home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय 

स्किन डिजीज या स्किन जुड़ी समस्याओं पर कैनेडा के अल्बर्टा यूनिवर्सिटी (University of Alberta, Canada) द्वारा किये गए सर्वे के अनुसार 27.9 प्रतिशत पुरुष एवं 36.7 प्रतिशत महिलाएं स्किन से जुड़ी समस्याओं से परेशान रहती हैं। देखा जाए तो स्किन डिजीज (Skin diseases) कई तरह की होती हैं और उन्हीं में से एक है स्किन लीजन (Skin Lesions)। स्किन लीजन, स्किन लीजन के कारण और इससे जुड़ी सभी जानकारी आपके साथ शेयर करेंगे।

  • स्किन लीजन क्या है और यह कितने तरह का होता है?
  • स्किन लीजन के कारण क्या हैं?
  • स्किन लीजन का निदान कैसे किया जाता है?
  • स्किन लीजन का इलाज कैसे किया जाता है?
  • स्किन लीजन के लिए घरेलू उपाय क्या हैं?

इन सभी सवालों का जवाब एक-एक कर आर्टिकल में आगे समझेंगे।

और पढ़ें : मुहांसे कम न कर दें आपके चेहरे की रौनक, इन तरीकों से पाएं एक्ने फ्री स्किन

स्किन लीजन क्या है और यह कितने तरह का होता है? (Skin Lesions and its type)

स्किन लीजन (Skin Lesions)

अमेरिकन सोसाइइटी फॉर डर्मटोलॉजिक सर्जरी (American Society for Dermatologic Surgery) के अनुसार स्किन लीजन की समस्या होने पर त्वचा पर एब्नॉर्मल लम्प, बंप यानी उभार, दाग और त्वचा के रंग अलग-अलग नजर आने लगते हैं। स्किन लीजन (Skin Lesions) अलग-अलग तरह के होते हैं। जैसे प्राइमरी स्किन लीजन (Primary Skin Lesions) और सेकेंडरी स्किन लीजन (Secondary Skin Lesions)।

और पढ़ें : सावधान! संक्रामक त्वचा रोग कहीं आपकी स्किन की बिगाड़ ना दें रंगत

प्राइमरी स्किन लीजन (Primary Skin Lesions)

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्राइमरी स्किन लीजन की समस्या जन्म से या फिर उम्र के किसी भी पड़ाव में हो सकती है। इसलिए बर्थमार्क को प्राइमरी स्किन लीजन की श्रेणी में रखा जाता है। वहीं पिंपल, तिल और त्वचा पर होने वाले चकत्तों को भी प्राइमरी स्किन लीजन (Primary Skin Lesions) माना जाता है। इसके अलावा प्राइमरी स्किन लीजन में स्किन से जुड़ी निम्नलिखित परेशानियों को भी शामिल किया गया है। जैसे:

  • त्वचा पर फफोले पड़ना।
  • चेहरे पर चित्ती या झाइ पड़ना।
  • चेहरे पर छोटे-छोटे पिंपल (पैप्यूल) होना।
  • पिंपल में पस आना।
  • त्वचा पर रैश पड़ना

त्वचा से संबंधित ये सभी परेशानी प्राइमरी स्किन लीजन (Primary Skin Lesions) के अंतर्गत आती है।

और पढ़ें : Dry Scalp: ड्राय स्कैल्प के लिए ये घरेलू उपाय आप अपना सकते हैं आसानी से!

सेकेंडरी स्किन लीजन (Secondary Skin Lesions)

यूनिवेर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन (University of Wisconsin) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्राइमरी स्किन लीजन ही धीरे-धीरे सेकेंडरी स्किन लीजन (Secondary Skin Lesions) का मुख्य कारण माना गया है। प्राइमरी स्किन लीजन में स्किन से जुड़ी परेशानियों के साथ-साथ सेकेंडरी स्किन लीजन में निम्नलिखित परेशानियों को भी शामिल किया गया है। जैसे:

  • त्वचा (Skin) पर पपड़ी पड़ना।
  • त्वचा पर घाव (Wound) या अल्सर (Ulcer) होना।
  • त्वचा का अत्यधिक रुखा पड़ना।
  • सर्जरी या चोट की वजह से पड़ने वाले स्कार (Scar)।

ये सभी परेशानियां सेकेंडरी स्किन लीजन (Secondary Skin Lesions) के अंतर्गत आती हैं। ऐसे में स्किन लीजन के कारण को समझना बेहद जरूरी है।

और पढ़ें : Hair Detox: हेयर डिटॉक्स क्या है? जानिए 5 आसान हेयर डिटॉक्स मेथड

स्किन लीजन के कारण क्या हैं? (Cause of Skin Lesions)

यू.एस. नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ (U. S. National Institutes of Health) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार स्किन लीजन के कारण निम्नलिखित हो सकते है-

इन ऊपर बताये कारणों की वजह से स्किन लीजन की समस्या हो सकती है। वहीं कुछ रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार कैंसर (Cancer) भी स्किन लीजन का कारण बन सकती है।

और पढ़ें: चेहरे से जुड़ी अनेक परेशानियों का इलाज हायल्यूरॉनिक एसिड डर्मल फिलर, जानें कैसे करता है काम

स्किन लीजन का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Skin Lesions)

स्किन लीजन के निदान के लिए डॉक्टर सबसे पहले पेशेंट के शरीर की जांच करते हैं। इस दौरान स्किन और पेशेंट को होने वाली परेशानियों की जानकारी लेते हैं। आवश्यकता पड़ने पर इन्फेक्सटेड एरिया की बायोप्सी (Biopsy) या स्वैब (Swab) टेस्ट की जा सकती है। कभी-कभी स्किन टेस्ट की भी जरूरत पड़ सकती है। इन टेस्ट रिपोर्ट्स के आधार पर और डॉक्टर द्वारा ऑब्सर्व किये जाने के बाद इलाज शुरू की जाती है।

और पढ़ें : Fungal Nail Infection: फंगल नेल इंफेक्शन से कैसे बचें?

स्किन लीजन का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Skin Lesions)

स्किन लीजन (Skin Lesions)

स्किन लीजन का इलाज इसके कारणों को समझकर किया जाता है। डॉक्टर स्किन लीजन के टाइप (Type of Skin Lesions) को समझते हैं और मेडिकल हिस्ट्री को ध्यान में रखते हुए स्किन लीजन का इलाज शुरू करते हैं।

मेडिकेशन (Medications)

स्किन लीजन के इलाज की शुरुआत दवाओं से की जाती है। दवाओं के सेवन से इन्फ्लेमेशन, पेन, खुजली (Itching) या जलन (Burning) से राहत मिल सकती है। वहीं अगर स्किन लीजन का कारण चिकनपॉक्स या दाद (Chickenpox or shingles) है, तो ऐसे डॉक्टर ओरल मेडिसिन प्रिस्क्राइब कर सकते हैं।

सर्जरी (Surgery)

त्वचा पर मस्सा ये ऐसे ही किसी उभार को हटाने के लिए सर्जरी विशेष रूप से लेजर सर्जरी (Laser surgery) की मदद से हटाया जाता है। लेजर सर्जरी की सहायता से बर्थमार्क (Birthmark) को हटाया जा सकता है।

स्किन लीजन का इलाज मुख्य रूप से इन्हीं दो तरीकों से किया जाता है। इसके अलावा डॉक्टर स्किन लीजन (Skin Lesions) से पीड़ित लोगों को साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के सलाह देते हैं।

और पढ़ें : हेयर केयर के घरेलू नुस्खे: बालों की समस्या दूर करने के लिए अपनाएं ये 7 होम रेमेडीज

स्किन लीजन के लिए घरेलू उपाय क्या हैं? (Home remedies for Skin Lesions)

स्किन लीजन की तकलीफ को दूर करने के लिए या इससे बचने के लिए निम्नलिखित घरेलू उपाय अपना सकते हैं। जैसे:

  • स्किन लीजन के लिए घरेलू उपाय में शामिल है कोलाइडल ओटमील बाथ प्रॉडक्ट्स (Colloidal oatmeal bath products)
  • स्किन लीजन के लिए घरेलू उपाय के लिए ओटमील लोशन (Oatmeal lotion) का इस्तेमाल करें।
  • अब्सॉर्बेंट बॉडी पाउडर (Absorbent body powder) का इस्तेमाल करें।
  • एंटी-चेफ बाम (Anti-chafe balm) को भी स्किन लीजन के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for Skin Lesions) में शामिल किया जा सकता है, लेकिन इन उपायों को अपनाने से पहले डॉक्टर की राय जरूर लें।

और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

स्किन से जुड़ी समस्या होने पर क्या करें? (Tips for Healthy skin)

स्किन (Skin) से जुड़ी परेशानी होने पर निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • त्वचा (Skin) में कोई भी नेगेटिव बदलाव दिखाई देने या महसूस होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।
  • स्किन को हमेशा मॉश्चराइज रखें।
  • सूर्य की तेज किरणों में ना निकलें।
  • बॉडी को हाइड्रेट (Hydrate) रखें।
  • कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स (Cosmetic products) का इस्तेमाल कम करें और अगर इस्तेमाल कर रहें हैं, तो त्वचा को क्लीन जरूर करें।
  • मौसमी फल एवं सब्जियों का सेवन अवश्य करें।

इन बातों को ध्यान में रखकर स्किन से जुड़ी परेशानियों से बचा जा सकता है।

इन घरेलू उपायों से अगर स्किन लीजन की समस्या दूर नहीं होती है, तो डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। डॉक्टर आपके हेल्थ कंडिशन (Health Condition) और बीमारी की गंभीरता को ध्यान में रखकर स्किन लीजन का इलाज (Skin Lesions treatment) शुरू कर सकते हैं। यह ध्यान रखें कि स्किन से जुड़ी समस्याओं को ठीक होने में ज्यादा वक्त लग सकता है। इसलिए ट्रीटमेंट के दौरान डॉक्टर के बताये समय पर मिलें और प्रिस्क्राइब्ड ड्रग्स (Drugs) एवं टिप्स (Tips) का पालन करें। अगर ठीक होने में ज्यादा वक्त लगे तो पैनिक ना करें और पेशेंस रखकर इलाज करवाएं।

आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sensitive Skin in the Indian Population: An Epidemiological Approach/https://www.frontiersin.org/articles/10.3389/fmed.2019.00029/full/Accessed on 13/01/2022 

Skin Lesions/https://www.asds.net/skin-experts/skin-conditions/skin-lesions/ Accessed on 13/01/2022 

Skin Lesions/https://www.osmosis.org/answers/skin-lesions/Accessed on 13/01/2022

Preventing Skin Infections/https://www.health.ny.gov/diseases/communicable/athletic_skin_infections/hand_washing.htm/Accessed on 13/01/2022

Skin conditons/https://www.healthdirect.gov.au/skin-conditions/Accessed on 13/01/2022

Identifying primary and secondary skin lesions/https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15714028/Accessed on 13/01/2022

Secondary Syphilitic Lesions/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC544174/Accessed on 13/01/2022

Skin conditions/https://medlineplus.gov/skinconditions.html/Accessed on 13/01/2022

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड