home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अधिकतर महिलाएं ऑर्गैज्म का सुख क्यों नहीं ले पाती हैं?

अधिकतर महिलाएं ऑर्गैज्म का सुख क्यों नहीं ले पाती हैं? 

यह बहुत ही दुखद सत्य है कि महिलाओं को ऑर्गैज्म का अनुभव कर मिलाना वास्तव में बहुत कठिन है। एक रिपोर्ट के अनुसार केवल 10% महिलाएं ही आसानी से महिला ओर्गास्म का सुख प्राप्त कर पाती हैं। अन्य 90% महिलाओं को बहुत सारे बाहरी कारणों के वजह से ऑर्गैज्म का सुख भोगने में कठिनाई होती है। तो आज हम आपको कुछ मुख्य कारण बताने जा रहे हैं जिनकी वजह से महिला ऑर्गैज्म का सुख नहीं उठा पाती हैं। जानिए क्या कारण है जिससे महिला ऑर्गैज्म तक नहीं पाती है। आइए जानते हैं विस्तार से।

महिला ऑर्गैज्म (Women Orgasm) न मिलने के पीछे क्या कारण हो सकता है?

महिला ऑर्गैज्म

ऑक्सीटोसिन (Oxytocin) की कमी

ऑक्सीटोसिन को आमतौर पर “लव” हार्मोन के नाम से भी जाना जाता है। ऑर्गैज्म के लिए शरीर में इस हार्मोन का रिलीज होना बहुत जरूरी है। कई यौन रोग विशेषज्ञों के अनुसार, यदि आपका शरीर इसका पर्याप्त उत्पादन नहीं कर रहा है, तो आपको ऑर्गैज्म तक पहुंचने में मुश्किल हो सकती है। ज्यादा तनाव होने की वजह से भी ऑक्सीटोसिन का उत्पादन कम हो सकता है।

दवाओं का सेवन रोकता है ऑर्गैज्म (Medicine Effects On Orgasm)

कई यौन रोग विशेषज्ञ ऐसा मानते हैं कि ऐसी कई दवाइयां हैं जिनके सेवन से आपको कुछ साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ता है। इन दवाओं के सेवन से आपके शरीर में प्रोलैक्टिन (prolactin) के स्तर में बढ़ोतरी होती है। यह एक ऐसा प्रोटीन जो आपकी सेक्स ड्राइव को कम करता है और ऑर्गैज्म तक पहुंचने से रोकता है। आमतौर पर, ब्लड प्रेशर की दवाई, गर्भ निरोधक गोलियां, और एंटीडिप्रेसेंट की मेडिसिन मुख्य रूप से इस समस्या का कारण है।

और पढ़ें: क्या टाइप 1 डायबिटीज और सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज (STD) में संबंध है?

शरीर में पानी की कमी (Dehydration)

पूरे दिन सही मात्रा में पानी पीने से थकान और कब्ज जैसी रोजमर्रा की स्वास्थ्य समस्याओं से तो बचा ही जा सकता है बल्कि ये आपके यौन जीवन से गायब ऑर्गैज्म को भी वापस लाने में में भी मदद कर सकता है।

कभी नहीं किया मास्टरबेशन (Masturbation) तो हो सकती है दिक्कत

अपने साथी के साथ ऑर्गैज्म के सुख को प्राप्त करना इस बात पर निर्भर करता है कि आपने स्वयं को कितनी बार हस्तमैथुन द्वारा संतुष्ट किया है। यदि आपने बार-बार हस्तमैथुन द्वारा ऑर्गैज्म का आनंद लिया है, तो यह आपके साथी के साथ सेक्स के अंत में ऑर्गैज्म मिलने की संभावना को सीधे प्रभावित करता है। हस्तमैथुन के दौरान आप अपनी कल्पना का उपयोग कर मानसिक अवरोधों को खत्म कर ऑर्गैज्म का सुख पाने में सफल होती हैं। इस प्रकार आपको अपने शरीर के उन हिस्सों के बारे में भी पता चलता है जहां स्पर्श करने से आप उत्तेजित होती हैं। सेक्स के दौरान इन अनुभवों का बहुत लाभ मिलता है।

और पढ़ें: कई लोगों के साथ ओरल सेक्स करने से काफी बढ़ जाता है सिर और गले के कैंसर का खतरा

क्या आप सेक्स से पहले पेशाब करती हैं

हर कोई यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को रोकने के लिए सेक्स के ठीक बाद पेशाब करते हैं है, लेकिन स्मार्ट उपाय यह है कि आप सेक्स के पहले भी पेशाब करें। इसके पीछे का कारण सरल है, गॉल ब्लैडर भरे होने की वजह से आपका ध्यान सेक्स की बजाय पेशाब करने के लिए बन रहे दबाव को महसूस करने में रहता है। जिस वजह से आप कभी भावनात्मक रूप से सेक्स के हिस्सा बन ही नहीं पाते और ऑर्गैज्म तक नहीं पहुंच पाते।

यह कुछ सामान्य कारण हैं जिनकी वजह से महिलाओं में आमतौर पर ऑर्गैज्म प्राप्त करने में दिक्कत होती है। अगर इसके अलावा भी आपको कोई लक्षण या संदेह लगता है तो तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

महिला हो या पुरुष, दोनों के लिए ही ऑर्गैज्म काफी जरूरी होता है। इसके कई सारे फायदे होते हैं, जिनके बारे में हम नीचे बताने जा रहे हैं :

1.ब्लड फ्लो करे बेहतर (Good Blood Flow)

सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म के एहसास से शरीर में ब्लड में ऑक्‍सीजन की मात्रा बढ़ जाती हैस जिससे ब्लड फ्लो बेहतर होता है, जिसका फायदा सभी अंगों को होता है। ऑर्गैज्‍म पाने से प्राइवेट पार्ट के भाग में ब्लड फ्लो बहुत तेजी से होता है, इसके कारण शरीर के टिश्‍यू स्वस्थ बने रहते हैं।

2. महिला ऑर्गैज्म के लिए तनाव दूर करे (Reduce Tension)

ऑर्गैज्म के कारण आपको तनाव से भी राहत मिलती है। ऑर्गैज्म से ऑक्सीटॉसिन बढ़ता है, जो तनाव दूर करने में मदद करता है। जब तनाव से दूर रहेंगे, तो आपकी त्वचा खिलीखिली रहेगी।

और पढ़ें: पुरुषों में ही नहीं महिलाओं में भी होती है हाई सेक्स ड्राइव, जानें क्या होती हैं उनकी चुनौतियां

3.नींद, जो बढ़ाए आपकी खूबसूरती (Sleep Is very Important)

ऑर्गैज्म का एहसास आपको एक अच्छी नींद देता है। नींद की कमी होने से चेहरे पर मुंहासे की समस्या बढ़ जाती है। इसलिए, डॉक्टर चमकती त्वचा के लिए दिन में आठ घंटे सोने की सलाह देते हैं। सेक्स के बाद आपको गहरी और लंबी नींद मिलती है।

4.बढ़ती उम्र के निशान को रोके (Benefits Of Orgasm)

साल 2009 मिशिगन विश्वविद्यालय में किए गए एक अध्ययन में पता चला है कि एक बार ऑर्गेज्म प्राप्त करने से शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाता है। एस्ट्रोजन आपकी त्वचा को एजिंग से बचाने में मदद करता है। इस दौरान, यह कोलेजन की कमी को रोकता है और जरूरी प्रोटीन त्वचा को देता है। यह त्वचा की परत को मोटा भी बनाए रखता है और त्वचा पर झुर्रियों आने से रोकता है।

और पढ़ें: क्या कारण हैं कि सर्दी के मौसम को सेक्स के लिए माना जाता है बेहतरीन?

5. महिला ऑर्गैज्म (Women Orgasm) के लिए मन को करे खुश

हर पल खुश रहने और सकारात्मक विचार से मन और तन दोनों ही स्वस्थ रहते हैं। सेक्स करने के दौरान आपका मन पूरी तरह से शांत रहता है, जिससे दिमाग पर किसी तरह का कोई तनाव नहीं रहता।

6. दर्द निवारक का काम करे (Orgasm Is A Pain Reliefer)

ऑर्गेज्‍म दर्द को कम करने में मदद करता है। ऑर्गेज्म से शरीर से ऑक्‍सीटोसिन नामक कैमिकल निकला है, जो मन को शांत और पॉजिटिव एहसास दिलाता है।

तो इस आर्टिकल में आपने जाना कि आखिर क्यों कुछ महिलाएं सेक्स के दौरान ऑर्गैज्म नहीं ले पाती। हो सकता है कि इसके महिला ऑर्गैज्म इसलिए भी न ले पा रही हो कि उसमें उस दौरान पानी की कमी हो। या महिला ऑर्गैज्म न मिलने के पीछे ऑक्सीटॉसिन भी एक कारण हो सकता है। इसके अलावा भी कई कारण हो सकते हैं जो महिला ऑर्गैज्म में बाधा पहुंचा सकते हैं। कई बार तनाव के कारण भी महिला ऑर्गैज्म तक नहीं पहुंच पाती है। इसलिए कहते हैं कि सेक्स के दौरान चिंता, फिक्र या अन्य बातें दिमाग से निकाल दें और केवल उस पल को अच्छी तरह से एंजॉय करें। ऐसा करने से भी महिला ऑर्गैज्म तक पहुंच पाती है।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और महिला ऑर्गैज्म से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Orgasmic dysfunction: Everything you need to know/https://www.medicalnewstoday.com/articles/324112.php/Accessed 28 December 2019

What is female orgasmic disorder (FOD)?/https://www.issm.info/sexual-health-qa/what-is-female-orgasmic-disorder-fod/Accessed 28 December 2019

Anorgasmia in women/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/anorgasmia/symptoms-causes/syc-20369422/Accessed 28 December 2019

Female orgasm: No climax with vaginal penetration?/https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/female-sexual-dysfunction/expert-answers/female-orgasm/faq-20058215/ Accessed on 24th April 2021

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/04/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x