home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें सेक्स समस्या के लिए आयुर्वेद में कौन-से हैं उपाय?

जानें सेक्स समस्या के लिए आयुर्वेद में कौन-से हैं उपाय?

युवावस्था में शरीर में शक्ति का स्तर चरम सीमा पर होता है, इसलिए मनुष्य यौन सुख का आनंद ले पाता है। लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, वैसे-वैसे शारीरिक शक्ति कम होती जाती है या फिर अन्य सेक्स समस्या हो जाती हैं। जिसके फलस्वरूप, इंसान अपने साथी को यौन संतुष्टि देने में असमर्थ होने लगता है। इस कारण कोई एक या दोनों पार्टनर इमोशनली हर्ट हो सकते हैं। जिसके फलस्वरूप आपसी रिश्तों में भी मन-मुटाव आने की आशंका रहती है। सेक्स समस्याएं पूरी तरह से आम समस्याएं हैं, लेकिन हमारे शरीर के अभिन्न अंगों से जुड़े होने के बावजूद इनके बारे में चर्चा नहीं की जाती है। आयुर्वेद में विभिन्न सेक्स समस्याओं के लिए काफी कारगर उपाय मौजूद हैं। आयुर्वेद का उपयोग आदि काल से सेक्स समस्या को ठीक करने के लिए होता रहा है।

इस आर्टिकल में हम सेक्स समस्या और आयुर्वेद में इससे संबंधित उपायों के बारे में जानेंगे। सेक्स एक प्राकृतिक क्रिया है, जो हर प्राणी की आवश्यकता है। सृष्टि ने सृजन के साथ ही हर जीव में प्रजनन की क्षमता दी है, ताकि वो अपने परिवार, प्रजाति या समाज को आगे बढ़ा सकें। परन्तु आयुर्वेद के अनुसार “काम-क्रिया” या सेक्स सिर्फ प्रजनन के लिए ही नहीं, बल्कि मानसिक संतोष भी देता है। कितने ही लोगों के लिए सेक्स, स्ट्रेस रिलीवर (stress-reliever) की तरह भी काम करता है। इसलिए, जब किसी कारणवश कोई व्यक्ति यौन सुख का आनंद नहीं उठा पाता है, तो ये स्ट्रेस यानी तनाव का कारण भी बन सकता है।

और पढ़ें: सेक्स लाइफ बेहतर बनाने के लिए कैसे प्राप्त करें संभोग सुख

सेक्स समस्या कौन-कौन सी हो सकती हैं?

आमतौर पर लोगों में देखी जाने वाली सेक्शुअल प्रॉब्लम्स इस प्रकार हैं-

सेक्स समस्या : शीघ्रपतन (Premature Ejaculation)

प्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन पुरुषों में काफी आम समस्या है। आंकड़ों की मानें तो विश्व में 3 में से 1 पुरुष अपने जीवन काल में इस समस्या से दो चार होता ही है। इसका दोष आप आज की जीवनशैली और धूम्रपान जैसी गलत आदतों को दे सकते हैं।

स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction)

स्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिसफंक्शन वो स्थिति होती है, जब लिंग यौन क्रिया के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं हो पाता है। सामान्य रूप से 40 वर्ष से ज्यादा की उम्र के पुरुषों में ये समस्या ज्यादा देखी गयी है। वैसे तो इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बहुत सारे कारण हो सकते हैं – जैसे ह्रदय रोग, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, बढ़ती उम्र, शराब और सिगरेट का सेवन। लेकिन कम उम्र के पुरुषों में इस समस्या के होने का सबसे बड़ा कारण तनाव माना जा सकता है।

और पढ़ें: लाइफ में एक बार जरूर ट्राय करें ये सेक्शुअल फैंटेसी

सेक्स समस्या : सेक्स के लिए इंटरेस्ट न रहना

पुरुषों में कई बार सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) की कमी आ जाती है, जिसकी वजह से उनकी दिलचस्पी सेक्शुअल एक्टिविटीज में कम होने लगती है। इसके अलावा अगर पुरुष किसी खास तरह की दवाई ले रहा हो, इंसोम्निया या डिप्रेशन का शिकार हो, तो भी उसमें सेक्स को लेकर रूचि कम हो सकती है। बहुत ज्यादा या बहुत कम व्यायाम करना भी सेक्स में रूचि को घटाने का काम कर सकता है। इससे शरीर का संतुलन बिगड़ सकता है।

एज़ूस्पर्मिया (Azoospermia)

एज़ूस्पर्मिया की स्थिति तब होती है, जब किसी पुरुष के वीर्य में शुक्राणु नहीं होते। इसे सीधी भाषा में नपुंसकता भी कहा जा सकता है। वैसे तो यह इस बात पर निर्भर करता है कि एज़ूस्पर्मिया किस प्रकार का है। परन्तु ज्यादातर मामलों में इसका इलाज संभव है और नपुंसकता को ठीक किया जा सकता है।

सेक्स समस्या : अस्थेनोस्पर्मिया या आस्थेनोजूस्पर्मिया (Asthenospermia or Asthenozoospermia)

स्पर्म यानि कि शुक्राणु की मोबिलिटी यानी चलने की गति जब धीमी होती है, तो ऐसी स्थिति को अस्थेनोस्पर्मिया या आस्थेनोजूस्पर्मिया के नाम से जाना जाता है। इसकी जांच के लिए लैब टेस्ट की जरूरत पड़ती है।

सेक्स समस्या को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक दवाएं

आयुर्वेद के अनुसार शरीर सृष्टि के पांच तत्वों से बना है – वायु, अग्नि, पानी, धरती और अंतरिक्ष। इन सारे तत्वों से 3 प्रकार की ऊर्जा प्रवाहित होती है – वात, पित्त, कफ। अगर कोई व्यक्ति किसी भी बीमारी से ग्रस्त होता है, तो इसका यही मतलब होता है कि इन तीन प्रकार की ऊर्जा में से कोई असंतुलित हुआ है। आयुर्वेद को यूं तो कॉम्प्लीमेंटरी एंड अल्टरनेटिव मेडिसिन (CAM) के रूप में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। परन्तु आयुर्वेद की मदद से सेक्स संबंधित समस्याओं का समाधान दिया जा सकता है।

आइये कुछ आयुर्वेदिक तत्वों के बारे में जानते हैं, जो सेक्स क्षमता को बढ़ाने के लिए प्राचीनकाल से उपयोग किए जाते हैं।

अश्वगंधा

अश्वगंधा-Ashwagandha

अश्वगंधा का जिक्र आयुर्वेद में 3000 साल से भी ज्यादा पुराना है। अश्वगंधा शरीर में स्फूर्ति बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है। ये काफी सारी स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं को ठीक करने में कारगर मानी गयी है। अगर व्यक्ति डायबिटीज या ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है और इस कारण सेक्स जीवन का आनंद नहीं ले पा रहा है, तो अश्वगंधा काफी मददगार साबित हो सकता है। अश्वगंधा स्ट्रेस हॉर्मोन को भी कम करने में सहायक देखा गया है।

और पढ़ें: यौन और रोमांटिक आकर्षण: जानिए कहीं काम-वासना को आप प्यार तो नहीं समझ रहे?

powered by Typeform

शतावरी

शतावरी मुख्य रूप से भारत, नेपाल, श्रीलंका में पायी जाती है। शतावरी (Asparagus Racemosus) देखने में 1 से 2 मीटर लंबी होती है। सेक्स ड्राइव को बढ़ाने के लिए प्रचलित इस आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी का इतिहास 200 सालों से ज्यादा का है। प्राकृतिक रूप से शतावरी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो सेक्स के लिए उत्तेजना पैदा करते हैं। ये इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए काफी लाभकारी मानी जाती है।

सेक्स समस्या का इलाज: सफेद मूसली

सफेद मूसली मूल रूप से भारत में मिलता है। आयुर्वेद के अलावा सफेद मूसली का इस्तेमाल यूनानी और होमियोपैथी में भी दवा बनाने के लिए होता है। सफेद मूसली को स्टैमिना बढ़ाने के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके अलावा ये शुक्राणु से संबंधित समस्या में भी कारगर साबित हुआ है।

कैसिया सिनेमन (Cassia cinnamon)

कैसिया सिनेमन को चाईनीज सिनेमन (Chinese cinnamon) के नाम से भी जाना जाता है। यह भारत में पाया जाने वाले सदाबहार पेड़ की आतंरिक छाल होती है, जो सेक्स क्षमता बढ़ाने में काफी असरदार मानी जाती है। कैसिया सिनेमन, गर्म मसाले में इस्तेमाल होने वाले सिनेमन यानी दालचीनी से अलग है, इसमें कोई समानता नहीं है। इसकी तासीर काफी गर्म होने की वजह से इसे किस मात्रा में लिया जाए? यह तय करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है, वरना आपको नुकसान भी पहुंच सकता है।

और पढ़ें: जानें, रोते हुए सेक्स और बाद में रोना क्या सामान्य है?

वजीकरण थेरेपी

वजीकरण थेरेपी, आयुर्वेद को जानने वाले इस्तेमाल करते हैं। इसके जरिये शरीर में असंतुलित चीजों को संतुलन में लाकर ऊर्जा और शक्ति का संचार किया जाता है। ये थेरेपी लोगों में एंग्जायटी को कम कर के सेक्स ड्राइव को बढ़ाने का काम करती है और प्रजनन यानी रिप्रोडक्शन के हॉर्मोन को भी बढ़ाती है।

कुछ महत्वपूर्ण वजीकरण थेरेपी इस प्रकार है-

  • वृहणी गुटिका
  • वृष्य गुटिका
  • वाजीकरणाम घृतम
  • उपत्यकारी षष्टिकादि गुटिका
  • मेदादि योग

योग के फायदे को जानें योग अपनाकर

योग

योग आज पूरे विश्व में नये आयाम हासिल करता जा रहा है और इसका जनक आयुर्वेद ही है। योग शरीर को चुस्ती-स्फूर्ति ही नहीं देता बल्कि मन मस्तिष्क को भी तरोताजा कर देता हैं। नियमित रूप से योग का अभ्यास हर तकलीफ से निपटने में मदद करता है। योग तथा कसरत ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल और तनाव को कम करने में मदद करते हैं। जिसके फलस्वरूप सेक्स क्षमता में भी बढ़ोतरी होती है।

इसमें से कुछ योगासन इस प्रकार से हैं, जो सेक्स समस्या को हल करने में कारगर हैं।

  • पश्चिमोत्तानासन
  • कुम्भकासन
  • उत्तानपादासन
  • नौकासन
  • धनुरासन

सेक्स समस्या के साथ सबसे बड़ी दिक्कत यह आती है कि लोग इसके बारे में बात करने या डॉक्टर के पास जाने से हिचकिचाते व शर्माते हैं। इस कारण जो समस्या आसानी से ठीक हो सकती है, वह धीरे-धीरे गंभीर होती जाती है। वहीं, कुछ लोग शर्म व हिचकिचाहट के कारण सेल्फ मेडिकेशन करने लगते हैं और यह भी आपके स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि न तो सेक्शुअल प्रॉब्लम्स को छिपाना चाहिए और न ही इसके लिए सेल्फ मेडिकेशन या ट्रीटमेंट करना चाहिए।

वहीं, आयुर्वेद में बताई गई औषधियां आमतौर पर सुरक्षित होती हैं, लेकिन कुछ निश्चित स्थितियों, लोगों व समस्याओं के दौरान इसके दुष्प्रभाव दिखने से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसलिए किसी भी जड़ी-बूटी का उपयोग करने से पहले आयुर्वेदिक एक्सपर्ट की सलाह लेना जरूरी है। जो आपके पूरे स्वास्थ्य की जांच करके आपको उचित जानकारी देगा। हम उम्मीद करते हैं कि सेक्स समस्याओं के आयुर्वेदिक उपचार के बारे में आपको इस आर्टिकल से पर्याप्त जानकारी मिल गई होगी।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Types of Sex problem in males https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/9122-sexual-dysfunction-in-males accessed on 6th August 2020

Vajikaran therapy for sexual health https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3705695/ Accessed on 6th August 2020

Effect of Cassia Cinmmon on sexual behavior https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24758372/ Accessed on 6th August 2020

Plant profile, phytochemistry and pharmacology of Asparagus racemosus (Shatavari): A review – https://www.sciencedirect.com/science/article/abs/pii/S2222180813600493?via%3Dihub Accessed on 6th August 2020

Vajikarana: Treatment of sexual dysfunctions based on Indian concepts – https://www.indianjpsychiatry.org/article.asp?issn=0019-5545;year=2013;volume=55;issue=6;spage=273;epage=276;aulast=Dalal Accessed on 6th August 2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mishita sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 07/08/2020
x