home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सेक्स लाइफ में तड़का लगा सकता है लुब्रिकेंट! जानिए उपयोग का तरीका

सेक्स लाइफ में तड़का लगा सकता है लुब्रिकेंट! जानिए उपयोग का तरीका

सेक्स के दौरान आपको या आपके पार्टनर को इंटरकोर्स के समय दर्द महसूस होता है या इंटरकोर्स में परेशानी होती है? ऐसे में शायद आप किसी लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करते होंगे। अगर आप किसी तरह के ऑयल का इस्तेमाल सेक्स के दौरान करते हैं, तो जान लीजिए वही सेक्स लुब्रिकेंट है। सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से सेक्स लाइफ और मजेदार बनती है। साथ ही आप बिना किसी दर्द के खास पलों का आनंद ले सकते हैं। वैसे सेक्स लाइफ बेहतर बनाने के लिए मेडिटेशन का विकल्प भी अपनाया जा सकता है। इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि लुब्रिकेंट क्या है, ये कितने प्रकार का होता है, सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कैसे करें?


सेक्स लुब्रिकेंट क्या हैं? What is sex lubricant?

अक्सर आपने सेक्स के मामले में एक कहावत सुनी होगी कि दि वेटर दि बेटर (the wetter the better), जिसका मतलब होता है ‘गीला है तो अच्छा है’। सेक्स के समय जब पुरुष और महिला के बीच में फोरप्ले होता है तो पेनिस और वजायना से कुछ तरल पदार्थ निकलते हैं, जिसे प्रीकम कहते हैं। जिसके मदद से इंटरकोर्स के समय पेनिस आसानी से वजायना में चला जाता है, लेकिन कभी-कभी स्ट्रेस, हॉर्मोनल चेंज, नींद की कमी आदि कारणों से प्रीकम होता ही नहीं है। ऐसे में इंटरकोर्स के दौरान दोनों पार्टनर को दर्द और घर्षण महसूस होता है, जिससे दोनों के गुप्तांगों को परेशानी हो सकती है। इसी दर्द और घर्षण को रोकने के लिए एक तरल पदार्थ का इस्तेमाल पेनिस और वजायना पर किया जाता है। जिसे सेक्स लुब्रिकेंट कहते हैं।

लुब्रिकेंट तरल चिपचिपा और चिकना सा होता है, जिसे गुप्तांगों पर लगाने के बाद स्मूदली सेक्स हो जाता है। आजकल बाजार में कई तरह के सेक्स लुब्रिकेंट मौजूद हैं, लेकिन लोगों को ज्यादा जानकारी ना होने के कारण वे गलत लुब्रिकेंट खरीद लेते हैं।

और पढ़ें: पानी में सेक्स करने का बना रहे हैं प्लान, तो पहले पढ़ें यह वॉटर सेक्स गाइड

सेक्स लुब्रिकेंट कितने प्रकार के होते हैं? What are the types of sex lubricants?

सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने के लिए जब हम उसे खरीदते हैं तो बहुत कंफ्यूज रहते हैं। क्योंकि हमें उसके सही प्रकार के बारे में पता नहीं होता है। दुकानदार हमें जो दे देता है, हम वही ले लेते हैं। एक बात समझना जरूरी है कि सेक्स लुब्रिकेंट का बेस कई प्रकार का होता है। जिसे देखकर ही लुब्रिकेंट खरीदना चाहिए :

  • ऑयल
  • सिलिकॉन
  • पानी
  • हाइब्रिड (पानी, सिलिकॉन या ऑयल के मिश्रण से निर्मित)

वाटर बेस्ड सेक्स लुब्रिकेंट क्या है? What is water based sex lubricant?

पानी वाले बेस का लुब्रिकेंट वर्साटाइल लुब्रिकेंट के नाम से जाना जाता है। वाटर बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करके आप सेक्स में कई तरह के एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं। वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल आप सिलिकॉन के सेक्स टॉय से अलावा कॉन्डम पर भी कर सकते हैं।

और पढ़ें: क्या नारियल का तेल बेहतर सेक्स ऑयल है?

वाटर बेस्ड लुब्रिकेंट कितना सुरक्षित है? How safe is water based lubricant?

वजायनल सेक्स के लिए वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट पूरी तरह सुरक्षित है। वाटर बेस्ड लुब्रिकेंट लैटेक्स कॉन्डम और नॉन-लैटेक्स कॉन्डम दोनों के लिए सुरक्षित है। अगर आप वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कॉन्डम पर करते हैं तो ये कॉन्डम के फटने के रिस्क को कम कर देता है। वजायना के पीएच बैलेंस के हिसाब से वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट सामंजस्य बैठाकर घर्षण को कम करता है। वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट इसलिए भी ज्यादा डिमांड में रहता है, क्योंकि बिस्तर पर इसका दाग नहीं लगता, त्वचा के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है और पानी से आसानी से साफ भी हो जाता है। अगर आपकी त्वचा ज्यादा सेंसटिव है तो वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल अपने डॉक्टर से पूछकर करें।

यह भी पढ़ें- क्लिटोरिस को क्यों कहते हैं फीमेल पेनिस, जानें इसके बारे में

सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट (Silicon based lubricant)

सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट बहुत सारे लोग ट्राई करना चाहते हैं। ये लुब्रिकेंट सेंसटिव भागों पर सिल्क शीट की तरह काम करता है। हालांकि, सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट हाइपोएलर्जेनिक होता है, लेकिन फिर भी बहुत सारे लोग इसका रिएक्शन महसूस नहीं कर पाते हैं। सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट देरी तक टिकने वाला लुब्रिकेंट है।

सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट कितना सुरक्षित है? (How Safe is Silicon Based Lubricant?)

अगर आप सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप फायदे में रहेंगे। इस लुब्रिकेंट को इस्तेमाल करने वाले लोगों को कई बार अप्लाई नहीं करना पड़ता है। अगर कोई कपल शॉवर सेक्स करना पसंद करता है तो सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट उनके लिए बेस्ट माना जाएगा। पानी में सेक्स के दौरान घर्षण बहुत होता है, ऐसे में सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट पूरी तरह से सेक्स को एंजॉय करने में मदद करता है।

सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट सेक्स टॉय के लिए सही नहीं है। क्योंकि सेक्स टॉय सिलिकॉन का बना होता है। इस दौरान सेक्स टॉय पर सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट लगाने से उसका क्षरण हो सकता है और सेक्स टॉय पर आराम से बैक्टीरिया ग्रो हो सकता है। इसलिए अगर आप अपना सेक्स टॉय कई और लोगों के साथ शेयर कर रहे हैं तो सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कतई ना करें। इस दौरान आपको वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना चाहिए। हालांकि, सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट सिलिकॉन से बने कॉन्डम पर इस्तेमाल के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है।

ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट Oil based lubricant

अगर सेक्स के दौरान आप बार-बार लुब्रिकेंट का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट आपके लिए किसी गिफ्ट से कम नहीं है। प्लांट बेस्ट ऑयल लुब्रिकेंट, सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट और वॉटर बेस्ड लुब्रिकेंट से बेहतर और टिकाऊ है। ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट आपको सेक्स के दौरान दोगुना आनंद दे सकता है। पहला तो सेक्स में आनंद दूसरा मसाज भी होता है।

ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट कितना सुरक्षित है?

ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट का उपयोग कई मामलों में सुरक्षित नहीं है। ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट को आप कॉन्डम के साथ इस्तेमाल ही नहीं कर सकते हैं। अगर ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट को आप कॉन्डम के साथ इस्तेमाल करते हैं तो कॉन्डम के फटने का चांस ज्यादा रहते हैं। ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट के इस्तेमाल के कई तरह के इंफेक्शन होने का खतरा भी बढ़ जाता हैं। जिसमें बैक्टीरियल वजायनोसिस शामिल है। ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से बिस्तर और कपड़ों पर दाग लग सकता है, जिसे साफ करना थोड़ा मुश्किल होता है।

लुब्रिकेंट्स का विकल्प क्या है?

अगर आपको किसी भी तरह के लुब्रिकेंट से एलर्जी या इंफेक्शन का डर है तो आप नैचुरल लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं। नैचुरल लुब्रिकेंट ऑर्गेनिक प्रोडक्ट से बने होते हैं। जो कि पैराबेन फ्री रहता है। कोकोनट ऑयल नैचुरल लुब्रिकेंट के लिए सही माना जाता है, लेकिन ये बिस्तर पर दाग छोड़ने से लेकर कॉन्डम फटने तक जोखिमों से भरा है।

सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कब करें? When to use lubricant during sex?

सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल निम्न मामलों में किया जाता है :

  • जब वजायना सूखी लगे तो लूब का इस्तेमाल किया जाता है, अक्सर ऐसा दवाओं के सेवन के कारण से होता है।
  • गर्भावस्था के दौरान या डिलिवरी के बाद वजायना सूख जाती है। इस वक्त सेक्स के दौरान परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में लूब का इस्तेमाल करना सही होता है।
  • मेनोपॉज के कारण वजायना सूखने पर।
  • वहीं पुरुषों में भी सेक्स के पहले प्रीकमिंग ना होने के कारण भी लुब्रिकेशन करने की जरूरत पड़ती है।

क्या सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल सुरक्षित है? Is lubricant safe to use during sex?

इंडियाना यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए अध्ययन में 2,453 महिलाओं को शामिल किया गया। जिसमें से 70 फीसदी महिलाओं ने पाया कि लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से सेक्स में ज्यादा प्लेजर और आनंद मिला। ऐसे में सेक्स लुब्रिकेंट का इस्तेमाल पूरी तरहसे सुरक्षित माना गया है, लेकिन फिर भी इसके इस्तेमाल के पहले आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कैसे करें? How to use lubricant during sex?

जब भी आप सेक्स करें तो लुब्रिकेंट का इस्तेमाल फोरप्ले के समय से ही करें। इसके अलावा आप इंटरकोर्स करने से पहले सेक्स लुब्रिकेंट का इस्तेमाल पेनिस और वजायना दोनों पर कर सकते हैं। वहीं, अगर आप सेक्स टॉय का इस्तेमाल करते हैं तो भी आपको लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करना चाहिए।

सेक्स लुब्रिकेंट में अगर हो ये सामग्रियां तो ना खरीदें

सेक्स लुब्रिकेंट खरीदते समय उस पर छपे इंग्रिडिएंट्स के बारे में जरूर पढ़ें। निम्न चीजें मिली होने पर सेक्स लुब्रिकेंट ना खरीदें, वरना आपको इरिटेशन की समस्या हो सकती है :

  • पेट्रोलियम
  • ग्लिसरीन
  • नॉनऑक्सीनॉल-9
  • क्लोरहेक्सिडिन ग्लूकोनेट
  • प्रोपाइलिन ग्लाइकॉल

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं कि फीमेल कॉन्डम इन मामलों में है फेल

सेक्स लुब्रिकेंट्स के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? What are the side effects of sex lubricants?

सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट का इस्तेमाल करने से निम्न साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं :

  • त्वचा पर रैशेज
  • एलर्जिक रिएक्शन
  • यीस्ट इंफेक्शन
  • इनफर्टिलिटी हो सकती है
  • बार-बार वजायना में सूखापन महसूस होना

वजायनल ड्राइनेस को दूर करने के लिए आप लूब के अलावा एस्ट्रोजन क्रीम का इस्तेमाल कर सकती हैं। जिससे वजायना में नमी बरकरार रहेगी, वहीं सेक्स अराउजल होने पर ही सेक्स करें। सेक्स करने से पहले फोरप्ले जरूर करें और हो सके तो हस्तमैथुन करें, जिससे प्रीकम होता है।

सेक्स लुब्रिकेंट से संबंधित सभी बिंदुओं को जानने के बाद ही लुब्रिकेंट खरीदें और अपने रिलेशनशिप में एक नया तड़का लगाएं। उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

(Accessed on 29/4/2020)

Association of lubricant use with women’s sexual pleasure, sexual satisfaction, and genital symptoms: a prospective daily diary study. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/21143591

What to know about vaginal lubrication https://www.medicalnewstoday.com/articles/326450

To lube or not to lube: experiences and perceptions of lubricant use in women with and without dyspareunia/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22082320/

Studies Raise Questions About Safety Of Personal Lubricants/https://cen.acs.org/articles/90/i50/Studies-Raise-Questions-Safety-Personal.html

 

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x