आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

ये 9 हर्ब्स हाइपरटेंशन को कर सकती हैं कम, जानिए कैसे करना है इनका उपयोग

    ये 9 हर्ब्स हाइपरटेंशन को कर सकती हैं कम, जानिए कैसे करना है इनका उपयोग

    हाई ब्लड प्रेशर यानी हाइपरटेंशन की समस्या देश-दुनिया में बढ़ती जा रही है। भारत में हर पांच में से एक व्यक्ति हाइपरटेंशन की बीमारी से ग्रसित है। आंकड़ों की बात करें तो करीब 1 लाख लोग इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। लाखों लोगों की मौत का भी यह कारण बन चुका है। इसलिए हाइपरटेंशन को कम करना जरूरी है।आप चाहें तो हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स का उपयोग कर सकते हैं।

    इस बारे में जब हैलो स्वास्थ्य ने जाने माने आयुर्वेदिक एक्सपर्ट पांच से ज्यादा स्वास्थ्य संबंधित किताबों के लेखक और इंक्रेडिबल आयुर्वेदा के संस्थापक डाॅ अबरार मुलतानी से बात की तो उन्होंने बताया कि, ”हाइपरटेंशन का इलाज आयुर्वेद में उपलब्ध है। सर्पगंधा, अश्वगंधा, ब्राम्ही, हल्दी, पुदीना और तुलसी जैसी हर्ब्स से इसका इलाज किया जा सकता है। इनका उपयोग करने के बाद 3-4 दिनों के बाद असर दिखने लगता है, लेकिन वे कहते हैं कि इन हर्ब्स का उपयोग मरीज को डॉक्टर की देखरेख में ही करना चाहिए क्योंकि हाइपरटेंशन एक जोखिम भरी बीमारी है।” जब हमने पूछा कि क्या इस बीमारी के लिए एलोपैथी ट्रीटमेंट ज्यादा सही तो उनका कहना था कि, ”आयुर्वेदिक दवाओं को लेते समय मॉनिटरिंग की जरूरत होती है बस जबकि अंग्रेजी दवाएं तो बिना डॉक्टर की निगरानी बीपी के मामले जानलेवा तक हो सकती है।”

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स की लिस्ट

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में लहसुन शामिल

    हाई ब्लड प्रेशर हो, हृदय संबंधी समस्या हो या इम्यून सिस्टम बढ़ाना हो लहसुन हर परेशानी के लिए असरदार माना जाता है। लहसुन नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाता है। नाइट्रिक ऑक्साइड के बढ़ने के कारण रक्त वाहिकाओं में फैलाव आता है और वह अच्छे से रक्त प्रवाह कर पाती हैं। लहसुन को उसके सभी गुड एलिसिन के कारण मिलते हैं। इस ​एलिसिन के कारण भी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने में लहसुन काम आता है। एक स्टडी के अनुसार लहसुन सिस्टोलिक दबाव वाले रोगियों में बीपी की कमी के लिए उपयोगी है। एक स्टडी के मुताबिक लहसुन का उपयोग करने वाले लोगों में बीपी में कमी, 8-हाइड्रॉक्सी-2-डीऑक्सीगैनोसिन में कमी, नाइट्रिक ऑक्साइड और लिपिड पेरोक्सीडेशन में कमी और एंटीऑक्सिडेंट विटामिन (सी और ई) को बढ़ाने में मददगार साबित हुआ।

    और पढ़ें:ब्लड प्रेशर से जुड़े मिथक के कारण लोगों में फैलती है गलत जान​कारियां

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में सेलेरी (Celery) शामिल

    चीन में किए गए एक शोध के अनुसार जिन लोगों ने सप्ताह भर नियमित रूप से सेलेरी का जूस शहद के साथ पिया उनका ब्लड प्रशेर कम पाया गया। इसके साथ ही यह भी देखा गया कि यह सिस्टोलिक व डायस्टोलिक दोनों तरह के प्रेशर को कम करता है। हाइपरटेंशन कम करने वाले हबस में सेलेरी को जोड़ना बनता है। इसके साथ ही हाइपरटेंशन में होने वाले सिर दर्द चक्कर आदि को कम करने के लिए आप सेलेरी जूस के साथ विनेगर मिक्स कर ले सकते हैं।

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में चीनी नागफनी (Chinese Hawthorn) शामिल

    चीन की प्राचीन औषधी के रूप में नागफनी का उपयोग किया जाता है। दिल पर नागफनी के लाभकारी प्रभाव में योगदान करने वाले दो मुख्य पदार्थ फ्लेवोनोइड्स और ओलिगोमेरिक प्रोसीएनिडिन (flavonoids and oligomeric procyanidins) हैं। यह शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट एजेंट हैं। यह बीपी को कम करने, दिल के दौरे के जोखिम को कम करने, ब्लड सकुलेशन बढ़ाने आदि में लाभदायक होता है। नागफनी के अर्क से रक्तचाप को कम करने, धमनियों को सख्त होने से रोकने और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। नागफनी को दवा, जूस या चाय में मिलाकर लिया जा सकता है।

    और पढ़ें : इन हाई ब्लड प्रेशर फूड्स को अपनाकर हाइपरटेंशन को दूर भगाएं!

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में अदरक शामिल

    अदरक रक्तचाप को नियंत्रित करने में बहुत मददगार हो सकता है। शोध के अनुसार अदरक ब्लड सकुलेशन बढ़ाने के लिए फायदेमंद होता है। अदरक को चाय, जूस, खाने, सूप, हर चीज में उपयोग किया जा सकता है।

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में इलायची (Cardamom) शामिल

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हबर्स में आप इलायची को भी जोड़ सकते हैं। इलायची एंटिऑक्सीडेंट होने के नाते ब्लड प्रेशर कम करने में मददगार साबित हो सकती है। इलायची का दूसरा फायदा यह है कि यह स्वाद को निखारती है और मुंह की बदबू को दूर भगाने के​ लिए भी फायदेमंद होती है।

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में तुलसी (Basil) शामिल

    जर्नल स्टडीज ऑफ एथनो-मेडिसिन के मुताबिक तुलसी और नीम का मेल हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार साबित हो सकता है। जानवरों पर किए गए शोध में अभी तक यह पाया गया ​है कि तुलसी ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करती है। तुलसी में पाया जाने वाला यूजेनॉल कैमिकल रक्त वाहिकाओं को रोकने वाले पदार्थों को रोक देता है। इस​ कारण रक्त प्रवाह सुचारू रूप से होता है और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या कम होता है। तुलसी इम्यून सिस्टम अच्छा करने के साथ ही तनाव को दूर करने के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है। तुलसी के पत्ते साबुत चबाए जा सकते हैं। वहीं चाय, खाने, काढ़ा या सूप व सलाद में भी तुलसी का उपयोग किया जा सकता है।

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में अलसी (Flaxseed) शामिल

    अलसी में ए-लिनोलेनिक एसिड होता है जो कि एक आवश्यक फैटी एसिड है। यह हृदय रोग, गठिया और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है। ए -लिनोलेनिक एसिड ओमेगा-3 फैटी एसिड नामक पदार्थों के समूह से संबंधित है। कई अध्ययनों से पता चला है कि ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर आहार हाइपरटेंशन के मरीजों में बीपी को कम करने में सहायक होता है। अलसी कॉलेस्ट्रोल कम कर, ग्लूकोस टॉलरेंस बढ़ाने व एंटिआॅक्सिडेंट की तरह काम कर एथेरोस्क्लोरोटिक हृदय रोग से बचाव में उपयोगी होती है।

    और पढ़ें: क्या सच में कैफीन ब्लड प्रेशर बढ़ाने में सहायक होती है?

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स में अश्वगंधा शामिल

    अश्वगंधा एक ऐसी जड़ी-बूटी है जो ना सिर्फ ब्लड प्रेशर कम करती है बल्कि इंफ्लेशन और स्ट्रेस को कम करने के काम भी आती है। अश्वगंधा से इम्युन सिस्टम अच्छा होता है। यह व्हाइट ब्लड सेल्स और रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है। यह याद रखें कि अश्वगंधा का सेवन हानिकारक भी हो सकता है। इसलिए यदि आप हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित हैं तो डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन शुरू करें।

    हाई बीपी कम करने वाले हर्ब्स में शामिल है व्हीट ब्रैन या चोकर

    कई शोधों में पाया गया है कि हर रोज तीन से छह ग्राम चोकर का उपयोग करने से सिस्टोलिक व डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है। इसलिए आप चोकर का इस्तेमाल आटे में मिलाकर कर सकते हैं। चोकर को एक साथ बहुत अधिक मात्रा में आटे के साथ ना मिलाएं। धीरे-धीरे इसकी मात्रा को बढ़ाना चाहिए।

    और पढ़ें: महिलाएं प्रेग्रेंसी में हाई ब्लड प्रेशर को न करें नजरअंदाज, हो सकता है ये खतरा

    ब्लड प्रेशर कम करने के अन्य तरीके

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स के साथ अन्य आहारों के बारे में भी पता होना चाहिए कि हाइपरटेंशन में क्या खाएं और क्या ना खाएं? हाइपरटेंशन के मरीजों को नमक, सोडियम, प्रोसेस्ड फूड या जंक फूड से दूरी बनाए रखनी चाहिए। इसके साथ ही शराब, स्मोकिंग और कैल्शियम सप्लीमेंट्स भी हाई ब्लड प्रेशर में नुकसान पहुंचाते हैं। हाइपरटेंशन यदि आप कम करना चाहते हैं तो कम चीनी और नमक वाला खाना खाएं। आहार में फल और सब्जियों की मात्रा बढ़ाएं। इसके साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करना भी हाइपरटेंशन के लिए अच्छा होता है। रोज कम से कम आधे घंटे कार्डियो एक्सरसाइज फायदेमंद साबित हो सकती है।

    हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स के फायदे यह हैं कि यह घर पर आसानी से उपलब्ध होते हैं। दूसरा इनमें से अधिकतर के साइड इफेक्ट भी नहीं होता। हाइपरटेंशन कम करने वाले हर्ब्स के साथ ही नियमित रूप से एक्सरसाइज करना, तनाव से दूर रहना, खान-पान में सुधार और नियमित रूप से हाइपरटेंशन की दवा लेना भी बहुत आवश्यक है।

    health-tool-icon

    टार्गेट हार्ट रेट कैल्क्यूलेटर

    जानें अपना साधारण और अधिकतम रेस्टिंग हार्ट रेट,आपकी उम्र और रोजाना एक्टिविटीज और अन्य एक्टिविटीज के दौरान प्राभावित होने वाली हार्ट रेट के बारे में।

    पुरुष

    महिला

    क्या आप खोज रहे हैं?

    आपकी रेस्टिंग हार्ट रेट क्या है? (बीपीएम)

    60

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड