Quinoa : किनोवा क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date दिसम्बर 11, 2019
Share now

परिचय

किनोवा (quinoa) एक दक्षिण अमेरिकी पौधा है, जिसके बीज को गेहूं की तरह अनाज के रूप में खाया जाता है। इसका बोटेनिकल नाम चेनोपोडियम किनोवा (Chenopodium quinoa) है, जो कि एमेरेंथस (Amaranthaceae) फैमिली से आता है। बीते कुछ वर्षों में यह अनाज भारत में काफी पॉपुलर हो चुका है, जो कि यहां मॉल या ई-कॉमर्स वेबसाइट पर आसानी से उपलब्ध है। किनोवा एक हर्बल सुपरफूड माना जाता है, जिसमें काफी ज्यादा मात्रा में प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट मिलता है और साथ ही, यह ग्लूटेन-फ्री है, जिसकी वजह से पेट संबंधित रोगों के शिकार मरीजों के लिए ये फायदेमंद आहार है।

Jojoba: होहोबा क्या है?

उपयोग

किनोवा कैसे और किस लिए इस्तेमाल किया जाता है?

किनोवा (Quinoa) एक अनाज की फसल है। इसमें भारी मात्रा में प्रोटीन होता है और दूसरे अनाजों की तुलना में इसमें ग्लूटेन कम होता है। इसका इस्तेमाल आटा, सूप और बीयर बनाने के लिए किया जाता है। जिसका सेवन नीचे दी गई स्थितियों में किया जाता है-

  • सीलिएक रोग में ( यह एक ऐसी बीमारी जिसमें छोटी आंत ग्लूटेन के प्रति संवेदनशील होती है, जिससे भोजन को पचाने में कठिनाई होती है।)
  • ट्राइग्लिसराइड्स (ट्राइग्लिसराइड्स प्राकृतिक वसा और तेलों के मुख्य घटक हैं, जोकि स्ट्रोक के खतरों का संकेत देता है)
  • दर्द
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण
  • वजन घटना
  • कीड़े से बचाने वाली क्रीम के रूप में

इसका उपयोग आटा, सूप और बीयर बनाने के लिए किया जाता है।

यह कैसे काम करता है?

यह कैसे काम करता है, इसके बारे में अभी ज्यादा अध्ययन नहीं हुआ है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह करें। हालांकि, इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि किनोवा खाने से लोगों का पेट गेहूं या चावल की तुलना में ज्यादा भरा हुआ महसूस करता है। किनोवा खाने से ब्रेड खाने की तुलना में ट्राइग्लिसराइड्स नामक रक्त वसा के भोजन के बाद के स्तर में भी कमी हो सकती है। इसके अलावा, इसका सेवन वजन कम करने, कॉलेस्ट्रोल कंट्रोल करने, हड्डियां मजबूत करने और विटामिन ई प्राप्त करने के लिए किया जाता है।

यह भी पढ़ें : Makhana : मखाना क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

किनोवा का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अपने चिकित्सक या फार्मसिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, यदि:

  • यदि आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं- गर्भवती या स्तनपान कराने की स्थिति में किसी भी आहार या दवा का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से जरूर परामर्श करें, क्योंकि इसका सीधा प्रभाव बच्चे और मां के स्वास्थ्य पर पड़ता है।
  • यदि आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं- इसमें आपके द्वारा ली जा रही कोई भी दवा शामिल है, जो बिना डॉक्टर के पर्चे के खरीदने के लिए उपलब्ध है।
  • यदि आपको किनोवा, अन्य दवाओं या किसी जड़ी बूटियों के किसी भी पदार्थ से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई अन्य बीमारी, विकार या चिकित्सा संबंधी परेशानी है।
  • यदि आपको किसी अन्य प्रकार की एलर्जी है, जैसे कि खाद्य पदार्थ, डाई, डिब्बा बंद चीजें या जानवर से।

किसी भी हर्बल सप्लीमेंट के सेवन करने के नियम उतने ही सख्त होते हैं जितने कि अंग्रेजी दवा के। सुरक्षा के लिहाज से अभी इसमें और अध्ययन की जरूरत है। किसी भी हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से होने वाले फायदे से पहले आपको उसके खतरों को समझ लेना चाहिए। ज्यादा जानकारी के लिए अपने हर्बल एक्सपर्ट से बात कीजिये।

किनोवा कितना सुरक्षित है?

अभी इस बारे में मौजूदा जानकारी कम है कि किनोवा कितना सुरक्षित है ।

विशेष सावधानी और चेतावनी 

गर्भावस्था और स्तनपान: गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसका उपयोग कितना सुरक्षित है, इस बारे में पर्याप्त अध्ययन नहीं है। सुरक्षा की दृष्टि से इसका परहेज करना ही बेहतर है।

यह भी पढ़ें : Honey : शहद क्या है?

दुष्प्रभाव / साइड इफेक्ट

किनोवा से मुझ पर किस तरह के दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

किनोवा इस निम्न चीजों का हो सकता है कारण:

हाई फाइबर साइड इफ़ेक्ट: गैस, सूजन या दस्त

सैपोनिन से जलन: इसका कड़वा स्वाद होता है और छोटी आंत को नुकसान पहुंचा सकता है

सीलिएक रोग:  यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें छोटी आंत ग्लूटेन के प्रति संवेदनशील होती है और उसे भोजन को पचाने में कठिनाई होती है।

इसमें ग्लूटेन नहीं होता है, जो सीलिएक रोग, गेहूं की एलर्जी या ग्लूटेन संवेदनशीलता के निदान के लिए एक अच्छा विकल्प होता है। हालांकि, कुछ प्रकार के किनोवा में प्रोलिमिन नामक पदार्थ होते हैं, जो सीलिएक रोग से पीड़ित लोगों के इम्युन प्रतिक्रिया पर असर डाल सकते है ।

Kidney Beans: राजमा क्या है?

इसमें कई प्रकार के ऑक्सलेट या ऑक्सैलिक एसिड नामक पदार्थ होते हैं। यह पदार्थ कैल्शियम के साथ मिलकर किडनी की पथरी का निर्माण कर सकते है। कैल्शियम ऑक्सलेट की एलर्जी से जूझ रहे लोगों के लिए ये खतरनाक हो सकता है ।

हर किसी को ऐसे दुष्प्रभावों का अनुभव नहीं करना पड़ता है। आपको वो साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं जो लिस्ट में नहीं है। यदि आपको साइड इफेक्ट को लेकर कोई चिंता है, तो कृपया अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से परामर्श करें।

किनोवा के साथ मेरे क्या इंटरेक्शन हो सकते है?

  • इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण हो सकते हैं। इसको दूसरी एंटीऑक्सिडेंट युक्त चीजों के साथ नहीं लेना चाहिए।
  • यह ग्लूटेन-फ्री ब्रेड और पास्ता की तुलना में ट्राइग्लिसराइड सांद्रता को कम कर सकता है। कम ट्राइग्लिसराइड सांद्रता से पीड़ित लोगों को इससे परेहज की सलाह दी जाती है ।

यह आपकी वर्तमान दवाओं या चिकित्सा स्थितियों पर असर डाल सकता है। इसका उपयोग करने से पहले अपने हर्बलिस्ट या चिकित्सक से परामर्श करें।

यह भी पढ़ें : Kava: कावा क्या है?

मात्रा/ डोसेज

दी गई जानकारी को चिकित्सा सलाह के रूप में न देखें। हमेशा इस दवा का उपयोग करने से पहले अपने हर्बलिस्ट या चिकित्सक से परामर्श करें।

किनोवा के लिए सामान्य खुराक क्या है?

इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है। हर्बल सप्लीमेंट हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। कृपया अपनी उचित खुराक के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

उपलब्धता

किनोवा किस रूप में आता है?

यह निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध हो सकता है:

  • कच्चे किनोवा
  • किनोवा प्रोटीन
  • ऑर्गेनिक किनोवा पाउडर
  • किनोवा लिकविड एक्सट्रेक्ट

हेलो हेल्थ ग्रुप कोई भी चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें :-

Kudzu: कुडजु क्या है?

Java tea: जावा टी क्या है?

Khat: खट क्या है?

Jasmine: चमेली क्या है?

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Protein powder: प्रोटीन पाउडर क्या है?

    जानिए प्रोटीन पाउडर (Protein powder) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, प्रोटीन पाउडर उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Protein powder डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
    Written by Suniti Tripathy

    Calea Zacatechichi: कैलिया जकाटेचिचि क्या है?

    कैलिया जकाटेचिचि का उपयोग, जानें कैलिया जकाटेचिचि के फायदे, लाभ, इस्तेमाल कैसे करें, कितना लें, खुराक,डोज, साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

    Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
    Written by shalu

    Rooibos tea: रूइबोस चाय क्या है?

    जानिए रूइबोस चाय (Rooibos tea) की जानकारी in hindi, फायदे, लाभ, रूइबोस चाय उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, Rooibos tea डोज, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स, नुकसान, दुष्प्रभाव और सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Sunil Kumar

    Grains of paradise : स्वर्ग का अनाज क्या है?

    जानिए स्वर्ग का अनाज के फायदे। स्वर्ग का अनाज उपयोग, ग्रेन ऑफ पैराडाइस का इस्तेमाल कैसे करें, कब लें, कैसे लें, कितना लें, खुराक, ओवरडोज, साइड इफेक्ट्स।

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Sunil Kumar