home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

हाइपरटेंशन में कैल्शियम बन सकता है खतरा!

हाइपरटेंशन में कैल्शियम बन सकता है खतरा!

कैल्शियम शरीर के लिए फायदेमंद होता है। यही वजह है कि डॉक्टर भी शरीर में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने की सलाह देते हैं। आप भी इससे होने वाले फायदों से काफी हद तक परिचित होंगे। पर इस बात को आप शायद ही जानते होंगे कि कैल्शियम शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है। जी हां, अगर आप हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन के मरीज हैं तो आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है। दरअसल कैल्शियम की ज्यादा खुराक आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। कई रिसर्च में ये स्पष्ट हो चुका है कि हाइपरटेंशन में कैल्शियम की खुराक अप्रत्यक्ष रूप से ब्लड प्रेशर व कुछ अन्य समस्या को बढ़ा सकती है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि हाइपरटेंशन में कैल्शियम की खुराक आपके लिए फायदेमंद है या नुकसानदायक। साथ ही जानिए कि अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो किन दवाओं को लेने से आपकी समस्या बढ़ सकती है।

और पढ़ेंः जानें हाइपरटेंशन कम करने का उपाय

हाइपरटेंशन में कैल्शियम से रहता है हार्ट अटैक का खतरा

बीबीसी ने भी न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में हुए एक शोध के अनुसार बताया है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स से दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है। बीबीसी के आर्टिकल के अनुसार हाइपरटेंशन के मरीज अगर कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेते हैं तो उनमें दिल का दौरा पड़ने की आशंका 30 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इस रिसर्च में शोधकर्ताओं ने 4 साल में 11 हजार 921 लोगों में दिल के दौरे व स्ट्रोक की समस्या को देखा। इनमें से 296 लोगों को दिल का दौरा पड़ा था, इनमें से 166 कैल्शियम सप्लीमेंट्स ले रहे थे। यह सुव्यवस्थित समीक्षा थी, लेकिन इसके परिणामों पर सावधानी से ध्यान देना चाहिए। सप्लीमेंट्स लेना है कि नहीं, आपकी क्या स्थिति है इन सबका फैसला डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही करें। कोई भी निर्णय अपने आप से न लें।

क्या कहती है रिसर्च?

न्यूजीलैंड में हुए एक रिसर्च के अनुसार, विटामिन-डी के साथ या विटामिन-डी के बिना कैल्शियम की खुराक ज्यादातर हृदय संबंधी घटनाओं खासकर दिल के दौरे के जोखिम को बढ़ाती है। इस सर्वे में 16 हजार 718 महिलाओं के एक समूह पर सर्वे किया। इनमें से उन महिलाओं में हृदय रोग संबंधी खतरा अधिक था जो कैल्शियम और विटामिन डी ले रहीं थीं।

और पढ़ेंः हाइपरटेंसिव क्राइसिस(Hypertensive Crisis) क्या है?

हाइपरटेंशन में कैल्शियम से इस तरह के हैं खतरे

शोधकर्ताओं का माना है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स शुरू करते समय ब्लड कैल्शियम के स्तर में अचानक आए बदलाव काफी हद तक जोखिम बढ़ान के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसका अर्थ है कि जिन महिलाओं के रक्त में पहले से ही आहार की वजह से कैल्शियम है, वे अगर सप्लीमेंट्स से कैल्शियम लें तो इसकी अधिक मात्रा नुकसान पहुंचा सकती है।

हाइपरटेंशन में कैल्शियम इस तरह डालता है असर

जैसा कि ऊपर साबित हो चुका है कि कैल्शियम सप्लीमेंट्स की अधिकता हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर में दिक्कतें पैदा कर सकती हैं। आइए जानते हैं कि कौन-सा सप्लीमेंट्स आपको कैसे प्रभावित करता है।

हाइपरटेंशन में कैल्शियम : थियाजाइडडाइयुरेटिक (Thiazide diuretics)

थियाजाइड डाइयुरेटिक के साथ कैल्शियम कार्बोनेट (जैसे – क्लोरोथायजाइड (ड्यूरिल), हाइड्रोक्लोरोथियाजाइड (माइक्रोजाइड) और इंडैपामाइड की अधिक मात्रा लेने से Milk-alkali Syndrome (दूध-क्षार सिंड्रोम) बढ़ने का खतरा रहता है। सामान्य तौर पर अगर आप थियाजाइड डाइयुरेटिक ले रहे हैं, तो रोजाना बड़ी मात्रा में कैल्शियम कार्बोनेट (सप्लीमेंट्स और आहार) लेने से बचें। यदि आप थियाजाइड डाइयुरेटिक लेते समय कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेते हैं तो डॉक्टर से सही खुराक के बारे में बात करें।

और पढे़ंः इन हर्ब्स की मदद से कम करें हाइपरटेंशन

हाइपरटेंशन में कैल्शियम : कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स (Calcium channel blockers)

कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स कैल्शियम को रक्त वाहिकाओं पर परस्पर प्रभाव या अंतःक्रिया करने से रोकते हैं, जिससे रक्त वाहिका की कसने की क्षमता कम हो जाती है और बाद में इससे शिथिल वाहिकाएं और लो ब्लड प्रेशर जैसे परिणाम सामने आते हैं। इससे समझ में आता है कि कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स भी कैल्शियम सप्लीमेंट से प्रभावित हो सकते हैं। हालांकि आमतौपर यह तब होता है जब आप कैल्शियम सप्लीमेंट्स अधिक मात्रा में लेते हैं। अतः स्पष्ट है कि ब्लड कैल्शियम की अधिक मात्रा कैल्शियम और रक्त वाहिकाओं के बीच अंतःक्रिया करने वाली दवाओं की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। इन सबके अलावा कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स लेने वालों को कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए। इसे लेने वालों को अंगूर का रस नहीं पीना चाहिए, दरअसल इससे रक्त प्रवाह में जाने वाली दवा की मात्रा बढ़ जाती है और आपका ब्लड प्रेशर अचानक बहुत कम हो जाता है। कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स के साथ कोई दूसरी दवा लेने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें। अगर आप ब्लड प्रेशर कम करने की अन्य दवाओं के साथ कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स ले रहे हैं तो इसे फौरन बंद न करें। इसे लंबे समय तक लेते रहें। अगर आप एनजाइन से पीड़ित हैं तो अचानक से कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स को लेना बंद न करें। इससे सीने में दर्द की समस्या हो सकती है।

अन्य दवाओं से नुकसान

कैल्शियम सप्लीमेंट्स ब्लड प्रेशर की अन्य दवाओं जैसे – ACE ब्लॉकर्स, बीटा ब्लॉकर्स के साथ लेने पर किसी तरह की दिक्कत पैदा नहीं होती है। फिर भी अगर आप किसी भी विटामिन, खनिज या हर्बल उत्पाद के साथ कैल्शियम सप्लीमेंट्स लेने की शुरुआत कर रहे हैं, तो ऐसा करने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में जरूर बात करें। वह आपको सही सलाह देगा। अपने आप डॉक्टर बनने से आपको बचना चाहिए।

और पढ़ेंः हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन के लक्षण क्या होते हैं?

कैल्शियम की दवा: हाइपरटेंशन में कैल्शियम लेने पर बरतें सावधानी

हाइपरटेंशन में पीड़ित व्यक्ति को अपना खास ध्यान रखना पड़ता है, ताकि किसी भी अटैक से वह बचा रहे। आप भी हाइपरटेंशन से पीड़ित हैं और कैल्शियम सप्लीमेंट्स ले रहे हैं तो आपको खास सतर्क होने की जरूरत है। आपको इस दौरान शरीर में होने वाले हर बदलावों पर नजर रखनी चाहिए। कोई भी तकलीफ होने पर फौरन डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर आपको उपयुक्त सलाह देगा। डॉक्टर दवाई को लेकर जो भी परामर्श दे, उसका भी पालन आपको करना चाहिए। दवाई की डोज नियमित समय पर लेते रहें। ऐसा न करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। आपको हार्ट अटैक के अलावा ब्रेन स्ट्रोक की समस्या भी हो सकती है। यह दोनों स्थिति आपके लिए बहुत ही नुकसानदायक हो सकती है।

बेशक कैल्शियम शरीर के लिए जरूरी है, लेकिन हाइपरटेंशन में कैल्शियम की अधिकता आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकती है। कई रिसर्च और डॉक्टरों के अनुसार हाइपरटेंशन यानी हाई ब्लड प्रेशर में कैल्शियम सप्लीमेंट्स की मात्रा अधिक होने से हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक व अन्य शारीरिक समस्या होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में आपको सावधान रहने की जरूरत है। बिना डॉक्टरकी सलाह के किसी भी तरह का सप्लीमेंट लेना नुकसान पहुंचा सकता है। बेहतर होगा कि बिना डॉक्टर की सलाह के दवा का सेवन न करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Do calcium supplements interfere with calcium-channel blockers?

https://www.health.harvard.edu/blood-pressure/do-calcium-supplements-interfere-with-calcium-channel-blockers

Accessed on 21/12/2019

Calcium supplements: Do they interfere with blood pressure drugs?

https://www.drugs.com/mcf/calcium-supplements-do-they-interfere-with-blood-pressure-drugs

Accessed on 21/12/2019

Effect of dietary calcium supplements and amlodipine on growth, arterial blood pressure, and cardiac hypertrophy of spontaneously hypertensive rats

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/14649307

Accessed on 21/12/2019

Calcium pills ‘may raise’ heart risk

https://www.nhs.uk/news/heart-and-lungs/calcium-pills-may-raise-heart-risk/

Accessed on 21/12/2019

Calcium Supplements and High Blood Pressure Medications

https://www.verywellhealth.com/calcium-supplements-affect-high-blood-pressure-medicine-1763977

Accessed on 21/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित
अपडेटेड 21/04/2020
x