home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे

प्रेग्नेंसी मतलब एक महिला को शारीरिक और मानसिक रूप से कई तरह की समस्याओं का सामना करना। प्रेग्नेंसी में महिला को न सिर्फ अपनी देखभाल बल्कि, गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य का भी पूरा ख्याल रखना होता है। आपको ये तो पता ही होगा कि प्रेग्नेंसी में नारियल पानी पीने के कई फायदे हैं। नारियल पानी पीने से त्वचा और बालों दोनों को ही फायदा होता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं प्रग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के भी फायदे होते हैं? अगर नहीं, तो चलिए हम आपने आज के इस आर्टिकल में आपको प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने की जानकारी देंगे।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी के दौरान खांसी की समस्या से राहत पाने के घरेलू उपाय

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल क्यों खाना चाहिए?

नारियल विटामिन ई के साथ-साथ कई सारे गुणों से भरा होता है। लोग सेहत का ख्याल रखने के लिए पानी वाले नारियल, पके हुए नारियल और सूखे नारियल सभी का इस्तेमाल करते हैं। आमतौर पर सूखे नारियल का इस्तेमाल सूखे मेवे के तौर पर किया जाता है। हालांकि, प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे सबसे ज्यादा पाएं जा सकते हैं। डॉक्टर्स के मुताबिक, प्रग्नेंसी में सूखा नारियल का सेवन गर्भावस्था के नौवें महीनों में कभी भी करना पूरी तरह से सुरक्षित है। इसके अलावा, प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे मां के साथ-साथ गर्भ में पल रहे शिशु को भी मिलते हैं। नारियल में फैटी एसिड की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो शिशु के उचित विकास और उसकी वृद्धि में मददगार हो सकता है। वहीं, नारियल में मौजूद लॉरिक एसिड मां के ब्रेस्ट से दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, अगर कोई गर्भवती महिला प्रेग्नेंसी के दौरान जोड़ों के दर्द का सामना कर रही है, तो उसे भी सूखे नारियल का सेवन करना चाहिए।

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे निम्न हैं, जिनमें शामिल हैंः

वायरल फ्लू से रखे सुरक्षित

न्यूट्रिशन रिसर्च चैरिटी, वेस्टर्न ए प्राइस फाउंडेशन के रिसर्च के अनुसार, प्रेग्नेंसी में नारियल के किसी भी रूप का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। नारियल के अलग-अलग रूप के फायदे लगभग एक जैसे ही होते हैं। नारियल के तेल की बात करें, तो उसमें एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण काफी उच्च मात्रा में होते हैं। एक्सपर्ट सलाह भी देते हैं कि, गर्भवती महिलाओं को घी या अन्य कुकिंग ऑयल की जगह पर नारियल के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। नारियल के तेल के गुणआप सूखे नारियल में से भी प्राप्त कर सकते हैं। जो गर्भवती महिलाओं को जुकाम, फ्लू और अन्य वायरस से सुरक्षित रखने में मदद कर सकते हैं।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में दाद की समस्या के कारण और बचाव के तरीके

मॉर्निंग सिकनेस दूर करे

प्रेग्नेंसी की शुरूआत में ही अधिकतर महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस की समस्या होने लगती है। खासतौर पर प्रेग्नेंसी के तीसरे माह में इसकी समस्या काफी अधिक बढ़ भी जाती है। मॉर्निंग सिकनेस के कारण सुबह उठने पर हल्का सिरदर्द होना या माइग्रेन की समस्या, कमर के निचले हिस्से में अकड़न होना, जांगों में दर्द होना आदि। प्रेग्नेंसी के इन लक्षणों से राहत पाने के लिए प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाना काफी फायदेमंद हो सकता है।

सॉफ्ट स्किन बनाने में मदद करे

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने से महिलाओं की स्किन सॉफ्ट बन सकती है। सूखे नारियल में लॉरिक एसिड की उच्च मात्रा पाई जाती है, ये एसिड नारियल के तेल में भी पाई जाती है। यह स्किन को सॉफ्ट बनाने के साथ ही, प्रेग्नेंसी के दौरान पेट और कमर की त्वचा पर पड़ने वाले स्ट्रेच मार्क्स के निशान को भी हल्क करने में मदद कर सकता है।

ब्लड फ्लो बेहतर करे

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने से गर्भवती महिला के शरीर में ब्लड फ्लो बेहतर तरीके से काम कर सकता है। गर्भवती होने पर महिलाओं के शरीर में खून की मात्रा 50 फीसदी तक बढ़ जाती है। ऐसे में खराब ब्लड फ्लो के कारण महिला के शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है जिससे पैर में सूजन और दर्द की समस्या भी बढ़ सकती है।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में मछली खाना क्यों जरूरी है? जानें इसके फायदे

दूध के उत्‍पादन को बढ़ाए

नारियल में मौजूद फैटी एसिड शिशु के उचित विकास और उसकी वृद्धि में मदद करते हैं। नारियल में मौजूद लॉरिक एसिड ब्रेस्ट मिल्क के उत्पादन को बढ़ाने में भी मदद कर सकते हैं। इसमें विटामिन ई की भी मात्रा पाई जाती है।

मतली उल्टी से राहत दिलाए

गर्भावस्था के दौरान होने वाली कुछ सामान्य समस्याएं जैसे मतली आना, उल्टी आना, एसिडिटी और सीने की जलन जैसी समस्याओं से भी राहत पाने के लिए गर्भवती महिलाएं सूखे नारियल का सेवन कर सकती हैं। इस तरह की परेशानियों को दूर करने के लिए आप सूखे नारियल के साथ-साथ ताजा नारियल, नारियल का दूध या नारियल का पानी भी पी सकती हैं।

मूत्र संक्रमण से बचाव करे

अगर गर्भावस्था के दौरान बार-बार आप यूरिन इंफेक्शन से परेशान हो जाती हैं, तो आपको नियमित तौर पर नारियल पानी का सेवन करना चाहिए। नारियल पानी के सेवन से आपके शरीर में मूत्र की मात्रा और प्रवाह बढ़ता है जिससे मूत्र के संक्रमण पैदा करने वाले सभी बैक्टीरिया यूरिन के माध्यम शरीर से बाहर निकल जाते हैं। अगर आपको मूत्र संक्रमण की समस्या है तो बेहतर होगा कि आप डॉक्टर से जांच जरूर कराएं। यूरिन इंफेक्शन का सही समय पर इलाज कराना बहुत जरूरी होता है नहीं तो किडनी पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

इम्यून सिस्टम मजबूत करे

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने से मां और गर्भ में पल रहे बच्चे का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इससे प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले किसी भी तरह के संक्रमण से महिला का शरीर सुरक्षित रह सकता है। आप नारियल की रेसिपी बनाकर खा सकती हैं।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में नॉन-इनवेसिव प्रीनेटल टेस्ट क्यों करवाना है जरूरी?

प्रेग्नेंसी में एनीमिया की समस्या दूर करें

गर्भावस्था में एनीमिया की समस्या यानी खून की कमी होने का जोखिम भी सबसे अधिक रहता है। ऐसे में इस समस्या को दूर रखने के लिए प्रेग्नेंसी में सूखे नारियल का सेवन किया जा सकता है। यह खून की कमी को दूर करने में मदद करता है।

मेटाबॉलिज्म बेहतर बनाए

प्रेग्नेंसी के दौरान सूखा नारियल खाने से महिला का मेटाबॉलिज्म बेहतर बनता है। जिससे वह आपने आहार को आसानी से पचा सकती है।

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने से पहले मुझे किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

गर्भावस्था में नारियल खाने के साइड इफेक्ट्स बहुत ही कम महिलाओं में देखा जाता है। हालांकि, अगर आप गर्भावस्था में सूखा नारियल खाने का विचार कर रही हैं, तो एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। साथ ही, अगर आपमें निम्न स्थितियां हैं, तो भी नारियल का सेवन न करें, जिसमें शामिल हैंः

एलर्जी की समस्या

कुछ लोगों को एरेकेसी या नारियल के परिवार से एलर्जी की समस्या हो सकती है। अगर आपको भी नारियल से जुड़ी किसी तरह की एलर्जी की समस्या है, तो उसका सेवन न करें।

और पढ़ेंः प्रेग्नेंसी में सेक्स के दौरान ब्लीडिंग क्यों होता है? जानें कुछ सुरक्षित सेक्स पोजिशन

क्या गर्भावस्था में नारियल खाने के नुकसान भी हो सकते हैं?

आमतौर पर अगर गर्भवती महिला का वजन सामान्य है और उसे नारियल या उसमें पाए जाने वाले किसी भी गुण से किसी तरह की एलर्जी नहीं है, तो उसके लिए नारियल का सेवन करना पूरी तरह से सुरक्षित हो सकता है। हालांकि, कुछ मामलों में निम्न समस्याएं हो सकती हैः

गले में खराश की समस्या

सूखा नारियल खाने से गले में खराश की समस्या हो सकती है। हालांकि, यह बहुत ही सामान्य है। दरअसल, सूखा नारियल खाने के लिए उसे चबाना पड़ता है जिससे उसके छोटे-छोटे कण गले में अटक सकते हैं जिससे खराश की समस्या हो सकती है।

इसके साथ ही, अगर किसी महिला को गर्भावस्था के दौरान डिहाइड्रेशन की अधिक समस्या होती है, तो उसे नियमित तौर पर नारियल का पानी पीना चाहिए। नारियल पानी फैट फ्री होता है और यह इलेक्ट्रोलाइट्स के सबसे उच्च स्रोत भी माना जाता है जो आपके शरीर को हाइड्रेट बनाए रखने में मदद करता है। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम और प्रोटीन की भी उच्च मात्रा होती है और फाइबर, कैल्शियम और विटामिन सी का भी एक अच्छा स्रोत माना जाता है। अगर बच्चे के जन्म का पहला घंटा कैसा होता है या इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Consuming Coconut During Pregnancy. https://parenting.firstcry.com/articles/eating-coconut-in-pregnancy-benefits-and-risks/. Accessed on 13 April, 2020.

The Pregnancy Superfood You Need To Try NOW. https://www.parents.com/pregnancy/everything-pregnancy/the-pregnancy-superfood-you-need-to-try-now/. Accessed on 13 April, 2020.

5 Impressive Benefits of Coconut. https://www.healthline.com/nutrition/coconut-nutrition. Accessed on 13 April, 2020.

What Is Coconut Meat, and Does It Have Benefits?. https://www.healthline.com/nutrition/coconut-meat. Accessed on 13 April, 2020.

Eat dry coconut in pregnancy, these problems in the body will go away. https://medium.com/@firozkhankjivf/eat-dry-coconut-in-pregnancy-these-problems-in-the-body-will-go-away-d62e644cf90. Accessed on 13 April, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x