गले का इंफेक्शन कर रहा है परेशान तो करें लहसुन का उपयोग

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 9, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें
Share now

मौसम बदलते ही शरीर पर उसका सीधा असर दिखने लगता है जैसे सर्दियों की शुरुवात होते ही सबसे पहले गले का इंफेक्शन ही परेशान करने लगता है। गले के इन्फेक्शन यानि थ्रोट इन्फेक्शन में गले में दर्द और खराश महसूस होती है और खाना खाने यहाँ तक की पानी पीने में भी तकलीफ होती है ये एक तरह का वायरल इन्फेक्शन है लेकिन कभी -कभी ये एलर्जी या बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण भी हो सकता है। इसे नज़रअंदाज़ करना बिलकुल ठीक नहीं वरना ये बहुत तेज़ी से बढ़ता है बहुत ज़्यादा दर्द भी देता है साथ ही गंभीर ख़ासी का भी रूप ले सकता है।  आइये बात करते हैं कुछ ऐसे घरेलु नुस्खों की जिनसे गले के इन्फेक्शन में बहुत जल्दी आराम मिलता है। 

और पढ़ें: Amyloidosis: एमिलॉयडोसिस क्या है?

1. नमक पानी का गरारा

थ्रोट इन्फेक्शन में गले में खराश के साथ सूजन आ जाती है जिससे खाना निगलने में भी दिक्क्त होती है।  नमक पानी का गरारा करने से सूजन कम होती और गले का इंफेक्शन कम होता है। इसके लिए एक ग्लास गर्म पामी में 1 टेबलस्पून नमक मिलाये और इससे गरारा करें।  दिन में कम से कम 3 बार ये नुस्खा ज़रूर आज़मायें। इससे गले को गर्म सेक मिलती है जिससे जल्दी आराम मिलता है।  

और पढ़ें: पेट का इंफेक्शन दूर करने के घरेलू उपाय

2. स्टीम

स्टीम गले की खराश में बहुत आराम देती है दरअसल कभी -कभी इन्फेक्शन में गले के सूख जाने से खराश हो जाती है ऐसे में भाप लेने से खुश्की कम होती है। गले का इंफेक्शन दूर करने के लिए  एक बर्तन में गर्म पानी लें और किसी मोटे तौलिये से मुँह को ढक के बर्तन के ऊपर से भाप लें। 

3. लहसुन

लहसुन गले के इन्फेक्शन में बड़ा फायदेमंद है ये इन्फेक्शन के बैक्टीरिया को मारता है और गले की सुजन को कम करता है। इसके लिए लहसुन की कली को छीलकर हल्के -हल्के दाँत से दबाकर चूसिये जिससे लहसुन का रस धीरे -धीरे गले में जाता रहेगा और इससे आराम मिलता जायेगा।   

और पढ़ें : फंगल इंफेक्शन से राहत पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

4. अदरक और शहद

अदरक और शहद दोनों में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो की गले के दर्द और इन्फेक्शन में फायदा करते हैं। इस्तेमाल के लिए 1 कप पानी लेकर उसमे अदरक को अच्छे से उबाल लें फिर इसे छानकर हल्का ठंडा होने दें जितना आप आराम से पी सकें , फिर इसमें 1 टेबल स्पून शहद मिलाकर पी लें। जल्द आराम पाने के लिए दिन में कम से कम 3 इसे ज़रूर पियें।   

5. काढ़ा

हम सबने दादी माँ के नुस्खों में काढ़ा ज़रूर सुना है और ये गले के लिए बहुत फायदेमंद भी होता है। काढ़ा बनाने के लिए 1 कप पानी में अदरक, तुलसी , लौंग , काली मिर्च और चुटकी भर नमक मिलाकर अच्छे से उबाल लें। फिर छान कर पी लें इससे बहुत जल्दी आराम मिलता है दिन में 2 बार इसे पीना अच्छा रहता है। 

गले का इन्फेक्शन वैसे तो कोई बहुत गंभीर समस्या नहीं है और अगर थोड़ा परहेज के साथ जैसे की ठंडी चीज़ों को न खाकर इन घरेलु नुस्खों से उपचार किया जाये तो बहुत जल्दी आराम मिलता है।  लेकिन अगर 3 से 4 दिन में भी आपको कोई खास आराम नहीं मिल रहा तो एक बार डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें , हो सकता है गले में दर्द और अंदरूनी सूजन की वजह कुछ और हो।  

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बच्चों में पिनवॉर्म की समस्या और इसके घरेलू उपाय

जानिए बच्चों में पिनवॉर्म in Hindi, बच्चों में पिनवॉर्म क्या है, बच्चों के पेट में कीड़े के कारण, बच्चों के पेट में कीड़े के लक्षण, bachcho me Pinworm के घरेलू उपाय।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 13, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

एक्यूप्रेशर और एक्यूपंक्चर में है अंतर, जानिए दोनों के फायदे

एक्यूप्रेशर क्या है, एक्यूप्रेशर के फायदे, एक्यूप्रेशर और एक्यूपंक्चर में अंतर क्या है, इससे इलाज कैसे किया जाता है, acupressure difference in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Povidone Iodine: पोविडोन आयोडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

पोविडोन आयोडीन की जानकारी in Hindi. पोविडोन आयोडीन का इस्तेमाल कब किया जाता है? इसका सेवन कैसे करना चाहिए और साइड इफेक्ट्स क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Ivermectin: आइवरमेक्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए आइवरमेक्टिन की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, आइवरमेक्टिन उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Ivermectin डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Anoop Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल मार्च 3, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

इमान्जेन डी

Emanzen D: इमान्जेन डी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
प्राकृतिक आपदा में स्वास्थ्य natural disaster

नेचुरल डिजास्टर से स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, हो सकती हैं कई बीमारियां

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Shikha Patel
Published on मई 12, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
Diabetes

Pyridium- पायरिडियम क्या है? जानिये इसके साइड इफेक्ट्स और उपयोग

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Poonam
Published on मई 11, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
BICEPS RUPTURE-बाइसेप्स रप्चर

Biceps Rupture: बाइसेप्स रप्चर क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Siddharth Srivastav
Published on अप्रैल 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें