home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पीनस फंगल इंफेक्शन के कारण और उपचार

पीनस फंगल इंफेक्शन के कारण और उपचार

पुरुषों के लिंग यानी पीनस में कई वजहों से पीनस फंगल इंफेक्शन हो सकते हैं। पीनस फंगल इंफेक्शन बहुत आम हो सकते हैं, जो थोड़ी से देखभाल पर आसानी से ठीक भी हो जाते हैं, लेकिन कुछ परिस्थितियों में यह घातक भी हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं पीनस फंगल इंफेक्शन क्या, इसके लक्षण क्या हैं और इसका इलाज किस तरह से किया जा सकता है।

और पढ़ें : पुरुषों के यौन (गुप्त) रोगों के बारे में पता होनी चाहिए आपको यह जरूरी बातें

पीनस फंगल इंफेक्शन (Penile Yeast Infection) क्या है?

जिस तरह महिलाओं की योनि में गुड और बैड बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, उसी तरह पुरुषों के लिंग में भी यीस्ट या कैंडीडा एल्बीकैंस नामक यीस्ट संक्रमण पहले ही मौजूद होते हैं, जिसकी वजह से लिंग में बहुत ही आसानी से यीस्ट संक्रमण या फंगल इंफेक्शन पैदा हो सकते हैं। क्योंकि, इन्हें पैदा करने वाले फंगस लिंग की त्वचा में मौजूद रहते हैं। इस तरह के फंगल नमी या शुष्क त्वचा वाले स्थान पर ही ज्यादा पाएं जाते हैं। यह किसी भी उम्र में हो सकता है। आमतौर पर, 20 की उम्र के बाद जब लिंग में तनाव अधिक बढ़ने लगता है, तो इनका खतरा भी बढ़ जाता है। आइए जानते हैं पीनस फंगल इंफेक्शन के लक्षण और उपचार।

पीनस फंगल इंफेक्शन के लक्षण (Symptoms of Penile Yeast Infection)

  • पीनस के हेड एरिया में रेडनेस होना (Redness in the head area of ​​the penis)
  • सूजन होना (Swelling up)
  • खुजली होना (Itching)
  • लगातार दर्द होना (Constant Pain)
  • पीनस की टिप से मवाद आना (Pus from the tip of the penis)
  • पीनस से बदबू आना (Stink from the penis)
  • पेशाब के दौरान दर्द (Pain during urination)

पीनस फंगल इंफेक्शन के कारण (Cause of Penile Yeast Infection)

पीनस फंगल इंफेक्शन के कई कारण हो सकते हैं। हालांकि, साफ-सफाई का ध्यान न रखना सबसे आम कारणों में से एक होता है।

1.पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन (Penile Yeast Infection)

पेनाइल यीस्ट इंफेक्शन से पीड़िता महिला के साथ संभोग करने पर इसका खतरा सबसे अधिक फैल सकता है, जिसे असुरक्षित संभोग भी कहा जाता है। इसलिए संभोग करने से पहले महिला और पुरुष दोनों अपने शारीरिक स्वास्थ्य की जांच जरूर करवाएं।

2.डायबिटीज (Diabetes)

डायबिटीज और टाइप 2 से पीड़ित पुरुषों में पीनस फंगल इंफेक्शन का खतरा सबसे अधिक रहता है।

3.सेक्स के बाद साफ-सफाई पर ध्यान न देना (Post sex poor hygeine)

अक्सर लोग सेक्स करने के बाद सोना पसंद करते हैं, लेकिन सेक्स करने से पहले और बाद में शरीर को साफ करना बहुत जरूरी होता है। ऐसा न करने से एक दूसरे के निजी अंगों के बैक्टीरिया फैल सकते हैं, जो गंभीर बीमारी का कारण भी बन सकते हैं।

और पढ़ें : पुरुषों के लिए वेट लॉस डायट टिप्स, जानें एक्सपर्ट्स की सलाह

3.साफ-सफाई न करना (Practice poor hygiene)

पुरुषों के लिंग पर अक्सर सफेद रंग का एक पदार्थ जमा हो जाता है, जिसे साफ करना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि, यह पदार्थ पीनस में हर दिन बढ़ता रहता है, जो कई तरह के इंफेक्शन की वजह बन सकता है। इसके लिए जब भी बाथरूम या नहाने जाएं, तो पीनस हेड को अच्छे से साफ करें। इसे साफ करने के लिए सिर्फ साफ पानी का ही इस्तेमाल करें।

4.खतना (Circumcision)

कुछ विशेष धर्म समुदायों में महिला और पुरुषों का खतना किया जाता है। खतना निजी अंगों से जुड़ा होता है। इसके लिए पीनस के अगले हिस्से की चमड़ी का एक भाग हल्का-सा काट दिया जाता है, जिससे पीनस के अगले हिस्से में एक घाव हो जाता है, जो कुछ समय बाद भर जाता है, लेकिन यह भविष्य में कई तरह के इंफेक्शन के लिए जिम्मेदार हो सकता है।

औऱ पढ़ें : पुरुषों में होने वाली जानलेवा बीमारियां, जान लें इनके बारे में

पीनस फंगल इंफेक्शन (Penile Yeast Infection) को कब गंभीरता से लेना चाहिए?

कुछ मामलों में पीनस इंफेक्शन घर पर ही आसानी से कुछ बातों का ध्यान रख कर ठीक किया जा सकता है, लेकिन कई मामलों में यह घातक भी हो सकता है, जिससे बचने के लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। कभी-कभी पीनस फंगल इंफेक्शन यौन संचारित संक्रमण (STI) या इनवेसिव कैंडिडिआसिस का कारण बन जाता है। अगर इसके इलाज करने के बाद भी पीनस के हेड में बार-बार छाले की समस्या हो रही है, तो यह डायबिटीज होने का संकेत हो सकता है। इसके अलावा, और भी ऐसी स्थितियां हैं जिनके लक्षण देखने पर आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए, जैसे

  • पेशाब में खून आना (Blood in Urine)
  • मतली और उल्टी होना (Nausea and Vomiting)
  • पीनस हेड में छाले दिखाई देना (Blisters visible in penis head)
  • शरीर का तापमान बढ़ना (Rise Body temperature)

पीनस फंगल इंफेक्शन का उपचार (Treatment for Penile Yeast Infection)

1.स्वच्छता का ध्यान रखें (Take care of cleanliness)

गुप्तांगों को हमेशा साफ रखें। इसे साफ करने के लिए हेड की चमड़ी को धीरे-धीरे पीछे हटाएं और चमड़ी के नीचे के भाग को साफ पानी से साफ करें। धोने के बाद इसे अच्छे से सुखा लें। कुछ लोग इसे सुखाते नहीं है, जो एक बड़ी गलती है।

2.सूती कपड़ा पहनें (Wear cotton clothes)

पीनस फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए कपड़ों का सही चयन करना बेहद जरूरी है। गुप्तांगों में पसीना न हो और हवा मिलती रहे, इसके लिए हमेशा कॉटन के कपड़े पहनें। ऐसे कपड़े या अंडरगार्मेंट्स न पहनें, जिनसे पसीना जमा होता हो।

3.कंडोम का इस्तेमाल (While sex use condom)

सेक्स करने के दौरान, हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करें, ताकि यौन जनित रोगों से बचें रहें।

4.सेक्स करने के बाद सफाई करें (After having sex clean your genital areas)

सेक्स करने के बाद लिंग अच्छे से साफ करना चाहिए। कुछ लोग इसके प्रति लापरवाही बरतते हैं। ऐसी गलती बिल्कुल न करें।

5. योगर्ट का इस्तेमाल करें

योगर्ट एक नैचुरल प्रोबायोटिक है। अपनी डायट में योगर्ट शामिल करें। यह बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद करता है।

और पढ़ें : कलर ब्लाइंडनेस पुरुषों में ज्यादा क्यों होती है?

हैलो स्वास्थ्य के एक्सपर्ट के हिसाब से करें पीनस की साफ-सफाई

इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर शरयु माकणीकर, जो काउंसलिंग भी करती हैं, कहना है, ”पेशाब करने के बाद पीनस को अच्छे से साफ करें। फिर उसे अच्छे से सुखा लें। इसके बाद अपने हाथों को अच्छे से धोएं और हाथों को भी सुखा लें। पीनस फंगल से बचे रहने के लिए हमेशा साफ-सुथरे और सूखे कपड़े पहनें। गुप्तांगों तक हवा पास हो इसके लिए कॉटन से बने अंडरगार्मेंट्स पहनें।”

पेशाब करने के बाद लिंग के ऊपरी कवर को अच्छे से साफ करना चाहिए।

इसके अलावा, अगर आपको पीनस फंगल की समस्या है, तो तुरंत इंटरोकर्स बंद कर दें। अपने साथी से तब तक दूरी बनाएं रखें, जब तक यह समस्या पूरी तरह से ठीक न हो जाएं क्योंकि इसका खतरा आपके साथी को भी हो सकता है। उसके उपचार के लिए डॉक्टर की मदद लें। खुद से या किसी द्वारा बताए गए किसी भी उपचार को करने से बचें।

अगर आपको पीनस फंगल इंफेक्शन से जुड़े किसी भी तरह के लक्षण दिखाई दें, तो अपने डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें। साथ ही, उनसे इसके उपचार के लिए घरेलू उपायों के बारे में भी जानकारी लें, क्योंकि घरेलू उपाय इसके लिए सबसे बेहतर उपचार हो सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Yeast Infection in Men: https://www.mayoclinic.org/male-yeast-infection/expert-answers/faq-20058464  Acessed July 03, 2020

Superficial fungal infections of the male genitalia: https://www.tandfonline.com/doi/full/10.3109/1040841X.2011.572862 Acessed July 03, 2020

Candida Infections of the Genitourinary Tract: https://cmr.asm.org/content/23/2/253 Acessed July 03, 2020

Chronic prostatitis developing due to candida infection: https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S2214442018301876?via%3Dihub Acessed July 03, 2020

What are Yeast Infections? https://www.urologyhealth.org/urologic-conditions/yeast-infections Acessed July 03, 2020

Penile inflammatory skin disorders and the preventive role of circumcision: http://www.ijpvmjournal.net/article.asp?issn=2008-7802;year=2017;volume=8;issue=1;spage=32;epage=32;aulast=Morris Acessed July 03, 2020

Candida Infections of the Genitourinary Tract: https://cmr.asm.org/content/23/2/253 Acessed July 03, 2020

Genital colonisation and infection with candida in heterosexual and homosexual males.: https://sti.bmj.com/content/73/5/394 Acessed July 03, 2020

Balanitis: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK537143/ Acessed July 03, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/05/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x