home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Amlodipine + Olmesartan : एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Amlodipine + Olmesartan : एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां
एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन (Amlodipine + Olmesartan) का उपयोग किस लिए किया जाता है?|एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन के दुष्प्रभाव क्या हैं?|कौन-सी दवाएं एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन (Amlodipine + Olmesartan) का उपयोग किस लिए किया जाता है?

आमतौर पर एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का उपयोग हाई ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप) के इलाज के लिए किया जाता है। उच्च रक्तचाप को कम करने से लेकर स्ट्रोक, दिल के दौरे और गुर्दे की समस्याओं को रोकने में ये मदद करती है।

इस उत्पाद में दो दवाएं शामिल हैं: एम्लोडीपिन और ओल्मेसार्टन। ये दोनों दवाएं रक्त वाहिकाओं को शिथिल कर देती हैं ताकि ब्लड अधिक आसानी से प्रवाहित हो सके। एम्लोडीपिन एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर और ओल्मेसार्टन एक एंजियोटेंसिन रिसेप्टर ब्लॉकर (ARB) है।

मुझे एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

आमतौर पर दिन में एक बार डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार ही बिना भोजन या खाने के साथ दवा ली जा सकती है। दवा की खुराक और समय आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है। दवा की डोज न बढ़ाएं, न अधिक बार लें क्योंकि इससे गंभीर दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ सकता है।

यदि आप कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए कुछ दवाओं का सेवन करते हैं (बाइल एसिड-बाइंडिंग रेजिन जैसे-कोलेस्टिरैमिन (cholestyramine), कोलिसेवेलम (colesevelam), कोलस्टिपोल), तो इन दवाओं को लेने के लगभग चार घंटे पहले एम्लोडीपिन /ओल्मेसार्टन लें।

ज्यादा से ज्यादा फायदा पाने के लिए इस दवा को नियमित रूप से लें। एक भी खुराक लेना न भूलें। इसके लिए दवा को हर दिन एक ही समय पर लें। जब तक डॉक्टर मना न करें, ठीक हो जाने के बाद भी दवा को लेना जारी रखें। दवा का पूरा लाभ मिलने में आपको दो सप्ताह तक का समय लग सकता है।

साथ ही अगर बीमारी के लक्षण कम न हो या स्थिति बिगड़ रही हो तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।

मैं एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन को कैसे स्टोर करूं?

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन को हमेशा रूम टेम्प्रेचर पर ही स्टोर करें। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इस दवा के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं जिनको स्टोर करने के दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। स्टोर करने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इस बारे में पूछें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवा को लेने से पहले, अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं अगर आपको एम्लोडीपिन या ओल्मेसार्टन से या कोई अन्य एलर्जी है। दवा में कुछ निष्क्रिय तत्व हो सकते हैं, जिससे एलर्जी या अन्य समस्याएं हो सकती हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

इस दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट को अपनी मेडिकल हिस्ट्री बताएं। विशेष रूप से अगर आपको किडनी रोग, यकृत रोग, एओर्टिक स्टेनोसिस (हृदय वाल्व की एक स्थिति), शरीर में पानी और खनिजों की कमी (डीहायड्रेशन) है।

इस दवा के सेवन से आपको चक्कर महसूस हो सकते हैं। दवा लेने के बाद ड्राइव न करें और न ही कोई मशीनरी कार्य करें। ऐसी गतिविधियां भी अवॉयड करें जिसमें सतर्कता की आवश्यकता हो। ऐसी गतिविधियों को करने में जब तक आप सुरक्षित महसूस न करें तब तक मादक पेय पदार्थों का सेवन सीमित तौर पर करें।

बहुत अधिक पसीना आना, दस्त लगना या उल्टी होने के कारण आपको चक्कर या हल्की बेहोशी-सी महसूस हो सकती है। अगर ऐसा है तो अपने डॉक्टर को सूचित करें।

इन बातों का भी रखें ख्याल

यह दवा शरीर में पोटैशियम के स्तर को बढ़ा सकती है। ऐसी ही कुछ दवाएं और भी हैं जैसे थायजाइड्स, लैसिक्स आदि। पोटैशियम सप्लिमेंट्स या किसी भी तरह के नमक के विकल्प का उपयोग (खासकर जिसमें पोटैशियम हो) करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

सर्जरी कराने से पहले अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं कि आप डॉक्टर के बिना प्रिस्क्रिप्शन या प्रिस्क्रिप्शन वाली दवाएं और हर्बल प्रोडक्ट्स कर इस्तेमाल कर रहे हैं।

ज्यादा उम्र के वयस्क इस दवा के दुष्प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं। विशेष रूप से चक्कर आना और यूरिन (गुर्दे की समस्याओं) की मात्रा में परिवर्तन आना जैसे लक्षण बढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें : ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ब्रेस्ट में दर्द से इस तरह पाएं राहत

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या स्तनपान के दौरान एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इस दवा के इस्तेमाल से पहले हमेशा इसके फायदे और नुकसान के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें। एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन, अमेरिकी खाद्य और औषधि प्रशासन (US Food and Drug Administration) के अनुसार गर्भावस्था की ‘डी’ श्रेणी में है।

एफडीए द्वारा निर्धारित गर्भावस्था के लिए रिस्क केटेगरी-

A= कोई जोखिम नहीं,

B= कुछ अध्ययनों में कोई जोखिम नहीं,

C= कुछ जोखिम हो सकता है,

D= जोखिम के सकारात्मक सबूत,

X= विरोधाभाषी,

N= अज्ञात।

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन के दुष्प्रभाव क्या हैं?

चक्कर, बेहोशी और ड्राय कफ की समस्या हो सकती है। सिरदर्द या त्वचा पर लालिमा (आमतौर पर गाल या गर्दन पर) जैसे प्रभाव भी दिख सकते हैं। यदि इनमें से कोई भी लक्षण कई दिनों तक बना रहता है या और बिगड़ जाता है, तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को तुरंत बताएं।

डॉक्टर यह दवा आपके लिए तभी निर्धारित करते हैं जब उससे होने वाले लाभ साइड इफेक्ट्स से ज्यादा होते हैं। इस दवा का उपयोग करने वाले कई लोगों पर किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है।

अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं अगर आपको इनमें से कोई-भी गंभीर दुष्प्रभाव दिखें, जैसे-हाथ/पैर/एड़ी में सूजन, बेहोशी, धड़कन का तेज होना, किडनी की समस्याओं के संकेत (जैसे कि यूरिन की मात्रा में परिवर्तन), रक्त स्तर में हाई पोटैशियम के लक्षण (जैसे मांसपेशियों में कमजोरी, धीमी या अनियमित धड़कन), गंभीर और लगातार दस्त।

यह भी पढ़ें : Fluoxetine : फ्लुओक्सेटीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

आ सकता है हार्ट अटैक (Heart Attack) भी

कुछ लोगों में जिनको पहले से ही दिल की गंभीर बीमारी है, इस दवा को शुरू करने या खुराक बढ़ाने के बाद शायद उन्हें कभी चेस्ट-पेन या दिल का दौरा पड़ सकता है। यदि आपको छाती में दर्द, हार्ट अटैक के लक्षण (जैसे छाती / जबड़े / बाएं हाथ में दर्द, सांस की तकलीफ, असामान्य पसीना) आदि कुछ अनुभव हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

इस दवा से किसी प्रकार का गंभीर एलर्जी रिएक्शन दुर्लभ है। लेकिन, खुजली/सूजन (विशेषकर चेहरे/जीभ/गले पर), चक्कर आना, सांस लेने में परेशानी आदि लक्षण दिखाई दें तो डॉक्टर को तुरंत बताना चाहिए।

हालांकि, दवा का इस्तेमाल करने वाले सभी लोगों में ये लक्षण नजर आए ऐसा जरूरी नहीं है। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्ट को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से संपर्क करें।

कौन-सी दवाएं एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन के साथ दूसरी दवाओं का इस्तेमाल रिएक्ट कर सकता है। किसी भी तरह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आपको उन सभी दवाओं की एक लिस्ट रखनी चाहिए जिनका आप उपयोग कर रहे हैं (जिसमें डॉक्टर के पर्चे वाली दवाएं, गैर-पर्चे वाली दवाएं और हर्बल प्रोडक्ट्स शामिल हैं) और इसे अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को दिखाएं। सुरक्षा के लिए अपने डॉक्टर की स्वीकृति के बिना किसी-भी दवा की खुराक को शुरू न करें, न ही दवा लेना बंद करें और न ही खुराक को बदलें।

कुछ उत्पाद जो इस दवा के साथ रिएक्ट कर सकते हैं, जैसे : एलिसकेरेन (aliskiren), लिथियम, दवाएं जो रक्त में पोटैशियम के स्तर को बढ़ा सकती हैं (एसीई इनहिबिटर जैसे-बेनजेप्रिल/ लिसिनोप्रिल (lisinopril), गर्भनिरोधक दवाएं जिनमें ड्रोस्पिरेनोन (drospirenone) हो।

कुछ प्रोडक्ट्स में ऐसे तत्व होते हैं जो ब्लड प्रेशर को बढ़ा सकते हैं। इसलिए दवा के उपयोग से पहले अपने डॉक्टर को बताएं कि आप किन उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं और पूछें कि उन्हें कैसे सुरक्षित रूप से उपयोग करना है (विशेष रूप से सर्दी-खांसी में इस्तेमाल किए जाने वाले प्रोडक्ट्स या NSAIDs जैसे-इबुप्रोफेन / नेप्रोक्सेन)।

यह भी पढ़ें : एक ड्रिंक बचाएगी आपको हार्ट अटैक के खतरे से

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का सेवन कर रहें हैं तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं। कुछ मामलों में इसके परिणाम नुकसानदायक हो सकते हैं।

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

एम्लोडीपिन + ओल्मेसार्टन का इस्तेमाल सेहत के कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपनी मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सीय सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Amlodipine-Olmesartan. https://www.webmd.com/drugs/2/drug-149214/amlodipine-olmesartan-oral/details. Accessed January 3, 2017.

Amlodipine / Olmesartan Dosage. https://www.drugs.com/dosage/amlodipine-olmesartan.html. Accessed January 3, 2017

लेखक की तस्वीर
Mayank Khandelwal के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shikha Patel द्वारा लिखित
अपडेटेड 29/08/2019
x