home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पिएं गुलदाउदी की चाय और कहें इन परेशानियों को बाय

पिएं गुलदाउदी की चाय और कहें इन परेशानियों को बाय

दुनिया के कई हिस्सों में एक स्वादिष्ट पेय बहुत ही लोकप्रिय है, जिसे हम गुलदाउदी की चाय के नाम से जानते हैं। आप गुलदाउदी (chrysanthemums) या मम्स (mums) को एक फूल के रूप में जानते होंगे, पर इसमें कई प्रभावशाली गुण हैं, जैसे कि आपके दिल की रक्षा करना, आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देना, दृष्टि में सुधार करना, आपकी नसों को रिलैक्स करना, सूजन कम करना, हड्डियों को मजबूत करना इत्यादि। इस फूल का सेवन अधिकतर चाय के रूप में किया जाता है।

गुलदाउदी की चाय की वैद्यानिक कारण क्या है?

गुलदाउदी एक पौधा है। पुराने समय में लोग दवा बनाने के लिए गुलदाउदी के फूलों का इस्तेमाल करते थे। गुलदाउदी का उपयोग सीने में दर्द, हाई ब्लड प्रेशर, टाइप 2 मधुमेह, बुखार, सर्दी, सिरदर्द, चक्कर और सूजन के इलाज के लिए किया जाता है। अन्य जड़ी बूटियों के साथ, प्रोस्टेट कैंसर के इलाज के लिए गुलदाउदी का उपयोग किया जाता है। दुनिया के अधिकतर हिस्सों में गुलदाउदी एक पेय के रूप में लोकप्रिय है। गुलदाउदी की चाय हृदय में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती है। यह हमारे शरीर में इंसुलिन के प्रति सेन्सिटिविटी भी बढ़ाती है।

और पढ़ें: सिंपल से दिखने वाले ओट्स के फायदे जानकर रह जाएंगे हैरान, आज ही डायट में कर लेंगे शामिल

आज हम बताने जा रहे हैं गुलदाउदी की चाय के फायदे:

नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करने का काम करता है (Relax the nervous system): अगर आप एक कप चाय पीकर लंबे समय तक आराम से रहने का सोच रहे हैं, तो गुलदाउदी की चाय इसके लिए बेहतर है। विशेषज्ञों के अनुसार इस चाय से ब्लड प्रेशर कम करने, शरीर को ठंडा रखने और सूजन को कम करने में मदद मिलती है। चाय में मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल आपके शरीर को बेहतर रूप से रेग्युलेट करने और ब्लड में स्ट्रेस हार्मोन को खत्म करने में मदद करते हैं।

हार्ट हेल्थ को सुधारता है (Improves heart health): कई अध्ययनों के अनुसार गुलदाउदी की चाय ब्लड प्रेशर को घटाती है और कोरोनरी आर्टरी के रोगों से राहत देती है। कुछ रिपोर्टों के अनुसार, यह चाय ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करके, हार्ट के विभिन्न मुद्दों जैसे कि दिल के दौरे या स्ट्रोक के लिए एक लंबा उपाय हो सकती है। इसमें पोटैशियम की मात्रा पाए जाने के कारण यह ब्लड प्रेशर को कम करता है।

और पढ़ें: पुरुषों के लिए वेट लॉस डायट टिप्स, जानें एक्सपर्ट्स की सलाह

त्वचा की देखभाल (Take care of skin): गुलदाउदी चाय में बीटा-कैरोटीन की एक महत्वपूर्ण मात्रा होती है, जो शरीर में विभिन्न कमियों की पूर्ति के लिए विटामिन-ए में टूट जाती है। विटामिन-ए एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह व्यवहार करता है। गुलदाउदी चाय के लंबे समय तक उपयोग करने से त्वचा की जलन, लालिमा, एक्जिमा और सोरायसिस जैसी समस्या भी कम होती है।

एंटी इंफ्लेमेट्री एजेंट (Anti inflammatory agents): गुलदाउदी की चाय एक एंटी इंफ्लेमेट्री एजेंट के रूप में काम कर गले में सूजन और फेफड़ों में जलन को कम करने के लिए बहुत मदद करती है। यह चाय शरीर को कई तरह से संक्रमण और सूजन से बचाने में मदद करती है। गुलदाउदी चाय का सबसे अधिक उपयोग आंखों की रेडनेस, खुजली, गले में खराश और यहां तक ​​कि सिरदर्द के लिए भी किया जाता है।

इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है (Boost Immune system): गुलदाउदी की चाय के भीतर विटामिन-सी और ए दोनों हाई कॉन्सेंट्रेशन में पाए जाते हैं, और ये दोनों विटामिन इम्यून सिस्टम के लिए महत्वपूर्ण हैं। विटामिन-सी फ्री रैडिकल से बचाने के लिए और वाइट ब्लड सेल्स के उत्पादन के रूप में कार्य करता है। गुलदाउदी में काफी मिनरल भी होते हैं, जैसे कि मैग्नीशियम, कैल्शियम, और पोटेशियम। ये सभी हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम के लिए अति आवश्यक हैं।

गुलदाउदी का उपयोग सावधानी से किया जाना चाहिए। इसमें मौजूद मुख्य रसायन पाइरेथ्रम (pyrethrum) कई कीटनाशकों में उपयोग के लिए किया जाता है। पाइरेथ्रम से सीधा संपर्क या लंबे समय तक संपर्क आपकी त्वचा, आंखों, नाक और मुंह को तकलीफ दे सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर का सलाह अवश्य लें। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें: डायट एंड इटिंग प्लान- ए-जेड : वेट लॉस और वेट मैनेजमेंट की पूरी जानकारी

गुलदाउदी की चाय के साथ-साथ अन्य हर्बल टी का भी सेवन किया जा सकता है। इन हर्बल टी में शामिल हैं-

ग्रीन टी (Green tea)- एक रिसर्च के अनुसार ग्रीन टी जितना दिमाग को एकाग्रता प्रदान करता है,उससे कहीं ज्यादा शरीर को बीमारियों से लड़ने की क्षमता बढ़ता है। ग्रीन टी के सेवन से डिप्रेशन, नॉन एल्कोहॉल फैटी लिवर डिजीज (NAFLD), इंटेस्टाइन से जुड़ी परेशानी (अल्सरेटिव कोलाइटिस या क्रोहन रोग), वजन घटना, पेट की बीमारियां, उल्टी, दस्त में फायदेमंद है. इसके अलावा सिर दर्द, हड्डी की (ऑस्टियोपोरोसिस); पार्किंसंस रोग, दिल और रक्त वाहिकाओं के रोग, डायबिटीज, लो ब्लड प्रेशर, क्रोनिक फैटिग सिंड्रोम (सीएफएस), और गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन) जैसे बीमारियों से लड़ने में भी सहायक होती है।

लैब्राडोर टी (Labrador Tea)- दरअसल लैब्राडोर टी एक पौधा है। इसके पत्तों और फूलों की टहनियों से दवाइयां बनाई जाती हैं। इसलिए इसे औषधि की श्रेणी में भी रखा जाता है। लोग इस पौधे का प्रयोग गले में खराश, छाती के जमने, खांसी, फेफड़ों में संक्रमण, और छाती की अन्य बीमारियों में करते हैं। यही नहीं, यह डायरिया, किडनी की समस्याओं, जोड़ों और मसल्स के दर्द, सिरदर्द और कैंसर में भी इसका प्रयोग किया जाता है। इस हर्बल टी को हुडसन’स बे टी (Hudson’s Bay tea), इंडियन टी, जेम्स टी, मार्श टी, मुसकेज टी और स्वाम्प टी जैसे अलग-अलग नाम से भी जानते हैं।

तुलसी की चाय (Tulsi Tea)-तुलसी (basil) का रस या तुलसी की चाय हर्बल चाय के अंतर्गत आती है। इसका सेवन लाभकारी होता है। यह शरीर के तापमान को संतुलित बनाये रख सकती है और इसके सेवन से वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव से भी बचा जा सकता है।

और पढ़ें: जानें ऐसी 7 न्यूट्रिशन मिस्टेक जिनकी वजह से वेट लॉस डायट प्लान पर फिर रहा है पानी

आप चाहें तो अदरक की चाय भी पी सकते हैं। यही नहीं अदरक, शहद और नींबू की चाय का भी सेवन किया जा सकता है। आप कसा हुआ अदरक, नींबू का रस और शहद ले सकते हैं और इसे उबलते पानी में मिला सकते हैं। पानी उबालने के बाद इसको छान लें और गर्म-गर्म पीएं। यह आपकी खांसी, सर्दी और कंजेशन को नियंत्रित कर सकता है। अदरक में जिंजरॉल और दूसरे गुण होते हैं, जो एयरवे में सूजन को कम कर सकते हैं और एयरवे कॉन्ट्रेक्शन को रोक सकता हैं।

अगर आप गुलदाउदी की चाय या कोई अन्य हर्बल टी से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

National Chrysanthemum Society, USA/https://www.mums.org/chrysanthemum-classes/Accessed on 05/02/2020

Chrysanthemums/https://web.extension.illinois.edu/hortihints/0310c.html/Accessed on 05/02/2020

Chrysanthemum Biotechnology: Quo vadis ?/https://www.researchgate.net/Accessed on 05/02/2020

Chrysanthemums for the Home Garden/https://www.missouribotanicalgarden.org/Accessed on 05/02/2020

Journal of Horticulture/https://www.longdom.org/Accessed on 05/02/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/07/2019
x