home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Benefits of Masturbation: महिलाओं को जरूर जानने चाहिए मास्टरबेशन के फायदे

Benefits of Masturbation: महिलाओं को जरूर जानने चाहिए मास्टरबेशन के फायदे

2018 में रिलीज हुई फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ का वो सीन तो आपको याद ही होगा जिसमें स्वरा भास्कर को मास्टरबेट करते हुए दिखाया गया है। इस सीन के चलते स्वरा को सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना भी करना पड़ा। लोगों ने यह भी कमेंट किया कि यह काफी शर्मसार करने वाला सीन था। दरअसल मास्टरबेशन (Masturbation) शब्द को लड़कों से ही जोड़कर देखा जाता है, लड़कियों के लिए अभी भी यह टैबू है। लड़के सेक्शुयल सेटिस्फैक्शन के लिए हस्तमैथुन करते हैं। वैसे ही लड़कियों में भी अब ये बात आम है। एक्सपर्ट्स की मानें तो मास्टरबेशन से यौन संतुष्टि के साथ सेहत को भी के फायदे मिलते हैं। आज इस आर्टिकल मे हम आपको मास्टरबेशन के फायदे (Benefits of Masturbation) बताएंगे, जिन्हें जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। इसके साथ ही हम आपको यहां बेहतर मास्टरबेशन के टिप्स भी बताएंगे।

मास्टरबेश के फायदे क्या हैं? (Benefits of Masturbation)

आज भी इस समाज में कुछ लोग मास्टरबेशन को गलत समझते हैं। लेकिन आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि मास्टरबेशन के भी कई फायदे होते हैं। मास्टरबेशन के फायदे कि बात करें तो सबसे बड़ा फायदा है कि यह आपका तनाव कम करता है। हस्तमैथुन (Masturbation) करने से आपके पूरे शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है और एंडोर्फिन (Endorphins) नाम के गुड केमिकल रिलीज होते हैं। इससे मूड अच्छा होता है और स्ट्रेस दूर होता है।

इंडियाना यूनिवर्सिटी के नैशनल सर्वे ऑफ सेक्शुअल हेल्थ ऐंड बिहेवियर में ये बात सामने आई है कि 25 वर्ष से 29 साल के बीच की सिर्फ 7.9 फीसदी महिलाएं हफ्ते में दो से तीन बार हस्तमैथुन करती हैं। वहीं, 23.4 फीसदी पुरुष हफ्ते में दो से तीन बार मास्टरबेशन करते हैं। आपको बता दें कि नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी स्थित अब्स्टेट्रिक ऐंड गाइनकॉलजी में असोसिएट प्रफेसर, डॉ. लॉरेन स्ट्रीचर ने साल 2016 में एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू दिया था। उन्होंने इस इंटरव्यू में मास्टरबेशन के बारे में बात की थी। उन्होंने मास्टरबेशन के फायदे बताते हुए कहा था कि हर महिला को हस्तमैथुन करना चाहिए। आइए अब नीचे जानते हैं कि हस्तमैथुन किस तरह से फायदा करता है।

यूट्रस (गर्भाशय) को मिलती है मजबूती

हस्तमैथुन किसी एक्सरसाइज से कम नहीं है। इससे पेल्विक (Pelvic) और ऐनल (Anal) रीजन की मांसपेशियां स्ट्रॉन्ग होती हैं। ऑर्गेज्म तक पहुंचते-पहुंचते ब्लड प्रेशर (Blood pressure) और हार्ट रेट (Heart rate) दोनों बढ़ जाते हैं। इससे यूट्रस में कंट्रक्शन होता है, जिससे वजायनल मसल्स मजबूत होते हैं।

मास्टरबेशन बेहतर नींद में मददगार

आपको जानकर अच्छा लगेगा कि मासटरबेशन बेहतर नींद लाने में मदद कर सकता है। मास्टरबेशन के फायदों (Benefits of Masturbation) में से यह सबसे मजेदार है। यह कि हस्तमैथुन करने के बाद आप आसानी से सो सकते हैं। अनिद्रा की समस्या को दूर करना मास्टरबेशन के फायदे में से एक है। हस्तमैथुन के बाद बॉडी में जो हॉर्मोन्स रिलीज होते हैं वो अच्छा फील कराते हैं। इन हॉर्मोन को फील गुड हॉर्मोन भी कहा जाता है। इससे सुकून भरी नींद (Sound sleep) आने में सहायता मिलती है।

यू.टी.आई (UTI) से मिलेगी राहत

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) महिलाओं में काफी सामान्य है। कई बार हस्तमैथुन के दौरान फ्लो के साथ ही सर्विक्स से बैक्टीरिया बाहर आ जाते हैं जिससे वजाइनल इंफेक्शन (Vaginal infection) की संभावना कम हो जाती है। लेकिन याद रखें कि मास्टरबेशन (Masterbation) के समय आपके हाथ साफ हों, नहीं तो संक्रमण (Infection) का खतरा बढ़ भी सकता है।

मास्टरबेशन से सेक्स लाइफ (Sex life) में आता है सुधार

अधिकतर महिलाओं को बॉडी के सेंसिटिव अंगों (क्लिटोरिस, जी स्पॉट, लेबिया आदि) के बारे में जानकारी नहीं होती है और ये वे अंग हैं, जो आपको भरपूर आनंद देते हैं। किस चीज से सेक्स के दौरान आपको सबसे ज्यादा अच्छा महसूस होता है। यह भी हस्तमैथुन से ही आपको पता चलता है। इससे आप अपने पार्टनर को भी अपने बेस्ट मूव्स और पार्ट्स के बारे में बता पाएंगे। जिससे सेक्स लाइफ (Sex life) इंटरेस्टिंग बनती है।

[mc4wp_form id=”183492″]

उन दिनों के दर्द यानी पीरियड्स के दर्द से राहत दिलाए मास्टरबेशन

मास्टरबेशन के फायदे (Benefits of Masturbation) की बात करें तो बता दें कि हस्तमैथुन से पीरियड्स (Periods) के दर्द में भी आराम मिलता है। मास्टरबेशन (Masturbation) के दौरान अगर यूट्राइन कॉन्ट्रैक्शन महसूस होता है, तो इससे पीरियड ब्लड (Period Blood) आसानी से बाहर आ जाता है, जिससे उन दिनों में पेट दर्द और ऐंठन नहीं होती है। तो अगर आप पीरिड्स के दर्द (Periods pain) से परेशान रहती हैं तो मास्टरबेशन आपको राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

बेहतर मास्टरबेशन के लिए अपनाएं ये टिप्स

अगर आप मास्टरबेशन के फायदे महसूस करना चाहते है, तो नीचे बताए गए टिप्स को ध्यान में रखना चाहिए :

  • अगर आप ऑर्गैज्म तक पहुंचने के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करना चाहती हैं, तो वाइब्रेटर्स का इस्तेमाल करें।
  • मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन के दौरान सेक्शुअल फैंटसी पर फोकस करें। इससे ज्यादा प्लेजर मिलता है।
  • मास्टरबेट करते समय खुद को शीशे में देखने से आपका एक्ससाइटमेंट और बढ़ जाता है। ऐसे में मिरर का इस्तेमाल करें।
  • अगर आप हाथों से हस्तमैथुन नहीं करना चाहतीं हैं तो सेक्स टॉय का उपयोग करें।
  • शरीर के सेंशुअल पॉइंट्स और मसाज टेक्निक का ध्यान रखें जिससे आपका एक्सपीरियंस बेहतर होगा।
  • लुब्रिकेंट का इस्तेमाल इंटरकोर्स (Intercourse) तक ही सीमित नहीं है। अपने मास्टरबेशन के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए भी लुब्रिकेंट का इस्तेमाल कर सकती हैं।

और पढ़ेंः सेक्स थेरिपी सेशन पर जाने से पहले पता होनी चाहिए आपको ये बातें

एक गलत धारणा है कि हस्तमैथुन, विशेष रूप से पुरुषों में मास्टरबेशन से बीमारी का खतरा बढ़ सकता है या इम्यून सिस्टम कम हो सकता है। यह एक मिथक है। वीर्य या वजाइनल फ्लूइड में मौजूद मिनरल की मात्रा इतनी कम होती है कि उससे शरीर पर कोई भी बुरा असर नहीं पड़ता है। हस्तमैथुन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए एक स्वस्थ, प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है। हां, इसकी लत नहीं लगनी चाहिए। मास्टरबेशन के फायदे (Benefits of Masturbation) शरीर को मिले इसके लिए बिना किसी हीन भावना के हस्तमैथुन (Masturbation) किया जा सकता है।

उम्मीद है आपको मास्टरबेशन के फायदे (Benefits of Masturbation) पर लिखा हुआ हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। तो अगर आप भी मास्टरबेशन को गलत नजरिए से देखते और सोचते हैं, तो इसके फायदे आपकी राय को बदलने का काम कर सकते हैं। अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया है, तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें। इसके अलावा, अगर आपको इससे संबंधित कुछ और सवालों के जवाब चाहिए, तो हमसे जरूर पूछें। पीरियड्स के दर्द (Periods pain) से राहत पाना के लिए दवा भी जा सकती है।

अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/02/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड