home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Atenolol : ऐटिनोलोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ऐटिनोलोल (Atenolol) का उपयोग किसलिए किया जाता है?|ऐटिनोलोल के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|ऐटिनोलोल के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?|कौन सी दवाएं ऐटिनोलोल के साथ नहीं ली जा सकती हैं?|इमरजेंसी या ओवरडोज़ की स्थिति में क्या करना चाहिए?
Atenolol : ऐटिनोलोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ऐटिनोलोल (Atenolol) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

ऐटिनोलोल, हाई ब्लड प्रेशर (हाइपरटेंशन) के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाई है। ब्लड प्रेशर कम होने से स्ट्रोक, हार्ट अटैक और किडनी की बीमारी की समस्या रोकने में मदद मिलती है। इस दवा का उपयोग सीने में दर्द (एनजाइना) के इलाज और हार्ट अटैक के बाद भी किया जाता है।

ऐटिनोलोल ड्रग के एक समूह से संबंधित है जिसे बीटा ब्लॉकर्स कहते हैं। यह आपके शरीर में जैसे हृदय और रक्त वाहिकाओं पर कुछ नैचुरल केमिकल जैसे एपिनेफ्रीन की क्रिया को अवरुद्ध करने का काम करता है। इससे हार्ट रेट, ब्लड प्रेशर और हार्ट पर पड़ने वाला स्ट्रेन यानी तनाव कम होता है।

इसके अलावा यह दवा अनियमित हार्टबीट, हार्ट फैल्योर, एल्कोहॉल विथड्रॉअल (Alcohol withdrawal) के लक्षण को कम करने और माइग्रेन के दर्द को भी रोकने में इस्तेमाल होता है।

मैं ऐटिनोलोल (Atenolol) को कैसे इस्तेमाल करूं?

आमतौर पर रोजाना एक से दो बार डॉक्टर के निर्देश के मुताबिक भोजन के साथ या भोजन के बिना इस दवा को खाएं।

सेब और संतरे का जूस आपके शरीर को पूरी तरह से ऐटिनोलोल को अवशोषित होने से रोकता है। इसलिए बेहतर होता है कि आप ऐटिनोलोल लेने के चार घंटे तक सेब या संतरे के जूस से दूर रहें।

इस दवा की खुराक आपकी मेडिकल स्थिति और आप इलाज के प्रति कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है। इस दवा के नियमित इस्तेमाल से आपको इसके ज्यादा से ज्यादा फायदे मिलेंगे। याद रखें कि आप इस दवा को रोजाना एक ही समय पर खाएं। अगर आप अच्छा महसूस भी कर रहें हो फिर भी इस दवा को लगातार लेते रहें क्योंकि ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर होता है लेकिन, वे बीमार महसूस नहीं करते हैं। अगर इस दवा को सीने में होने वाले दर्द के लिए इस्तेमाल किया जाता है तो नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करें तभी इसका फायदा मिलेगा। डॉक्टर के सलाह के मुताबिक सीने के दर्द के लिए आप दूसरी दवाइयों (जैसे जीभ के नीचे नाइट्रोग्लिसरीन रखना) का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस दवा के पूरे फायदा मिलने में एक से दो हफ्ते का समय लग सकता है। अगर आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है या स्थिति और अधिक खराब होती है (जैसे अगर आपका ब्लड प्रेशर रीडिंग ज्यादा रहती है या बढ़ जाती है या सीने का दर्द बार बार होता है) तो इस स्थिति में आप अपने डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें : सीफोटेक्सीम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं ऐटिनोलोल को कैसे स्टोर करूं?

ऐटिनोलोल को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। ऐटिनोलोल को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में ऐटिनोलोल के अलग-अलग ब्रांड है जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें।

सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। बिना निर्देश के ऐटिनोलोल को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुकि है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट में क्या अंतर है ?

ऐटिनोलोल के इस्तेमाल से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवा को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको ये समस्याएं है जैसे;

  • आप प्रेग्नेंट हों या ब्रेस्टफीडिंग कराती हों। ऐसा इसलिए क्योंकि फीडिंग के दौरान आपको डॉक्टर के निर्देश के मुताबिक ही दवा लेना चाहिए।
  • अगर आप दूसरी दवाइयां लेते हों जिसमें वो सारी दवाइयां शामिल होती है जो बिना प्रिस्क्रिप्शन के खरीदने के लिए उपलब्ध हैं जैसे हर्बल या कॉम्प्लिमेंट्री दवाइयां आदि।
  • अगर आपको ऐटिनोलोल में मौजूद एक्टिव या इनेक्टिव सामग्री या दूसरी दवाइयों से एलर्जी हो।
  • अगर आपको पहले से ही कोई बीमारी, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं या डिसऑर्डर हो।

अगर आपको पहले से ही अस्थमा या फेफड़े संबंधी दूसरी बीमारियां, डायबिटीज़, गंभीर एलर्जी, थाईरॉयड ग्लैंड का बढ़ जाना (हाइपरथाईरॉएडिज्म); फियोक्रोमोसाइटोमा; हार्ट फेलियर; हार्ट रेट का कम होना, ब्लड प्रवाह संबंधी समस्या या हार्ट या किडनी की बीमारी आदि हो तो अपने डॉक्टर को इस बारे में बताएं।

और पढ़ें : घर पर ब्लड प्रेशर चेक करने के तरीके

अगर आप कोई सर्जरी करवाने वाले हैं जिसमें डेंटल सर्जरी भी शामिल है, तो अपने डॉक्टर या डेंटिस्ट को बताएं कि आप ऐटिनोलोल ले रहे हैं।

आपको पता होना चाहिए अगर आपको दूसरे पदार्थों से एलर्जी है या ऐटिनोलोल के इस्तेमाल के दौरान आपकी प्रतिक्रिया और भी खराब स्थिति में पहुंच सकती है और आपकी एलर्जी की प्रतिक्रिया इंजेक्टेबल ऐपिनेफ्रिन की सामान्य खुराक को रिस्पॉन्ड नहीं कर सकती है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ऐटिनोलोल का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही हैं, तो इसके बारे में अपने डॉक्टर को बताएं। क्योंकि, ऐटिनोलोल का इस्तेमाल करते हुए आप प्रेग्नेंसी की प्लानिंग नहीं कर सकती हैं। यह भ्रूण के लिए जोखिम भरा हो सकता है। अगर ऐटिनोलोल का इस्तेमाल करने के दौरान आप प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो तुरंत इस दवा के इस्तेमाल को बंद करें और अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

ऐटिनोलोल का प्रभाव ब्रेस्टफीडिंग करने वाले बच्चे पर हो सकता है। ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसका इस्तेमाल कितना सुरक्षित या जोखिम भरा है इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

एफडीए प्रेग्नेंसी खतरे की सूची इस प्रकार है;

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= इस बारे में मतभेद हैं
  • N= कुछ पता नहीं

और पढ़ें : घर पर ब्लड प्रेशर चेक करने के तरीके

ऐटिनोलोल के इस्तेमाल से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

कम गंभीर साइड इफेक्ट्स इस प्रकार हैं जैसे

  • सेक्स ड्राइव कम होना, नपुंसकता या संभोग में कठिनाई होना
  • नींद की समस्या (इनसोम्निया)
  • थकान महसूस होना
  • उलझन, नर्वसनेस

अगर आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स महसूस हों तो अपने डॉक्टर को कॉल करें जैसे;

  • धीरे या एक समान हार्टबीट का ना होना
  • सिर हल्का होना, बेहोशी
  • हल्की थकान के साथ सांस लेने में कठिनाई
  • एड़ियों या पैरों में सूजन
  • मिचली, पेट दर्द, हल्का बुखार, भूख ना लगना, डार्क यूरिन, मिट्टी के रंग जैसा स्टूल, पीलिया (त्वचा और आंखों का पीला होना)
  • डिप्रेशन
  • हाथों और पैरों का ठंडा होना

अगर आपको हीव्स, सांस लेने में दिक्कत होना, चेहरे, होठ, जीभ या गले मे सूजन होना आदि एलर्जिक रिएक्शन दिखाई देते हैं तो आप तुरंत मेडिकल सहायता लें।

और पढ़ें : हाई ब्लड प्रेशर से क्यों होता है हार्ट अटैक

सभी लोगों को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नही होते हैं। आपको यहां कुछ साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

कौन सी दवाएं ऐटिनोलोल के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो ऐटिनोलोल उसके साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसको रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमे प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

प्रोडक्ट्स जो इस ड्रग के साथ इंटरैक्ट कर सकते हैं वो इस प्रकार हैं;

  • एलर्जी ट्रीटमेंट (अगर आप ऐलर्जी स्किन टेस्ट से गुजर रहे हैं)
    • ऐमियोडारोन (कॉर्डरॉन, पेसरोन)
    • क्लोनिडिन (कैटाप्रेस)
    • डिगोक्सिन (डीजिटालिस, लेनोक्सिन)
    • डिसोपिरामिड (नॉर्पेस)
    • ग्वानाबेंज (वाईटेंशिन)
    • एमओए इन्हिबिटर जैसे आइसोकार्बाजाइड (मरप्लान), ट्रानिलसाइप्रोमीन (पर्नेट), फेनेलजीन (नॉर्डिल) या सेलेजिलीन (एल्डीप्रिल, इम्सम)
    • डायबिटीज की दवाइयां जैसे इन्सुलिन, ग्लाइबुराइड (डियाबीटा, माइक्रोनेज, ग्लाइनेज), ग्लिपीजाइड (ग्लूकोट्रॉल), क्लोरप्रोपामाईड (डायाबिनेस) या मेटफॉर्मिन (ग्लूकोफेज)
    • हार्ट संबंधी दवाइयां जैसे निफेडीपीन (प्रोकार्डिया, ऐडालेट), रेसेरपीन (सर्पासिल), विरेम्पिल (कालैन, विरेलैन, आइसोप्टिन), डिल्टियाजेम (कार्टिया, कार्डिजेम)
    • अस्थमा या दूसरी सांस संबंधी समस्याओं की दवाइयां जैसे एल्बुटीरोल (वेंटोलिन, प्रोवेंटिल), बिटोलटिरोल (टॉर्नालेट), मेटाप्रोटेरिनॉल (ऐलुपेंट), पिरब्यूटीरॉल (मैक्सैर), टेरब्यूटालीन (ब्रेथायर, ब्रेथीन, ब्रिकैनिल) और थियोफ़ायलिन (थियो-डूर, थियोलैर)
    • सर्दी जुकाम की दवाइयां, स्टिमुलेन्ट मेडिसिन या डाइट पिल्स

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ ऐटिनोलोल (Atenolol) लेना सुरक्षित है?

ऐटिनोलोल भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकता है जिससे ड्रग का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में बात करें।

आमतौर पर, दवा की खुराक दिन में एक से दो बार या अपने डॉक्टर के बताए गए निर्देशों के अनुसार, भोजन या बिना भोजन के खा सकते हैं।

सेब का रस और संतरे का रग इस दवा के उपचार के असर को प्रभावित कर सकता है। इसलिए दवा की खुराक लेने के 4 से 5 घंटे तक इस तरह के फलों का जूस न पीएं।

ऐटिनोलोल खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

ऐटिनोलोल आपके स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकता है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। इसलिए बेहतर यही है कि आप अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं।

निम्नलिखित स्वास्थ्य स्थितियां इस दवा के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं जैसे

  • ब्रेडीकार्डिया (हार्टबीट धीरे होना)
  • हार्ट ब्लॉक
  • हार्ट फेलियर
  • फियोक्रोमोसाइटोमा (एड्रिनल ग्लैंड ट्यूमर)
  • डायबिटीज
  • हाइपरथाइरॉइडिज्म (थाइरॉइड का बढ़ना)
  • हाइपोग्लाइसिमिया (ब्लड शुगर कम होना)
  • किडनी की बीमारी
  • फेफड़े की बीमारी (जैसे अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, इम्फिसिमा)

इमरजेंसी या ओवरडोज़ की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में आप अपने इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में पर जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप ऐटिनोलोल की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Atenolol Accessed on 26/07/2017

Atenolol Accessed on 26/07/2017

Atenolol, Oral Tablet Accessed on 06/12/2019

Atenolol Accessed on 06/12/2019

Atenolol Accessed on 06/12/2019

Atenolol (Oral Route) Accessed on 06/12/2019

atenolol Accessed on 06/12/2019

Accessed on 06/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 01/09/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड