home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

क्या गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान किसी खास खाद्य पदार्थ का सेवन करने की इच्छा होना सामान्य है। इसे क्रेविंग कहा जाता है। लेकिन इस समय क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए, इस बात का ध्यान रखना भी आवश्यक है। अगर आप गर्भावस्था के दौरान खानपान का ध्यान नहीं रखेंगे, तो इसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं। इन्हीं खाद्य पदार्थों में एक है चीज (cheese)। बाजार में कई प्रकार के चीज उपलब्ध हैं। चीज, खाने के स्वाद को बढ़ा देता है, ऐसे में इसकी क्रेविंग होना आम है। लेकिन गर्भावस्था में इसका सेवन करना सुरक्षित है या नहीं, इस बात का ध्यान रखें। जानिए गर्भावस्था के दौरान चीज का सेवन करना चाहिए या नहीं।

गर्भावस्था के दौरान खानपान को लेकर क्रेविंग क्यों होती है?

गर्भावस्था के दौरान खानपान को लेकर क्रेविंग होने के पीछे एक कारण, हार्मोन्स में परिवर्तन को माना जाता है। गर्भावस्था के दौरान हार्मोन्स में बदलाव होते रहते हैं, यही क्रेविंग का कारण बनते हैं। इसके साथ यह भी माना जाता है कि गर्भावस्था के दौरान क्रेविंग होने का अर्थ यह है कि आपके शरीर में न्यूट्रिएंट्स की कमी है। जैसे अगर आपके शरीर में विटामिन C की कमी है, तो आप अचानक खट्टे फल जैसे संतरा, नींबू को खाना पसंद करेंगे। हालांकि प्रेग्नेंसी में क्रेविंग के कारण आप कई बार अनहेल्दी आहार का सेवन कर सकते हैं। जैसे अगर आपका मन कुछ मीठा खाने का करता है, तो आप बहुत ज्यादा आइसक्रीम या मिठाईयां खा लेते हैं, जो आपके लिए हानिकारक हो सकती हैं।

और पढ़ें: मोटापा और गर्भावस्था: क्या जन्म लेने वाले शिशु के लिए है खतरनाक?

गर्भावस्था के दौरान खानपान में चीज खाने की इच्छा होने का क्या अर्थ है?

गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाएं चीज की क्रेविंग की शिकायत करती हैं। इसका यह मतलब हो सकता है कि आपके शरीर को अतिरिक्त प्रोटीन और कैल्शियम की जरूरत होगी। हालांकि चीज कैल्शियम का अच्छा स्रोत है, जो गर्भ में पल रहे शिशु के विकास के लिए जरूरी है। लेकिन इसे पचाना मुश्किल होता है। ऐसे में अगर इसे अधिक खा लिया जाए, तो गैस और कब्ज जैसी समस्या हो सकती है। दूध और दही भी कैल्शियम का अच्छा स्रोत हैं। इसलिए कैल्शियम प्राप्त करने के लिए दूध और दही का सेवन गर्भावस्था के समय करना अधिक सुरक्षित है। गर्भावस्था के दौरान खानपान में थोड़ा परिवर्तन करके अपने स्वास्थ्य को सही बनाए रख सकते हैं।

क्या गर्भावस्था के दौरान खानपान में चीज खाना सुरक्षित है?

इसमें कोई संदेह नहीं कि चीज प्रोटीन और विटामिन बी का अच्छा स्रोत है और इससे हमारे शरीर की पोषक तत्वों की जरूरत भी पूरी होती है। यही नहीं, बच्चे के विकास में भी यह लाभदायक है। लेकिन बाजार में चीज की कई किस्में मौजूद हैं। जिनमें से सभी को खाने की सलाह नहीं दी जाती। इनमें से कुछ पूरी तरह से सुरक्षित हैं, तो कुछ को बिलकुल भी सुरक्षित नहीं ऐसा माना जाता है। ऐसा भी कहते हैं कि बाजार में मौजूद नरम चीज को बिलकुल भी नहीं खाना चाहिए। क्योंकि इनमें माइक्रोस्कोपिक जीव होते हैं, जिन्हें लिस्टेरिया कहा जाता है। यह जीव लिस्टेरियोसिस नामक स्थिति पैदा करते हैं।

  • लिस्टेरियोसिस नवजात शिशुओं, बूढ़े लोगों या ऐसे लोगों की, जिनकी इम्युनिटी कमजोर है , उनमें एक खतरनाक संक्रमण पैदा कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान आपके लिए यह जानना बेहद आवश्यक है कि कौन सी चीज खाना आपके लिए सुरक्षित है और कौन सी नहीं। ताकि गर्भावस्था के दौरान आप अपनी चीज खाने की इच्छा भी पूरी कर सके और आपको और आपके शिशु को कोई नुकसान भी न हो।
  • लिस्टेरिया के कारण कुछ गर्भवती महिलाओं को बैक्टीरिया मेनिन्जाइटिस और सेप्टिसीमिया जैसी समस्या हो सकती है।
  • इसमें होने वाले लिस्टेरिया के कारण शिशु समय से पहले जन्म ले सकते हैं। गर्भ में संक्रमित अन्य शिशुओं में रक्त संक्रमण, बुखार, त्वचा के घाव और विभिन्न अंगों पर घाव या मेनिन्जाइटिस जैसी समस्या हो सकती है, जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करती है।
  • कई चीज और चीज स्प्रेड, क्रीम चीज आदि में बहुत फैट होता है। हालांकि गर्भावस्था में शिशु के विकास के लिए फैट जरूरी है। लेकिन बहुत अधिक चीज खाने से पेट में खराबी और गेस्टेशनल डायबिटीज जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान खानपान का ध्यान आपको जरूर रखना चाहिए।

और पढ़ें: गर्भावस्था में ओरल केयर न की गई तो शिशु को हो सकता है नुकसान

जानिए चीज की कौन सी किस्में हैं सुरक्षित ?

स्प्रेडेबल चीज

चीज का वह प्रकार, जिसे आप खाद्य पदार्थों पर फैला कर खा सकते हैं, जैसे क्रीम चीज, मेल्टेड चीज खाने में सुरक्षित है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान खानपान का ख्याल रखने के लिए डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

नरम चीज

यह कच्चे या अनपॉश्चराइज्ड दूध से बनते हैं, जैसे चविग्नोल गोट चीज, कूपलियर्स इनका सेवन नहीं करना चाहिए। पॉश्चराइज्ड दूध से बना चीज जैसे कॉटेज और रिकोटा चीज इस दौरान खाना सुरक्षित है

सेमि-सॉफ्ट चीज

कच्चे या अनपॉश्चराइज्ड दूध से बना चीज उदहारण के लिए ब्लू, सेंट-पॉलिन, रोक़ुइफोर्ट आदि को नहीं खाना चाहिए। इसके साथ ही पॉस्चुरीकृत दूध से बने चीज (उदहारण बल्क फेटा) का सेवन भी नहीं करना चाहिए। सेमि-सॉफ्ट चीज जैसे ब्लू चीज और मोल्डेड- रिंड चीज को अगर पॉस्चुरीकृत दूध से भी बनाया गया हो, तो भी उसका सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इनमें नमी अधिक होती है और यह सख्त चीज से कम एसिडिक होते हैं, ऐसे में इनमें लिस्टेरिया के पनपने की संभावना बढ़ जाती है। गर्भावस्था के दौरान खानपान के बारे में लिस्ट बनाते हैं, तो इस बात को अवश्य नोट कर लें। पॉस्चुरीकृत दूध के साथ बनाया गया चीज उदाहरण के लिए मोज़ेरेला इस दौरान खाना सुरक्षित है।

और पढ़ें:गर्भावस्था में जरूरत से ज्यादा विटामिन लेना क्या सेफ है?

सख्त चीज

कच्चे या अनपॉश्चराइज्ड दूध से बने चीज का सेवन नहीं करना चाहिए। जबकि इस दौरान पॉश्चराइज्ड दूध से बना चीज जैसे चैडार, गौड़ा, स्विस, परमेसन आदि के साथ ही मेल्टेड चीज जैसे क्राफ्ट सिंगल्स, वेलवेता का सेवन करना सुरक्षित है।

अगर आप गर्भावस्था के दौरान खानपान को लेकर चिंतित हैं, तो आप अपने डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि अगर इन चीज को उच्च तापमान (74 डिग्री सेल्सियस और अधिक) पर घर में पकाया जाता है। तो इससे बैक्टीरिया मर जाते हैं और भोजन खाने के लिए सुरक्षित हो जाता है। हालांकि गर्भवती महिलाओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि जब वो इसका सेवन करें, तो यह चीज पूरी तरह से गर्म हो। अपने टेस्टबड्स को शांत करने के लिए क्रीम चीज का प्रयोग करें। इसके साथ ही बाजार में चीज की ऐसी कई वेराइटीज मिल जाएगी जिसमें स्वाद के साथ कम वसा भी हो।

अगर गर्भावस्था में ऐसा आहार खा लिया है जिससे आपको समस्या हो, तो क्या करना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान खानपान को लेकर सचेत रहना आवश्यक है, लेकिन अगर आपको निम्नलिखित लक्षण हो या आप कुछ गलत खाने को लेकर चिंतित हैं, अपने चिकित्सक को दिखाएं। लिस्टेरियोसिस के लक्षण फ्लू के समान हैं और इसमें यह समस्याएं शामिल हैं:

  • बुखार
  • सरदर्द
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • मांसपेशियों में दर्द

और पढ़ें: Quiz: नए माता-पिता ब्रेस्टफीडिंग संबंधित जरूरी जानकारियाँ पाने के लिए खेलें यह क्विज

गर्भावस्था में खानपान के दौरान खास एहतियात बरतनें की जरूरत होती है। बेहतर होगा खाने में सभी प्रकार के पौष्टिक आहार शामिल करें। अगर आप किसी एक ही फूड को अधिक मात्रा में खाएंगी तो आपको परेशानी भी हो सकती है। ऐसे में सभी पौष्टिक आहार को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में जरूर शामिल करें। आप इस बारे में डॉक्टर से भी बात कर सकती हैं।

अच्छी खबर यह है, यदि आपने अपनी गर्भावस्था में ऐसा कुछ खा लिया है, जो आपको लगता है कि जोखिम भरा हो सकता है और आपने ऊपर दिए लक्षणों का अनुभव नहीं किया है। तो ज्यादातर विशेषज्ञों का मानना ​​है कि आपको किसी भी परीक्षण या उपचार की आवश्यकता नहीं है। अपने और अपने बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए गर्भावस्था के दौरान सही जानकारी प्राप्त करें। सही जानकारी आपको और आपके बच्चे को सुरक्षित रखने में सहयोग कर सकती है। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Foods to eat or avoid when pregnant.https://www.foodauthority.nsw.gov.au/consumer/life-events-and-food/pregnancy/foods-to-eat-or-avoid-when-pregnant.Accessed on 27.08.20

Why Are Pregnant Women Told to Avoid Feta Cheese?.https://www.hopkinsallchildrens.org/patients-families/health-library/healthdocnew/why-are-pregnant-women-told-to-avoid-feta-cheese.Accessed on 27.08.20

Foods to avoid when pregnant.https://www.pregnancybirthbaby.org.au/foods-to-avoid-when-pregnant.Accessed on 27.08.20

Listeria During Pregnancy.https://americanpregnancy.org/pregnancy-concerns/listeria-during-pregnancy-906.Accessed on 27.08.20

Why Are Pregnant Women Told to Avoid Feta Cheese?.https://kidshealth.org/en/parents/cheese-louise.html.Accessed on 27.08.20

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/11/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x