आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पैरों में होती है खुजली? तो जान लीजिए इसके 9 कारण

    पैरों में होती है खुजली? तो जान लीजिए इसके 9 कारण

    खुजली एक कॉमन कंडिशन है जो बॉडी के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकती है। कई फैक्टर्स पैरों में खुजली (Itchy legs) के लिए जिम्मेदार होते हैं जिसमें स्किन कंडिशन, डायबिटीज और एलर्जिक रिएक्शन्स शामिल हैं। आमतौर पर पैरों में खुजली किसी गंभीर हेल्थ प्रॉब्लम की तरफ इशारा नहीं होती है। खुजली के कारणों का पता चलने पर व्यक्ति को राहत मिल सकती है और जब जरूरी हो वह मेडिकल ट्रीटमेंट ले सकता है। इस आर्टिकल में पैरों में खुजली के सामान्य कारण और इससे बचने के उपायों के बारे में बताया जा रहा है।

    पैरों में खुजली के संभावित कारण (Possible causes of itchy feet)

    पैरों में खुजली (Itchy legs) के संभावित कारण निम्न प्रकार हैं।

    • रूखी त्वचा
    • कीड़ों के काटने से इर्रिटेशन होना
    • किसी पौधे से एलर्जी होना
    • क्रोनिक स्किन कंडिशन जैसे कि एक्जिमा और सोरायसिस
    • शेविंग या कॉस्मेटिक्स और कैमिकल्स से संवेदशनशीलता
    • तनाव
    • बीमारियां जैसे कि डायबिटीज (Diabetes), कुछ प्रकार के कैंसर (Cancer), किडनी डिजीज (Kidney disease) और लिवर डिजीज
    • जब आगे इन कारणों के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

    और पढ़ें: Dry Skin: रूखी त्वचा कहीं इंफेक्शन का कारण ना बन जाए!

    1.रूखी त्वचा (Dry skin)

    रूखी त्वचा पैरों में खुजली (Itchy legs) या शरीर के अन्य किसी हिस्से में खुजली का एक प्रमुख कारण है। शुष्क त्वचा के लिए चिकित्सा शब्द है जेरोसिस (Xerosis) है। ऐसा कई कारणों से हो सकता है, जैसे उम्र, जलवायु और त्वचा की स्थिति। गतिविधियों, जैसे क्लोरीनयुक्त पानी में तैरना या पानी में ज्यादा समय बिताना शुष्क त्वचा का कारण बन सकता है।

    शुष्क त्वचा निम्नलिखित लक्षण पैदा कर सकती है:

    शुष्क त्वचा डर्मेटाइटिस या त्वचा की सूजन का एक प्रारंभिक संकेत हो सकता है, जो खुजलीदार दाने या सूखी और त्वचा के पैच का कारण बन सकता है। उपचार के बिना, डर्मेटाइटिस अक्सर बिगड़ जाता है, इसलिए जिन लोगों को संदेह है कि उन्हें डर्मेटाइटिस है, तो उन्हें डॉक्टर को दिखना चाहिए।

    2.कीड़े का काटना या पौधों से एलर्जी (Bug bites or plants allergy)

    यदि किसी व्यक्ति ने हाल ही में बाहर समय बिताया है तो वे कीड़े के काटने और प्लांट एलर्जी का शिकार हो सकते हैं। कुछ इंसेक्ट बाइट्स और प्लांट्स में पाए जाने वाला कैमिकल्स त्वचा में खुजली का कारण बनते हैं। ये त्वचा में सूजन, खुजली, लालिमा और हाइव्स का कारण भी बन सकते हैं। कई बार लोगों को इसका पता नहीं चलता और लक्षण बाद में पैदा होते हैं। जब लोग बाहर शॉर्ट्स या स्कर्ट पहनते हैं तो अक्सर पैरों में कीड़े काट सकते हैं। ऐसे में पैरों में खुजली (Itchy legs) हो सकती है।

    और पढ़ें: Hard skin: सख्त त्वचा: जानिए क्या है यह समस्या और क्या है इसका इलाज?

    3.एक्जिमा (Eczema)

    एक्जिमा या एक्टोपिक डर्मेटाइटिस एक क्रोनिक कंडिशन है। इसकी वजह से स्किन में खुजली, लालिमा हो सकती है। जिसमें पैर भी शामिल है। बच्चों के गालों और पैरों में एक्जिमा होना बेहद सामान्य है।

    4.सोरायसिस (Psoriasis)

    पैरों में खुजली (Itchy legs) का कारण सोरायसिस भी हो सकता है। यह एक इम्यून रिलेटेड डिसऑर्डर है। शरीर के कई क्षेत्रों में सूजन वाले प्लाक का कारण बनता है। कुछ लोग प्लाक की वजह से खुजली का अनुभव करते हैं, जो घुटनों, कोहनी और खोपड़ी पर विकसित होता हैं। सोरायसिस के लिए कोई इलाज नहीं है, लेकिन इस स्थिति वाले अधिकांश लोग सरल उपचार विकल्पों के माध्यम से ट्रिगर्स से बचने के तरीके सीखकर राहत प्राप्त कर सकते हैं।

    5.दूसरी स्किन कंडिशन्स (Other skin conditions)

    दूसरी स्किन कंडिशन जैसे कि शिंगल्स, रिंगवार्म और हाइव्स भी पैरों में खुजली (Itchy legs) का कारण बनती हैं।

    6.पैरों को शेव करना (Shaving the legs)

    शेविंग पैरों में खुजली (Itchy legs) का दूसरा कारण है। रेजर ब्लैड्स स्किन को इर्रिटेट करने का काम करते हैं और यह इनग्रोन हेयर्स का कारण बनते हैं जो कि संवदेनशील त्वचा और ईची स्किन का कारण बनते हैं।

    और पढ़ें: रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) स्किन हेल्थ के लिए क्यों माना जाता है फायदेमंद

    7.एलर्जिक रिएक्शन (Allergic reaction)

    कॉन्टैक्ट एलर्जी लाल और खुजली वाली त्वचा का कारण बन सकती है। जब बॉडी किसी स्पेसिफिक एलर्जन के संपर्क में आती है तो इसके परिणामस्वरूप यह प्रतिक्रिया हो सकती है। कॉमन एर्लजन में निकल, रबर सब्सटेंस और टॉपिकल एंटीबायोटिक्स शामिल है। एक विशिष्ट प्रकार के स्किन रिएक्शन में कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस शामिल है।

    8.एक्सरसाइज के कारण होने वाली पित्ती (Exercise-induced urticaria)

    हालांकि दुर्लभ मामले में कुछ लोगों को व्यायाम के कारण पित्ती हो सकती है। व्यायाम से प्रेरित पित्ती अन्य क्षेत्रों और पैरों में खुजली (Itchy legs) का कारण बन सकती है।खुजली के अलावा, लक्षणों में आमतौर पर पित्ती, त्वचा का फूलना, ऐंठन, सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द और चेहरे के आसपास संभावित सूजन शामिल हैं।

    व्यायाम से प्रेरित पित्ती एक खतरनाक मेडिकल कंडिशन हो सकती है। जो कोई भी व्यायाम के दौरान इन लक्षणों को महसूस करता है उसे व्यायाम करना बंद कर देना चाहिए और जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर को दिखना चाहिए।

    9.डायबिटीज (Diabetes)

    डायबिटीज वाले बहुत से लोग त्वचा की समस्याओं का अनुभव करते हैं और वे काफी गंभीर हो सकती हैं, इसलिए व्यक्ति को उन्हें गंभीरता से लेना चाहिए। खुजली वाले पैर या पैरों में खुजली खराब सर्कुलेशन या शुष्क त्वचा का संकेत हो सकते हैं। खुजली भी नर्व डैमेज, या डायबिटिक न्यूरोपैथी का संकेत हो सकता है।

    यदि डायबिटिक व्यक्ति को खुजली है, तो उन्हें डॉक्टर से इस स्थिति की जांच करने के लिए कहना चाहिए। नियमित रूप से मॉश्चराइजर का उपयोग डायबिटीज वाले लोगों को उनकी त्वचा की रक्षा करने में मदद कर सकता है।

    अन्य हेल्थ कंडिशन्स (Health conditions) जो पैरों में खुजली का कारण बनती है

    त्वचा की खुजली कभी-कभी गंभीर मेडिकल कंडिशन का संकेत हो सकती है, जैसे कि हॉजकिन लिंफोमा, एचआईवी, किडनी की समस्याएं, या एक अतिसक्रिय थायरॉयड ग्रंथि। तनाव के कारण भी पैरों में खुजली (Itchy legs) हो सकती है। स्ट्रेस रिलेटेड हाइव्स कॉमन है।

    और पढ़ें: क्या हैं हाइव्स के कारण और कैसे किया जा सकता है इस परेशानी का उपचार?

    पैरों में खुजली से राहत कैसे पाएं? (How to get relief from itchy legs?)

    पैरों में खुजली (Itchy legs) से राहत प्राप्त करने के लिए कई ऐसे टिप्स हैं जो लोग घर पर अपना सकते हैं। प्रभावित त्वचा पर लगातार खुजली ना करना इस और पहला कदम हो सकता है। इससे इर्रिटेशन कम होगा। एनसीबीआई में छपी स्टडी के अनुसार ओटमील बेस्ट लोशन को अप्लाई करना खुजली की तीव्रता, रूखापन को कम करता है। ओटमीट बाथ भी फायदेमंद हो सकता है खासकर छोटे बच्चों के लिए। दूसरी सेल्फ केयर रेमेडीज में निम्न शामिल हैं।

    • कोल्ड कंप्रेस का उपयोग खुजली से राहत दे सकता है
    • रूखी त्वचा की समस्या से बचने के लिए नियमित रूप से मॉश्चराइजर का उपयोग करना
    • गुनगुने शावर या स्नान का चयन करना और गर्म पानी से परहेज करना, जो त्वचा को परेशान करता है
    • ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) एंटीहिस्टामाइन राहत प्रदान कर सकती हैं, लेकिन इनका उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करें
    • इर्रिटेटेड स्किन को शांत करने के लिए ओटीसी हाइड्रोकार्टिसोन (Hydrocortisone) क्रीम लगाना
    • मुलायम कपड़ों से बने कपड़े पहनना जो त्वचा को सांस लेने दें

    डॉक्टर को कब दिखाना है

    यह खुजली वाले पैरों के बारे में डॉक्टर को देखने का समय है यदि वे एक सप्ताह या उससे अधिक समय में ठीक नहीं होते हैं या घरेलू उपचार के बाद सुधार के कोई संकेत नहीं दिखाते हैं। एक डॉक्टर यह निर्धारित कर सकता है कि पैरों में लगातार खुजली किस कारण से हो रही है और राहत प्रदान करने के लिए लोशन, जैल, क्लींजर, दवाएं और अन्य उपचार लिख सकते हैं।

    उम्मीद करते हैं कि आपको पैरों में खुजली (Itchy legs) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: