बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर करने से पहले जाने ये 10 बातें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

ट्रैवल करना किसे पसंद नहीं लेकिन, अगर साथ में बच्चे हों तो सफर के पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद आवश्यक हो जाता है। हैलो स्वास्थ्य टीम की डॉक्टर श्रुति ने फ्लाइट में बच्चों के साथ सफर करने वाली कई माओं से बात करके उनके अनुभव जानें। गुस्सा, परेशानी और चिड़चिड़ाहट का अनुभव लगभग सभी माओं ने किया, लेकिन बच्चों के बिना कहीं जाया नहीं जा सकता। इसलिए बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर करने के लिए कुछ बातों को समझना जरूरी है। वहीं कुछ टिप्स फॉलो करने से आपकी जर्नी सच में हैप्पी जर्नी हो सकती है। बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर के कुछ खास टिप्स इस आर्टिकल के माध्यम से शेयर किए जा रहे हैं। 

और पढ़ेंः क्या आप जानते हैं बच्चों को खुश रखने के टिप्स?

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर का पहला टिप्स:  बोर्डिंग के लिए जल्दी आएं

आपने अक्सर यह अनाउंसमेंट सुनी होगा, छोटे बच्चों के साथ यात्रा करने वाली सभी यात्री कृपया गेट की तरफ बढ़ें। बच्चों के साथ सफर करने पर आपको जल्दी बोर्डिंग की सुविधा मिलती है। एयरलाइन को भी पता है कि आपके लिए सफर के कुछ घंटे मुश्किल भरे होने वाले हैं, इसलिए वह आपकी मदद करना चाहते हैं, तो क्यों न आप भी थोड़ा जल्दी आकर बच्चे के लिए सब कुछ सेट कर लें।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर करने के लिए दूसरा टिप्स: दूसरे पैरेंट्स से बात करें

सफर के दौरान हर किसी को साथी की तलाश होती है और यदि आप बच्चे के साथ ट्रैवल कर रही हैं तो आपको प्लेन में सहयोगी की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए वेटिंग एरिया में इतंजार करने के दौरान साथी दूसरे पैरेंट्स से बातचीत करें जो आपके साथ उसी फ्लाइट में जाने वाले हैं। आपको पूरी जिंदगी उनसे दोस्ती निभाने की जरूरत नहीं है, लेकिन कम से कम फ्लाइट के सफर के दौरान जब बच्चे की शरारत आपको परेशान कर दे, तो आप लोग एक-दूसरे की मुश्किल थोड़ी कम कर सकते हैं।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर में शामिल है तीसरा टिप्स: स्नैक्स लेकर जाएं

फ्लाइट में दिया जाने वाला खाना किसी बच्चे को पसंद नहीं आता और हो सकता है जब तक स्नैक्स कार्ट आप तक पहुंचे आपके बच्चे का पसंदीदा फिंगर चिप्स खत्म हो जाए और बस कुछ नॉर्मल चिप्स और डाइजेस्टिव बिस्किट ही बचे हों, इसलिए बोर्डिंग से पहले बच्चों का पंसदीदा स्नैक्स रखना न भूलें

और पढ़ें: जानें स्पेशल चाइल्ड को होम स्कूलिंग देना कैसे है मददगार

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर में शामिल है चौथा टिप्स: बच्चे की एक्टिविटी वाली चीजें साथ ले लाएं

फ्लाइट में सफर के दौरान फ्लाइट अटेंडेंट से पेंसिल, पेपर और रबड़ न मांगे, बल्कि बच्चे की एक्टिविटी बुक, कलर, पेपर, पजल्स और वो सबकुछ जो सफर में उन्हें पंसद है लेकर जाएं।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर के लिए पांचवां टिप्स: पसंदीदा खिलौना ले जाएं

सॉफ्ट टॉयस, प्लेइंग कार्ड और कोई भी खास खिलौना जो उसे पसंद है और जिसे देखकर वह शांत हो जाता है, लेकर जाएं। खिलौने को अपने केबिन लगेज में रखें, क्योंकि पता नहीं बच्चे के बिगड़े मूड को ठीक करने और सबके सामने खुद की बेइज्जती होने से बचने के लिए आपको कब इसकी जरूरत पड़ जाए।

और पढ़ें: बच्चों के लिए एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना क्या सुरक्षित है?

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर में के लिए छठा टिप्स: उन्हें बिजी रखें

फ्लाइट से यात्रा के दौरान बच्चे बहुत जिज्ञासु बन जाते हैं और हमेशा आप उन्हें नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। इसलिए उनके नखरों से बचने के लिए बेहतर है कि आप उनके सवालों के जवाब देते रहें। यदि आपके बच्चे के ढे़र सारे सवाल पूछने की आदत है तो फ्लाइट में यात्रा से जुड़ी कोई किताब उसे लाकर दें और कहें कि एयरप्लेन को बेहतर तरीके से समझने के लिए वह किताब पढ़े।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर करने के लिए सातवां टिप्स:  कुछ मीठी चीजें जरूर रखें

आपके बच्चे को प्लेन टेक ऑफ और लैंडिग के समय कान में दर्द की शिकायत हो सकती है। इस परेशानी से डरें नहीं। साथ ही बच्चों को ठंड भी लग सकती है, तो उससे बचने का इंतजाम पहले ही कर लें। ईयर पॉपिंग सेंसेशन (कान में झनझनाहट) दर्दनाक हो सकता है, इसलिए बच्चे को जम्हाई लेने या कुछ मीठा चबाने के लिए कहें, इससे उन्हें थोड़ी राहत मिलेगी। खुद को ईयर पॉपिंग सेंसेशन से बचाने के लिए हेडफोन बेस्ट ऑप्शन है।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर में मददगार आठवां टिप्स: दवाइयां साथ में रखें

बच्चे के साथ आप चाहे फ्लाइट, ट्रेन या बस में सफर कर रहे हों, हमेशा कुछ जरूरी दवाइयां साथ रखें, क्योंकि पता नहीं कब बच्चा बीमार पड़ जाए। यदि आपके बच्चे को मोशन सिकनेस या ट्रैवलिंग के दौरान कोई अन्य समस्या होती है तो उससे बचने के लिए दवाइयां साथ रखें। यह भी हो सकता है आपके बच्चे को इसकी जरूरत न पड़ें, लेकिन आपकी बगल वाली सीट में शायद किसी को इसकी जरूरत पड़ जाए।

और पढ़ें: स्कूल के बच्चों की मेमोरी तेज करने के टिप्स

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर में के लिए नवां टिप्स: बच्चे से सोने की उम्मीद न रखें

बच्चे से यह उम्मीद न करें कि फ्लाइट से ट्रैवल के दौरान वह हमेशा सोया ही रहेगा। वह जमाना गया जब पैरेंट्स के कहने पर बच्चे आंखें बंद कर लिया करते थे। अब तो बच्चे को फ्लाइट में जबरन सोने के लिए कहने पर स्थिति बिगड़ सकती है। वे इससे इरीटेट होकर आपको ज्यादा परेशान कर सकते हैं।

बच्चे के साथ फ्लाइट में सफर के लिए दसवां टिप्स: एक बच्चे को संभालें दूसरा आराम करे

यह बच्चे के लिए तो नहीं, लेकिन आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। यदि माता-पिता दोनों साथ सफर कर रहे हैं तो एक को बच्चे को संभालना चाहिए, जबकि दूसरे को कुछ देर सुकून से आराम करना चाहिए। जब स्थिति बिगड़ने लगे तो आपको बच्चे को संभालने के लिए पसीना बहाना पड़ेगा ताकि दूसरा पार्टनर कुछ देर के लिए आराम कर सके।

बच्चे के साथ सफर के दौरान आप क्या करते हैं? फ्लाइट में बच्चे के नखरे को कैसे हैंडल करते हैं? अपना अनुभव हमारे साथ जरूर शेयर करें। अगर आप इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो एयर लाइंस के नियमों को भी अवश्य समझें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बच्चों के शरीर में फाइबर की कमी को कैसे करें पूरा?

बच्चों के लिए फाइबर फूड : फाइबर के सभी शानदार गुणों के साथ, यह आपके बच्चे के आहार में बहुत जरूरी है। प्रत्येक दिन उसे जितने फाइबर ग्राम की जरूरत है। फाइबर युक्त भोजन का लाभ जानिए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Abhishek Kanade
के द्वारा लिखा गया Nikhil Kumar
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग नवम्बर 5, 2019 . 6 मिनट में पढ़ें

जानें बच्चों की पढ़ाई के लिए पहले से फाइनेंशियल प्लानिंग कैसे करें

बच्चों के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग कैसे करें, कब करें और इसके फायदे हैं। जानिए बच्चों के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग (Financial planning) करते समय किन बातों को ध्यान रखना है जरूरी।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Abhishek Kanade
के द्वारा लिखा गया Nikhil Kumar
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग नवम्बर 4, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

2 साल तक की उम्र के बच्चों के लिए गेम्स और उन्हें खेलने के तरीके

उम्र के हिसाब से जानिए बच्चों के लिए खिलौने कौन से बेहतर होते हैं। जानिए बच्चों के लिए खिलौने लेते समय किन बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Shruthi Shridhar
के द्वारा लिखा गया Nikhil Kumar
बच्चों का स्वास्थ्य (1-2 साल), पेरेंटिंग अक्टूबर 19, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए सावधानियां: घर पर अकेला छोड़ने से पहले सिखाएं सेफ्टी टिप्स

बच्चों के लिए सावधानियां क्या हो जो बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकें? बच्चों को अकेले घर पर छोड़ कर जाना पड़ता है, ऐसे में कई पेरेंट्स को चिंता सताती है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Abhishek Kanade
के द्वारा लिखा गया Nikhil Kumar
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अक्टूबर 8, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Cashless Air Ambulance- कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा

कैशलेस एयर एंबुलेंस सेवा भारत में हुई लॉन्च, कोई भी कर सकता है यूज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
सांप काटने का इलाज - snake bite first aid

सांप काटने का इलाज कैसे करें? जानिए फर्स्ट ऐड

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अप्रैल 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बच्चों के लिए फर्स्ट एड-bacchon ke liye first aid

चोट लगने पर बच्चों के लिए फर्स्ट एड और घरेलू उपचार

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ अप्रैल 16, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Pilates for kids/बच्चों के लिए पिलाटे

बच्चों के लिए पिलाटे एक्सरसाइज हो सकती है फायदेमंद, बढ़ाती है एकाग्रता

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
प्रकाशित हुआ दिसम्बर 6, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें