सेवन शुरू कर देना चाहिए। साथ ही फोलिक एसिड का सेवन करने से मिसकैरिज का खतरा भी कम हो जाता है। यहीं कारण है कि फोलिक एसिड को गर्भावस्था के दौरान सुपरहीरो कहा जाता है।
  • प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रहे हैं तो कैफीन को कम कर दें। ऐसा नहीं है कि कैफीन का सेवन शरीर को नुकसान ही पहुंचाती है। अगर कैफीन का कम सेवन किया जाए तो शरीर को नुकसान नहीं पहुंचता है। अगर आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रहे हैं तो बेहतर होगा कि कॉफी या चाय को कम मात्रा में ही लें।
  • पीरियड्स साइकिल पर दें ध्यान जरूर दें। अगर आपकी पीरियड साइकिल सही है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। अगर ऐसा नहीं है तो आपको पीरियड साइकिल को ट्रैक करने की जरूरत है।

कोई महिला काफी समय से कोशिश करने के बावजूद भी गर्भवती नहीं हो पा रही हो तो मेडिकल कंडिशन्स के अलावा कई अन्य फैक्टर्स भी जिम्मेदार हो सकते हैं। इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करना ठीक होगा। महिला को अगर कोई भी स्वास्थ्य समस्या नहीं है, तो ऊपर बताए गए जल्दी गर्भधारण करने के उपाय अपनाने से प्रेग्नेंट होने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं।

इस आर्टिकल के माध्यम से आपने जल्द प्रेग्नेंसी के लिए टिप्स जरूर जान लिए होंगे। एक बात का ध्यान रखें कि अगर किसी कारण वश आप प्रेग्नेंट नहीं हो पा रही है तो ऐसे में आपको जांच के साथ ही ट्रीटमेंट की जरूरत भी हो सकती है। आपको ऐसे में लापरवाही नहीं करनी चाहिए और साथ ही ये पता करने की कोशिश करनी चाहिए कि किन कारणों के कारण आप कंसीव नहीं कर पा रही है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए महिला प्रसूति विशेषज्ञ से जरूर सलाह करें। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/05/2021 को
Mayank Khandelwal के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x