जानें सेक्स समस्या के लिए आयुर्वेद में कौन-से हैं उपाय?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

सेक्स समस्या,आम समस्या है, पर जीवन के अभिन्न अंग होने के बावजूद इस बारे में चर्चा नहीं की जाती है। हालांकि, सेक्स समस्या के लिए काफी कारगर उपाय आयुर्वेद में मौजूद हैं। आयुर्वेद का उपयोग आदि काल से सेक्स समस्या को ठीक करने के लिए होता रहा है।

इस आर्टिकल में हम सेक्स समस्या और आयुर्वेद में इससे संबंधित उपाय के बारे में जानेंगे। सेक्स एक प्राकृतिक क्रिया है, जो हर प्राणी की आवश्यकता है। सृष्टि ने सृजन के साथ ही हर जीव में प्रजनन की क्षमता दी है, ताकि वो अपनी संतति को आगे बढ़ा सकें। परन्तु आयुर्वेद के अनुसार “काम-क्रिया” या सेक्स सिर्फ प्रजनन के लिए ही नहीं, बल्कि मानसिक संतोष भी देता है। कितने ही लोगो के लिए सेक्स, स्ट्रेस रिलीवर (stress-reliever) की तरह भी काम करता है। इसलिए, जब किसी कारणवश कोई व्यक्ति यौन सुख का आनंद नहीं उठा पता, तो ये स्ट्रेस यानि तनाव का कारण भी बन सकता है।

युवावस्था में शरीर में शक्ति का स्तर चरम सीमा पर होता है, इसलिए मनुष्य यौन सुख का आनंद ले पाता है। पर जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, शारीरिक शक्ति कम होती जाती है। जिसके फलस्वरूप, इंसान अपने साथी को संतुष्टि देने में असमर्थ होने लगता है। ये भावनात्मक रूप से क्षति पहुंचाने का काम करता है। जिसके फलस्वरूप आपसी रिश्तों में भी मन-मुटाव आने की सम्भावना रहती है।

और पढ़े- सेक्स लाइफ बेहतर बनाने के लिए कैसे प्राप्त करें संभोग सुख

सेक्स सम्बंधित समस्या

कुछ मुख्य रूप से लोगो में देखे जाने वाली सेक्स समस्या इस प्रकार से है-

शीघ्रपतन (Premature Ejaculation)

प्रीमैच्योर इजैकुलेशन या शीघ्रपतन पुरुषों में काफी आम समस्या है।  आंकड़ों की माने तो विश्व में 3 में से 1 पुरुष अपने जीवन काल में इस समस्या से दो चार होता ही है। इसका दोष आप आज की जीवन शैली और व्यवसनों जैसे कि धूम्रपान को दे सकते हैं।

स्तंभन दोष (Erectile Dysfunction)

स्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिसफंक्शन वो स्थिति होती है जब लिंग यौन क्रिया के लिए पूरी तरह तैयार नहीं हो पाता है। सामान्य रूप से 40 वर्ष से ज्यादा की उम्र के पुरुषों में ये समस्या ज्यादा देखी गयी है। वैसे तो इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बहुत सारे कारण हो सकते हैं -जैसे ह्रदय रोग, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, बढ़ती उम्र, शराब और सिगरेट का सेवन। लेकिन  तनाव की वजह से ये कम उम्र के पुरुषों में भी देखा जा सकता है।

और पढ़े-लाइफ में एक बार जरूर ट्राई करें ये सेक्सुअल फैंटेसी

सेक्स के लिए निरुत्साहित रहना

पुरुषो में कई बार सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन(Testosterone) की कमी आ जाती है, जिसकी वजह से वो सेक्स सम्बंधित क्रिया में कम दिलचस्पी लेते हैं। इसके अलावा अगर पुरुष किसी तरह के मेडिकेशन पर हो, इन्सोमनिया या डिप्रेशन के शिकार हो, तो भी उनमें सेक्स को लेकर रूचि कम हो सकती है। बहुत ज्यादा या बहुत कम व्यायाम करना भी सेक्स में रूचि को घटाने का काम कर सकता है। इससे शरीर का संतुलन बिगड़ सकता है।

एज़ूस्पर्मिया (Azoospermia)

एज़ूस्पर्मिया की स्थिति तब होती है जब किसी पुरुष के वीर्य में शुक्राणु नहीं होते। इसे सीधी भाषा में नपुंसकता भी कहा जा सकता है। वैसे तो ये इस बात पर निर्भर करता है की एज़ूस्पर्मिया किस प्रकार का है। परन्तु ज्यादातर मामलों में इसका इलाज मुमकिन है और नपुंसकता को ठीक कर सकता है।

अस्थेनोस्पर्मीया या आस्थेनोजूसपरमिया  (Asthenospermia or Asthenozoospermia)

स्पर्म यानि की शुक्राणु के मोटेलिटी यानि गति करने की क्षमता जब धीमी होती है। ऐसे परिस्थिति को अस्थेनोस्पर्मीया या आस्थेनोजूसपरमिया  के नाम से जाना जाता है। इसके परीक्षण के लिए लैब टेस्ट की जरूरत पड़ती है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

सेक्स समस्या को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक दवाएं

आयुर्वेद के अनुसार शरीर सृष्टि के पांच तत्वों से बना है – वायु, अग्नि, पानी, धरती और अंतरिक्ष। इस सारे तत्वों से 3 प्रकार की ऊर्जा प्रवाहित होती है – वात, पित्त, कफ । अगर कोई व्यक्ति किसी भी बीमार से ग्रस्त होता है इसका यही मतलब होता है, कि  इन तीन प्रकार की ऊर्जा में से कोई असंतुलित हुआ है। आयुर्वेद को यूँ तो कम्प्लीमेंटरी एंड अल्टरनेटिव मेडिसिन (CAM) के रूप में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। परन्तु आयुर्वेद में सेक्स सम्बंधित समस्याओ़ का समाधान देने की क्षमता है।

आइये जानते हैं ऐसे कुछ आयुर्वेद के तत्वों के बारे में जो सेक्स क्षमता को बढ़ाने के लिए प्राचीन काल के उपयोग में लाये जाते हैं।

अश्वगंधा

अश्वगंधा का जिक्र  जो आयुर्वेद में मिलता है 3000 साल से भी ज्यादा पुराना है। अश्वगंधा शरीर में स्फूर्ति बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है। ये काफी सारी स्वास्थ्य सम्बंधित समस्याओं को ठीक करने में काफी कारगर मानी गयी है। अगर व्यक्ति डायबिटीज, या ब्लड प्रेशर की समस्या से पीड़ित है और इस कारण सेक्स जीवन का आनंद नहीं ले पा रहा है तो अश्वगंधा काफी कारगर हो सकता है। अश्वगंधा स्ट्रेस हार्मोन को भी कम करने में भी सहायक देखा गया है।

और पढ़े-यौन और रोमांटिक आकर्षण: जानिए कहीं काम-वासना को आप प्यार तो नहीं समझ रहे?

शतावरी

शतावरी मुख्य रूप से भारत, नेपाल, श्रीलंका में पायी जाती है। शतावरी (Asparagus Racemosus) देखने में 1 से 2 मीटर लम्बी होती है। सेक्स ड्राइव को बढ़ाने के लिए प्रचलित इस आयुर्वेदिक जड़ी का इतिहास 200 सालों से ज्यादा का है। प्राकृतिक रूप से शतावरी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो सेक्स के लिए उत्तेजना पैदा करते हैं। ये इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए काफी लाभकारी मानी जाती है।

सफेद मूसली

सफेद मूसली मुख्य रूप से भारत में मिलता है। आयुर्वेद के अलावा सफ़ेद मूसली का इस्तेमाल यूनानी और होमियोपैथी में भी दवा बनाने के लिए होता है। सफेद मूसली को स्टैमिना बढ़ाने के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके अलावा ये शुक्राणु से सम्बंधित समस्या में भी कारगर साबित हुआ है।

कैसिया सिनेमन (Cassia cinnamon)

कैसिया सिनेमन को चाईनीज़ सिनेमन (Chinese cinnamon) के नाम से भी जाना जाता है। ये भारत में पाए जाने वाले सदाबहार पेड़ के आतंरिक छाल का स्वरुप होता है, जो सेक्स क्षमता बढ़ाने में काफी असरदार माना जाता है। कैसिया सिनेमन, गरम मसाले में इस्तेमाल होने वाले सिनेमन यानि दालचीनी से अलग है, इसमें कोई समानता नहीं है। इसकी तासीर काफी गरम होने की वजह से किस मात्रा में लिया जाए ये तय करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है, वरना नुकसान भी पहुंच सकता है।

और पढ़े- जानें, रोते हुए सेक्स और बाद में रोना क्या सामान्य है?

वजीकरण थेरेपी

वजीकरण थेरेपी, आयुर्वेद का जानने वाले इस्तेमाल करते हैं। इसके जरिये शरीर में असंतुलित चीजों को संतुलन में ला कर  ऊर्जा और शक्ति का संचार करता है। ये थेरेपी लोगो में एंग्जायटी को कम कर के सेक्स ड्राइव को बढ़ाने का काम करती है और प्रजनन यानि रिप्रोडक्शन के हार्मोन  को भी जागृत करती है।

कुछ महत्वपूर्ण वजीकरण थेरेपी इस प्रकार है।

  • वृहणी गुटिका
  • वृष्य गुटिका
  • वाजीकरणाम घृतम
  • उपत्यकारी षष्टिकादि गुटिका
  • मेदादि योग

योग के फायदे को जाने योग अपना कर

योग

योग जो आज पूरे विश्व में नए आयाम ला रहा हैं, इसका जनक आयुर्वेद ही हैं। योग शरीर को चुस्ती स्फूर्ति ही नहीं देता बल्कि मन मष्तिस्क को भी तरोताजा कर देता हैं।  नियमित रूप से योग का अभ्यास हर तरह से तकलीफ से निपटने में मदद करती हैं। योग तथा कसरत ब्लड -प्रेशर, डायबिटीज, कोलोस्ट्रोल और तनाव को कम करने में मदद करते हैं। जिसके फलस्वरूप सेक्स क्षमता में बढ़ोतरी होती हैं।

इसमें से कुछ योग आसान इस प्रकार से हैं, जो सेक्स समस्या को हल करने में कारगर हैं।

  • पश्चिमोत्तानासन
  • कुम्भाकासन
  • उत्तानपादासन
  • नौकासन
  • धनुरासन

आयुर्वेद एक प्राचीन कला है जिसका उपयोग आदि काल से होता आया है। यूं तो आयुर्वेद का कोई भी साइड -इफेक्ट नहीं होता है। लेकिन किसी भी प्रकार की दवा लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना अत्यंत आवश्यक होता है। सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Quiz : खेलकर पता लगाएं कॉन्डोम के बारे में कितना जानते हैं आप?

कॉन्डोम विषय पर क्विज खेलकर पता लगाएं कि, इसके बारे में कितनी जानकारी है आपको। इससे पहले और बाद में क्या करना चाहिए और क्या नहीं... तो टेस्ट करते हैं आपका ज्ञान...

के द्वारा लिखा गया Satish singh
क्विज अगस्त 24, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है धनुरासन, जानें इसको करने का सही तरीका

जानिए धनुरासन आसन के स्टेप्स (dhanurasana Benefits in hindi), धनुरासन आसन के फायदे, इस आर्टिकल में जानें इसको करने का सही तरीका और सावधानियां.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
योगा, फिटनेस, स्वस्थ जीवन अगस्त 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कॉन्डोमलेस सेक्स के क्या होते हैं रिस्क, बीमारियों से बचाव के लिए यह जानना है जरूरी

कॉन्डोमलेस सेक्स काफी घातक होता है, इसका इस्तेमाल करने वाले लोग कई बीमारियों से बच जाते हैं वहीं जो इस्तेमाल नहीं करते उन्हें बीमारी का खतरा रहता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

वृक्षासन योग से बढ़ाएं एकाग्रता, जानें कैसे करें इस आसन को और क्या हैं इसके फायदे

वृक्षासन कैसे करें, इस आसन के लाभ, वृक्षासन को किन स्थितियों में नहीं करना चाहिए, Vrikshasana in Hindi, Benefits of Vrikshasana

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
योगा, फिटनेस, स्वस्थ जीवन अगस्त 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

सेक्स के दौरान पूप

सेक्स के दौरान पूप: जानिए क्यों होता है ऐसा और इससे कैसे बचें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ सितम्बर 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
स्वास्थ्य साक्षरता का शिक्षा healthy life tips

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस: क्यों भारतीय बच्चों और युवाओं को स्वास्थ्य साक्षरता की शिक्षा देना है जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
हर्पीस के साथ सेक्स

हर्पीस के साथ सेक्स संभव है या नहीं, जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 28, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स

पुरुषों के लिए सेक्स टिप्स: जानें हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए क्या करना चाहिए और क्या नहीं?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Ruby Ezekiel
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ अगस्त 26, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें