Heat Rash: हीट रैश की समस्या क्या है? जानिए हीट रैश के लक्षण और इलाज!

    Heat Rash: हीट रैश की समस्या क्या है? जानिए हीट रैश के लक्षण और इलाज!

    गर्मी की मौसम की दस्तक के साथ ही शुरू हो जाती है त्वचा से जुड़ी परेशानियां। गर्मियों में होने वाली परेशानी स्किन प्रॉब्लेम की लिस्ट में ऑयली स्किन, सन टैन, सन बर्न, हीट रैश या फिर फंगल इंफेक्शन जैसी तकलीफें शामिल हैं। हालांकि ऐसा नहीं है कि समर स्किन प्रॉब्लेम से बचा नहीं जा सकता, इसके लिए आपको स्किन प्रॉब्लेम को समझना जरूरी है जिससे बचने में मदद मिल सके। इसलिए आज इस आर्टिकल में हीट रैश (Heat Rash) एवं हीट रैश के लक्षण से जुड़ी सभी जानकारियां आपके साथ शेयर करने जा रहें हैं।

    • हीट रैश क्या है?
    • हीट रैश के लक्षण क्या हो सकते हैं?
    • हीट रैश के कारण क्या हो सकते हैं?
    • हीट रैश का निदान कैसे किया जाता है?
    • हीट रैश का इलाज कैसे किया जाता है?
    • हीट रैश के लिए घरेलू उपाय क्या हैं?

    चलिए अब हीट रैश से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : Food for Clear Skin: साफ त्वचा के लिए फूड में शामिल कर सकते हैं ये 5 खाद्य पदार्थ!

    हीट रैश (Heat Rash) क्या है?

    हीट रैश (Heat Rash)

    गर्मियों के दिन में बच्चे या बड़ों को हीट रैश की समस्या होना आम है। हीट रैश को प्रिक्ली हीट (Prickly heat) के नाम से भी जाना जाता है और इसे मेडिकल टर्म में घमौरी (Miliaria) भी कहा जाता है। अगर सामान्य शब्दों में समझें, तो घमौरी की समस्या पसीने के कारण पोर्स के बंद होने की वजह से होती है। घमौरी की समस्या अलग-अलग तरह की होती हैं, जो आपको परेशान भी कर सकती है। इसलिए सबसे पहले हीट रैश लक्षण को समझेंगे, जिससे इस समस्या को शुरु होने के साथ ही दूर करने में मदद मिल सके।

    और पढ़ें : Non Cancerous Skin Tags: जानिए नॉन कैंसरस स्किन टैग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

    हीट रैश के लक्षण क्या हो सकते हैं? (Symptoms of Heat Rash)

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार हीट रैश के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • त्वचा पर हल्का उभार आना या दाग नजर आना, जिसे पैपुल्स (Papules) भी कहते हैं।
    • स्किन में हमेशा सेंसेशन (Sensation) महसूस होना।
    • त्वचा में खुजली (Itching) होना।
    • त्वचा में हल्का सूजन (Swelling) आना।
    • गोरी त्वचा पर लाल स्पॉट (Spot) दिखना।

    ये लक्षण हीट रैश के लक्षण होते हैं और यह निम्नलिखित शारीरिक हिस्सों पर नजर आ सकते हैं। जैसे:

    • त्वचा (Face)।
    • गर्दन (Neck)।
    • ब्रेस्ट के अंदुरुनी हिस्से (Under the breasts)।
    • स्क्रोटम के अंदुरुनी हिस्से (Under the scrotum)।

    घमौरी की समस्या सबसे ज्यादा इन्हीं बॉडी ऑर्गन पर नजर आते हैं। चलिए अब प्रिक्ली हीट (Prickly heat) के कारणों को समझने की कोशिश करते हैं, जिससे इस परेशानी से बचने में मदद मिल सके।

    और पढ़ें : Natural Ways To Increase Glutathione: जानिए ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका और इसके फायदे!

    हीट रैश के कारण क्या हो सकते हैं? (Cause of Heat Rash)

    डर्मनेट न्यूजीलैंड ट्रस्ट (DermNet New Zealand Trust) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार हीट रैश के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • स्वेट ग्लैंड (Sweat glands) से अत्यधिक पसीना आना।
    • गर्म और आर्द्र वातावरण (Hot and humid environment) होना।
    • फिजिकल एक्टिविटी (Physical activity) नहीं करना।
    • बुखार (Fever) आना।
    • स्किन को नुकसान पहुंचाने वाले कपड़े जैसे सेंथेटिक कपड़े (Synthetic fabrics) पहनना।
    • लंबे वक्त से बेड रेस्ट (Prolonged bed rest) में रहना।
    • रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy) लेना।
    • टॉक्सिक एपिडर्मल नेक्रोलिसीस (Toxic epidermal necrolysis) की समस्या होना।
    • ऐसे दवाओं (Medications) का सेवन करना जिसके सेवन से पसीना कम आता हो।

    इन कारणों की वजह से हीट रैश यानी घमौरी की समस्या शुरू हो सकती है।

    और पढ़ें : Purpura: परप्यूरा क्या है? जानिए परप्यूरा के कारण, लक्षण और इलाज!

    हीट रैश का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Heat Rash)

    हीट रैश यानी प्रिक्ली हीट (Prickly heat) की समस्या कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाती है, लेकिन अगर स्किन से जुड़ी यह परेशानी ज्यादा दिनों से बनी हुई है और ठीक नहीं हो रही है तो ऐसी स्थिति में डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। डॉक्टर प्रिक्ली हीट को मॉनिटर कर और लक्षणों के आधार पर स्किन पंच बायोप्सी (Skin punch biopsy) या फिर इमेजिंग टेस्ट (Imaging test) से बीमारी को समझकर इलाज शुरू करते हैं।

    और पढ़ें : हाइड्रोजन पेरोक्साइड और स्किन कंडिशन: क्यों स्किन के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

    हीट रैश का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Heat Rash)

    हीट रैश की समस्या अपने आप ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ केसेस में दवाओं की जरूरत पड़ सकती है। जैसे:

    • ओवर-द-काउंटर (OTC) मिलने वाली ऑइन्टमेंट हाइड्रोकोर्टिसोन क्रीम (Hydrocortisone cream) एक दिन में एक से दो बार घमौरी वाली जगह पर लगाने की सलाह देते हैं।
    • खुजली की समस्या ज्यादा होने पर एंटीथिस्टेमाइंस (Antihistamines) का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

    इन दवाओं से हीट रैश का इलाज किया जाता है, लेकिन हीट रैश के लिए घरेलू उपाय भी किये जा सकते हैं।

    और पढ़ें : Blind Pimple: ब्लाइंड पिंपल से छुटकारा पाने के लिए 7 घरेलू उपाय एवं 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    हीट रैश के लिए घरेलू उपाय क्या हैं? (Home remedies for Heat Rash)

    हीट रैश के लिए घरेलू उपाय इस प्रकार हैं। जैसे:

    • कॉटन और ढ़ीले कपड़े पहनें।
    • गीले कपड़े ना पहनें।
    • एक्सरसाइज या योगासन सुबह या शाम के वक्त करें, क्योंकि सुबह और शाम के समय दोपहर की तुलना में पसीना कम आता है।
    • बॉडी टेम्प्रेचर (Body temperature) को कम करने के लिए रोजाना स्नान जरूर करें।
    • ठंडी जगह में बैठें।
    • सोने वाले मैट्रेस का चयन सॉफ्ट और अच्छे मटेरियल का हो, जिससे सोने या आराम करने के दौरान पसीना ना आये या कम आये।
    • बॉडी पर हुए हीट रैश को स्क्रेच ना करें।
    • संभव हो तो सूर्य की तेज किरणों में बाहर ना निकलें।
    • हीट रैश पर कॉटन के साफ कपड़ों में बर्फ के टुकड़ों को लपेटकर लगाएं।
    • पानी एवं तरल पदार्थों का सेवन ज्यादा करें।
    • अत्यधिक मसालेदार खाना खाने से बचें।
    • घमौरी वाली जगह पर एलोवेरा जेल (Aloe vera gel) अप्लाई किया जा सकता है।

    इन ग्यारह टिप्स को फॉलो कर घमौरी की समस्या (Heat Rash problem) को कम करने और उनसे बचने में मदद मिल सकती है। हालांकि यह हमेशा ध्यान रखें कि किसी भी बीमारी के इलाज के लिए अगर घरेलू उपाय कर रहें हैं और इससे विशेष लाभ नहीं मिल रहा है, तो सिर्फ घरेलू नुस्खों पर निर्भर ना रहें और डॉक्टर से कंसल्ट करें।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    डॉक्टर से कब कंसल्ट करें?

    निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना आवश्यक है। जैसे:

    • स्किन रैश से पस (Pus) या ब्लीडिंग (Blooding) होना।
    • रैश पर फफोले (Blister) आना।
    • इंफेक्शन (Infection) होना।

    ऐसी परेशानियों को इग्नोर ना करें और डॉक्टर से सलाह लें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको हीट रैश (Heat Rash) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में हीट रैश (Heat Rash) ​से जुड़े कोई अन्य कोई सवाल हैं, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हैलो स्वास्थ्य के हेल्थ एक्स्पर्ट आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। वहीं आप अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 05/04/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement