home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अनइंटेशनल इंजुरी के कारण क्या पुरुषों की होती हैं ज्याद मौंते?

अनइंटेशनल इंजुरी के कारण क्या पुरुषों की होती हैं ज्याद मौंते?

डेथ यानी मृत्यु के बहुत से कारण हो सकते हैं। बीमारी के कारण मृत्यु, अधिक उम्र में मृत्यु या आक्सिमक मृत्यु आदि। अगर ये कहा जाए कि महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में आक्समिक मृत्यु यानी अचानक से मृत्यु की अधिक संभावना होती है, तो शायद आपको यकीन नहीं होगा लेकिन ये सच है। पुरुषों की अनइंटेशनल इंजुरी के कारण कम उम्र में मौंत की संख्या महिलाओं की अपेक्षा अधिक है। अगर ये कहा जाएं कि एडल्ट मेन का बिहेवियर अनइंटेशनल इंजुरी (unintentional injuries) का कारण बनता है, तो ये गलत नहीं होगा। किशोरों और युवा वयस्कों में 99% घातक चोटें मोटर वाहन से संबंधित हैं। अनजाने में या आकस्मिक मृत्यु की दरों में बढ़त के साथ ही कमी भी देखने को मिली है लेकिन ये महिलाओं से हमेशा अधिक ही रही है। आज इस आर्टिकल में माध्यम से हम आपको पुरुषों में आक्समिक मृत्यु के कारण के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। जानिए क्या हो सकते हैं अनइंटेशनल इंजुरी और एक्सीडेंट के कारण।

और पढ़ें: एल्कोहॉल का मेल सेक्स हॉर्मोन पर ये कैसा असर!

किशोरों और युवाओं में मौंत का प्रमुख कारण है अनइंटेशनल इंजुरी (Unintentional injury)

नेशनल एडोलसेंट हेल्थ इंफॉर्मेशन सेंटर (National Adolescent Health Information Center) में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, ‘साल 1997 में अनइंटेशनल इंजुरी के कारण 10 से 24 साल के करीब 43% किशोरों और वयस्कों की मृत्यु हो गई। अनइंटेशनल इंजुरी के कारण करीब एक लाख लोगों में से 27.3 मृत्युदर को दर्ज किया गया।
10 से 24 साल के किशोरों और युवाओं में मॉर्टेलिटी (Mortality) परसंटेज निम्नलिखित हैं।

  1. सुसाइड के कारण मौंते – 12%
  2. मोटर वेहीकल के कारण मौंते – 32%
  3. अन्य अनइंटेशनल इंजुरी – 11%
  4. मौंत के अन्य कारण – 27%
  5. हत्या के कारण – 12%

ओवरडोज (Overdose) के कारण मृत्यु

महिलाओं की तुलना में पुरुषों में ओवरडोज के कारण मृत्यु की अधिक संभावना होती है। अचानक से मृत्यु के कारणों में दवाओं का ओवरडोज मुख्य कारण है। ओवरडोज के लिए कुछ ड्रग्स जैसे कि ओपिओइड (opioids), हिरोइन (heroin) और कोकेन (cocaine) जिम्मेदार है। ये सभी ड्रग्स अधिक मात्रा में लिए जाने पर मौंत का कारण बन जाते हैं।

और पढ़ें: International Men’s Day: क्या पुरुष महिलाओं से ज्यादा इमोशनल होते हैं, जानें इस मेन्स डे पर

एक्सीडेंट एमवीएस (MVAs) में आई कमी

करीब 21 से 35 वर्ष के पुरुषों की मोटर वेहिकल एक्सीडेंट के कारण अचानक से मृत्यु हो जाती है। साल 1999 और 2016 के बीच पुरुषों में एनुअल एमवीएस (MVAs) में कमी दर्ज की गई। एक्सीडेंट का प्रमुख कारण तेजी से बाइक चलाना, एल्कोहॉल का सेवन कर बाइक चलाना या फिर ट्रैफिक के नियमों का पालन न कर पाना है। युवाओं में अधिकतर एक्सीडेंट इन्हीं कारणों से होते हैं।

गिरने (Falls) के कारण मृत्यु

साठ साल की उम्र में गिरने के कारण कई पुरुषों की मौंत हो जाती है। महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में गिरने के कारण ज्यादा मौंते होती हैं। महिलाओं के लिए स्टेटिकली नॉन फैटल फॉल की अधिक संभावन रहती है।

फायरआर्म्स (Firearms) के कारण पुरुषों में मृत्यु

फायरआर्म्स जैसे कि रिवॉल्वर, पिस्टल, गन, राइफल आदि भी पुरुषों की मृत्यु का कारण बन सकती हैं। करीब 0.011 % एडल्ट मेल की साल 2011 और 2015 में अधिक लोगों की मृत्यु दर्ज की गई थी। इसमें 20 से 24 साल के लोग शामिल थें।

और पढ़ें: 20 से 39 साल के पुरुषों का बॉडी चेकअप जरूर कराएं, जानें क्यों?

ऑक्युपेशनल इंजुरी (Occupational injuries) के कारण मौंते

विकलांगता के कारण चोट लगने से मौत या फिर किसी अन्य कारणों से चोट लगने से मृत्यु को ऑक्युपेशन इंजुरी में शामिल किया गया है। ब्यूरो ऑफ लेबर स्टेटिस्टिक्स (Bureau of Labor Statistics) के अनुसार साल 2016 में ऑक्युपेशनल इंजुरी के लिए कुछ इंडस्ट्रीज जैसे कि हेल्थ केयर, कंस्ट्रक्शन, पब्लिक सेफ्टी और मैन्युफैक्चरिंग आदि में अधिक जिम्मेदार रही हैं। कृषि, ट्रांसपोर्टेशन और वेयरहाउसिंग में काम करने वाले लोगों को भी घातक चोटों का सामना करना पड़ा है। 45 से 54 साल और 55 से 64 वर्ष आयु वर्ग के लोगों में ऑक्युपेशन इंजुरी के कारण मौंते आम कारण रही हैं।

अनजाने में चोट का पुरुषों को क्यों रहता है अधिक जोखिम?

महिलाओं की अपेक्षा पुरुषो में अनइंटेशनल इंजुरी का खतरा अधिक होता है। महिलाओं की अपेक्षा पुरुष लोग कुछ गतिविधियों जैसे कि शराब पीकर गाड़ी चलाना, ड्रग्स का अधिक डोज लेना और कुछ खतरनाक गतिविधियां शामिल हैं। कंट्रक्शन एरिया में भी महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों की संख्या अधिक होती है। इन्हीं कारणों से पुरुषों में अनजाने में चोट लगने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। हाई रिस्क ऑक्युपेशन में भी पुरुषों की संख्या अधिक होती है। अब तो आप जान ही गए होंगे कि आखिर क्यों महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में अचानक से चोट लगना क्यों आम होता है।

और पढ़ें: कम उम्र के पुरुषों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन के क्या हो सकते हैं कारण?

अनइंटेशनल इंजुरी को कैसे रोका जा सकता है?

अनइंटेशनल इंजुरी के जोखिम को कम करने के लिए सावधानी की अधिक आवश्यकता होती है। चोट आपको कभी भी लग सकती है लेकिन अगर आप उन कारणों को पहचान लेंगे, जो आपको इंजुरी दे सकते हैं, तो आप अनइंटेशनल इंजुरी के जोखिम को कम करते हैं। जानिए किन बातों पर ध्यान देने की अधिक आवश्यकता है।

  • मादक पदार्थों का सेवन जैसे कि एल्कोहॉल या ड्रग्स आदि को लेने के बाद ड्राइविंग करने से मौंत का खतरा बढ़ जाता है। अगर एल्कोहॉल से दूरी बना ली जाए, तो एक्सीडेंट रिस्क को कम किया जा सकता है।
  • अगर आप किसी ऐसी कंट्रक्शन साइट में काम कर रहे हैं, जहां गिरने का या फिर एक्सीडेंट का खतरा रहता है, तो आपको सुरक्षा के खास इंतजाम करने की जरूरत है। सुरक्षित उपकरणों का उपयोग कर, काम के स्थान पर समय-समय पर मशीनों की जांच कर और सुरक्षा नियमों का पालन कर अनइंटेशनल इंजुरी के खतरे को कम किया जा सकता है।
  • जिन लोगों को यूरोलॉजिकल समस्याएं होती हैं, उन्हें बार-बार वॉशरूम जाना पड़ता है। ऐसे में गिरने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। अगर हॉस्पिटल विजिट किया जाए और बीमारी का इलाज कराया जाए, तो गिरने की संभावना को कम किया जा सकता है।
  • जिन लोगों के घर में फर्श बहुत चिकनी होती है और रात के समय कम प्रकाश रहता है, उन लोगों में भी गिरने का अधिक खतरा रहता है। अगर प्रॉपर लाइट के साथ ही खुरदुरी फर्श हो, तो गिरने के खतरे को कम किया जा सकता है। अधिक उम्र के लोगों में गिरने की अधिक समस्या होती है इसलिए उन्हें विशेष सावधानी रखने की जरूरत होती है।
  • फायरआर्म्स जैसे कि रिवॉल्वर, पिस्टल, गन, राइफल का गलत इस्तेमाल भी मौंत का कारण बन सकता है। अगर इनका सही से इस्तेमाल आप नहीं कर पाते हैं, तो बेहतर होगा कि इन्हें घर पर न रखें। बिना लाइसेंस के इन्हें घर में न रखें।
  • युवाओं में एक्सीडेंट का कारण गाड़ी तेज चलाना या फिर ट्रैफिक के नियमों का पालन न करना है। अगर गाड़ी को मध्यम गति से चालाया जाए, तो एक्सीडेंट की संभावना को कम किया जा सकता है। बिना लाइसेंस के गाड़ी न चलाएं, वरना दुर्घटना की संभावना बढ़ सकती है।

हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको अनइंटेशनल इंजुरी के कारण मृत्यु और उससे जुड़े रिस्क के बारे में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अनइंटेशनल इंजुरी से बचने के लिए सावधानी बहुत जरूरी है। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 11/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x