home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

हाइपरटेंशन कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ को खराब!

हाइपरटेंशन कर सकता है आपकी सेक्स लाइफ को खराब!

रक्त वाहिकाओं में सामान्य रूप से रक्त का संचार न होकर वाहिकाओं में रक्त का जो दबाव पड़ता है, उसे हाई ब्लड प्रेशर कहते हैं। हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन शरीर के कई अंगों पर बुरा प्रभाव डालता है। किडनी, दिल के साथ ही यह सेक्स के महत्वपूर्ण अंग पेनिस या वजायना के लिए नुकसानदायक हो सकता है। क्या हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर पड़ता है या नहीं इसके लिए यह आर्टिकल पढ़ें।

हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर पुरुषों के संदर्भ में क्या है?

जर्नल ऑफ द अमेरिकन गेरिएट्रिक्स सोसाइटी(Journal of the American Geriatrics Society) के अध्ययन के अनुसार 40 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती है उनमें से 49 प्रतिशत को इरेक्शन डिसफंक्शन की समस्या होती है। स्तंभन दोष Erectile dysfunction को नपुंसकता माना जाता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अर्थ है लंबे समय तक या संभोग करने लायक पर्याप्त रूप से पेनिस का इरेक्ट ना हो पाना। इस कारण आप सेक्स लाइफ से वंचित रह जाते हैं।

पेनिस नरम मांसपेशियों से बना होता है। पुरुष के सेक्शुअली उत्तेजित होने पर मस्तिष्क पुरुष के पेनिस की नसों को रक्त प्रवाह बढ़ाने या रोके रखने के लिए कहता है। ऐसा करने में जब नसें कामयाब होती हैं तो इरेक्शन होता है। सेक्स के बाद यह रक्त पेनिस की नसों से बाहर आ जाता है और स्तंभन समाप्त हो जाता है। हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर इस इरेक्शन के कारण ही होता है।

यदि व्यक्ति को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो हाई ब्लड प्रेशर धमनियों को लिंग में रक्त बनाएं रखने में बाधा डालता है। लिंग में जाने वाली रक्त वाहिकाएं संकुचित हो जाती हैं। रक्त प्रवाह में बाधा होने के कारण इरेक्शन नहीं हो पाता। इरेक्शन नहीं हो पाने का अर्थ सेक्स ना कर पाना है।

और पढ़ें: महिलाएं प्रेग्रेंसी में हाई ब्लड प्रेशर को न करें नजरअंदाज, हो सकता है ये खतरा

स्तंभन दोष का नुकसान

स्तंभन दोष यदि एक भी बार हो जाए तो यह पुरुषों में हिन भावना या डर पैदा कर देता है। वह सेक्स से दूर भागने लगते हैं। इस कारण रिश्तों में दूरियां बढ़ने लगती हैं। कई मामलों में यह रिश्ता टूटने का भी कारण बन जाता है। रिश्ते में समस्या ना हो इसलिए हापरटेंशन का सेक्स पर असर ना पड़ने दें। हापरटेंशन आपके रिश्ते को खत्म करें उससे पहले ही आपको हाई ब्लड प्रेशर को ही खत्म करने की कोशिश करनी चाहिए।

सेक्स की इच्छा समाप्त होने लगती है

हाई ब्लड प्रेशर के कारण सेक्स की इच्छा में कमी आने लगती है। उत्तेजना कम होने के कारण पार्टनर के साथ इमो​शनल और फिजिकल इंटिमेसी में कमी आती है। हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर यही है कि वह सेक्स की इच्छा को ही मार देता है। जबकि कामसूत्र में भी कहा गया है कि अच्छे दाम्पत्य जीवन के लिए संभोग की इच्छा व उसकी पूर्ति आवश्यक है।

और पढ़ें: जानिए ब्रेन स्ट्रोक के बाद होने वाले शारीरिक और मानसिक बदलाव

इरेक्शन डिसफंक्शन का उपचार क्या है?

यदि हाई ब्लड प्रेशर की वजह से इेरक्शन नहीं हो पाता तो ब्लड प्रेशर को कम करने की कोशिश की जाती है। ब्लड प्रेशर की दवा और जीवनशैली में बदलाव कर इरेक्शन को ठीक किया जा सकता है। यदि दवा और जीवनशैली में बदलाव के बाद भी समस्या दूर नहीं होती तो अन्य उपचार द्वारा इरेक्शन की समस्या को दूर किया जाता है।

हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर महिलाओं के संदर्भ में क्या है?

हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर महिला और पुरुष दोनों ही मामलों में होता है। जिस तरह पेनिस में रक्त प्रवाह कम हो जाता है। ठीक उसी तरह वजायना में भी हाई ब्लड प्रेशर के कारण रक्त प्रवाह कम हो सकता है। वजायना में रक्त प्रवाह कम होने के कारण सेक्स की इच्छा में कमी आती है। वजायना में ड्रायनेस बढ़ना और ऑर्गेज्म में असफलता हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर का ही नतीजा हो सकते हैं।

सेक्स की इच्छा या उत्तेजना ना होने के कारण, वजायना में ड्रायनेस के कारण इंटरकोर्स में पेन होने के कारण महिलाएं भी सेक्स से दूर ही रहना पसंद करती हैं। यह रिश्तों में दूरी पैदा करता है।

और पढ़ें: जानिए हृदय रोग से जुड़े 7 रोचक तथ्य

हाइपरटेंशन की दवाओं का क्या असर पड़ता है?

हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर तो पड़ता ही है इसके साथ ही हाइपरटेंशन की दवाओं का भी सेक्स पर असर पड़ता है। ऐसे भी मामले सामने आए हैं कि हाई ब्लड प्रेशर का असर स्तंभन दोष पैदा ना करे लेकिन कुछ हाइपरटेंशन की दवाओं के कारण सेक्स प्रभावित होने लगता है। सेक्स के प्रभावित होने के कारण 70 प्रतिशत पुरुष हाइपरटेंशन की दवा लेना बंद कर देते हैं। यह उनके लिए हाइपरटेंसिव क्राइसिस की स्थिति पैदा कर देता है।

हाइपरटेंसिव क्राइसिस का अर्थ है ऐसी स्थिति जिसमें ब्लड प्रेशर 140 से नीचे ही ना उतरे। हाइपरटेंसिव क्राइसिस के कारण ऑर्गेज्म फेलियर व जान जाने का खतरा रहता है। ऐसे में मरीज को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाना जरूरी हो जाता है।

स्तंभन दोष कई दवाओं के कारण हो सकता है। माना जाता है कि 25 प्रतिशत स्वास्थ्य संबंधी दवाएं इरेक्शन की समस्या को जन्म देती हैं। इन दवाओं में हाई ब्लड प्रेशर की दवाओं का नाम सबसे उपर है। बीपी की ऐसी दवाएं हैं जो पेनिस में रक्त प्रवाह कम कर देती हैं। इस कारण इरेक्शन डिसफंक्शन की समस्या पैदा होती है। वहीं (alpha-blockers, ACE inhibitors, and angiotensin-receptor blockers), के लिए माना जाता है कि यह सेक्स लाइफ को प्रभावित नहीं करती हैं।

क्या करें?

हाई ब्लड प्रेशर की दवा आप जब भी शुरू करें और ऐसी समस्या सामने आए तो अपने डॉक्टर से इस विषय पर तुरंत बात करें।

स्तंभन दोष से बचाव के उपाय क्या हैं?

तनाव से बिगड़ती है बात

यदि आप तनाव में रहते हैं तो यह आपके पूरे जीवन और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। तनाव के कारण हाइपरटेंशन बढ़ता है। हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर यह है कि तनाव हाइपरटेंशन को बढ़ाने के साथ स्तंभन दोष पैदा कर सेक्स लाइफ पर बुरा असर डालता है। इसलिए चिंता से दूर रहें और स्ट्रेस मैनेजमेंट की मदद से तनाव को खुद से दूर रखें।

मन-मर्जी से दवाएं न लें

एंटीडिपेंटेंट्स (Antidepressant) , ब्लड प्रेशर की दवाएं, नारकोटिक या नशे के दर्द से राहत देने वाली दवा या एंटीथिस्टेमाइंस (Antihistamine) जैसी दवाओं को लेने से बचें। यह दवाएं इरेक्शन में समस्या पैदा कर सकती हैं। हाइपरटेंशन का सेक्स पर असर इस इरेक्शन की वजह से भी पड़ता है। इसलिए हाइपरटेंशन की दवा हो या अन्य कोई भी दवा डॉक्टर की सलाह के बिना दवाएं न लेना ही बेहतर होता है।

और पढ़ें : डायट, वर्कआउट के साथ फिटनेस मिशन बनाकर कम किया मोटापा

स्मोकिंग को कहें नो

स्मोकिंग रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाकर हाई ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है। इसके साथ ही यह इरेक्शन की समस्या भी पैदा करता है। इसलिए स्मोकिंग से दूरी बनाना ही उचित है। स्मोकिंग रोकने पर आप पाएंगे कि आपका ब्लड सर्कुलेशन बढ़ गया है।

पेट की चर्बी कम करें

एक स्टडी के अनुसार 39 इंच की कमर वाले पुरुषों में स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction) अन्य पुरुषों की तुलना में ज्यादा होती है। इसलिए पेट की चर्बी को नियंत्रित करने में ही समझदारी है। आप पेट की चर्बी को कम करने के लिए एक्सरसाइज भी कर सकते हैं।

रिनल हाइपरटेंशन से बचाव का क्या उपाय है?

यदि आप चाहते हैं कि आप हाइपरटेंशन की समस्या से न जुझें तो आपको स्वस्थ जीवनशैली अपनानी चाहिए।

पौष्टिक आहार का करें सेवन

रिनल हाइपरटेंशन से बचाव चाहते हैं तो खान—पान का चयन बहुत ध्यान से करें। ऐसी चीजों से दूरी बना लें जो ब्लड प्रेशर को बढ़ाते हैं या जो आपकी किडनी पर बुरा असर डालते हैं। नमक, चीनी और प्रोसेस्ड फूड आदि से दूरी बनाने में ही समझदारी है। इसके ​साथ ही फल—सब्जियों में ऐसी फल और सब्जियों का चयन कर सकते हैं जो हाइपरटेंशन को कंट्रोल में रखती हैं। चाहें तो डैश डायट का उपयोग कर हाइपरटेंशन को कम कर सकते हैं

और पढ़ें:ब्रेन स्ट्रोक की बीमारी शरीर के किस अंग को सबसे ज्यादा डैमेज करती है?

स्मोकिंग के कारण हो सकता है हापरटेंशन

स्मोकिंग के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार स्मोकिंग के कारण आने वाले वक्त में मौत की संख्या में इजाफा होने की संभावना है। यदि देखा जाए तो स्मोकिंग छोड़ने के 12 घंटे के भीतर ही कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर शरीर में कम होने लगता है। इस कारण शरीर के सभी हिस्सों में रक्त का संचार अच्छी तरह से होने लगता है और आपका ब्लड प्रेशर दुरुस्त होने लगता है। इसलिए स्मोकिंग से दूरी बनना आपके हाइपरटेशन के लिए फायदेमंद है।

एक्सरसाइज करें

रिनल हाइपरटेंशन हो या अन्य कोई भी प्रकार का हाइपरटेंशन हो एक्सरसाइज उससे बचाव और कम करने के लिए काफी कारगर साबित हो सकती है। आप कार्डियो एक्सरसाइज कर दिल को दुरुस्त रखने के साथ ही पूरे स्वास्थ्य को तंदुरुस्त कर सकते हैं। वहीं योगा और मेडिटेशन भी फायदेमंद साबित हो सकता है। याद रखने योग्य बात बस इतनी है कि एक्सरसाइज हो या योगा नियमित रूप से आधे घंटे कम से कम जरूर करें।

और पढ़ें : क्या हार्मोन डायट से कम हो सकता है मोटापा?

एल्कोहॉल भी बन सकता है हाइपरटेंशन का कारण

कई शोधों में पाया गया है कि कई दिनों तक लगातार शराब का सेवन करने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। लगातार और लंबे समय तक भारी मात्रा में शराब पीने से क्रोनिक हाइपरटेंशन की समस्या हो सकती है। क्रोनिक हाइपरटेंशन कोरोनरी आर्टरी की बीमारी का एक बहुत बड़ा कारण बन सकती है। एथेरोस्क्लेरोसिस जर्नल (Journal Atherosclerosis) के अनुसार वैज्ञानिकों ने पाया है कि लगातार शराब का सेवन करने से आर्टरी संकुचित हो जाती है। इससे दिल का दौरा या स्ट्रोक आ सकता है। इसलिए अमेरीकन हार्ट एसोसिएशन ने सुझाव दिया है कि पुरुषों को प्रति दिन 2 से अधिक ड्रिंक्स नहीं पीने चाहिए और महिलाओं को प्रतिदिन 1 से अधिक ड्रिंक का सेवन नहीं करना चाहिए। रिनल हाइपरटेंशन के लिए सबसे बड़ा कारण आर्टरी का संकुचित होना ही है। इसलिए शराब कम कर दें या इससे दूरी बना लें।

अनिंद्रा से दूर रहें

अनिंद्रा यानी नींद न आने के कारण भी ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इसलिए अच्छी नींद लें। रिनल हाइपरटेंशन से बचाव का तरीका यही है कि नियमित एक्सरसाइज करें और हैल्दी फूड हैबिट्स बनाएं। अच्छा लाइफस्टाइल ही अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है।

प्रोसेस्ड फूड से रहे दूर

जैसा कि आप जानते हैं कि हाई ब्लड प्रेशर के पेशेंट को सोडियम की कम मात्रा लेनी चाहिए लेकिन साथ ही उन्हें ऐसे फूड से भी बचना चाहिए जिसमे सोडियम की अधिक मात्रा का प्रयोग किया जाता है। प्रोसेस्ड फूड और जंक फूड में नमक ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। अगर आप ब्लड प्रेशर में कंट्रोल करना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि प्रोसेस्ड फूड को न कहें और घर का बना हेल्दी फूड ही खाएं।

स्ट्रेस बढ़ा सकता है आपकी समस्या

आपको पता ही होगा कि स्ट्रेस लेना शरीर के लिए कितना हानिकारक होता है। स्ट्रेस लेने से ब्लड प्रेशर भी बढ़ता है। आप ऐसे भी कुछ उपाय अपना सकते हैं, जिससे स्ट्रेस कम हो जाए। अगर आपको स्ट्रेस की अधिक समस्या है तो आप अपने परिवार के सदस्यों की हेल्प ले सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर का सेक्स लाइफ पर असर न पड़े, इसलिए आपको स्ट्रेस से दूर रहना चाहिए। आप ब्लड प्रेशर की जांच के लिए होम मॉनिटर (ब्लड प्रेशर मॉनिटर) का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से आप घर में ही बीपी की जांच कर सकते हैं। अगर आपको बीपी की जांच नहीं करना आता है तो आप डॉक्टर से इस बारे में जानकारी ले सकते हैं।

आपने पढ़ा कि किस तरह से हाई ब्लड प्रेशर का सेक्स लाइफ पर असर डाल सकता है। अगर आप हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएंगे तो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या नहीं होगी और आपका बीपी भी कंट्रोल रहेगा। खराब सेहत से सेक्स लाइफ पर बुरा असर पड़ता है। उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर से संबंधित जानकारी चाहिए तो आप डॉक्टर से इस बारे में परामर्श करें। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

किसी भी बीमारी से लड़ना आसान होता है अगर आपकी विल पवार स्ट्रॉन्ग हो। नीचे दिए इस वीडियो लिंक में मिलिए मिसेज पुष्पा तिवारी रहेजा से। मिसेज रहेजा ने कभी न ठीक होने वाली बीमारियों की लिस्ट में शामिल डायबिटीज को दी है मात।

health-tool-icon

बीएमआई कैलक्युलेटर

अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How High Blood Pressure Can Affect Your Sex Life
https://www.heart.org/en/health-topics/high-blood-pressure/health-threats-from-high-blood-pressure/how-high-blood-pressure-can-affect-your-sex-life Accessed on 21/01/2020

High Blood Pressure,  http://www.bloodpressureuk.org/microsites/u40/Home/daily/Issexsafe

Accessed on 21/01/2020

High Blood Pressure, Diet, Exercise https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/high-blood-pressure/in-depth/high-blood-pressure-and-sex/Accessed on 21/01/2020

High blood pressure can affect your sex life, says the Harvard Heart Letter
https://www.health.harvard.edu/press_releases/high_blood_pressure_and_sexAccessed on 21/01/2020

Hypertension: What’s Sex Got to do With It?
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3742130/

Accessed on 21/01/2020

लेखक की तस्वीर badge
Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/12/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x