backup og meta

बालों की तमाम समस्या को कम करने में आज भी मददगार है हेयर ऑयलिंग

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 17/08/2020

बालों की तमाम समस्या को कम करने में आज भी मददगार है हेयर ऑयलिंग

“आज नानी-दादी के जमाने से चली आ रही हेयर ऑयलिंग की परंपरा से लोग दूर चले गए हैं। बालों की बेहतरी के लिए पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को बालों में तेल लगाने की पुरानी आदत को फिर से अपनाना शुरू कर देना चाहिए।’ ऐसा ल्यूक कोटिन्हो ने ट्विट किया। दरअसल, ल्यूक कोटिन्हो, शिल्पा शेट्टी की फेमस और बेस्टसेलर बुक ‘द ग्रेट इंडियन डायट’ के को-ऑथर हैं।

बालों में मालिश के फायदे ही फायदे

विश्व स्तर पर प्रसिद्ध लाइफस्टाइल कोच और अवार्ड विनिंग नूट्रिशनिस्ट ल्यूक कोटिन्हो कहते हैं कि पिछले कुछ सालों में बालों से जुड़ी समस्याएं काफी बढ़ गई हैं। बालों का झड़ना आज आम बात हो गई है। कम उम्र के लड़के, लड़कियों से लेकर बच्चों तक में हेयर फॉल की समस्या देखने को मिलती है। हेयर ऑयलिंग एक नेचुरल प्रोसेस है जिससे हेयर फॉल, बालों का समय से पहले सफेद होना, ड्राई स्कैल्प (dry scalp) आदि की समस्या से निजात मिल सकती है। बालों की मजबूती और अच्छी हेल्थ के लिए बालों की तेल से मालिश बेहद जरूरी है।

[mc4wp_form id=’183492″]

बालों में तेल लगाने के फायदे

  • आजकल लोगों में डैंड्रफ की समस्या आम है। तीन में से एक इंसान इस परेशानी से जूझ रहा है। यह समस्या स्कैल्प के ड्राय होने पर होती है। इस परेशानी से निजात पाने के लिए ऑयलिंग बेहतर ऑप्शन है। ऑयल लगाने से आपके बालों के जरूरी नमी मिलती है। यह स्कैल्प को ड्राय होने से रोकता है और साथ ही बालों को मजबूत भी बनाता है।
  • बालों को ग्रोथ के लिए पोषण की जरूरत होती है। ऑयल की चंपी करने से बालों को पोषण मिलता है। आपके सिर के जिस हिस्से में कम बाल हो वहां पर नियमित रूप से तेल लगाने से बालों को रिग्रोथ होने में मदद होती है।
  • यदि आपको फ्रिजी हेयर की समस्या है तो इसे भी ऑयलिंग करके दूर किया जा सकता है। बालों पर नियमित रूप से ऑयलिंग करने से बालों को पोषण मिलती है और बाल फ्रिजी नहीं होते हैं।

और पढ़ें : हेयर मसाज से दूर होती है दिल की बीमारियां, जाने अन्य 6 फायदे

कम से कम एक बार तो हो मसाज

ल्यूक कोटिन्हो को 2018 में बेस्ट हेल्थ एक्सपर्ट ऑफ द ईयर और बेस्ट इन द इंडस्ट्री (न्यूट्रिशनिस्ट) के लिए वोग द्वारा एले अवार्ड से नवाजा गया है। उनका कहना है कि सप्ताह में अगर आप दो या तीन बार हेयर ऑयलिंग नहीं कर सकते हैं तो कम से कम एक बार तो हेयर मसाज जरूर करें। हालांकि, आज लोग हेयर स्पा, हेयर क्रीम, हेयर मास्क जैसे तमाम केमिकल ट्रीटमेंट्स लेते हैं। ये ट्रीटमेंट्स तभी लिए जाए जब बहुत जरूरी हो, वरना तो नानी, दादी के ही पुराने नुस्खे बालों की समस्या को कम करने के लिए मददगार होते हैं। अगर स्कैल्प की नियमित रूप से मालिश की जाए तो आगे चलकर बालों की हेल्‍थ बनी रहती है। तेल लगाने से बालों को मजबूती तो मिलती ही है साथ ही सिर की त्‍वचा में इंफेक्‍शन नहीं होता है।

और पढ़ें :हेल्दी हेयर पाने के लिए अपनाएं ये 14 घरेलू नुस्खे

डायट पर भी दें ध्यान

बालों की अच्छी क्वालिटी के लिए आपकी डायट एक महत्वपूर्ण रोल अदा करती है। हम जो कुछ भी खाते हैं, उसका असर हमारी बॉडी पर साफ दिखाई देता है। बाल व सिर की त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए सही भोजन जरूरी है। हेल्दी हेयर के लिए रोज के आहार में उचित मात्रा में विटमिन और प्रोटीन लें। खाने में हरी व पत्तेदार सब्जियों के साथ फलों का सेवन करें और स्ट्रेस से दूर रहें।

और पढ़ें : त्वचा से लेकर बालों तक के लिए जानें नीम के फायदे

बालों में तेल लगाने का तरीका

हालांकि, हेयर ऑयलिंग की कोई विशेष तकनीक नहीं है। लेकिन, अच्छे परिणामों के लिए कुछ टिप्स अपनाए जा सकते हैं जैसे-

  • हेयर ऑयलिंग से पहले तेल को हल्का गर्म करें। फिर उंगलियों के पोर से सिर पर तेल लगाएं।
  • बहुत लोगों की आदत होती है कि वे अपने बालों पर तेल हथेलियों से लगाते हैं। लेकिन, आप ऐसा न करें क्योंकि इससे बाल टूट सकते हैं।
  • धीरे-धीरे बालों की 10 से 15 मिनट तक मालिश करनी चाहिए।
  • तेल की मात्रा का भी ध्यान रखें। बहुत अधिक या कम तेल का इस्तेमाल न करें।
  • हेयर ऑयलिंग के बाद बालों को रात भर के लिए छोड़ दें। फिर अगली सुबह हेयर वॉश करें।
  • सप्ताह में कम से कम एक-दो बार बालों में हेयर ऑयलिंग जरूर करें।
  • हेयर ऑयलिंग के बाद बालों को स्टीम भी दिया जा सकता है।

और पढ़ें : बाल सीधे करने के पांच तरीके, क्या आप इनके बारे में जानते हैं?

बालों के लिए कौन-सा तेल अच्छा रहता है?

हेयर ऑयलिंग करते समय बालों के लिए तेल का चुनाव भी सोच समझकर करना जरूरी होता है इसके लिए हेयर टाइप के अनुसार ही हेयर ऑयल चुनें जैसे-

नॉर्मल बालों के लिए (For Normal Hair)

इस तरह के बालों के लिए आंवला तेल, जोजोबा तेल और बादाम तेल आदि लगाने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें: चेहरे से अनचाहे बालों को है हटाना, तो आजमाएं कुछ आसान घरेलू उपाय

रूखे बालों के लिए (For Dry Hair)

इस तरह के बालों में जान नहीं होती है और ये आसानी से दो मुंहे हो जाते हैं। ऐसे बालों के लिए ऐसे तेलों की जरूरत होती है जिससे स्कैल्प पर तेल बन सकें। ड्राई हेयर के लिए तिल का तेल, बादाम तेल, नारियल तेल (coconut oil), सरसों तेल, जोजोबा तेल आदि का उपयोग हेयर ऑयलिंग के लिए किया जा सकता है।

तैलीय बालों के लिए (For Oily Hair)

अगर आपके बाल ऑयली हैं तो जैतून का तेल (olive oil), जोजोबा तेल और तिल का तेल का प्रयोग करना सही रहता है। साथ ही हेयर ऑयलिंग के लिए ज्यादा तेल का प्रयोग न करें।

आजकल की धूल, मिटटी, प्रदूषण और लाइफस्टाइल में बालों का सफ़ेद होना, हेयर फॉल, रूखे, बेजान बाल आम बात है। ऐसे में तरह -तरह के शैंपू और ट्रीटमेंट का भी कोई खास फायदा नहीं देखने को मिलता है, पर हेयर ऑयल मसाज की मदद से बालों को फिर से नया जीवन दिया जा सकता है। इसके इस्तेमाल से बालों को स्वस्थ बना सकते हैं।

और पढ़ें: मेनोपॉज के बाद स्किन केयर और बालों की देखभाल कैसे करें?

उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में हेयर ऑयलिंग टिप्स बताए गए है। ऊपर बताए गए हेयर ऑयलिंग के टिप्स आपको कैसे लगे? हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं साथ ही अगर आपका इस विषय से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो वो भी हमारे साथ शेयर करें। हम अपने एक्सपर्ट्स द्वारा आपके सवालों का उत्तर दिलाने का पूरा प्रयास करेंगे। यदि आप इससे संबंधित अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो बेहतर होगा इसके लिए किसी विशेषज्ञ से कंसल्ट करें।

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

Dr Sharayu Maknikar


Shikha Patel द्वारा लिखित · अपडेटेड 17/08/2020

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement