आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था में सेक्स के लिए कैसे करें पार्टनर से बात?

गर्भावस्था में सेक्स के लिए कैसे करें पार्टनर से बात?

गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) शब्द आते ही कई लोग यह कल्पना कर लेते हैं कि गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) नहीं करना चाहिए। हालांकि नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) के रिसर्च के अनुसार प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स से गर्भ में पल रहे बच्चे को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। वैसे यह ध्यान जरूर रखना चाहिए कि इस (सेक्स) दौरान गर्भवती महिला को कोई परेशानी न हो। गर्भ में पल रहा शिशु यूट्रस में पूरी तरह सुरक्षित रहता है। वैसे एक बात जरूर ध्यान रखें कि सेक्स के समय पेट पर प्रेशर (दवाब) न पड़ रहा हो। गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से पहले अपने लाइफ पार्टनर से सहमति अवश्य लें। ऐसी स्थिति में गर्भवती महिला की भी इच्छा का पूरा-पूरा ध्यान रखना चाहिए। सेक्स के समय या फिर बाद में गर्भवती महिला को किसी भी तरह की परेशानी जैसे पेट में दर्द या फिर सेक्स के दौरान खुद को असहज महसूस करने पर डॉक्टर से सलाह लें। गर्भाव्स्था के दौरान सेक्स अगर गर्भवती महिला को कोई परेशानी महसूस होती है, तो उन्हें इसके बारे में खुलकर अपने लाइफ पार्टनर से बात करनी चाहिए और डॉक्टर को इस बारे में बताना चाहिए।

और पढ़ें: नॉर्मल डिलिवरी में मदद कर सकते हैं ये 4 आसान योगासन

गर्भावस्था में सेक्स के लिए कैसे बढ़ाएं इंट्रेस्ट? (Sex Tips in Pregnancy)

गर्भावस्था में सेक्स

गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) के लिए निम्नलिखित टिप्स अपना सकते हैं। जैसे-

  • प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करने से पहले अपनी पार्टनर से बात करें। अगर गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) के लिए वो माना कर रहीं हैं, तो ऐसी स्थिति में उनपर दबाव न बनाएं और पुरुष को अपने स्वभाव में सेक्स न करने के कारण नकारात्मक बदलाव नहीं लाना चाहिए।
  • प्रेग्नेंसी में भी डॉक्टर एक्ससरसाइज करने की सलाह गर्भवती महिला को देते हैं क्योंकि सेक्स एक अच्छा व्यायाम माना जाता है। इसलिए इन बातों को अपनी पार्टनर को बताएं।
  • अपने साथी से सीधे संबंध बनाने की बात न करें। यह हमेशा जानने की कोशिश करें कि उनका मूड आज कैसा था और आज उनका समय कैसा गुजरा। इस दौरान आप उन्हें एहसास दिलाएं कि उनकी हर बात उनके लिए माइने रखती हैं। गर्भावस्था में कैसा महसूस कर रहीं और उनकी एक-एक बात में अपनी रूचि दिखाएं। ऐसा करने से पार्टनर को सेक्स के लिए एक्साइटेड कर पाएंगे।
  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला का मूड स्विंग होना स्वाभाविक है। कई महिला इस दौरान परेशान रहती हैं। ऐसी स्थिति में उनकी परेशानी समझें इससे आपकी लाइफपार्टनर आपके और करीब आ सकती हैं।

और पढ़ें: गायनेकोलॉजिस्ट टिप्स जो गर्भवती महिलाओं को जानना है जरूरी

  • सेक्स की शुरुआत से पहले फोरप्ले जरूर करें। फोरप्ले न सिर्फ एक-दूसरे को एक्साइटेड करता है बल्कि, सेक्स के टाइम को भी बढ़ा सकता है। हल्की-हल्की टचिंग करें। ऐसा करने से साथी का मन भी सेक्स की ओर आकर्षित हो सकता है। इस दौरान आप उनकी तारीफ भी कर सकते हैं क्योंकि महिलाएं अपने साथी से अपनी तारीफ सुनने की इच्छा रखती हैं। साथ ही कुछ रोमांटिक बातें भी करें लेकिन, हर बार एक ही बात न दोहाएं क्योंकि, यह थोड़ा बोरिंग हो सकता है। इस दौरान वो गर्भावस्था में कितनी अच्छी दिख रही हैं ये जरूर बताएं।
  • गर्भावस्था का यह वक्त आप दोनों के लिए महत्वपूर्ण है। ऐसे में हमेशा अपने साथी के साथ उनकी संतुष्टि के बारे में बात करें और समझने की कोशिश भी करें की उन्हें कोई परेशानी तो नहीं हो रही है। उन्हें इसका एहसास दिलाएं कि उनकी फीलिंग्स को जानना आपके लिए कितना जरूरी है। फोरप्ले, सेक्स या ऑर्गैज्म के दौरान वे कैसा महसूस कर रही हैं और क्या चाहती हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान भी कप्लस को अपने आपको आकर्षित बनाए रखना चाहिए। हस्बैंड, वाइफ की ओर आकर्षित हो सकते हैं, जैसे उनके ब्रेस्ट (गर्भावस्था के दौरान ब्रेस्ट के आकार में बदलाव आता है), चेहरे की खूबसूरती, मेटर्निटी ऑउटफिट से गर्भवती महिला आपने आपको एट्रेक्टिव बनाए रख सकती हैं।

कई सारी महिलाओं और उनके पार्टनर के लिए गर्भावस्था के दौरान सेक्स तब तक ठीक माना जाता है जब तक गर्भवती महिला को इससे कोई परेशानी न हो। हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स कभी-कभी सेक्स का गर्भ में पल रहे शिशु पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है जिससे हाई रिस्क प्रेग्नेंसी का खतरा बढ़ सकता है। ऐसी स्थिति में कभी-कभी शिशु का जन्म समय से पहले भी हो सकता है। गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) से पहले गर्भवती महिला को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे वजायनल ब्लीडिंग या लेबर पेन की परेशानी होने पर प्रेग्नेंसी में सेक्स न करें।

और पढ़ें: गर्भधारण के लिए सेक्स ही काफी नहीं, ये फैक्टर भी हैं जरूरी

गर्भावस्था में सेक्स से पहले किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है?

गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) या प्रेग्नेंसी में सेक्स से पहले निम्नलिखित बातों को ध्यान रखना आवश्यक है। जैसे-

  • अगर गर्भवती महिला प्रेग्नेंसी के दौरान हेल्दी हैं, तो सेक्स किया जा सकता है। आपके पार्टनर सुरक्षित और आरामदायक सेक्स पुजिशन का विकल्प अपना सकते हैं।
  • सेक्स की वजह से गर्भ में पल रहे शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। दरअसल गर्भ में पल रहा शिशु (Amniotic fluid) से अच्छी तरह से कवर होता है जो शिशु की रक्षा करता है।
  • अगर प्रेग्नेंसी के दौरान कॉम्प्लिकेशन है या पहले हुई प्रेग्नेंसी के दौरान कोई परेशानी गर्भवती महिला को हो चुकी है, तो सेक्स अवॉयड करें।
  • गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) या प्रेग्नेंसी में सेक्स के बाद अगर वजयानल ब्लीडिंग शुरू होती है या वजायना से बाहर आने लगे तो बिना देर किये डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें।
  • अगर आपके गर्भ में ट्विन्स बेबी है या आप मल्टिपल प्रेग्नेंसी चल रही है, तो ऐसे में गर्भवती महिला को सेक्स नहीं करना चाहिए।
  • अगर गर्भवती महिला का पहले कभी मिसकैरिज हुआ है या वर्तमान प्रेग्नेंसी में भी मिसकैरिज का खतरा (Risk of miscarriage) है तो ऐसी स्थिति में प्रेग्नेंसी में सेक्स से परहेज करना चाहिए।
  • गर्भवती महिला अगर पहले शिशु को किसी भी कारण समय से पहले जन्म दे चुकीं हैं, तो ऐसे में गर्भावस्था के दौरान सेक्स से परहेज करना चाहिए।

और पढ़ें: 5 फूड्स जो लेबर पेन को एक्साइट करने का काम करते हैं

इन बातों को ध्यान रखकर गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) एंजॉय किया जा सकता है लेकिन, इस दौरान सतर्क भी जरूर रहें। सतर्कता सिर्फ गर्भ में पल रहे शिशु को लेकर ही न रखें बल्कि इस दौरान भी सेफ सेक्स का ही विकल्प चुनना चाहिए। सेफ सेक्स से इंफेक्शन सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज का खतरा भी कम होता है। इनसब के साथ अगर गर्भावस्था में सेक्स (Sex in pregnancy) करने से अगर कोई परेशानी महसूस होती है, तो ऐसी स्थिति में सेक्स न करें और अपनी परेशानी डॉक्टर से जरूर बताएं।

आपको बता दें कि, गर्भावस्था में महिला के अंदर शारीरिक और भावनात्मक कई बदलाव होते रहते हैं। इसके साथ ही, उनमें हॉर्मोनल बदलाव भी होते हैं, जो सेक्स करने की इच्छा यानी उनके लिबिडो पर असर डालते हैं। इस वजह से उनकी सेक्स करने की इच्छा कम हो सकती है। अगर आपकी पार्टनर सेक्स के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है, तो उनके निर्णय और इच्छा को समझना भी आपकी जिम्मेदारी है।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sex during pregnancy – https://www.pregnancybirthbaby.org.au/sex-during-pregnancy Accessed on 29/01/2020

Sex in pregnancy – https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3080531/ Accessed on 29/01/2020

Sex During Pregnancy – https://kidshealth.org/en/parents/sex-pregnancy.html Accessed on 29/01/2020

Sex in pregnancy – https://www.nhs.uk/conditions/pregnancy-and-baby/sex-in-pregnancy/ Accessed on 29/01/2020

Sex during pregnancy: What’s OK, what’s not – https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/pregnancy-week-by-week/in-depth/sex-during-pregnancy/art-20045318  Accessed on 29/01/2020

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/08/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड