home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क किन कारणों से बढ़ सकता है?

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क किन कारणों से बढ़ सकता है?

अमेरिकन एकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी के मेडिकल जर्नल, न्यूरोलॉजी में 2018 में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, एक महिला की प्रेग्नेंसी हिस्ट्री अल्जाइमर डिजीज (Alzheimer Disease) के रिस्क को प्रभावित कर सकती है। अध्ययन में पाया गया कि जो महिलाएं पांच या अधिक बच्चों को जन्म देती हैं, ऐसी प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क कम बच्चों को जन्म देने वाली महिलाओं की तुलना में अधिक हो सकता है। प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) के क्या कारण है, जानते हैं इस आर्टिकल में।

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) के बारे में क्या कहती है रिसर्च

अमेरिकन एकेडमी ऑफ न्यूरोलॉजी के मेडिकल जर्नल, न्यूरोलॉजी के अनुसार, गर्भावस्था के आठवें सप्ताह तक ईस्ट्रोजन का लेवल सामान्य स्तर से 40 गुना तक बढ़ जाता है। स्टडी के लिए, शोधकर्ताओं ने कुल 3,549 महिलाओं के साथ, कोरिया और ग्रीस के दो इंडिपेंडेंट पॉपुलेशन-बेस्ड स्टडीज के डेटा को कंबाइन किया। जो महिलाएं वर्तमान में हाॅर्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी ले रही थीं और जिनकी ओवरीज रिमूवल के लिए हिस्टेरेक्टॉमी या सर्जरी हुई थी, उन्हें अध्ययन में शामिल नहीं किया गया था।

स्टडी की शुरुआत में लगभग 71 वर्ष की औसत आयु वाली महिलाओं ने अपने रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री के बारे में जानकारी दी। उन्होंने अपने पहले बच्चे के जन्म से औसतन 46 साल बाद डायग्नोस्टिक एग्जामिनेशन ​​करवाया। उस समय के दौरान, प्रतिभागियों ने यह देखने के लिए अपनी मेमोरी और थिंकिंग स्किल्स का टेस्ट किया कि क्या उन्हें अल्जाइमर डिजीज या माइल्ड कॉग्निटिव इम्पेयरमेंट लॉस किया है। कुल 118 महिलाओं में अल्जाइमर डिजीज डेवलप हुई थी और 896 महिलाओं ने माइल्ड कॉग्निटिव इम्पेयरमेंट लॉस को विकसित किया था।

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) से संबंधित स्टडी में हुआ ये खुलासा

जिन महिलाओं ने पांच या अ धिक बच्चों को जन्म दिया था, उनमें अल्जाइमर डिजीज विकसित होने की संभावना उन महिलाओं की तुलना में 70 प्रतिशत अधिक थी, जिन्होंने कम बच्चों को जन्म दिया। कम बच्चों वाली 2,751 महिलाओं में से 53 की तुलना में पांच या अधिक बच्चों वाली 716 महिलाओं में से 59 ने अल्जाइमर डिजीज डेवलप हुई थी। इंकंप्लीट प्रेग्नेंसी वाली 2,375 महिलाओं में से 47 ने अल्जाइमर रोग विकसित किया, जबकि 1,174 महिलाओं में से 71 ने कभी इंकंप्लीट प्रेग्नेंसी का अनुभव नहीं किया था।

और पढ़ें: क्या लिंक है प्रेग्नेंसी और एन्काइलॉसिंग स्पॉन्डिलाइटिस के बीच में? इस तरह से करें इस कंडिशन को मैनेज!

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk): स्टडी में ये भी आया सामना

मेमोरी और थिंकिंग स्किल्स के टेस्ट्स पर, जिन महिलाओं के पांच या अधिक बच्चे थे, उन महिलाओं की तुलना में कम अंक थे जिनके कम बच्चे थे। एक परीक्षा में जहां मैक्सिमम स्कोर 30 है और 24 या अधिक के अंक सामान्य थिंकिंग स्किल्स को इंडिकेट करते हैं और 19 से 23 के बीच नंबर माइल्ड कॉग्निटिव प्रॉब्लम्स (Mild cognitive problems) को इंडिकेट करते हैं, पांच या अधिक बच्चों वाली महिलाओं के औसत अंक लगभग 22 थे, जबकि पांच से कम बच्चों वाली महिलाओं के औसतन लगभग 26 अंक थे।

जिन महिलाओं की एक या एक से अधिक अधूरी प्रेग्नेंसी हुई थी उनका टेस्ट स्कोर इन्कम्प्लीट प्रेग्नेंसी वाली महिलाओं की तुलना में हाय था, भले ही उनके कितने बच्चे हों। उदाहरण के लिए, पांच या अधिक बच्चों वाली महिलाओं में, जिनकी इन्कम्प्लीट प्रेग्नेंसी नहीं थी, उनका औसत स्कोर लगभग 22 था, जबकि एक या अधिक इन्कम्प्लीट प्रेग्नेंसी वाली महिलाओं के स्कोर 23 से अधिक थे।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में मैंगनीज और सेलेनियम का सेवन : क्यों है इसकी जरूरत?

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer's Risk)

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) का सच क्या है?

गर्भावस्था किसी महिला में अल्जाइमर रोग होने की संभावना को कैसे प्रभावित करेगी? प्रेग्नेंसी एक महिला के शरीर पर कई शारीरिक प्रभाव डालती है: एस्ट्रोजन का स्तर बहुत अधिक होता है, और गर्भावस्था डेवलपिंग फीटस के “फॉरेन टिश्यू” को सहन करने के लिए मां के इम्यून सिस्टम के रेगुलेशन को ठीक करती है। कुछ अल्जाइमर विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया है कि गर्भावस्था के हाॅर्मोनल या इम्यूनोरेगुलेटरी इफेक्ट एक महिला के अल्जाइमर के रिस्क को प्रभावित कर सकते हैं और जबकि ये फैक्टर्स अंततः महिलाओं में डेमेंशिया के रिस्क को प्रभावित करने के लिए कारगर हो सकते हैं, प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) के बीच संबंधों पर अब तक के एविडेंस कुछ खास नहीं हैं, लेकिन स्पष्ट हैं।

अन्य रिप्रोडक्टिव फैक्टर भी अल्जाइमर के रिस्क (Alzheimer’s Risk) को प्रभावित कर सकते हैं

गर्भपात अल्जाइमर के रिस्क में भी भूमिका निभा सकता है। कैसर परमानेंट स्टडी (Kaiser study) में, शोधकर्ताओं ने मिसकैरिज और अल्जाइमर के रिस्क में ग्रोथ के बीच एक कनेक्शन पाया गया। विशेष रूप से, उन्होंने पाया कि गर्भपात की प्रत्येक रिपोर्ट ने उन महिलाओं की तुलना में डिमेंशिया डेवलप होने की संभावना को 9% बढ़ा दिया, जिन्होंने मिसकैरिज की रिपोर्ट नहीं दी थी। दूसरी ओर, मिसकैरिज पर अपने निष्कर्षों में कोरियाई और ग्रीक महिलाओं का अध्ययन कुछ हद तक अलग था। उस स्टडी से पता चला है कि जिन महिलाओं ने इन्कम्प्लीट प्रेग्नेंसीज का अनुभव किया था, उन महिलाओं की तुलना में अल्जाइमर का रिस्क कम था, जो कभी गर्भवती नहीं हुई थीं।

आपका ओवरऑल रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री अल्जाइमर के लिए आपके रिस्क के लिए एक क्लू दे सकता है। कैसर स्टडी (Kaiser study) ने महिलाओं की ओवरऑल रिप्रोडक्टिव पीरियड (मेंस्ट्रुएशन की शुरुआत और मेनोपॉज की शुरुआत के बीच का समय) की जांच की और पाया कि 21-30 वर्ष के शॉर्ट रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री वाली महिलाओं को रिप्रोडक्टिव पीरियड वाली महिलाओं की तुलना में 38-44 वर्ष की उम्र में डिमेंशिया का खतरा बढ़ जाता है। प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) के बारे में कंक्रीट डेटा के लिए अभी और रिसर्च किए जाने की आवश्यकता है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में डायरिया : इस कंडिशन में क्या खाना चाहिए और किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए?

प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) के बारे में डॉक्टर से करें बात

चूंकि स्टडीज अभी तक उन तरीकों के बारे में निश्चित निष्कर्ष नहीं देती हैं जिनसे प्रेग्नेंसी और रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री अल्जाइमर के ग्रोथ के आपके रिस्क को प्रभावित कर सकती है, आपको अपने डॉक्टर से इस विषय पर कैसे चर्चा करनी चाहिए? इसके लिए सुनिश्चित करें कि डॉक्टर आपसे कम्पलीट रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री (Complete reproductive history) समझे, जिसमें शामिल हैं:

अभी तक हुई स्टडीज सिर्फ एक क्लू देती हैं कि टेक्निकली रूप से क्या हो रहा है। महिलाओं को विशेष रूप से डिमेंशिया विकसित करने का हाई रिस्क क्यों है। अभी तक हुई स्टडीज ऑब्जर्वेशनल (Observational) हैं और केवल एक को-रिलेशन दिखती हैं। प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क के बीच एक फर्म लाइन के लिए कंट्रोल्ड स्टडीज आवश्यक हैं।

और पढ़ें: Trichomoniasis: प्रेग्नेंसी में सेक्शुअल ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन होने पर दिखते हैं ये लक्षण

उम्मीद करते हैं कि प्रेग्नेंट महिलाओं में अल्जाइमर के रिस्क (Pregnancy and Alzheimer’s Risk) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Women’s Pregnancy Life History and Alzheimer’s Risk: Can Immunoregulation Explain the Link?/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6442681/

For Your Patients-Alzheimer’s Disease
5 or More Pregnancies Are Linked to Greater Risk of AD
https://journals.lww.com/neurotodayonline/Fulltext/2018/08160/For_Your_Patients_Alzheimer_s_Disease__5_or_More.6.aspx

Pregnancy history may be linked to dementia – Alzheimer’s Society comment/https://www.alzheimers.org.uk/news/2018-07-19/pregnancy-history-may-be-linked-dementia-alzheimers-society-comment

Pregnancy condition pre-eclampsia linked to increased dementia risk/
https://www.alzheimersresearchuk.org/pregnancy-condition-pre-eclampsia-linked-to-increased-dementia-risk/

Dementia/https://www.aarp.org/health/dementia/info-2018/women-alzheimers-pregnancy-link.html

लेखक की तस्वीर badge
Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ दिन पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x