backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना

कीड़े-मकोड़ों का काटना: क्या है बचाव का तरीका?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/03/2022

कीड़े-मकोड़ों का काटना: क्या है बचाव का तरीका?

त्वचा से जुड़ी कई समस्यायों के बारे में पढ़ना और समझना जरूरी है। त्वचा से जुड़ी कुछ समस्या अनहेल्दी लाइफस्टाइल या किसी हेल्थ कंडिशन के कारण हो सकती है, लेकिन इन दोनों कारणों के अलावा एक कारण और भी हैं जो स्किन प्रॉब्लेम पैदा कर सकते हैं और वो है कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites)। कीड़ों का काटना भी स्किन से जुड़ी परेशानियों को दावत दे सकता है। इसलिए आज इस आर्टिकल में कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites) और उससे बचाव एवं इलाज का विकल्प क्या है यह समझेंगे।       

कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites) सामान्य माना जाता है, लेकिन सामान्य सी यह परेशानी कभी-कभी ज्यादा परेशान करने लगती है और त्वचा पर गहरा निशान भी छोड़ देती है।  

और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

कीड़े-मकोड़ों का काटना: क्या-क्या परेशानी हो सकती है? (Risk factor of Insect And Spider Bites)  

कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites)

कीड़ों का काटना सामान्य है, लेकिन कीड़ों के काटने के बाद उस त्वचा पर छोटा छेद देखा जा सकता है। कीटों के काटने पर त्वचा की आसपास में सूजन देखा जा सकता है। इंसेक्ट बाइट प्रायः दो से तीन दिनों में अपने आप ठीक होता है और किसी मेडिकल ट्रीटमेंट या कंसल्टेशन की जरूरत भी नहीं पड़ सकती है। हालांकि जिन लोगों को इंसेक्ट बाइट (Insect bites) से एलर्जी (Allergy) की समस्या होती है, उन्हें ज्यादा तकलीफ हो सकती है। जैसे:    

  • जिस जगह कीड़े ने काटा है वहां रैश (Rash) होना और रैश का धीरे-धीरे फैल जाना। 
  • सांस लेने में कठिनाई (Breathing difficulties) महसूस होना। 
  • सीने में दर्द महसूस (Chest pain) होना। 
  • क्रैंप्स (Cramps) की समस्या होना। 
  • बेहोश (Faintness) होना।  
  • चक्कर (Dizziness) आना। 
  • जी मिचलाने (Nausea) की समस्या होना। 
  • दिल की धड़कन (Rapid Heartbeat) तेज होना।
  • त्वचा में अत्यधिक सूजन (Severe Swelling) आना।  
  • अत्यधिक खुजली (Severe itching) होना। 
  • घरघराहट (Wheezing) महसूस होना। 

अगर कीड़े-मकोड़ों के काटने के बाद ऊपर बताई स्थिति महसूस होती है या लक्षण नजर आते हैं, तो ऐसी स्थिति में जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। इन स्थितियों को इग्नोर करना अनजाने में किसी गंभीर परेशानी को पैदा कर सकती है। इसलिए सतर्क रहें।

और पढ़ें : Non Cancerous Skin Tags: जानिए नॉन कैंसरस स्किन टैग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites) आप महसूस कर रहें और इसे इग्नोर कर रहें हैं, तो ऐसा नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से निम्नलिखित स्थिति पैदा हो सकती है और मरीज की परेशानी बढ़ सकती है। 

यहां नीचे बताये स्थितियों में डॉक्टर से सलाह लेना अत्यधिक आवश्यक है। जैसे:

  • कीड़े-मकोड़ों के काटने वाली जगह पर पस (Pus) बनना। 
  • ग्लैंड में सूजन (Swollen glands) आना। 
  • बुखार (Fever) आना। 
  • अच्छा महसूस (Unwell) नहीं करना। 
  • फ्लू के लक्षण (Flu-like symptoms) महसूस होना।

और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

कीड़े-मकोड़ों का काटना: ओवर-द-काउंटर (OTC) दवाओं के अलावा घरेलू उपाय क्या हैं? (Home remedies for Insect And Spider Bites)

कीड़े-मकोड़ों के काटने पर निम्नलिखित घरेलू उपाय किये जा सकते हैं। जैसे:

  • किसी भी कीड़ों के काटने पर उस जगह को साबुन (Soap) और पानी (Water) से अच्छी तरह से साफ करें।
  • तुलसी या पुदीने की पत्तियों से कीड़े काटने वाली जगह पर इन्हें रगड़ने पर इंफेक्शन (Infection) की संभावना कम होती है, क्योंकि इनमें एंटी-इंफेक्शन प्रॉपर्टीज (Anti-infection properties) मौजूद होता है।
  • कीटों के काटने पर बेकिंग सोडा का इस्तेमाल किया जा सकता है। बेकिंग सोडा में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज (Anti-inflammatory properties) सूजन (Swelling), लालिमा (Redness) या फिर दर्द (Pain) को कम करने में सहायक माना गया है।
  • लैवेंडर (Lavender) और टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil) का इस्तेमाल भी कीड़ों के काटने पर इस्तेमाल किया जा सकता है। ये एशेंशियल ऑयल कीड़ों के काटने से होने वाली परेशानी को दूर करने में मदद मिल सकती है।
  • कीटों के काटने वाली जगह पर शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होते हैं, जो इंफेक्शन की संभावनाओं को कम करने में सहायक होते हैं। वहीं शहद में मौजूद एंजाइम कीड़े-मकोड़ों के काटने (Insect And Spider Bites) से शरीर में फैलने वाले जहर (Poison) को भी खत्म करने में मददगार होते हैं।
  • इन घरेलू उपायों की मदद से कीड़े-मकोड़ों के काटने से होने वाली परेशानी को दूर किया जा सकता है, लेकिन अगर इन घरेलू उपायों से लाभ ना मिले तो डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    कीड़े-मकोड़ों का काटना: क्या है बचाव का विकल्प? (Tips to prevent from Insect And Spider Bites)

    कीड़े-मकोड़ों के काटने से बचने के लिए निम्नलिखित टिप्स फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

    • खिड़कियों में नेट का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से किसी भी तरह के कीड़े घर में प्रवेश नहीं कर सकते हैं।
    • जंगल या लकड़ी वाली जगह पर ना जाएं।
    • अत्यधिक खुशबू वाले कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स (Cosmetic products) का इस्तेमाल ना करें।
    • ब्राइट कलर के कपड़ों को ना पहनें।
    • शरीर को ढ़कने वाले कपड़ों को पहनें।
    • घर में या आस पास पानी जमा ना होने दें।

    इन टिप्स को फॉलो कर कीड़े-मकोड़ों के काटने (Insect bites) से बचने में मदद मिल सकती है।

    नोट: अगर आप अफ्रीका, एशिया या दक्षिण अमेरिका जैसे देशों में यात्रा करने जा रहें हैं, तो इंसेक्ट बाइट (Insect bite) से सावधान पहले से रहें।

    और पढ़ें : Hyaluronic Acid For Skin: जानिए शरीर एवं त्वचा के लिए हाईऐल्युरोनिक एसिड के 10 फायदे!

    कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites) भले ही सामान्य हो, लेकिन कभी-कभी कुछ जहरीले कीड़ों के काटने की वजह से परेशानी बढ़ सकती है और ऐसी स्थिति में इग्नोर करना किसी गंभीर स्थिति को दावत देने से कम नहीं है। यह ध्यान रखें कि अगर कीड़े जहरीले हैं, तो इससे शरीर में जहर (Poison) फैल सकती है और इलाज में परेशानी हो सकती है। इसलिए लापरवाही ना बरतें और डॉक्टर से सलाह लें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको कीड़े-मकोड़ों का काटना (Insect And Spider Bites) या इंसेक्ट बाइट से संबंधित यहां दी गई जरूरी जानकारियां महत्वपूर्ण लगी होगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 09/03/2022

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement