home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

हस्तमैथुन का आंखों पर प्रभाव होता है या नहीं?

हस्तमैथुन का आंखों पर प्रभाव होता है या नहीं?

हस्तमैथुन (Masturbation) के बारे में ज्यादातर लोग खुलकर बातें करना पसंद नहीं करते हैं। हालांकि, अधिकतर लोगों में इसकी आदत होती है। साथ ही हस्तमैथुन को लेकर लोगों में कई तरह की भ्रांतियां भी है। बहुत से लोग इसे गलत मानते हैं तो कुछ लोग इससे कोई परहेज नहीं करते हैं। वहीं डॉक्टर्स की मानें तो हस्तमैथुन स्वास्थ्य के लिए अच्छा है और यह एक सामान्य प्रक्रिया है।

कई लोगों के बीच भ्रांतियां है कि, हस्तमैथुन करने से शारीरिक कमजोरी आ सकती है साथ ही हस्तमैथुन का आंखों पर प्रभाव पड़ सकता है। हालांकि, डॉक्टर्स की मानें तो हस्तमैथुन की आदत आपकी सेक्स लाइफ पर प्रभाव डाल सकती है लेकिन इसका शरीर के किसी भी अंग पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।

और पढ़ें : हस्तमैथुन (Masturbation) के फायदे नुकसान और इससे बचने के उपाय

स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है हस्तमैथुन (Masturbation)?

हस्तमैथुन का स्वास्थ्य पर किसी तरह का हानिकारक प्रभाव सिर्फ भ्रांतियां है। हस्तमैथुन से कोई अंधा या पागल नहीं हो सकता है। इसे करने से न तो आपकी आंखों की रोशनी कम होगी। यह आपके शरीर के किसी भी अंग के विकास में कोई भी बाधा नहीं डालता है।

इसके विपरीत हस्तमैथुन करने से आपका मानिसक तनाव कम हो सकता है और शरीर में खुश करने वाले हार्मोन इंडॉरफिंस का स्तर बढ़ सकता है। यह अच्छी नींद पाने के लिए काफी मददगार होता है साथ ही आपके निजी अंग को भी एक्टिव रखता है। इसे सुरक्षित सेक्स का सबसे बेहतर तरीका माना जा सकता है।

और पढ़ेंः वेलेंटाइन डे पर अपनाएं ये असरदार सेक्स टिप्स, रोमांस में लगाएं तड़का

हस्तमैथुन (Masturbation) से जुड़ी भ्रांतियां

डॉ. माइकल एशवर्थ (Dr. Michael Ashworth) के अनुसार वो इस बारे में लोगों से तरह-तरह की भ्रांतियां सुनते हैं जिनमें, हस्तमैथुन से अंधापन आता है, या हाथों की हथेलियों पर बाल उगने लगते हैं या उन्हें किसी तरह की मानसिक बीमारी घेर सकती है।

डॉ. दीपक अरोरा (Dr. Deepak Arora) के मुताबिक, अगर यह किसी के लिए लत बन जाती है तो ऐसी स्थिती में उनके स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव देखा जा सकता है। उनका स्पर्म समय से पहले ही रस्खलित हो सकता है। बहुत से लोगों में इसकी वजह से कमजोर इरेक्शन की भी समस्या हो सकती है। जिसकी वजह से उन्हें निजी अंग में सिकुड़न महसूस हो सकती है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान मास्टरबेशन (Masturbation) कितना सही है? जानिए यहां

[mc4wp_form id=”183492″]

महिलाओं के लिए क्या है हस्तमैथुन (Masturbation) का सुरक्षित तरीका?

पुरुषों की तुलना में एक तिहाई महिलाओं में भी हस्तमैथुन की आदत पाई जाती है। जिनमें से ज्यादातर महिलाएं हस्तमैथुन के समय अपने गुप्तांगों में ‘कुछ’ डालती हैं। जिसके लिए मार्केट में ‘सेक्स टॉय’ भी मिलते हैं। हस्तमैथुन का यह तरीका भी सुरक्षित होता है लेकिन इस दौरान इसका पूरा ख्याल रखना होता है कि वो जिस टॉय का इस्तेमाल कर रहीं है वह साफ करके इस्तिमाल करे।

और पढ़ें: कमजोरी दूर कर अच्छे प्रदर्शन के लिए सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं

उन्हें ख्याल रखना चाहिए कि उसे ठीक से पकड़ें ताकि ये अंदर न रह जाए और वस्तु साफ-सुथरी, बैक्टेरिया रहित होना चाहिए। उन वस्तुओं का इस्तेमाल करने से बचें जो साफ न हो। इसके अलावा उन वस्तुओं पर चाहें तो कंडोम भी चढ़ा सकती हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/04/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड