home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय से मिल सकता है सेक्स जैसा प्लेजर!

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय से मिल सकता है सेक्स जैसा प्लेजर!

कोरोना महामारी के कारण देश भर में लॉकडाउन चल रहा है। जिस तरह से कोरोना मरीजों के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि हो सकता है कि सरकार द्वारा ये लॉकडाउन बढ़ा दिया जाए। हमारे प्रधानमंत्री ने भी सबसे घरों में रहते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह दी है। ऐसे में जब लॉकडाउन के दौरान आप घर अकेलें हैं और आपके पास समय ही समय है। ऐसे में सेक्स की इच्छा होना लाजमी है। अब सवाल ये उठता है कि सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स कैसे किया जाए? आपकी इस समस्या का समाधान है सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का इस्तेमाल। आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

और पढ़ें : क्या कोरोना वायरस के दौरान सेक्स जानलेवा हो सकता है?

सेक्स टॉय क्या हैं?

sex toy-सेक्स टॉयज

सेक्स टॉय एक प्रकार के खिलौने होते हैं, जिनका आकार पुरुष के पेनिस और महिला के योनि की तरह होता है। इसके अलावा ये मैनुअल और इलेक्ट्रिक दोनों रूप में बाजारों में उपलब्ध हैं। सेक्स टॉयज का इस्तेमाल व्यक्ति सेक्स का आनंद उठाने के लिए करता है। यह छोटे या बड़े खिलौनों के रूप में मिलते हैं, जिसमें पेनिस के आकार के खिलौने को डिल्डो और वाइब्रेटर कहा जाता है। जिसका इस्तेमाल महिलाओं के द्वारा किया जाता है। पुरुषों के लिए सेक्स टॉयज महिलाओं की योनि के रूप में डिजाइन किए खिलौने होते हैं। हालांकि, विदेशों में अब सेक्स टॉयज के तौर पर डॉल्स भी मिलती हैं। जो देखने में किसी महिला की तरह ही होती है।

हालांकि, सेक्स टॉय का इस्तेमाल किसी के शारीरिक शोषण के लिए करना भारत में गैर कानूनी अपराध माना जाता है। भारतीय दंड संहिता की धारा 292 के तहत सेक्स या यौन शोषण के लिए कोई वस्तु खरीदना या इसकी बिक्री करने पर पाबंदी लगाई है। जिसके तहत इस नियम का उल्लंघन करने पर दो साल तक की जेल हो सकती है।

और पढ़ें : कोराना के संक्रमण से बचाव के लिए बार-बार हाथ धोना है जरूरी, लेकिन स्किन की करें देखभाल

क्या सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय के इस्तेमाल से मिल सकता है रियल प्लेजर?

इसमें कोई दोराय नहीं कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल रियल सेक्स जैसा ही प्लेजर देता है। हालांकि, यह व्यक्ति के अनुभव पर भी निर्भर करता है। क्योंकि, सेक्स टॉयज के इस्तेमाल में किसी दूसरे साथी की जरूरत नहीं होती, लेकिन अगर किसी को सिर्फ साथी के साथ ही सेक्स करना पसंद है, तो उन्हें सेक्स टॉयज से रियल सेक्स जैसा प्लेजर नहीं मिल सकता है। अगर सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स करना चाहते हैं और आपका पार्टनर आपके साथ नहीं है तो आपको सेक्स टॉय का भरपूर आनंद ले सकते हैं।

कंस्लटिंग होम्योपैथ और क्लिनिकल सेक्सोलॉजिस्ट, डॉ. शाहबाज सायद का कहना है, “भारत में सेक्स के दौरान अधिकतर महिलाओं को ऑर्गेज्म या प्लेजर नहीं मिल पाता है। हालांकि, फोरप्ले या हस्थमैथुन के दौरान अधिकतर महिलाओं को ऑर्गेज्म का अहसास होता है। वहीं, अगर बार-बार एक ही तरह के सेक्स पुजिशन अपनाई जाएं, तो इससे शारीरिक संबंध से मन धीरे-धीरे हट सकता है। इसलिए, सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का इस्तेमाल करना अच्छा ऑप्शन हो सकता है।”

“सेक्स का आनंद लेने के लिए कभी-कभी रिश्ते में कुछ नयापन लाना जरूरी होता है। साथ ही, जरूरी सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिए। यह ध्यान रखें कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल बहुत ज्यादा या लगातार न करें। क्योंकि, यह आपको इसका आदी बना सकता है। इसके अलावा, इन टॉयज का इस्तेमाल साथी के साथ संबंध बनाने के दौरान किया जाए, तो यह रिश्ते को और भी ज्यादा मजबूत और आनंददायक बना सकता है।”

और पढ़ें : लॉकडाउन में घरों में बढ़ा क्लेश, हर दिन बढ़ते जा रहे हैं घरेलू हिंसा के मामले

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय में वाइब्रेटर का उपयोगसोशल डिसटेंसिंग के दौरान सेक्स

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स करना अगर नहीं संभव है तो सेक्स टॉय की मदद से आप ऑर्गेज्म प्राप्त कर सकते हैं। वाइब्रेटर एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक सेक्स टॉय है। जिसे चार्ज कर के इस्तेमाल किया जाता है। ये देखने में पुरुष के पेनिस के आकार का होता है। हालांकि, आजकल इसे और भी कई आकर्षक आकार में बाजार में उपलब्ध कराया गया है। इसे गुप्तांग में डालने के बाद वाइब्रेटर वाइब्रेट करता है। इससे वाइब्रेटर इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति को एक्साइटमेंट होता है।

वाइब्रेटर वाइब्रेट करते समय हल्की आवाज करता है, लेकिन आजकल अच्छी क्वालिटी के वाइब्रेटर्स भी उपलब्ध हैं जो बिना आवाज के ही वाइब्रेट करते हैं। इसे एक यूएसबी केबल के माध्यम से चार्ज किया जाता है। अब तो कई तरह के ऐसे वाइब्रेटर भी मौजूद हैं, जिन्हें रिमोट या रिस्ट बैंड की मदद से कंट्रोल करके चलाया जाता है।

और पढ़ें : कोरोना वायरस को लेकर हैं पूरी तरह अपडेट? तो खेलें क्विज और बढ़ाएं अपना ज्ञान

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का सेहत पर क्या असर होता है?

अलग-अलग शोध से पता चलता है कि यौन सुख बढ़ाने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का उपयोग करने से आपको नींद आने, इम्यूनिटी पावर बढ़ाने, दर्द से राहत, तनाव कम करने और मस्तिष्क की शक्ति बढ़ाने में मदद मिल सकती है। सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने के लिए उम्र एक बाधा नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय से सेक्स करने से दवा के विपरीत कम साइड-इफेक्ट्स हैं और कई महिलाओं को क्लिटोरल ऑर्गेज्म और जी-स्पॉट ऑर्गेजम का आनंद लेने में यह मददगार साबित हो सकता हैं। कई महिलाओं को यह ऐसा सुख देता है जो उन्होंने पहले कभी ना महसूस किया हो। सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का उपयोग सेक्शुअल प्लेजर और आनंद लेने में मदद कर सकते हैं, वो भी तब जब इस समय पेनिट्रेटिव सेक्स संभव नहीं है।

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स करने के लिए सेक्स टॉय चुनते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। सेक्स टॉय सिलिकॉन, कड़े ग्लास, धातु या ABS

प्लास्टिक से बने ‘त्वचा-सुरक्षित’ उत्पादों का ही चुनाव करना चाहिए। घटिया तत्वों से बने सेक्स खिलौने खरीदने और इस्तेमाल करने से परहेज करें। साथ ही, अगर आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है जो आपकी सेक्शुअल हेल्थ को प्रभावित कर रही है, तो इसके लिए तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें : लॉकडाउन का उठाएं फायदा, इस तरह से सेक्स लाइफ को बनाएं रोमांचक

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय से साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

सोशल डिसटेंसिंग के दौरान सेक्स

सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स लाइफ को बरकार रखने के लिए सेक्स टॉय एक अच्छा और सुरक्षित विकल्प हो सकता है। अक्सर लोगों के मन में सवाल रहता है कि क्या सेक्स टॉयज किसी तरह से उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हो सकता है या नहीं। इस पर एक्सपर्ट्स का कहना है कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करने के कई नुकसान हो सकते हैंः

  • सबसे पहले, सेक्स टॉयज का इस्तेमाल यौन संचारित रोगों का खतरा बढ़ा सकता है। इसलिए, हर बार इसका इस्तेमाल करने से पहले इसे साबुन और पानी से अच्छे से साफ करें।
  • सेक्स टॉय के इस्तेमाल की लत बहुत जल्दी लग सकती है। खासकर महिलाओं को। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स टॉय का इस्तेमाल निर्धारित रूप से ही करें।
  • सेक्स टॉय का इस्तेमाल लोगों को अकेले रहने के लिए आदी बना सकता है। जिसके साथ, साथी के साथ रिश्ते बिगड़ सकते हैं।
  • अगर एक जगह पर कई दोस्त साथ में रह रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स के लिए एक ही सेक्स का टॉय का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सभी के सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

और पढ़ें : सास-ससुर के साथ रिश्ते में लाएं सुधार, लॉकडाउन में आजमाएं ये 9 टिप्स

क्या सेक्स करने से हो सकता है कोरोना?

जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय के मिलकेन इंस्टीट्यूट स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर डॉ. कार्लोस रॉड्रिग्ज-डिआज का कहना है कि “इस बात का कोई सबूत नहीं है कि कोविड-19 (कोरोना वायरस) योनि या गुदा संभोग के माध्यम से किसी अन्य व्यक्ति में फैल सकता है। हालांकि, किस करने के दौरान यह बहुत ही आसानी से सामने वाले व्यक्ति को बीमार कर सकता है। इसलिए, कोरोना वायरस किस करने से संचारित हो सकता है।”

“अगर आप और आपके साथी पूरी तरह से स्वस्थ्य भी हैं, तो कोरोना वायरस के दौरान सेक्स कर सकते हैं। अगर कोरोना वायरस के दौरान सेक्स का फैसला करते भी हैं, तो साथी को किस करने या ओरल सेक्स करने से बचें। अगर आपमें यौन बीमारी का कोई लक्षण नजर आए तो सुरक्षित और स्वच्छ तौर पर ही शारीरिक संबंध बनाएं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग के दौरान सेक्स करने के लिए सेक्स टॉय का इस्तेमाल ही बेहतर होगा।”

कोरोना वायरस से तेजी से दुनिया में बदलाव हो रहा है। इस महामारी से बचने के लिए सावधानी रखना बहुत जरूरी है। बेहतर होगा कि कोरोना के लक्षणों के दिखने पर लापरवाही न करें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sex-based differences in susceptibility to SARS-CoV infection. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5450662/. Accessed on 6/4/2020

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirusAccessed on 6/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.htmlAccessed on 6/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/Accessed on 6/4/2020

This Ultra Quiet Vibrator Is About to Become Your New Best Friend While Social Distancing https://www.shape.com/lifestyle/sex-and-love/screaming-o-quiet-clitoral-vibrator Accessed on 6/4/2020

Best Vibrators to Self-Quarantine With https://www.shape.com/syndication/best-vibrators-self-quarantine Accessed on 6/4/2020

Vibrators That Prove You Don’t Need to Break the Bank to Break the Bed https://www.shape.com/lifestyle/sex-and-love/best-cheap-vibrators Accessed on 6/4/2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x