home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग क्यों होता है? जानें कुछ सुरक्षित सेक्स पोजिशन

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग क्यों होता है? जानें कुछ सुरक्षित सेक्स पोजिशन

कई बार नॉर्मल स्थिति में भी सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या भी काफी आम मानी जा सकती है। हालांकि, गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होना कई बार जोखिम भरा भी हो सकता है। डॉक्टर्स की मानें तो, प्रेग्नेंसी के किसी भी स्टेज पर सेक्स करने से बच्चे या मां को किसी तरह का खतरा सामान्यत: नहीं होता लेकिन इस दौरान थोड़ा संभलकर करने की जरूरत होती है। इसलिए अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान भी पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाना चाहते हैं तो कुछ बातों का खास ध्यान रखना जरूरी हो सकता है। तभी गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या से आप सुरक्षित रह सकती हैं।

और पढ़ेंः क्या प्रेग्नेंसी में सेल्युलाइट बच्चे के लिए खतरा बन सकता है? जानिए इसके उपचार के तरीके

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग क्या सामान्य है?

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनोकोलॉजी (ACOG) के अनुसार, गर्भावस्था की पहली तिमाही में लगभग 15 से 25 फीसदी महिलाएं गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग का अनुभव करती हैं। अगर खून के ये धब्बे लाल या हल्के भूरे रंग के हैं, तो ऐसी स्थिति चिंताजनक नहीं होती है।

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग का क्या कारण हैं?

गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होने के कई कारण हो सकते है। गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग ज्यादातर नॉर्मल होती है लेकिन कुछ मामलों में खतरे का संकेत भी हो सकती है।

हार्मोन्स के कारण खून की नसों का बढ़ना

गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होने का सबसे आम कारण गर्भावस्था के दौरान होने वाले हार्मोन से संबंधित हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान प्रेग्नेंट महिला के शरीर में प्रोजेस्टेरोन का स्तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और यह खून की नसों को बड़ा कर देता है और यह बहुत नाजुक बना जाता है। इस दौरान प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान गर्भाशय सर्विक्स बहुत जल्दी घायल हो सकता है, जिसके कारण गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। हालांकि, यह स्थिति गर्भावस्था को किसी भी तरह से प्रभावित नहीं करती है । लेकिन कोशिश करनी चाहिए कि गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या बार-बार नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः कम उम्र में प्रेग्नेंसी हो सकती है खतरनाक, जानें टीन प्रेग्नेंसी के कॉम्प्लीकेशन

गर्भावस्था में योनि का सूखापन

इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से ब्लीडिंग की समस्या का एक कारण योनि का सूखापन भी हो सकता है। शरीर में हो रहे बदलाव के कारण गर्भावस्था के दिनों में महिला की योनि सामान्य के मुकाबले अधिक सूखी हो सकती है। ऐसे में गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या का जोखिम बढ़ सकता है। आम दिनों में इस प्रकार की समस्या नहीं होती है।

[mc4wp_form id=”183492″]

गर्भावस्था में ग्रीवा पॉलिप

ग्रीवा पॉलिप की समस्या गर्भावस्था के दौरान काफी आम हो सकती है। जिसके कारण गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग हो सकती है। पॉलिप एक तरह का जंतु संक्रमण होता है, तो गर्भाशय की सतह से उत्पन्न होता है। इसकी समस्या होने पर गर्भाशय ग्रीवा पर ट्यूमर उग जाते हैं। सर्वाइकल पॉलिप महिला के शरीर में हार्मोनल परिवर्तन के कारण होते हैं। गर्भावस्था के दौरान एस्ट्रोजन के अधिक रिसाव के कारण इसकी समस्या हो सकती है। यह एक तरह के फंफूद जैसे दिखाई देते हैं।

यह भी पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में कैंसर का बच्चे पर क्या हो सकता है असर? जानिए इसके प्रकार और उपचार का सही समय

अंडे का गर्भ के स्तर से जुड़ा होना

गर्भावस्था के लिए तैयार हुआ अंडा महिला के गर्भाशय के स्तर से जुड़ा होता है। जो गर्भाधारण करने के 10 से 14 दिनों तक यहीं रहता है। ऐसी स्थिति में भी प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होना सामान्य हो सकता है। इसके कारण होने वाली ब्लीडिंग घंटों या कुछ दिनों तक भी जारी रह सकती है। जिसके कारण कई बार महिलाएं इसे पीरियड मान लेती हैं। इसका रंग आमतौर पर गुलाबी या भूरा हो सकता है।

समय से पहले बच्चे का जन्म होना (Early labor)

समय से पहले बच्चे के जन्म के लक्षणों के कारण भी प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। अगर आप डिलिवरी के लक्षणों को समय से पहले नोटिस करते हैं, जैसे- पीठ पर बहुत ज्यादा दबाव महसूस करना या ब्लीडिंग की समस्या अधिक होना, ऐसी स्थितियों में आपको अपने चिकित्सक से तुरंत संपर्क करना चाहिए।

इन स्थितियों में प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होना गंभीर हो सकता है

और पढे़ंः प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट कैंसर से हो सकता है खतरा, जानें उपचार के तरीके

अस्थानिक गर्भावस्था/एक्टोपिक प्रेग्नेंसी (Ectopic pregnancy)

अस्थानिक गर्भावस्था या एक्टोपिक प्रेग्नेंसी का अर्थ है, गर्भ के लिए तैयार हुआ अंडा गर्भाशय की जगह योनि के किसी दूसरे अंग में फंसा हुआ हो। इस स्थिति में अंडाणु गर्भाशय के अंदर विकसित होने की जगह उसके बाहर फैलोपियन ट्यूब में विकसित होने लगते हैं। हालांकि, ऐसे मामले बहुत ही कम देखे जाते हैं। आमतौर पर गर्भनिरोधक गोलियों के इस्तेमाल के कारण इसकी समस्या हो सकती है। वहीं, फैलोपियन ट्यूब में अंडे का विकास होने के कारण इसे ट्यूबल गर्भावस्था (Tubal pregnancy) भी कहते हैं। ऐसी स्थिति भी गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। हालांकि, इसके कुछ खास लक्षण भी होते हैं। जिनकी पहचान करनी जरूरी होती है। अगर इसके उपचार में देरी की जाए, तो यह जोखिम भरा हो सकता है।

वजाइनल इंफेक्शन

कई बार गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को वजाइनल इंफेक्शन भी हो जाता है। जिसकी वजह से भी ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। यह स्थिति काफी सामान्य हो सकती हैं, हालांकि इंफेक्शन बढ़ना जोखिम भरा हो सकता है। अगर सही समय पर इंफेक्शन का इलाज न कराया तो आपको पेट में दर्द की समस्या, वजायना में खुजली आदि कि समस्या भी हो सकती है। बेहतर होगा कि वजाइना में किसी भी तरह की समस्या होने पर डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं।

मिसकैरिज का खतरा (Miscarriage)

अगर प्रेग्नेंसी के दौरान या गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या बहुत हल्की होती है, तो इसे लेकर ज्यादा घबराना नहीं चाहिए। लेकिन, अगर प्रेग्नेंसी या प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या अचानक से गर्भवस्था के 13वें हफ्ते में शुरू होती है, तो यह मिसकैरिंज के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे में आपको तुरंत आपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

और पढ़ेंः सामान्य प्रेग्नेंसी से क्यों अलग है मल्टिपल प्रेग्नेंसी?

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग से बचने के लिए किया करें?

गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग की समस्या से बचने के लिए आप कुछ जरूरी बातों का ध्यान रख सकते हैं, जिनमें शामलि हैंः

  • पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने समय हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करें। कंडोम का इस्तेमाल करने से आप दोनों ही सेक्शुअल ट्रांसमिटिड डिजीज के खतरों से सुरक्षित रह सकते हैं।
  • गर्भावस्था में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग से बचने के लिए पार्टनर के साथ कम्फर्ट पोजिशन का ध्यान रखें। ऐसे में आप ‘ऑन द टॉप’ पुजिशन, स्पूनिंग, रियर एंट्री पोजिशन आजमा सकते हैं।
  • कई प्रेग्नेंसी में आपका पेट ज्यादा बाहर निकला है, तो आपके लिए ओरल सेक्स सबसे बेहतर और सुरक्षित विकल्प हो सकता है।
  • इसके अलावा अगर आपको ट्विंन्स या ट्रिपलेट्स प्रेग्नेंसी हैं, तो आपके लिए सेक्स करना कितना सुरक्षित हो सकता है या कितना जोखिम भरा हो सकता है, इसके बारे में अपने विषेशज्ञ से जरूर बात करें।

प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होने पर कब डॉक्टर से संपर्क किया जा सकता है ?

प्रेग्नेंसी में ब्लीडिंग की समस्या होने पर आमतौर पर घबराने की जरूरत नहीं होती है। रेड और ब्राउन स्पॉटिंग नॉर्मल होती है। लेकिन कुछ केस में प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान अधिक ब्लीडिंग अलार्म का काम कर सकती है। अगर आपको सेक्स के बाद दर्द या फिर अधिक मात्रा में ब्लीडिंग हो गई है तो ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। साथ ही अगर आपको प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लीडिंग की समस्या अधिक दिनों तक रहती है तो इस हल्के में लें। हो सकता है कि आपको साथ में बैक पेन, पेल्विक प्रेशर, संकुचन का एहसास भी हो। वैसे में प्रेग्नेंसी में सेक्स आपको स्ट्रेस से राहत देने का काम कर सकता है लेकिन अगर आपको सेक्स के बाद परेशानी महसूस हो रही है तो इसे नजरअंदाज करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। आप तुरंत डॉक्टर से जांच करा सकते हैं और समस्या का समाधान भी हो सकता है।

प्रेग्नेंसी में सेक्स करना है या फिर नहीं, ये आपका निजी फैसला है। अगर किसी भी तरह का कॉम्प्लीकेशन नहीं है तो गर्भावस्था में सेक्स किया जा सकता है। इससे होने वाले बच्चे को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है। अगर सेक्स के बाद बच्चे ने मूवमेंट अधिक कर दिया हो या फिर बच्चे का मूवमेंट कम हो गया हो तो ऐसे में परेशान होने की जरूरत नहीं है। सेक्स के बाद आमतौर पर ऐसा होता है। आपको प्रेग्नेंसी में सेक्स करना चाहिए या फिर नहीं, आप इस बारे में डॉक्टर से राय ले सकते हैं। उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। आपको इस विषय में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से राय लेनी चाहिए। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

 

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Vaginal bleeding in pregnancy. https://www.nhs.uk/conditions/pregnancy-and-baby/vaginal-bleeding-pregnant/. Accessed on 06 April, 2020.

Bleeding After Sex While Pregnant. https://www.lifehack.org/340948/bleeding-after-sex-while-pregnant. Accessed on 06 April, 2020.

Bleeding After Sex While Pregnant.  https://medlineplus.gov/ency/article/003264.htm Accessed on 06 April, 2020.

Pregnancy – bleeding problems  https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/HealthyLiving/pregnancy-bleeding-problems Accessed on 06 April, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड