कंडोम के साथ ओरल सेक्स करना कितना सुरक्षित है, जानिए इस आर्टिकल में

    कंडोम के साथ ओरल सेक्स करना कितना सुरक्षित है, जानिए इस आर्टिकल में

    ओरल सेक्स यानी शारीरिक संबंधों का अधिक मजा लेने के लिए अपने पार्टनर के गुप्तांगों को अपने मुंह, जीभ और होंठो से छूना। युवाओं में सेक्स का यह तरीका बेहद प्रचलित है, लेकिन बहुत कम लोग यह जानते होंगे कि ओरल सेक्स के लिए कंडोम या डेंटल डैम का प्रयोग भी किया जाता है। कंडोम एक पतला और लचीला पाउच होता है जिसे सेक्स के दौरान पुरुष अपने लिंग पर पहनता है। वहीं डेंटल डैम को भी ओरल सेक्स के दौरान प्रयोग किया जाता था और इसे मुंह में पहना जाता है। ओरल सेक्स से गर्भवती होने का कोई खतरा नहीं होता लेकिन फिर भी डेंटल डैम या कंडोम के साथ ओरल सेक्स (Oral sex with condom) की सलाह दी जाती है। जानिए ऐसा क्यों हैं और रखिये इस दौरान कुछ बातों का खास ख्याल।

    ओरल सेक्स और सेक्शुअल ट्रांसमिटेड इंफेक्शन्स (Oral sex and STIs)

    इसके कोई संदेह नहीं है कि ओरल सेक्स से गर्भावस्था का खतरा नहीं होता लेकिन फिर भी यह इतना सुरक्षित तरीका नहीं है। कई लोग यह नहीं जानते होंगे कि ओरल सेक्स से सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शनस (STIs) होने की संभावना अधिक होती है। ओरल सेक्स से गुप्तांगों में दाद, गोनोरिया और सिफलिस जैसे इंफेक्शन भी हो सकते हैं। यही नहीं, इनके अलावा भी कुछ अन्य एसटीआई (STIs) होने का खतरा भी बना रहता है। लोग ऐसा मानते हैं कि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शनस केवल योनि या गुदा सेक्स से फैलते हैं। किंतु, यह ओरल सेक्स से भी फैल सकते हैं। इसलिए आपको इन इंफेक्शनस और उनसे बचाव के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

    और पढ़ें: Oral Sex: ओरल सेक्स के दौरान इन सावधानियों को नजरअंदाज करने से हो सकती है मुश्किल

    ओरल सेक्स से SITs कैसे हो सकती हैं?

    कंडोम के साथ ओरल सेक्स (Oral sex with condom) करना सुरक्षित है या नहीं इससे पहले यह जानना अवश्य है कि ओरल सेक्स से यह इंफेक्शन हो कैसे सकते हैं। ओरल सेक्स से कई STIs और अन्य इंफेक्शन हो सकते हैं। मान लीजिये, अगर आपका पार्टनर इंफेक्टेड है तो वो अपने मुंह, गले, गुप्तांगों या गुदा के माध्यम से आपको भी संक्रमित कर सकता है। ओरल सेक्स से STIs होना और इनका फैलना कई चीज़ों पर निर्भर करती हैं। जैसे:

    • अगर पुरुष का लिंग संक्रमित हो, तो ओरल सेक्स के दौरान महिला को गले में क्लैमाइडिया (chlamydia) होने का खतरा रहता है। क्लैमाइडिया सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शनस का ही एक प्रकार है।
    • अगर महिला की योनि या मूत्र पथ (urinary tract) संक्रमित है, तो ओरल सेक्स से पुरुष को गले में क्लैमाइडिया (chlamydia) होने का खतरा रहता है।
    • इसी तरह से संक्रमित गुदा से पार्टनर के गले में क्लैमाइडिया (chlamydia) होने का खतरा रहता है।
    • अगर पार्टनर का गला क्लैमाइडिया (chlamydia) से संक्रमित हो तो लिंग, योनि या गुदा के माध्यम से दूसरा साथी भी संक्रमित हो सकता है।

    शुरुआती संक्रमण की जगहें

    आपके यह अंग सबसे पहले संक्रमित होंगे:

    • गला
    • गुप्तांग
    • मूत्र पथ (Urinary tract)
    • मलाशय

    जब पार्टनर ओरल सेक्स के माध्यम से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क इन अंगों में आएगा तो उसके संक्रमित होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

    और पढ़ें :संभोग के तरीके में बदलाव करके सेक्स लाइफ बनाए मजेदार

    क्या कंडोम संक्रमण से बचा सकता है? (Can condoms protect against infection?)

    इस सवाल का उत्तर है – हाँ, कंडोम के साथ ओरल सेक्स (Oral sex with condom) करने पर संक्रमण या इंफेक्शन से बचा जा सकता है। यह भी कहा जा सकता है कि कंडोम के साथ ओरल सेक्स करने से गर्भवती होने के साथ-साथ इंफेक्शन या संक्रमण होने की संभावना कम होती है। कॉन्डम शरीर से निकलने वाले फ्लूइड जिसमें इंफेक्शन होता है। उसे आपके या आपके साथी के शरीर के अंदर तक नहीं जाने देता, जिससे इस समस्या से छुटकारा मिलता है। यही नहीं, कंडोम को लिंग के ऊपर पहना जाता है इसलिए यह दाद और गुप्तांग के मस्सों से सुरक्षा में भी मदद करता है जो दूसरे की त्वचा को छूने से होते हैं। यानी, कंडोम के साथ ओरल सेक्स गर्भावस्था और इंफेक्शन दोनों से सुरक्षा करता है।

    और पढ़ें : Anal Sex: एनल सेक्स से जुड़े मिथक और उनके पीछे का सच

    ओरल सेक्स और कंडोम? (Oral sex and condom)

    समय के बदलने के साथ ही हर चीज़ बदल रही है पिछले कुछ समय में सेक्स के तरीकों और कंडोम में भी बदलाव आया है। आज बाजार में आपको हर तरह के कंडोम मिल जाएंगे। ओरल सेक्स में यह कंडोम बेहद लाभदायक हैं। जानिए कैसे:

    स्वाद

    ओरल सेक्स फोरप्ले का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसमें आप पार्टनर के शरीर के विभिन्न भागों को अपने मुंह, होंठो या जीभ से छूते हैं। पुरुष इस सेंसेशन को बेहद पसंद करते हैं। कुछ लोगों की यह शिकायत होती है कि बाजार में मिलने वाले सामान्य कंडोम का स्वाद और गंध बहुत बेकार होती है। जिससे ओरल सेक्स में उनकी रूचि कम हो जाती है। कंडोम इंडस्ट्री अब ओरल सेक्स को अधिक मज़ेदार बनाने के लिए तरह-तरह के प्रयोग कर रही है। अब बाजार में विभिन्न फ्लेवर्स के कंडोम मौजूद है जैसे ऑरेंज, चॉकलेट, ग्रेप आदि। यानी, अब ओरल सेक्स के दौरान आपको बुरे स्वाद या गंध से नहीं गुजरना पड़ेगा बल्कि आप अपनी पसंद का फ्लेवर और कंडोम चुन सकते हैं।

    और पढ़ें- ओरल सेक्स क्या है? युवाओं को क्यों है पसंद?

    कंडोम में तरह- तरह के फ्लेवर लाने का असली मकसद है ओरल सेक्स को सुधारना। ताकि, लोग कंडोम के साथ ओरल सेक्स का भरपूर मज़ा ले सके और संक्रमण या अन्य रोगों से भी बचे।

    सेंसेशन

    अधिकतर लोगों का मानना है कि कंडोम के साथ ओरल सेक्स (Oral sex with condom) करने पर वो उतना ही एन्जॉय करते हैं जितना सामान्य सेक्स के दौरान करते हैं। यही नहीं, कुछ लोग इसे अधिक पसंद करते हैं।

    और पढ़ें :संभोग करने से पहले जाने कामसूत्र में अध्यात्म का ज्ञान

    इन बातों का ध्यान रखें

    अगर आप कंडोम के साथ ओरल सेक्स (Oral sex with condom) कर रहे हैं तो इन बातों का ध्यान रखें

    • लिंग (Penis) के लिए लेटेक्स कंडोम का प्रयोग करें या अगर आप डेंटल डैम का प्रयोग कर रहे हैं, तो यह भी लेटेक्स होना चाहिए। इससे मुंह में योनि से निकलने वाला द्रव या खून के मुंह में जाने की संभावना नहीं रहती और कई रोगों से बचाव होता है। अगर आपके पास यह नहीं है तो आप खाने को लपेटने वाले प्लास्टिक का प्रयोग भी डेंटल डैम के रूप में कर सकते हैं ।
    • अगर आप या आपका पार्टनर लेटेक्स से एलर्जिक हैं तो आप प्लास्टिक कंडोम का प्रयोग भी कर सकते हैं।
    • अगर आप ओरल सेक्स कर रहे हैं, जिसमें आपका मुंह आपके पार्टनर के गुदा के संपर्क में है तो लाटेकस बैरियर का प्रयोग करें।
    • अगर आप किसी सेक्स टॉय जैसे डिल्डो या वाइब्रेटर को अपने पार्टनर के साथ शेयर करते हैं, तो आप दोनों को हर बार सेक्स टॉय पर नया कंडोम प्रयोग करना चाहिए। हर बार प्रयोग के बाद सेक्स टॉय को साफ़ करना भी आवश्यक है।
    • ऐसे कंडोम का प्रयोग करें जो पूरी तरह से आपके लिंग को फिट हो। ऐसा कंडोम जो ढीला है या फटा हुआ हो वो इस दौरान समस्या का कारण बन सकता है।
    • ऐसे कॉन्डोम जो पहले से ही लुब्रिकेटेड हो, उनका स्वाद ख़राब हो सकता है। आप अपने लुब्रिकेट का इस पर प्रयोग कर के इस कुछ हद तक बेहतर बना सकते हैं और कंडोम के साथ ओरल सेक्स का आनंद ले सकते हैं।
    • आपको ओरल सेक्स के दौरान कभी भी उस कंडोम का प्रयोग नहीं करना चाहिए जिसमें नॉनॉक्सिनॉल -9 शुक्राणुनाशक (spermicide) हो, इससे आपका मुंह सुन्न हो सकता है या आपको कोई चोट लग सकती है।

    ओरल सेक्स के दौरान कंडोम का उपयोग कई प्रकार के इंफेक्शन से बचाने में मदद कर सकता है। इसलिए एंजॉयमेंट के लिए अपनी या अपने पार्टनर की सेहत को खतरे में ना डालें। मार्केट में कई प्रकार के कंडोम मौजूद हैं जिन्हें पसंद के अनुसार खरीदा जा सकता है। सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    SITs: https://www.cdc.gov/std/healthcomm/stdfact-stdriskandoralsex.htm Accessed on 26.6.20

    Do condoms help protect against STDs? :https://www.plannedparenthood.org/learn/birth-control/condom Accessed on 26.6.20

    Tips for condoms:https://www.hiv.va.gov/patient/daily/sex/condom-tips.asp Accessed on 26.6.20

    Oral Sex Condom: What It Is/https://www.webmd.com/sex/oral-sex-condom/ Accessed on 11.02.2022

    Can I get pregnant from oral sex? Sexual health misconceptions in e-mails to a reproductive health website/Accessed on 11.02.2022
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3634557/

    लेखक की तस्वीर badge
    Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/02/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड