home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल : जानें इसके इस्तेमाल से जुड़े मिथक

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल : जानें इसके इस्तेमाल से जुड़े मिथक

9 मई, 1960 को जब इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन पिल्स के इस्तेमाल को मंजूरी दी गई, तो उसके कुछ ही समय बाद यह सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली दवा बन गई थी। लेकिन जब इसके मिथकों और साइड इफेक्ट्स के बारे में पता चलना शुरू हुआ, तो इसके सेवन में काफी कमी भी देखी गई। इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल (Emergency contraception pills) का सेवन तब किया जाता है, जब असुरक्षित यौन संबंध बनाया जाता है। गर्भनिरोधक अनचाही प्रेग्नेंसी (Unwanted pregnancy) को रोकने में मददगार होते हैं। लेकिन इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल से जुड़े ऐसे कई मिथक हैं, जिन्हें लोग सच समझते हैं। उनका यही मिथक उन्हें कई तरह की परेशानियों में भी डाल सकता है। इसलिए, अगली बार इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल (Emergency contraception pills) का इस्तेमाल करने से पहले हैलो स्वास्थ्य के इस लेख में उससे जुड़े मिथक को अच्छे से जान लें। पढ़िए इस बारे में विस्तार से।

और पढ़ें : जानिए क्या करें अगर पार्टनर न कर पाए सेक्शुअली सैटिसफाई

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल से जुड़े मिथक – Myths about emergency contraception pills

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल (Emergency contraception pills)

1.गर्भनिरोधक का सेवन कभी भी किया जा सकता है

यह मिथ कई महिलाओं में बनी हुई है। उन्हें लगता है कि वो कभी भी पिल्स का सेवन कर सकती हैं। लेकिन गर्भनिरोधक का सेवन असुरक्षित संबंध बनाने के तुरंत बाद करना चाहिए। अगर किसी वजह से इसके सेवन में देरी हो जाए, तो 72 घंटों से ज्यादा देरी किए बिना इसका सेवन करना चाहिए। ये दवाई गायनोकोलॉजिस्ट के निर्देश के बिना नहीं लेनी चाहिए।

2.गर्भनिरोधक गोली का इस्तेमाल करने से प्रेग्नेंट नहीं होते

कुछ लोग गर्भावस्था से बचने के लिए भी इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल का सेवन करते हैं। उन्हें लगता है कि वो इसके सेवन से प्रेग्नेंसी से बच सकते हैं। लेकिन ऐसा सोचना सरासर बस एक मिथ है, क्योंकि गर्भनिरोधक प्रेग्नेंसी की रोकथाम नहीं करता है, बल्कि प्रेग्नेंसी के मौके और भी बढ़ा देता है। इसलिए इस वहम में न रहें कि गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करने से प्रेग्नेंसी के चांसेस पूरी तरह खत्म हो जाते हैं।

और पढ़ें : रिलेशनशिप टिप्स : हर रिलेशनशिप में इंटिमेसी होनी क्यों जरूरी है?

3.ई पिल्स लगातार लें सकते हैं

अगर आपको लगता है कि बार-बार या लगातार इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल का सेवन कर सकते हैं, तो आप खुद ही अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इस दवा का सेवन आखिरी विकल्प के तौर पर ही करना चाहिए। हर दिन यौन संबंध बनाने के लिए किसी दूसरे सुरक्षित गर्भनिरोधक तरीके को अपनाना चाहिए जैसे, कॉन्डम, कॉपर टी। क्योंकि यह ज्यादा भरोसेमंद नहीं होता है और साथ ही, शरीर के लिए भी नुकसानदेह हो सकता है।

4.इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल यौन रोगों का रोकथाम करती है

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल किसी भी तरह के यौन रोगों से बचाव नहीं करती है। यौन रोगों से बचाव के लिए सबसे सुरक्षित विकल्प कॉन्डम होता है। इसलिए हर बार सेक्स के दौरान कॉन्डम का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी हो सकता है।

5.एबॉर्शन के लिए ई पिल्स लें सकते है

अधिकतर लोगों को लगता है कि इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल के इस्तेमाल से अबॉर्शन किया जा सकता है। हालांकि यह मात्रा एक मिथक ही है। अगर महिला के गर्भ में पुरुष का शुक्राणु प्रवेश कर चुका है या गर्भ में भ्रूण का विकास हो गया है, तो यह किसी भी तरह से मददगार नहीं होता है। अगर आपको अबॉर्शन (Abortion) करना है, तो अपने गायनेकोलॉजिस्ट से संपर्क करें।

6. आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली से ब्रेस्ट साइज में बदलाव होता है

इस बात में सच्चाई है कि गर्भनिरोधक के इस्तेमाल से स्तनों का आकार बढ़ जाता है, लेकिन यह एक तय स्थिति तक ही संभव होता है, क्योंकि इसके इस्तेमाल से शरीर के हॉर्मोन में बदलाव आता है, जिसके कारण स्तनों के आकार में थोड़ी वृद्धि हो सकती है। लेकिन अगर आप ऐसा सोच रहीं हैं कि इसका इस्तेमाल स्तनों के विकास में मददगार हो सकता है, तो यह सिर्फ एक मिथक ही है।

और पढ़ें : बेडरूम रोमांस टिप्स : रोमांस करने से पहले अपने बेडरूम को इस तरह दें नया लुक

[mc4wp_form id=”183492″]

जानिए एक्सपर्ट की सलाह

कंस्लटिंग होम्योपैथ और क्लिनिकल सेक्सोलॉजिस्ट, डॉ. शाहबाज सायद M.D (Hom), PGDPC के साथ हैलो स्वास्थ्य की टीम ने बात की। उनका कहना है “गर्भानिरोध के कई तरीके हैं, जिनमें दवाओं से लेकर कॉपर टी और कंडोम का इस्तेमाल शामिल हैं। हालांकि इसके लिए मौजूद विकल्पों में ओरल दवाओं का सेवन अधिक हानिकारक हो सकता है। क्योंकि, ओरल इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल के सेवन से हॉर्मोन के स्तर में उतार-चढ़ाव हो सकता है, जिसके साइड इफेक्ट्स भी अधिक महिला के लिए हानिकारक हो सकते हैं।”

इनमें पीरियड्स का अनियमित होना सबसे आम लक्षण हो सकते हैं। साथ ही :

अगर आपको ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण नजर आ रहे हैं, तो एक बार अपने डॉक्टर से संपर्क कर लें, ताकि समस्या का समाधान सही समय पर हो जाए और आप स्वस्थ रहें।

जानिए इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल इस्तेमाल करने वाली महिलाओं के अनुभव

इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, यह जानने के लिए हैलो स्वास्थ्य की टीम ने प्रायगराज (पहले इलाहाबाद था) की रहने वाली मंजू मौर्या से बात की। उनका कहना है, “जब मैंने इसका इस्तेमाल शुरू किया, तो मेरे पीरियड्स अनियमित होने लगे। साथ ही, पीरियड्स के दिनों में होने वाला दर्द भी काफी बढ़ गया था। शुरू शुरू में मुझे यह नहीं पता चला कि मैरे स्वास्थ्य के साथ ऐसा क्यों हो रहा है। तकलीफ ज्यादा बढ़ने पर मैंने डॉक्टर से बात की। तब जाकार मुझे इसके पीछे का कारण पता चला। तब से मैं इसे लेकर बहुत ही सावधान रहने लगी हूं। अगर मुझे असुरक्षित सेक्स से बचाव करना है, तो मैं इसके लिए अपने पति को कॉन्डोम का इस्तेमाल करने के लिए कहती हूं।”

साथ ही यह भी जान लें कि ओरल इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल (Contraception pills) से ज्यादा सुरक्षित होते हैं। ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स वो होते हैं जो 21 दिनों या 28 दिनों के अंतराल में खाई जाती है। जबकि, इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स (Contraception pills) वो होते हैं जिनका इस्तेमाल संभोग करने के 72 घंटों के अंदर इस्तेमाल करना जरूरी होता है। यह स्वास्थ्य के लिए कई तरह से जोखिम भरा हो सकता है।

और पढ़ें : फीमेल कॉन्डोम और मेल कंडोम में क्या अंतर है?

अगर गलती से ई पिल्स ले लिया है, तो क्या करें?

अगर कोई महिला गलती से ई पिल्स ले लेती है या उसका ओवर डोज लेती है, तो उसे तुरंत उल्टी करने का प्रयास करना चाहिए। और अपने डॉक्टर से तुंरत संपर्क करना चाहिए। इस तरह की दवाएं अक्सर शरीर के हॉर्मोन को प्रभावित करते हैं। ऐसे में इसकी कोई अनचाही खुराक या जरूरत से ज्यादा खुराक महिला के शरीर के लिए जोखिम भरी हो सकती है। इसके अलावा, अगर किसी महिला को डॉक्टर द्वारा निर्देशित दवा की खुराक लेने के बाद भी शारीरिक या मानसिक तौर पर कोई लक्षण महसूस होते हैं, तो भी उसे तुंरत इसकी खुराकी लेनी बंद करनी चाहिए और अपने डॉक्टर से परामर्श करनी चाहिए।

आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली (ECP) की सामान्य खुराक क्या होती है?

एक्सरपर्ट्स के अनुसार असुरक्षित संभोग के बाद जितनी जल्दी हो सके ई पिल्स की खुराक ले लेनी चाहिए। सामान्य तौर पर, इसका एक टैबलेट 1.5 मिग्रा या 0.75 मिग्रा का हो सकता है। इन दोनों ही खुराक की मात्रा आपके डॉक्टर सेक्स करके के बाद 72 घंटों के अंदर लेने की सलाह दे सकते हैं।

कब नहीं लेनी चाहिए ई पिल?

खासतौर पर, प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग (Breastfeeding) कराने वाली महिलाओं को इसकी खुराक नहीं लेनी चाहिए। इनके अलावा, अगर किसी महिला को कोई गंभीर शारीरिक स्थिति है जिसके लिए वो डेली रूटीन पर दवाओं की खुराक लेती हैं, तो उन्हें भी इसकी खुराक लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

उम्मीद है आपको अब इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल से जुड़े मिथक (Myths about emergency contraception pills) के बारे में जानकारी हो गई होंगी। तो अब अगर आपको कोई इन मिथकों पर भरोसा करते दिखाई दे, तो आप उन्हें भी इस बारे में बताएं और इसके बारे में जानकारी दें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Emergency Contraception Laid Bare: The 10 Biggest Myths Revealed. https://www.drugs.com/slideshow/emergency-contraception-1121. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency contraception: dispelling the myths and misperceptions. https://www.who.int/bulletin/volumes/88/4/10-077446/en/. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency Contraceptive Pills (ECPs). https://dhsfw.assam.gov.in/portlets/contraceptives#:~:text=GOI%20Guidelines,Levonorgestrel%20for%20use%20as%20ECP. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency contraception. https://www.womenshealth.gov/a-z-topics/emergency-contraception. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency contraception. https://medlineplus.gov/ency/article/007014.htm. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency contraception. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2792670/. Accessed on 06 November, 2020.

Emergency Contraception. https://www.cdc.gov/reproductivehealth/contraception/mmwr/spr/emergency.html. Accessed on 06 November, 2020.

Contraception – emergency contraception. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/contraception-emergency-contraception. Accessed on 06 November, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड