home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

हाल ही में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 27 .5 मिलियन कपल्स अपनी फैमली आगे बढ़ाने में असमर्थ हैं। वैसे इसके कई कारण हो सकते हैं लेकिन, बदलती लाइफस्टाइल इनमें से एक अहम कारण माना जाता है। आज जानेंगे अगर आप गर्भवती होना चाहती हैं तो क्या करना चाहिए? गर्भवती होने के लिए तैयारी क्या करना चाहिए? वैसे प्रेग्नेंसी के लिए इस तकनीकी युग में कई अलग-अलग विकल्प भी हैं जैसे इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (IVF), इंट्रायूट्राइन इनसेमिनेशन (IUI) या सरोगेसी (Surrogacy) लेकिन, आज जानेंगे गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो शुरुआत से ही किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

ऐसा नहीं है की प्रेग्नेंट होने के लिए सिर्फ महिलाओं को ही ध्यान रखने की जरूरत है बल्कि पुरुषों को भी कुछ बातों को ध्यान रखना बेहद जरूरी है। आज जानेंगे महिला और पुरुष दोनों को पैरेंट्स बनने के लिए किन-किन बातों को फॉलो करना आवश्यक है साथ ही गर्भवती होने के लिए तैयारी क्या-क्या करनी है। कुछ नियमों को अपनाकर कपल जल्द ही दो से तीन हो सकते हैं।

और पढ़ें- ओवर वेट गर्भवती महिला की कैसी हो डायट ?

गर्भवती होना चाहती हैं

गर्भवती होने की तैयारी (Planning to get pregnant)

क्या आप जल्दी गर्भवती होना चाहती हैं?

अगर आप गर्भवती होने के लिए तैयारी रहीं हैं, और जल्दी गर्भवती होना चाहती हैं तो निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। इनमें शामिल हैं-

1. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो आहार पर सबसे पहले ध्यान दें (Diet to get pregnant)

गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं या प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रहीं हैं तो सबसे पहले अपने आहार पर ध्यान दें। पौष्टिक आहार जैसे साबुत अनाज, अनसेचुरेटेड फैट्स, हरी पत्तेदार सब्जी और प्रोटीन को डायट में शामिल करें। प्रेग्नेंसी के पहले और प्रेग्नेंसी के दौरान लिया गया आहार शिशु के विकास में सहायक होता है। प्रेग्नेंसी से पहले अगर सही मात्रा में पोषण लिया जाए तो प्रेग्नेंसी के दौरान कई प्रकार की समस्याओं से बचा जा सकता है। शरीर में आयरन या फिर कैल्शियम की कमी होने पर होने वाले बच्चे के विकास में समस्या होती है।

2. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो कैफीन की मात्रा कम करें (Avoid Caffeine)

अगर आप गर्भवती होना चाहती हैं तो कैफीन जैसे चाय, कॉफी या हर्बल टी जैसे अन्य पे पदार्थों का सेवन कम से कम करें। इन सभी का ज्यादा सेवन करना मिसकैरिज के खतरे को बढ़ा सकता है। इसलिए कोशिश करें गर्भवती होने के पहले से ही दिन में दो कप से ज्यादा इसका सेवन न करें।

और पढ़ें- पहली बार प्रेग्नेंसी चेकअप के दौरान आपके साथ क्या-क्या होता है?

3. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो स्मोकिंग बंद करें (Quit Smoking)

स्मोकिंग का असर फर्टिलिटी पर पड़ता है। हाल में इंडिया सीएसआर के रिसर्च के अनुसार 60 प्रतिशत महिलाएं स्मोकिंग के कारण मां बनने में असमर्थ रह जाती हैं। प्रेग्नेंसी के पहले से स्मोकिंग का असर गर्भ धारण के बाद गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है। हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो मां की स्मोकिंग का असर भ्रूण के DNA पर पड़ता है। इसलिए अगर महिलाएं प्रेग्नेंट होना चाहती हैं और चाहती हैं कि बच्चा स्वस्थ रहे तो गर्भावस्था के दौरान स्मोकिंग से महिलाएं परहेज करती हैं ठीक वैसे ही गर्भावस्था के पहले भी स्मोकिंग न करें। यह मां और शिशु दोनों के लिए नुकसानदायक होता है।

4. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो एल्कोहॉल का सेवन न करें (Avoid Alcohol)

एल्कोहॉल का सेवन करना हानिकारक होता है लेकिन, क्या आप जानते हैं फैमली प्लानिंग के पहले भी एल्कोहॉल का नकारात्मक असर मां और शिशु दोनों पर होता है? एल्कोहॉल के अत्यधिक सेवन से कंसीव करने की समस्या होने के साथ-साथ भ्रूण के विकास में भी बाधा आती है। इसलिए प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो शराब से दूरी बना लें।

5. अगर गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो सेक्शुअल हेल्थ चेकअप करवाएं

गर्भावस्था की प्लानिंग करने के साथ ही सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन (STIs) की जांच अवश्य करवाते रहें।

6. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो वैक्सिनेशन लेने से पहले वैक्सीन के बारे में जाने (Check on Vaccination)

गर्भावस्था के दौरान या शुरुआती दिनों में एमएमआर वैक्सिनेशन (मम्प्स, मिसल्स, रूबेला) नहीं लेना चाहिए। इस तरह के वैक्सीन हर व्यक्ति को छोटी उम्र में ही दे दी जाती है। इसलिए एमएमआर वैक्सीनेशन की जरूरत नहीं पड़ती है और अगर इसे लेना भी पड़े तो प्रेग्नेंसी प्लानिंग के 3 महीने पहले लेना चाहिए।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें- प्रेग्नेंसी के दौरान लगने वाले जरूरी टीके और उनका महत्व

7. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो दवा लेने से पहले ध्यान रखें

गर्भनिरोधक दवाइयों के साथ-साथ अन्य दवाओं का सेवन न करें। अगर आप किसी तरह सी शारीरिक परेशानी से पीड़ित हैं या कोई परेशानी महसूस होती है तो खुद से इलाज न करें और अपनी मर्जी से दवा न खाएं। गर्भवती होना चाहती हैं तो इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है क्योंकि इसका असर आपकी प्रेग्नेंसी प्लानिंग पर पड़ सकता है।

8. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो वजन पर ध्यान दें (Check your weight)

वैसे तो वजन कम करना या संतुलित रखना हेल्दी होने की निशानी है, लेकिन अगर आप प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रहीं हैं तो वजन बढ़ना नुकसानदायक नहीं होता है। क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान हेल्दी फीमेल का वजन 11 से 16 किलो तक बढ़ना सामान्य माना जाता है।

9. तनाव से बचें

तनाव की वजह से कई तरह के हॉर्मोन रिलीज होते हैं जिसक असर ऑव्युलेशन पर पड़ता है। ऑव्युलेशन कम होने की स्थिति में कंसीव करने में परेशानी होती है। इसलिए अगर

गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो तनाव से दूर रहें

10. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो सेक्स लाइफ पर ध्यान दें

गर्भधारण के लिए 2 से 3 दिनों के गैप में और ऑव्युलेशन के दौरान खासकर पीरियड्स (28 से 30 दिनों के पीरियड्स साइकिल) के 13वें दिन के बाद और 18वें दिनों के पहले इंटरकोर्स जरूर करें। ऐसा नहीं है कि अन्य दिनों में इंटरकोर्स करने से गर्भ नहीं ठहरेगा, लेकिन इस समय कंसीव करने की संभावना बढ़ जाती है।

और पढ़ें: क्या स्तनपान के दौरान दवाएं लेना सुरक्षित है?

11. गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो फोलिक एसिड का सेवन करें (Take Folic Acid)

गर्भावस्था के दौरान फोलिक एसिड न्यूरल बर्थ डिफेक्ट के रिस्क को कम करने में सहायक होता है। गर्भवती महिला को प्रति दिन 600-800 mcg फोलिक एसिड की जरूरत होती है। गर्भावस्था के पहले और प्रेग्नेंसी के दौरान फोलिक एसिड की जरूरत होती है। जिन महिलाओं की न्यूरल ट्यूब बर्थ डिफेक्ट हिस्ट्री रह चुकी है, उन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान 4000 mcg फोलिक एसिड की जरूरत होती है। फोलिक एसिड का सेवन टैबलेट के रूप में या पौष्टिक आहार से लिया जा सकता है। वैसे हेल्थ एक्सपर्ट फोलिक एसिड टैबलेट लेने की सलाह दे सकते हैं।

पुरुषों के लिए टिप्स (Tips for Men in hindi)

अगर आपकी बेटरहाफ गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो आपको भी कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा

ऊपर बताए गए टिप्स महिलाओं को जल्द गर्भवती होने के लिए या प्रेग्नेंसी प्लानिंग के लिए के लिए जरूरी है, तो वहीं पुरुषों को भी निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए। इसमें शामिल हैं-

1. वजन

बढ़ा हुआ वजन जिस तरह कई बीमारियों को दस्तक देता है ठीक वैसे ही अत्यधिक बढ़ा हुआ वजन स्पर्म क्वॉलिटी पर असर डालता है। अमेरिकन सोसायटी फॉर रिप्रोडक्टिव मेडिसिन के अनुसार बढ़ा हुआ वजन जेनेटिक या DNA पर नकारात्मक असर डालता है। जिसका असर आपकी लाइफ पार्टनर के गर्भवती होने पर पड़ सकता है।

2. आहार (Diet)

पौष्टिक आहार शरीर को कई तरह से फिट रखने में सहायक होता है। इसलिए हरी सब्जियां, साबुत अनाज और फलों का सेवन करना चाहिए वहीं चाय, कॉफी या ग्रीन टी और एनर्जी ड्रिंक जैसे पे पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें: पीरियड्स मिस होने के पहले ही मिल जाती है प्रेग्नेंसी की जानकारी!

3. फिजिकल एक्टिविटी (Physical Activity)

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन के अनुसार पुरुषों को एक्सरसाइज और फिजिकल एक्टिविटी करना चाहिए। इससे शरीर फिट रहता है, लेकिन अत्यधिक एक्सरसाइज फर्टिलिटी पर असर डालती है। यही नहीं ज्यादा देर तक बाइक चलाने या या अत्यधिक देर तक बैठने के कारण भी इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है। इसलिए ऐसा करने से बचें।

4. प्रेग्नेंट होने के लिए टिप्स : मल्टी विटामिन (Multi VItamin) का सेवन

अगर कपल्स प्रेग्नेंसी प्लान कर रहें और लाइफ पार्टनर गर्भवती होना चाहती हैं तो आपको (पुरुषों को) भी मल्टीविटामिन्स जैसे विटामिन-सी, विटामिन-ई, सेलेनियम और जिंक का सेवन करना चाहिए। पुरुषों के लिए ऐसे कई मल्टीविटामिन उपलब्ध हैं जिनमें एंटीऑक्सिडेंट की मौजूदगी स्पर्म की क्वॉलिटी बेहतर करने में सहयक होती है।

5. मेन्स अंडर गारमेंट

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है की पुरुषों के अंडरवियर का चयन भी उनके फर्टिलिटी पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। इसलिए अंडर गारमेंट लेते समय कम्फर्ट को ध्यान में रखकर क्वॉलिटी को भी जरूर ध्यान रखें।

6. हीट

रिसर्च के अनुसार हॉट टब, जकूजी या स्टीम रूम में पुरुषों को ज्यादा वक्त नहीं बिताना चाहिए। अत्यधिक हीट के संपर्क में रहने से स्पर्म काउंट पर असर पड़ता है। हालांकि ऐसा नहीं है कि स्पर्म काउंट कम होने के बाद बढ़ नहीं सकता।

और पढ़ें: 5 तरह के फूड्स की वजह से स्पर्म काउंट हो सकता है लो, बढ़ाने के लिए खाएं ये चीजें

7. स्मोकिंग

अमेरिकन सोसायटी फॉर रिप्रोडक्टिव मेडिसिन के अनुसार स्मोकिंग (ध्रूमपान) करने के कारण स्पर्म काउंट और स्पर्म मूवमेंट दोनों पर असर पड़ता है। इसलिए अगर आप गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो स्मोकिंग से दूर रहें। स्मोकिंग इनफर्टिलिटी, सांस संबंधी परेशानी और कैंसर का कारण बन सकती है।

8. हेल्थ कंडीशन

पुरुष अगर किसी गंभीर बीमारी के शिकार हैं जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज रोग, सिस्ट्स फाइबर या वैरिकोसील समस्या होने पर इन सभी बीमारियों का असर मेल फर्टिलिटी पर पड़ता है।गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो आपको अपने पार्टनर के हेल्थ कंडीशन का भी ध्यान रखें।

9. एल्कोहॉल

एल्कोहॉल का अत्यधिक सेवन फर्टिलिटी पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। इसलिए गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो सिर्फ आपकी लाइफपार्टनर ही नहीं आपको भी एल्कोहॉल का सेवन बंद कर देना चाहिए। कुछ रिसर्च के अनुसार अत्यधिक एल्कोहॉल का सेवन सेक्स की इच्छा को कम करता है, टेस्टोस्टोरेन पर नकारात्मक प्रभाव डालता है और स्पर्म की क्वॉलिटी और अमाउंट दोनों पर नकारात्मक प्रभाव डालता है।

10. टेस्ट

अगर लाइफ पार्टनर को गर्भधारण करने में परेशानी हो रही है, तो पुरुषों को भी सीमेन टेस्ट करवाना चाहिए। इस जांच की मदद से स्पर्म की क्वॉलिटी और काउंट दोनों की जानकारी मिलती है। रिपोर्ट के अनुसार गर्भवती होने के लिए तैयारी की जा सकती है। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो ऊपर बताए गए टिप्स को फॉलो करें और इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहती हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Safe, Healthy Birth: What Every Pregnant Woman Needs to Know – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2730905/ – Accessed on 18/11/2019

Getting pregnant – https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/getting-pregnant/basics/parental-health/hlv-20049462 –  Accessed on 18/11/2019

12 things to do when trying for a baby – https://www.tommys.org/pregnancy-information/planning-pregnancy/12-things-do-when-trying-baby  – Accessed on 18/11/2019

Find out why cutting back on alcohol is best if you’re trying for a baby – https://www.yourfertility.org.au/everyone/lifestyle/alcohol  – Accessed on 18/11/2019

Smoking and Infertility – https://www.reproductivefacts.org/news-and-publications/patient-fact-sheets-and-booklets/documents/fact-sheets-and-info-booklets/smoking-and-infertility/  – Accessed on 18/11/2019

लेखक की तस्वीर
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/10/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड