home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

योग सेक्स: योगासन जो आपकी सेक्स लाइफ को बनाएंगे शानदार

योग सेक्स: योगासन जो आपकी सेक्स लाइफ को बनाएंगे शानदार

योग और सेक्स एक बेहतर शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ, उनके विकास के लिए काफी अहम भूमिका निभा सकता है। अधिकतर लोग भले ही, योग सेक्स के गुणों और उससे निजी जीवन में होने वाले बदलावों को नजरअंदाज कर दें, लेकिन हमें योग सेक्स के फायदों को जल्द से जल्द अपनाने की पहल करनी चाहिए।

हर तीन में से एक कपल को सेक्स से जुड़ी कोई न कोई समस्या होती है। लेकिन सेक्स या सेक्स लाइफ एक ऐसा विषय है, जिसके बार में हमारे देश में अभी भी लोग खुलकर बात करने से कतराते हैं। सेक्स या एक अच्छा शारीरिक संबंध व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक रूप से फिट बनाए रखने में मदद कर सकता है। कई बार खराब लाइफ स्टाइल का असर सेक्स लाइफ को प्रभावित कर सकता है। जिसे बेहतर बनाने के लिए आप योग की मदद ले सकते हैं।

योग सेक्स, महिलाओं से लेकर पुरुषों में सेक्स से जुड़ी कई तरह की समस्याओं को दूर करने में काफी मदद कर सकता है तो, चलिए हम अपने आज के इस आर्टिकल में आपको योग सेक्स के फायदों और योग से बेहतर सेक्स लाइफ कैसे बनाई जा सकती है, इसके बारे में आपको सारी जानकारी देने वाले हैं।

और पढ़ेंः शावर सेक्स टिप्स : ऐसे करें तैयारी, ताकि भारी न पड़े रोमांस

योग सेक्स से कैसे बनाएं साथी के साथ मजबूत रिश्ता

योग से बेहतर सेक्स लाइफ कैसे पाई जा सकती है, इस बारे में महान भारतीय गुरु, महर्षि वात्सयायन (Maharishi Vatsyayana) ने ‘काम सूत्र‘ की रचना की थी। जिसमें ऐसे कई बातों का उल्लेख किया गया है, जो मानव जीवन में सेक्स की जरूरत को बेहतर तरीके से समझाने में हमारी मदद कर सकता है। कुछ अध्ययनों की माने, तो अधिकतर कपल अपने सेक्स लाइफ से अपने पूरे जीवनकाल में पूरी तरह से संतुष्टी नहीं प्राप्त कर पाते हैं। इसकी वजह से सेक्स के बारे में जानकारियों की कमी होना। लोगों की माने तो वे अपने साथी के साथ मुश्किल से ही चार या पांच सेक्स पुजिशन ही अपनाते हैं। जिससे वो कुछ समय बाद बोर भी हो जाते हैं। जिसके बाद उनकी सेक्स लाइफ बस शारीरिक जरूरत बनकर रह जाती है, लेकिन उन्हें शारीरिक संतुष्टी मुश्किल ही मिल पाती है। लेकिन, योग सेक्स की मदद से वो अपनी निजी संबंधों में आ रही खामियों को पूरा कर सकते हैं।

योग से बेहतर सेक्स लाइफ कैसे पाएं?

हम सभी जानते हैं कि योग की मदद से हम स्ट्रेस, बढ़ते वजन को कम करने के साथ-साथ पाचन क्रियाओं में भी सुधार ला सकते हैं। साथ ही, योग के कुछ प्रकार शरीर के अलग-अलग अंगों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि नियमित योग करने से शरीर में कोर्टिसोल का लेवल कम करके उसे नियंत्रित किया जा सकता है। कोर्टिसोल एक हार्मोन है जो शरीर में तनाव के स्तर के बढ़ने और घटने के लिए जिम्मेदार हो सकता है। वहीं, तनाव बढ़ने से शरीर पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं जो यौन इच्छा में कमी आने का भी एक सबसे बड़ा कारण बन सकत है। इसलिए यौन उत्तेजना बढ़ाने के लिए योग बेहतर विकल्प माना जाता है।

और पढ़ेंः सेक्स लाइफ में तड़का लगा सकता है लूब्रिकेंट! जानिए उपयोग का तरीका

इन योग से बेहतर बनाए सेक्स

कामेच्छा बढ़ाने के लिए योगासन रोजाना अपने दिनचर्या में अपनाएं –

पद्मासन

नियमित तौर पर पद्मासन का अभ्यास करने से शरीर में स्ट्रेस लेवल को आसानी से कम किया जा सकता है और यौन शक्ति को बढाया जा सकता है, जिससे बेहतर सेक्स लाइफ पाना संभव हो सकता है। इस आसन से मांसमेशियां, पेट, मूत्राशय और घुटनों में खिंचाव उत्पन्न होता है, जो इन अंगों को मजबूत बनाने में मदद कर सकती है। पद्मासन की मुद्रा में हमारी शरीर एक तरह से ध्यान लागने की मुद्रा में होता है। जो हमारे मन में चल रहे कई तरह की भावनाओं और जिज्ञासों को शांत करके मन को स्थिर बनाए रखने में अहम भूमिका निभा सकता है।

पद्मासन योग कैसे करें

  • पद्मासन करने के लिए फर्श पर योग मैट बिछाएं और उस पर सीधे बैठ जाएं।
  • अपने बैठने की मुद्रा में रीढ़ की हड्डी को एकदम सीधी रखें और टांगों को फैलाकर रखें।
  • अब धीरे से दाएं घुटने को मोड़कर बायीं जांघ के ऊपर पर रखें। ध्यान रखें कि आपके दाएं पैर की एड़ी पेट के निचले हिस्से को छूती रहे।
  • इसकी तरह दूसरा पैर भी दाएं पैर के जांघ के ऊपर रखें।
  • अब दोनों पैरों के क्रॉस होने के बाद अपने हाथों को आप आरामदायक मुद्रा में रख सकते हैं।
  • इस मुद्रा के दौरान सिर और रीढ़ की हड्डी को सीधा ही रखें।
  • मुद्रा में आने के बाद लंबी और गहरी सांसें लेते रहें।
  • फिर सिर को धीरे से नीचे की तरफ ले जाएं और ठोड़ी को गले से छूने की कोशिश करें।
  • इस मुद्रा में एक मिनट तक बैठने के बाद आपको यही प्रक्रिया पैरों की अवस्था में बदलाव लाते हुए यानी इसी आसन को दूसरे पैर को ऊपर रखकर अभ्यास करना होगा।
  • इस मुद्रा को आप 10 से 15 मिनट के लिए कर सकते हैं।

और पढ़ेंः सेक्स के वक्त आप भी करते हैं फ्लूइड बॉन्डिंग? तो जान लें ये बातें

हलासन (Halasana Or Plow Pose)

हलासन को अंग्रेजी में प्लो पोज (Plow Pose) भी कहते हैं। इस योगासन का नाम हलासन इसलिए है, क्योंकि इस मुद्रा में शरीर हल की तरह दिखाई देता है। हल एक तरह का उपकरण होता है जिसका इस्तेमाल खेतों की जुताई करने के लिए किया जा सकता है। इस योग सेक्स से डीप पेनिट्रेशन मिलता है। इससे उन्हें पार्टनर को ज्यादा उत्तेजना मिल सकती है।

हलासन योग कैसे करें

  • फर्श पर योग मैट बिठाएं और उस पर पीठ के बल सीधा लेट जाएं।
  • अब अपने हाथों को शरीर से सटा लें और हथेलियों को जमीन की तरफ चिपका कर रखें।
  • फिर अपनी सांस अंदर की ओर खींचते हुए दोनों पैरों को ऊपर की तरफ उठाते हुए पैरों से टांगे कमर तक 90 डिग्री का कोण बनाएं।
  • ऐसा करने पर पेट की मांसपेशियों पर दबाव बनता है।
  • अब टांगों को ऊपर उठाते हुए अपने हाथों से कमर को सहारा दें। ताकि, कमर को ऊपर की तरफ ऊठा सकें।
  • अब सीधी टांगों को कमर से ऊपर की तरफ बढ़ाते हुए सिर की तरफ झुकाएं और पैरों को सिर के पीछे ले जाने का प्रयास करें।
  • इसके बाद आपको पैरों के अंगूठे से जमीन को छुएं।
  • हाथों को कमर से हटाकर जमीन पर सीधा रख लें और हथेलियों को पहले की तरह ही जमीन की तरफ रखें।
  • इस मुद्रा में आपको एक मिनट तक बने रहना है और सांसों पर ध्यान केंद्रित करते हुए सांस छोड़ते हुए, टांगों को वापस जमीन की तरफ ले जाएं।
  • ध्यान रखें कि सांसों को धीरे-धीरे छोड़ें और उसी स्वर में आपने पैरों को भी जमीन की तरफ बढ़ाएं इस दौरान किसी भी तरह की जल्दबाजी न करें।
  • यही प्रक्रिया आप 10 से 15 बार दोहरा सकते हैं।

और पढ़ेंः पुराने सेक्स के तरीकों को बदलें अब ट्राई करें सेक्स के नए तरीके

मार्जरासन योग (Cat Pose) (Marjaryasana)

इसे मार्जरासन या मार्जरी आसन दोनों ही कह सकते हैं। यह एक संस्कृत भाषा का शब्द है, जो दो शब्दों से मिलकर बनता है। इसमें “मार्जरी” शब्द का अर्थ “बिल्ली” होता है और “आसन” का अर्थ “मुद्रा या स्थिति” होता है। इसे वजह से इसे अंग्रेजी में कैट पोज (Cat pose) भी कहा जाता है। क्योंकि, इस आसान को करते समय व्यक्ति का शरीर एक बिल्ली के समान दिखाई देता है। इस आसन को करने से रीढ़ और पीठ की मांसपेशियां लचीलाी बनती है। ये तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है और सेक्स की इच्छा बढ़ाने में भी मदद भी कर सकता है।

मार्जरासन योग कैसे करें

  • सबसे पहले मार्जरासन योग करने के लिए आपको फर्श पर एक योगा मैट बिछाना होगा।
  • फिर मैट पर अपने दोनों घुटनों को टेक कर बैठ जाएं।
  • अब आसन को करने के लिए आप वज्रासन की मुद्रा में भी बैठ सकते हैं।
  • मैट पर बैठने की मुद्रा में आने के बाद अब अपने दोनों हाथों को फर्श पर आगे की ओर रखें।
  • इसके बाद, अपने दोनों हाथों पर थोड़ा सा भार डालते हुए अपने हिप्स (कूल्हों) को ऊपर की तरफ उठाएं।
  • अब अपनी जांघों को ऊपर की ओर सीधा करते हुए पैर के घुटनों पर 90 डिग्री का कोण बनाएं।
  • जब आप इस मुद्रा में आ जाएंगे, तो आपका चेस्ट फर्श के समान्तर होगा और आपके शरीर की मुद्रा एक बिल्ली के समान दिखाई देगी।
  • इस मुद्रा में आने पर आपको एक लंबी सांस लेनी होगी और अपने सिर को पीछे की ओर झुकाना होगा, फिर अपनी नाभि को नीचे से ऊपर की तरफ ले जाना होगा और रीढ़ की हड्डी के निचले भाग को ऊपर उठाना होगा।
  • फिर अपनी सांस को बाहर छोड़ते हुए आपको अपने सिर को नीचे की ओर झुकाना होगा और मुंह की ठुड्डी को अपने सीन की तरफ लाना होगा।
  • अब फिर से अपने सिर को पीछे की ओर करें और इस प्रक्रिया 10 से 20 बार दोहराहएं।
  • ध्यान रखें कि इस मुद्रा को करते समय घुटनों के बीच की दूरी को कम या ज्यादा न करें और आपके हाथ भी झुकने नहीं चाहिए।

और पढ़ेंः सेक्स और डेटिंग को लेकर है कुछ कंफ्यूजन तो ये आर्टिकल कर सकता है आपकी मदद

ब्रिज पोज या सेतुबंधासन (Bridge Pose) (Setu Bandhasana)

ब्रिज पोज या सेतुबंधासन मुद्रा महिलाओं के लिए बेहतर हो सकती है। यह पेल्विक फ्लोर को मजबूत बनाने में मदद करती है और मांसपेशियों को मजबूत करके सेक्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकती है।

ब्रिज पोज या सेतुबंधासन कैसे करें

  • सबसे पहले फर्श पर योग मैट बिछाएं और जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • इसके बाद अपने घुटनों को मोड़ते हुए कमर के हिस्से को ऊपर की तरफ उठाएं।
  • इस दौरान पैरों और कूल्हों के बीच दूरी बनाएं।
  • श्रोणि (pelvis) जमीन से 10 से 12 इंच ऊपर होनी चाहिए।
  • इसके बाद पैरों के घुटने और एड़ियां एक सीधी रेखा में रखें।
  • फिर कूल्हों और घुटनों को ऊपर उठाए हुए पोजिशन में ही अपने दोनों हाथों से पैर के टखनों को पकड़ें।
  • अब श्वास लें और हल्के से अपने पीठ के निचले हिस्से को जमीन से ऊपर उठायें।
  • इसके बाद अपने सीने को ऊपर ऊठाएं और ठोड़ी के पास ले जाने की कोशिश करें।
  • इसके बाद धीरे-धीरे और सामान्यरूप से सांस लें।
  • इस मुद्रा में आपको 30 सेकेंड से 1 मिनट तक बने रहना है। फिर सांस को धीरे-धीरे छोड़ते हुए आपको वापस से जमीन पर सीधा लेट जाना है और कुछ सेकंड बाद फिर से यह मुद्रा दोहरानी है। इसे आप 5 से 10 बार कर सकते हैं।

बालासन (Balasana) (Child’s Pose)

balasan

बालासन काफी आसान और फायदेमंद आसन है। इसका अभ्यास करने से आपके कूल्हे की मांसपेशियां लचीनी बन जाती हैं। इससे आपके शरीर को आराम मिलता है, जिससे आपका तनाव व चिंता का स्तर कम हो जाता है। तनाव व चिंता कम होने की वजह से आपका सेक्शुअल परफॉर्मेंस बेहतर हो जाता है। तो आइए जानते हैं कि इस योगासन को कैसे किया जाता है।

  • बालासन कैसे करें
  • सबसे पहले आप जमीन पर एक मैट बिछाकर जमीन पर घुटनों के बल बैठ जाएं।
  • बैठते हुए ध्यान रखें कि आपके पंजे पूरी तरह से जमीन को छू रहे हों।
  • अब अपने घुटनों को कूल्हों की चौड़ाई के बराबर खोल लें।
  • इसके बाद अपनी सांस को धीरे-धीरे छोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें।
  • अब अपने हाथों को कंधों के नीचे रखें और कूल्हों को एड़ियों की तरफ वापिस ले जाएं और शरीर को स्ट्रेच करें।
  • कोशिश करें कि आपका माथा मैट को छूने लगे।
  • इस पुजिशन में 30 सेकंड तक रहें और फिर सामान्य हो जाएं।

और पढ़ेंः हॉर्नी होना क्या है? क्या यह कोई समस्या है?

powered by Typeform

योग के माध्यम से न सिर्फ आप अपने सेक्स का समय बढ़ा सकते हैं, बल्कि सेक्स में घट रही रूचि को भी बढ़ा सकते हैं। एक अध्ययन में 40 महिलाओं को शामिल किया गया। जिन्हें 12 सप्ताह तक इसी तरह के योग मुद्राओं का अभ्यास करवाया गया। अध्ययन के बाद, शोधकर्ताओं ने अपने निष्कर्ष में पाया कि योग के कारण महिलाओं के सेक्स जीवन में काफी सुधार हुआ था। जिसे देखते हुए उनमे से कुछ महिलाओं ने आपने दैनिक जीवन में नियमित तौर पर सेक्स करने की भी इच्छा जताई।

अगर आप अपनी किसी भी सेक्स से जुड़ी समस्या के लिए योग सेक्स अपनाने के बारे में विचार कर रह हैं, तो एक बार अपने डॉक्टर या योग एक्सपर्ट की सलाह भी अवश्य लें। क्योंकि, योग सेक्स करने के लिए आपको इन मुद्राओं की सही जानकारी होनी बेहद जरूरी हो सकती है।

अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

We Asked: Do Yogis Have Better Sex?. https://www.yogajournal.com/lifestyle/asked-yogis-better-sex. Accessed on 22 June, 2020.
Yoga in Male Sexual Functioning: A Noncompararive Pilot Study. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20646186/. Accessed on 22 June, 2020.
Effects of Yoga on Sexual Function in Women With Metabolic Syndrome: A Randomized Controlled Trial. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23899008/. Accessed on 22 June, 2020.
Role of Yoga in the Management of Premature Ejaculation. https://wjmh.org/Synapse/Data/PDFData/2074WJMH/wjmh-37-e54.pdf. Accessed on 22 June, 2020.
Yoga, Kegel Exercises, Pelvic Floor Physical Therapy. https://www.menopause.org/for-women/sexual-health-menopause-online/effective-treatments-for-sexual-problems/yoga-kegel-exercises-pelvic-floor-physical-therapy. Accessed on 22 June, 2020.
Trauma-Sensitive Yoga for Female Veterans With PTSD Who Experienced Military Sexual Trauma (PSL II). https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02640690. Accessed on 22 June, 2020.
Pilates and yoga – health benefits. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/pilates-and-yoga-health-benefits. Accessed on 22 June, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Ankita mishra द्वारा लिखित
अपडेटेड 22/06/2020
x