आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

डायबिटीज में खुजली की समस्या क्यों होती है, जानें यहां

    डायबिटीज में खुजली की समस्या क्यों होती है, जानें यहां

    डायबिटीज में खुजली (Itching in diabetes) की समस्या कई बार लोगों के परेशानी का कारण बन जाती है। खुजली अक्सर डायबिटिक पोलीन्यूरोपैथी का एक लक्षण है। यह एक ऐसी स्थिति है, जो तब विकसित होती है जब डायबिटीज के कारण नर्व डैमेज हो रही होती है। इसके अलावा, मधुमेह के परिणामस्वरूप विकसित होने वाली कुछ स्किन कंडिशन भी त्वचा में होने वाली खुजली का कारण बन सकती है। डायबिटीज पेशेंट्स को त्चचा में खुजली की स्थिति को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ड्राय, इरिटेटेड और इचिंग वाली त्वचा के संक्रमित होने की संभावना अधिक होती है, और ऐसे में डायबिटीज पेशेंट संक्रमण से उतनी सफलतापूर्वक नहीं लड़ पाते हैं। इस लेख में, हम उन कारणों को जानेंगे, जिसके कारण डायबिटीज में खुजली (Itching in diabetes) की समस्या बढ़ जाती है।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज डायट में आप शामिल कर सकते हैं ये हार्ट हेल्दी फूड्स!

    डायबिटीजम में खुजली के कारण क्या है‌ (What is the cause of itching in diabetes)?

    डायबिटीज में खुजली के कई कारण हो सकते हैं। इनमें से भी ऐसे कई कारण हैं, जिनकी वजह से मधुमेह वाले व्यक्ति को दूसरों की तुलना में अधिक बार खुजली का अनुभव हो सकता है। कभी-कभी यह समस्या, त्वचा की बाहरी लेयर में डैमेज नर्व फाइबर के कारण भी हो सकती है। अक्सर, मधुमेह से संबंधित खुजली का कारण डायबिटिक पोलीन्यूरोपैथी या पेरीफेरल न्यूरोपैथी होती है। ये डायबिटीज की जटिलताएं हैं, जो तब विकसित होती हैं जब उच्च रक्त शर्करा का स्तर जब नर्व फाइबर को नुकसान पहुंचाता है, विशेष रूप से पैरों और हाथों में।

    डायबिटीज पेशेंट में नर्व डैमेज होने से पहले, उनके शरीर में साइटोकिन्स का हाय लेवल हो सकता है। ये इंफ्लामेटरी सबस्टेंसेज हैं, जो खुजली का कारण बन सकते हैं। हाल के शोध से पता चलता है कि साइटोकिन्स में वृद्धि का अंततः मधुमेह नर्व डैमेज से संबंधित हो सकता है। कभी-कभी, लगातार खुजली यह संकेत दे सकती है कि मधुमेह वाले व्यक्ति को साइटोकिन के स्तर में वृद्धि के कारण नर्व डैमेज का खतरा है। कई लोगों को न्यूरोपैथी विकसित होने के बाद एक लक्षण के रूप में खुजली का भी अनुभव होता है।

    और पढ़ें: Superfoods for Type 2 diabetes: टाइप 2 डायबिटीज के लिए सुपरफूड में शामिल कर सकते हैं ये 7 फूड्स!

    अगर खुजली लगातार बनी रहे तो चिकित्सकीय सहायता लें। मधुमेह वाले लोगों में गुर्दे या लिवर फेल सहित कई जटिलताओं का भी अनुभव कर सकते हैं, जिससे खुजली भी हो सकती है। मधुमेह वाले कुछ लोग खुजली वाली त्वचा में दवाओं के साइड इफेक्ट्स या इससे एलर्जी रिएक्शन का अनुभव भी कर सकते हैं। हालांकि, मरीज को अपनी दवा लेना बंद नहीं करना चाहिए, जब तक कि उनके डॉक्टर से पुष्टि न हो जाए कि उन्हें एलर्जी की प्रतिक्रिया का अनुभव हुआ है।

    और पढ़ें : Impaired Glucose Tolerance: इम्पेयर्ड ग्लूकोज टॉलरेंस और टाइप 2 डायबिटीज के आपस में क्या है तालमेल?

    डायबिटिक स्किन कंडिशन (Diabetic skin condition)

    कभी-कभी एक अंतर्निहित त्वचा की स्थिति भी खुजली पैदा कर सकती है। मधुमेह वाले लोगों को बिना डायबिटीज वाले लोगों की तुलना में कुछ प्रकार की स्किन प्रॉब्लम और संक्रमण अधिक आसानी से हो सकते हैं। इनके उदाहरणों में शामिल हैं:

    फंगल इंफेक्शन (Fungal infection)

    एथलीट फुट और जॉक खुजली जैसे फंगल इंफेक्शन के कारण डायबिटीज में खुजली हो सकती है। इसमें त्वचा लाल, गर्म या सूजी हुई भी हो सकती है। कभी-कभी, छोटे फफोले विकसित हो सकते हैं । इन संक्रमणों के लिए अक्सर यीस्ट इंफेक्शन जैसा कवक कैंडिडा एल्बीकैंस जिम्मेदार हो सकता है।

    और पढ़ें : Triphala for Type 2 diabetes patients: जानिए टाइप 2 डायबिटीज मरीजों के लिए त्रिफला के फायदे और रिसर्च रिपोर्ट!

    नेक्रोबायोसिस लिपोइडिका डायबिटिकोरम (Necrobiosis lipoidica diabeticorum)

    यह एक दुर्लभ त्वचा की स्थिति है, जो आमतौर पर निचले पैरों पर विकसित होती है, हालांकि यह शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर सकती है। एनएलडी एक उभरी हुई सतह के साथ रेड रैशेज के रूप में शुरू होता है, जो एक गहरे रंग की सीमा के साथ एक निशान जैसे घाव में विकसित होता है। इससे दर्द और खुजली हो सकती है।

    इरप्टिव जैथोमैटोसिस (Eruptive xanthomatosis)

    टाइप 1 मधुमेह वाले लोगों में यह अधिक आम समस्या है, यह स्थिति त्वचा पर घावों का निर्माण करती है, जो मूंगफली के आकार के होता है। हाय कोलेस्ट्रॉल और वसा के स्तर से विस्फोटक जैथोमैटोसिस का खतरा बढ़ जाता है। यह स्पॉटस अक्सर पैरों, हाथों, बाहों और नितंबों पर होते हैं। हर गांठ के चारों ओर एक लाल रंग का छल्ले जैसा होगा और उसमें खुजली हो सकती है।

    और पढ़ें : भारत में टॉप 10 इंसुलिन पेन् और इसके इस्तेमाल की इंफॉर्मेशन है यहां

    डायबिटीज में खुजली के लक्षण (Symptoms of itching in diabetes)

    डायबिटीज में खुजली के लक्षण अलग-अलग होते हैं और यह कारण पर निर्भर करते हैं। उदाहरण के लिए, यदि किसी व्यक्ति को पेरीफेरल न्यूरोपैथी है, तो उनमें पैरों के निचले हिस्सों में खुजली का अनुभव होने की अधिक संभावना होती है। वे आमतौर पर पैरों या हाथों में संवेदना के नुकसान का भी अनुभव कर सकते हैं। इन लक्षणों के साथ झुनझुनी सनसनी हो सकती है। विशिष्ट त्वचा की स्थिति या संक्रमण वाले मरीज में घाव के स्थान पर खुजली का अनुभव भी हो सकता है। खुजली के कारण मरीज कपड़ों में असहज महसूस कर सकते हैं, खुजली उन्हें रात में जगा सकती है, और उन्हें ऐसा महसूस करा सकती है कि उन्हें हमेशा खरोंचने की जरूरत है।

    और पढ़ें : डायबिटीज की वजह से हो सकती है हियरिंग लॉस की समस्या, यकीन नहीं होता तो पढ़िए यह लेख!

    कैसे पाएं आराम

    मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति स्वस्थ त्वचा को बनाए रखने और खुजली से राहत पाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखें, जिसमें शामिल हैं:

    • डायबिटीज मैनेजमेंट करना और रक्त शर्करा के स्तर को कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है।
    • उन्हें बहुत गर्म स्नान करने से बचना चाहिए। गर्म पानी त्वचा से नमी को खत्म करती है।
    • नहाने या शॉवर के बाद भी त्वचा नम होने पर त्वचा पर लोशन लगाना। हालांकि, मधुमेह वाले व्यक्ति को पैर की उंगलियों के बीच लोशन नहीं लगाना चाहिए, क्योंकि यह नमी के साथ हानिकारक कवक को आकर्षित करने का काम कर सकता है।
    • डायबिटीज के मरीज ऐसे मॉइस्चराइजर से परहेज करें, जिनमें हार्ड परफ्यूम या डाई शामिल हों। ऐसे उत्पाद का उपयोग करें, जिसके लेबल में “हाइपोएलर्जेनिक” प्रोडक्ट लिखा हो। कुछ निर्माता विशेष रूप से मधुमेह वाले लोगों के लिए लोशन बनाते हैं।
    • अच्छी डायट लें। जीवनशैली में बदलाव करने से भी त्वचा के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। इनमें स्वस्थ आहार खाना शामिल है।

    और पढ़ें : जानें टाइप-2 डायबिटीज वालों के लिए एक्स्पर्ट द्वारा दिया गया विंटर गाइड

    डायबिटीज में खुजली का इलाज बहुत जरूरी है। ऐसे समस्या होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलकर मेडिकेशन शुरू कर देना चाहिए। कई डायबिटीज के मरीज खुजली के इलाज के लिए घरेलू उपचारों की कोशिश करते हैं, लेकिन लगभग 2 सप्ताह के बाद भी कोई सुधार नहीं दिखता है, उसे अन्य विकल्पों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। कई सामान्य लोगों में खुजली की समस्या आम हो सकती है, लेकिन मधुमेह वाले लोगों के लिए, खुजली वाली त्वचा खराब मधुमेह के स्तर और संभावित नर्व डैमेज का संकेत दे सकती है। ऐसे में डॉक्टर यह निर्धारित करने के लिए शुष्क या रूखी त्वचा के क्षेत्रों का मूल्यांकन कर सकते है कि क्या मधुमेह या अंतर्निहित त्वचा की स्थिति इसका कारण है। वे उपचार लिख सकते हैं या किसी व्यक्ति की डायबिटीज मैनेजमेंट में बदलाव की सिफारिश कर सकते हैं।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Skin care Accessed 19 May,2022
    http://www.diabetes.org/living-with-diabetes/complications/skin-care.html

     Type 2 diabetic patients in comparison with glycerol-based emollient cream. Accessed 19 May,2022
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/23009311

    Complications and special situations. (n.d.). Accessed 19 May,2022
    http://www.diabetesaction.org/site/PageServer?pagename=tip_complications

    de Macedo, G. M. C., et al. (2016). Skin disorders in diabetes mellitus: An epidemiology and physiopathology review. Accessed 19 May,2022
    https://dmsjournal.biomedcentral.com/articles/10.1186/s13098-016-0176-y

    Diabetes: 12 warning signs that appear on your skin. (n.d.). Accessed 19 May,2022
    https://www.aad.org/public/diseases/other-conditions/diabetes-warning-signs

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: