home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

मसूड़ों में सूजन हो सकता है कैंसर का संकेत, जानिए इसके लक्षण

मसूड़ों में सूजन हो सकता है कैंसर का संकेत, जानिए इसके लक्षण

कैंसर की बीमारी पिछले कुछ सालों से अभिशाप बनती जा रही है। एक अध्ययन के अनुसार, हमारे देश में हर साल लगभग सात लाख मौतें केवल कैंसर से होती हैं। मुंह का कैंसर भी कैंसर का ही प्रकार है, जिसके मामले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। यही नहीं, ब्रेस्ट और सर्वाइकल कैंसर से भी ज्यादा मौतें मुंह के कैंसर से होती हैं। इस कैंसर का शिकार 20 से 25 साल के युवा अधिक बन रहे हैं और उसका कारण है तंबाकू या धूम्रपान। आइए जानें कि क्या मसूड़ों में सूजन हो सकता है कैंसर का संकेत और इस बारे में और अधिक।

जानिए क्या है मुंह का कैंसर? (What is Mouth Cancer)

कैंसर हमारे शरीर की कोशिकाओं की ऐसी ग्रोथ है, जिसे नियंत्रित नहीं किया जा सकता। इनके विकास से शरीर के अन्य टिश्यू को भी नुकसान पहुंचता है। मुंह का कैंसर छाले, सूजन या अन्य गांठ आदि के रूप में हो सकता है। यही नहीं, मुंह का कैंसर होंठो, जीभ, गालों या अन्य किसी भी स्थान पर हो सकता है। अगर इसका उपचार सही समय पर न हो, तो यह मृत्यु का कारण भी बन सकता है।

और पढ़ें : अंडरवायर ब्रा पहनने से होता है ब्रेस्ट कैंसर का खतरा?

मुंह के कैंसर के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Mouth Cancer)

मुंह के कैंसर के हर व्यक्ति के लिए लक्षण अलग हो सकते हैं। मुंह का कैंसर होने पर मसूड़ों, टॉन्सिल्स या मुंह में सफेद या लाल धब्बे और दर्द या मसूड़ों में सूजन हो सकता है। इसके अलावा इसके अन्य लक्षण इस प्रकार हैं:

  • गले में सूजन
  • गले में छाले
  • गले में गांठ बनना
  • निगलने या चबाने में मुश्किल होना
  • ऐसा प्रतीत होना जैसे किसी ने आपका गला पकड़ रखा है
  • जबड़े या जीभ हिलाने में मुश्किल होना
  • वजन का कम होना और थकावट
  • मुंह में सफेद व लाल चकत्ते दिखाई देना
  • निचले होठ या ठोडी में सुन्नता महसूस होना
  • दवा लेने के बावजूद मुंह के अल्सर का ठीक न होना
  • लगातार मुंह में बदबू रहना
  • लगातार कान में दर्द होना
  • मसूड़ों में सूजन या ब्लीडिंग
  • दांत ढीले होना या डेंचर की खराब फीटिंग होना

क्या मसूड़ों में सूजन है कैंसर का संकेत?

हां, अगर लंबे समय से आपके मसूड़ों में सूजन है, तो यह कैंसर का एक संकेत हो सकता है। हालांकि, ऐसा जरूरी नहीं कि अगर आपके मसूड़ों में सूजन है तो यह केवल कैंसर के कारण ही है। इसके पीछे अन्य कारण भी हो सकते हैं। मसूड़ों के टिश्यू की असमान्यताएं जैसे मसूड़ों में सूजन कई अलग-अलग कष्टों का संकेत भी हो सकते हैं, लेकिन अगर आपके मसूड़ों में कोई सूजन इतनी है, जैसे कोई पॉपकॉर्न मुंह में हो तो यह मसूड़ों और मुंह की समस्याओं की शुरुआत हो सकती है। बहुत-से लोग इन परेशानियों के बारे में नहीं जानते और इसे हल्के में लेते हैं। लेकिन, यह सूजन भविष्य में मुंह के कैंसर की संकेत हो सकती है।

और पढ़ें : क्या ब्रेस्ट सकिंग कैंसर का कारण बन सकता है ?

मुंह के कैंसर होने का कारण क्या है?

मसूड़ों में सूजन मुंह के कैंसर का एक लक्षण या संकेत हो सकता है, लेकिन इसके अन्य कई कारण भी हो सकते हैं। अगर यह सूजन है तो समझने की कोशिश करें कि ऐसा क्यों है और डॉक्टर से मिलें, ताकि आप सही कारण का पता कर सकें। कैंसर के कारण कुछ इस तरह से हो सकते हैं।

तंबाकू का प्रयोग (Use of Tobacco)

सिगरेट, बीड़ी, पाइप्स, सिगार या तंबाकू को चबाना आदि का प्रयोग मुंह के कैंसर की संभावना बढ़ा देता है। अधिक शराब पीने से भी इसका खतरा बना रहता है। इसलिए इन चीजों से जितना दूर रह सकें, उतना दूर रहें।

और पढ़ें : रेड मीट बन सकता है ब्रेस्ट कैंसर का कारण, इन बातों का रखें ख्याल

ह्यूमन पपिल्लोमा वाइरस (HPV)

कैंसर को (HPV) से जोड़ा जाता है जो आमतौर पर गले, जीभ के नीचे या टॉन्सिल्स में पाया जाता है। HPV से गले के कैंसर (Oral cancer) की संभावना बढ़ती है।

सूर्य की रोशनी (Sunlight)

अगर आप सूर्य की रोशनी में अधिक रहते हैं, तो आपके होंठों के अधिक सूर्य की रोशनी में रहने से मुंह के कैंसर की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए, आप अच्छी लिप बाम या SPF युक्त क्रीम के प्रयोग से इस खतरे से बच सकते हैं। 45 साल की अधिक उम्र के होने पर इस कैंसर के होने का खतरा बढ़ जाता है।

मुंह की ढंग से सफाई न करना

मुंह के कैंसर की एक वजह मुंह की ठीक से साफ सफाई न करना है। इससे भी कैंसर की आशंका बढ़ जाती है। खराब फिटिंग वाले डेंचर लगाना भी मुंह के कैंसर का जोखिम बढ़ाता है। इसलिए मसूड़ों में सूजन या कोई अन्य परेशानी को टालें नहीं।

और पढ़ें : अगर आपके परिवार में है किसी को ब्रेस्ट कैंसर है, तो आपको है इस हद तक खतरा

कैसे बचे मुंह के कैंसर से?

विशेषज्ञ इस बात को सही से बताने में असमर्थ हैं कि मुंह के कैंसर की असली वजह क्या है, लेकिन मुंह के कैंसर से बचने के लिए इन चीजों का ध्यान रखें और सावधानियां बरतें।

  • अपने खान-पान को सही रखें और इसमें खूब सारे फलों और सब्जियों को शामिल करें।
  • अगर डेंचर यानी नकली दांतों का प्रयोग कर रहे हैं तो रात को उसे खोल कर सोएं और रोजाना साफ करें।
  • अपने दांतों और मुंह की सफाई पर खास ध्यान दें
  • इसमें कोई संदेह नहीं कि मसूड़ों में सूजन या अन्य रोग और मुंह के कैंसर का सीधा संबंध है। इसलिए, आपको अपने दांतों और मसूड़ों का खास ध्यान रखना चाहिए।

बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि मुंह के कैंसर अधिकतर तंबाकू चबाने के कारण होता है। किंतु, एक शोध के मुताबिक 25 प्रतिशत मुंह का कैंसर का शिकार वो लोग बनते हैं जो तंबाकू का सेवन नहीं करते। मसूड़ों में सूजन या दांतों की समस्याओं को हल्के में न लें, बल्कि अगर आपको मुंह या दांतों में कोई भी समस्या हो,मसूड़ों में सूजन हो, तो तुरंत डॉक्टर की राय लें। समय-समय पर अपने दांतो की जांच कराना न भूलें, ताकि किसी भी खतरे से पहले ही बचा जा सके। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में मसूड़ों में सूजन और मुंह के कैंसर से जुड़ी जानकारी दी गई है। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो आप अपना सावाल कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हम अपने एक्सपर्ट्स से उनका उत्तर दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड