इन हाई ब्लड प्रेशर फूड्स को अपनाकर हाइपरटेंशन को दूर भगाएं!

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/01/2022

    इन हाई ब्लड प्रेशर फूड्स को अपनाकर हाइपरटेंशन को दूर भगाएं!

    हाइपरटेंशन का मतलब होता है बढ़ा हुआ रक्तचाप। यानी जब ब्लड प्रेशर 120/80 mmHg के बजाए 139/89 mmHg या 140/ 90 mmHg से अधिक बढ़ने लगे। इसलिए हाइपरटेंशन से बचाव जरूरी है। आप चाहें तो हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स को डायट में शामिल कर ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रख सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए सही डायट बहुत मायने रखती है। अगर आप खाने में बीपी को बढ़ाने वाले फूड शामिल करेंगे तो यकीनन ये आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक ही होगा। आपको इस बारे में जानकारी होनी चाहिए कि आप खाने में क्या खाएं और क्या इग्नोर करें , जो आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखे। आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि हाई ब्लड प्रेशर फूड्स क्या होते हैं और इन्हें डायट में शामिल करने से क्या सकारात्मक परिवर्तन आपके शरीर में दिखाई देंगें।

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स क्या हैं?

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स चुकंदर

    बीटरूट या चुकंदर पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यही कारण है कि स्वस्थ जीवन के लिए चुकंदर का इस्तेमाल करने की सलाह हर कोई देता है। चुकंदर में फाइबर, विटामिन-सी, पोटेशियम व आयरन मौजूद होता है। इसके साथ ही इसमें नाइट्रिक ऑक्साइड भी निहित होता है। नाइट्रिक ऑक्साइड और पोटेशियम के कारण ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है। खून बनाने से लेकर ब्लड सर्कुलेशन तक में चुकंदर काम की चीज है।

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स: क्या कहती है रिसर्च?

    हाइपरटेंशन में बीटरूट के फायदे को जानने के लिए ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने एक शोध किया। इसमें पाया गया कि दो सप्ताह के अंदर ही चुकंदर की वजह से मरीजों का सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर 4 से 5 mmHg कम हो गया।

    कैसे खाएं?

    चुकंदर की रोटी, चुकंदर का सलाद, चुकंदर का जूस आप इसे किसी भी तरह खा सकते हैं। इसे आप मिक्स वेज या वेट सैं​डविच की स्टफिंग में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

    और पढ़ें : हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं क्या नहीं? खेलें क्विज और जानें

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स : लहसुन

    लहसुन सिर्फ कीड़े-मकौड़े या बुरी नजर से बचाने के लिए नहीं बल्कि स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियों को ठीक करने के काम भी आता है। जब बात हाई ब्लड प्रेशर फूड्स की हो तो लहसुन का नाम सबसे उपर रहता है। लहसुन में एलिसिन होता है, जो हाइड्रोजन सल्फाइड और नाइट्रिक ऑक्साइड को कंट्रोल करता है। इस कारण रक्त वाहिकाएं सिकुड़ती नहीं हैं और रक्त का प्रवाह आराम से हो पाता है। इससे हाइपरटेंशन से बचाव में मदद मिलती है। कॉलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करना, इम्यूनिटी बढ़ाना, और स्किन की देखभाल लहसुन के फायदे हैं।

    कैसे खाएं?

    आप चाहें तो रोज सुबह लहसुन की एक-दो कच्ची कलियां यूं ही या शहद में भिगोकर रखी कलियां खा सकते हैं। सब्जी से लेकर रायते हर तरह के खाने में इसका इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स : हरी सब्जियां

    पालक, मूली के पत्ते, सरसों का साग आदि हरी सब्जियां पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। इनमें आयरन, विटामिन, कैल्शियम के साथ ही पोटेशियम भी होता है। यह पोटेशियम शरीर से सोडियम को पेशाब के जरिए बाहर निकाल में काफी मददगार होता है। सोडियम के शरीर में कम होने के कारण ही हाइपरटेंशन को कम करने में मदद मिलती है। इसलिए हाई ब्लड प्रेशर फूड्स में हरी सब्जियों को जरूर शामिल करें

    कैसे खाएं?

    हरी सब्जियां हर तरह से फायदेमंद होती हैं। इन्हें साग, भाजी, सलाद या जूस के रूप में खाया जा सकता है।

    और पढ़ें – हाइपरटेंशन में कैल्शियम बन सकता है खतरा!

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स : फल

    हरी सब्जियों के साथ ही फल का हाइपरटेंशन के मरीजों की डायट में होना बहुत जरूरी है। विशेषज्ञों का मानना है कि हर रोज 500 ग्राम विटामिन-सी के सेवन से सिस्टोलिक व डायस्टोलिक रक्तचाप को 3.84 mmHg और 1.48 mmHg तक कम किया जा सकता है। इसलिए सिट्रस फ्रूट जैसे अंगूर, संतरा, नींबू, किवी को हाइपरटेंशन फूड्स में शामिल करें। जानकारी के लिए बता दें कि कई लोग फल ना खाकर विटामिन-सी की दवाओं से ब्लड प्रेशर को कम करने की कोशिश करते हैं।

    कैसे खाएं?

    फलों को साबुत या जूस बनाकर खाया जा सकता है। यदि यह दोनों ही तरीके आपको बोरियत महसूस कराते हैं तो आप इनका चाट या सलाद बनाकर भी खा सकते हैं।

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स : अनार

    अनार के सेवन से सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर में कमी आती है। विशेषज्ञों के अनुसार हाइपरटेंशन के मरीजों को हाई ब्लड प्रेशर फूड्स में अनार को जोड़ना चाहिए। इससे खून की कमी भी दूर होती है और हाई ब्लड प्रेशर भी कम होता है। बता दें कि अनार एंटीऑ​क्सिडेंट का काम करता है । इसके साथ ही इसमें विटामिन, मिनरल और फाइबर की प्रचूर मात्रा होती है। तो आप वजन कम करना चाहते हैं या आयरन व हाइपरटेंशन की कमी से जूझ रहे हैं तो अनार का सेवन करें।

    कैसे खाएं?

    अनार को सीधे या जूस बनाकर खा सकते हैं। इसे अन्य फ्रूट्स के सलाद में मिक्स कर भी खाया जा सकता है।

    और पढ़ें: महिलाएं प्रेग्रेंसी में हाई ब्लड प्रेशर को न करें नजरअंदाज, हो सकता है ये खतरा

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स: ओट्स

    ओट्स ना सिर्फ वजन कम करने बल्कि ब्लड प्रेशर कम करने में भी मददगार साबित होता है। हर रोज यदि आप पांच ग्राम ओट्स खाते हैं तो सिस्टोलिक रक्तचाप स्तर में 7.7 mmHg और डायस्टोलिक रक्तचाप 5.5 mmHg कम होता है। ओट्स खाने से वजन घटाने में तो मदद मिलती ही है । इसके साथ ही इसे आप हाई ब्लड प्रेशर फूड्स की लिस्ट में शामिल कर ब्लड प्रेशर कम कर सकते हैं। यानी एक फूड दो काज।

    कैसे खाएं?

    ओट्स खिचड़ी, ओट्स खीर आदि किसी भी रूप में खाया जा सकता है।

    और पढ़ें :हाइपरटेंशन कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ को खराब!

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स: डार्क चॉकलेट

    अब इसका नाम सुनते ही आप खुश भी हुए होंगे और हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स की लिस्ट में शामिल करने से गुरेज भी नहीं करेंगे। यदि कोई शंका है तो यूनिवर्सिटी ऑफ एडिलेड के वैज्ञानिकों की शोध जान लें। इन वैज्ञानिकों का कहना है कि डार्क चॉकलेट खाने से सिस्टोलिक और डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर में कमी आती है। इसलिए आप डार्क चॉकलेट खा सकते हैं, बस यह याद रखें कि हर रोज दस चॉकलेट ना खाएं। कभी-कभार खाने के बाद थोड़ी सी चॉकलेट से मुंह मीठा मात्र करें।

    हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल फूड्स की लिस्ट बनाने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। चूंकि हर किसी के ब्लड प्रेशर बढ़ने का कारण अलग होता है। यदि किडनी की बीमारी के साथ ही आपको हाइपरटेंशन की समस्या है तो पोटेशियम आपके लिए नुकसादेह भी हो सकता है। इसलिए अपना डायट चार्ट अपने अनुसार डायटिशियन या डॉक्टर की सलाह से तैयार करें।

    उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। यदि आप हाई ब्लड प्रेशर या फिर लो ब्लड प्रेशर की समस्या से जूझ रही हैं तो अपने डॉक्टर से जांच कराएं और उनसे पूछें कि कौन सी डायट लेना आपके लिए फायदेमंद होगा। साथ ही अपनी लाइफस्टाइल में भी सुधार करें। ऐसा करने से आपको शरीर में परिवर्तन महसूस होगा। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित · अपडेटेड 27/01/2022

    advertisement

    Was this article helpful?

    advertisement
    advertisement
    advertisement