home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Azithromycin : एजिथ्रोमाइसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए मूल बातें|दवा का उपयोग|फंक्शन|इस्तेमाल के लिए निर्देश|सावधानियां एंव चेतावनी |साइड इफेक्ट्स|इंटरैक्शन|डोसेज|स्टोरेज और डिस्पोज के तरीके|उपलब्ध खुराक
Azithromycin : एजिथ्रोमाइसिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जानिए मूल बातें

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) दवा का उपयोग कई प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्शन के उपचार के लिए किया जाता है। हालांकि, यह वायरल इंफेक्शन (जैसे सामान्य जुकाम, फ्लू) के इलाज के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है। साथ ही किसी भी एंटीबायोटिक के अधिक उपयोग या गलत तरीके से उपयोग किए जाने पर इसके प्रभाव में कमी आ सकती है।

दवा का नाम और कैटेगरी

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) मैक्रोलाइड-टाइप एंटीबायोटिक (Antibiotic) है, जो बैक्टीरिया के विकास को रोकने का काम करता है। इसे बैक्टीरियल इंफेक्शन की दवा भी कह सकते हैं।

ओटीसी (over the counter) या प्रिस्क्रिप्शन ड्रग

यह ओटीसी ड्रग है। इसका इस्तेमाल आप बिना डॉक्टर की सलाह के कर सकते हैं।

विशिष्ट उपयोग

इस दवा का उपयोग बैक्टीरियल इंफेक्शन (Bacterial infections) के उपचार में किया जाता है।

दवा का उपयोग

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का इस्तेमाल बैक्टीरियल इंफेक्शन से लड़ने के लिए किया जाता है।ये मिडिल इयर इंफेक्शन (Middle ear infections), स्ट्रेप थ्रोट (Strep throat), निमोनिया (Pneumonia), ट्रेवल डायरिया (Traveler’s diarrhea) आदि में किया जाता है। बीमारी के लक्षण समाप्त होने के बाद भी जब तक आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित दवा की मात्रा पूरी नहीं होती तब तक इस दवा की खुराक लेना जारी रखें। दवा को जल्दी बंद करने से बैक्टीरिया फिर से फैल सकते हैं।

दवा का इस्तेमाल कैसे करूं?

आमतौर पर दिन में एक बार अपने डॉक्टर की सलाह पर खाली पेट या कुछ खाने के बाद भी एजिथ्रोमायसिन की खुराक ले सकते हैं। लेकिन अगर आपका पेट खराब है, तो इसका सेवन भोजन के साथ ही करना चाहिए। दवा की खुराक आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित होती है।

एंटीबायोटिक्स का सबसे अच्छा परिणाम तभी देखा जाता है, जब आपके शरीर में दवा की मात्रा एक स्थिर स्तर पर होती है। इसलिए, इस दवा की खुराक हर दिन एक निश्चित समय पर ही लें।

एजिथ्रोमायसिन के साथ एल्युमिनियम या मैग्नीशियम युक्त एंटासिड का उपयोग न करें। यह इसके प्रभाव को कम कर सकता है। अगर आप किसी तरह की एंटासिड लेते हैं जिसमें एल्यूमीनियम या मैग्नीशियम होता है, तो ध्यान रखें कि एजिथ्रोमायसिन की खुराक लेने से कम से कम 2 घंटे पहले या बाद में ही इनका सेवन करें।

अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपकी स्थिति वैसे ही बनी रहती है या स्वास्थ्य में कोई नकारात्मक प्रभाव दिखाई देता है।

फंक्शन

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) कैसे काम करती है?

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) बैक्टीरिया को प्रोटीन का प्रोडक्शन करने से रोकने का काम करता है। बिना प्रोटीन के बैक्टीरिया अपनी संख्या नहीं बढ़ा पाते हैं या फिर ये कह सकते हैं कि बैक्टीरिया बिना प्रोटीन के नहीं रह सकते हैं। बिना प्रोटीन के जीवाणुओं की वृद्दि रुक जाती है और फिर ये मर जाते हैं। दवा का इस्तेमाल करने से बैक्टीरिया कम सक्रिय हो जाते हैं और इम्यून सिस्टम ही उन्हें नष्ट करने का काम शुरू कर देता है।

इस्तेमाल के लिए निर्देश

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

एजिथ्रोमायसिन इंफेक्शन की दवा का इस्तेमाल करने से पहले :

  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्टफीडिंग कराती हैं। इसका कारण यह है कि जब आप बच्चे को दूध पिलाएंगी, तो दवा का प्रभाव बच्चे की सेहत पर असर कर सकता है। इसलिए ऐसी स्थिती में केवल डॉक्टर की सिफारिश पर ही दवा का सेवन करें।
  • अगर आप किसी तरह का हर्बल इस्तेमाल करते हैं, तो इसके बारे में भी अपने डॉक्टर को जानकारी दें।
  • आपको एजिथ्रोमायसिन या इसमें शामिल किसी भी रसायन से एलर्जी है, तो अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं।
  • अगर आपको किसी तरह की अन्य बीमारी है, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

सावधानियां एंव चेतावनी

नीचे दी गई जानकारी किसी डॉक्टर की सलाह पर नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इन स्थितियों में दवा का उपयोग ना करें

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान, इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं, इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें। हालांकि, यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने प्रेग्नेंसी के दौरान इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे कोबी श्रेणीमें रखा है।

और पढ़ें : Chymotrypsin Alfa : काइमोट्रिप्सिन अल्फा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ एजिथ्रोमायसिन का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको पहले कभी भी पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना) या अन्य लिवर से जुड़ी समस्याएं हैं, जो एजिथ्रोमायसिन के सेवन से पहले आपने डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

अपने चिकित्सक को बताएं कि क्या आपको या आपके परिवार में किसी को भी लंबे समय तक क्यूटी इंटर्वल (QT interval) है (दिल की एक दुर्लभ समस्या जो अनियमित दिल की धड़कन, बेहोशी या अचानक मौत का कारण बन सकती है) या तेज, धीमी या अनियमित धड़कन की समस्या, खून में मैग्नीशियम या पोटेशियम के कम स्तर है। या फिर अगर आपके खून में संक्रमण, ह्रदय से जुड़ी कोई बीमारी, सिस्टिक फाइब्रोसिस, एड्स या ह्यूमन इम्यूनो डेफिसिएन्सी वायरस (एचआईवी) संक्रमण, मायस्थेनिया ग्रेविस (मांसपेशियों और उन्हें नियंत्रित करने वाली नसों की एक स्थिति) या किडनी की कोई बीमारी है, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

अगर आप एल्यूमीनियम हाइड्रॉक्साइड या मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड (Maalox, Mylanta, Tums, अन्य) युक्त एंटासिड ले रहे हैं, तो आपको इन एंटासिड की खुराक लेने और एजिथ्रोमाइसिन की खुराक लेने के बीच कुछ निश्चित समय का अंतराल रखना होगा। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें कि एजिथ्रोमायसिन लेने के कितने घंटे पहले या बाद में आप इन दवाओं की खुराक ले सकते हैं। हालांकि, एक्सटेंडेड-रिलीज सस्पेंशन एंटासिड के साथ किसी भी समय लिया जा सकता है।

साइड इफेक्ट्स

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

अगर आपको पित्त, सांस लेने में तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले में सूजन जैसे किसी भी एलर्जी की प्रतिक्रिया दिखाई दे, तो तुरंत अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं:

इस तरह के गंभीर लक्षण नजर आने पर एजिथ्रोमायसिन का उपयोग बंद कर दें और अपने डॉक्टर से संपर्क करेः

  • पानी या खूनी दस्त
  • सीने में दर्द और गंभीर चक्कर आना, बेहोशी, तेज दिल की धड़कन तेज या धीमी होने के साथ सिरदर्द
  • मतली, ऊपरी पेट में दर्द, खुजली, भूख में कमी, गहरे रंग का मूत्र, मिट्टी के रंग का मल, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना)
  • गंभीर त्वचा की प्रतिक्रिया, बुखार, गले में खराश, चेहरे या जीभ में सूजन, आंखों में जलन, त्वचा में दर्द, लाल या बैंगनी रंग के चकत्ते, जो फैलते दिखाई दें (विशेषकर चेहरे या ऊपरी शरीर में) या छाले

कम गंभीर दुष्प्रभावः

  • हल्का दस्त, उल्टी, कब्ज
  • पेट दर्द या अपच
  • चक्कर आना, थका हुआ महसूस करना, हल्का सिरदर्द
  • घबराहट, अनिद्रा
  • योनि में खुजली या डिस्चार्ज होना
  • हल्के चकत्ते या खुजली
  • कानों में कोई धुन सुनाई देना
  • स्वाद या गंध की कमी

हालांकि, इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों में सभी इस तरह के लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। कुछ साइड इफेक्ट्स ऐसे भी हैं, जिनके बारे में यहां पर नहीं बताया गया है। अगर आपको इससे होने वाले किसी भी तरह के साइड इफेक्टस को लेकर कोई सवाल है, तो आपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें।

और पढ़ें : Clobetasol : क्लोबेटासोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इंटरैक्शन

कौन सी दवाएं एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) के साथ इंटरैक्ट कर सकती हैं?

अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें है, तो उसके साथ एजिथ्रोमायसिन इस्तेमाल करने से पहले यह जरूर जान लें कि उसके साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको किस तरह की परेशानी हो सकती है। साथ ही यह आपके दवा के असर को भी प्रभावित कर सकती है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें और न ही इसकी खुराक को किसी दूसरी दवा के साथ बदलें।

इस दवा के साथ परस्पर प्रभाव करने वाले उत्पादः

  • ड्रोपरिडोल (Droperidol)
  • मेथाडोन (Methadone)
  • नेलफिनवीर (Nelfinavir)
  • दूसरे एंटीबायोटिक-क्लीरिथ्रोमाइसिन, एरिथ्रोमाइसिन, मोक्सीफ्लोक्सासिन, पैंटामिडाइन (Another antibiotic–clarithromycin, erythromycin, moxifloxacin, pentamidine)
  • खून पतला करने वाली दवाईयां (वार्फरिन, कौमाडिन) (warfarin, Coumadin)
  • कैंसर की दवा-आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड, वांडेटेनिब (Cancer medicine–arsenic trioxide, vandetanib)
  • एंटीडिप्रेसेंट-सीतालोप्राम, एस्सिटालोप्राम (An antidepressant–citalopram, escitalopram)
  • मलेरिया-रोधी दवा-क्लोरोक्वीन, हेलोफेन्थ्रिन (Anti-malaria medication–chloroquine, halofantrine)
  • हार्ट रिदम मेडिसिन-अमियोडेरोन, डिसोपाइरीमाइड, डॉफेटिलाइड, फ्लुकेनाइड, आईबुटिलाइड, प्रोकेनैमाइड, क्विनिडाइन, सोटल (Heart rhythm medicine–amiodarone, disopyramide, dofetilide, flecainide, ibutilide, procainamide, quinidine, sotalol)
  • मनोचिकित्सा विकार के इलाज के लिए दवा – क्लोप्रोमाजिन, हेलोपरिडोल, मेसोरिडाजीन, पिमोजाइड, थायरोकेरेजिन (Medicine to treat a psychiatric disorder–chlorpromazine, haloperidol, mesoridazine, pimozide, thioridazine)

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) किसी फूड के साथ रिएक्शन करती है?

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) किस तरह के फूड्स के साथ नहीं ली जा सकती है, इस विषय में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) किसी किसी स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट करती है?

एजिथ्रोमायसिन का इस्तेमाल आपकी सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें।

इन स्थितियों में बरतें सावधानीः

  • किसी भी मैक्रोलाइड और केटोलाइड एंटीबायोटिक (जैसे, क्लियरिथ्रोमायसिन, एरिथ्रोमायसिन, टेलिथ्रोमायसिन, बीआक्सिन®, ईरी-टैब® या केटेक®) से एलर्जी।
  • एजिथ्रोमायसिन का उपयोग करने से पहले साथ लिवर की बीमारी
  • बैक्टीरिया (रक्त संक्रमण)
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस
  • संक्रमण, नोसोकोमियल
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • कमजोर शारीरिक स्थिति
  • ब्रैडीकार्डिया (धीमी दिल की धड़कन)
  • हाइपोकैलिमिया (रक्त में पोटेशियम की कमी)
  • हाइपोमाग्नेसिमिया (रक्त में मैग्नीशियम की कमी)
  • कोंजेस्टिव हार्ट
  • दस्त
  • दिल की बीमारी
  • मायस्थेनिया ग्रेविस (मांसपेशियों में कमजोरी)
  • किडनी की बीमारी
  • लिवर की बीमारी

और पढ़ें : Domperidone : डॉमपेरिडॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) की सामान्य खुराक क्या है?

त्वचा और नरम ऊतक संक्रमण – ओरल

वयस्क: 3 दिनों के लिए प्रतिदिन में एक बार 500 मिग्रा। उसके बाद 4 दिनों के लिए रोजाना दिन में एक बार 250 मिग्रा।

श्वसन तंत्र में संक्रमण- ओरल

वयस्क: 3 दिनों के लिए प्रतिदिन में एक बार 500 मिग्रा। उसके बाद 4 दिनों के लिए रोजाना दिन में एक बार 250 मिग्रा।

क्लैमाइडिया ट्रैकोमैटिस के कारण जननांगों में संक्रमण- ओरल

वयस्क: प्रतिदिन 1 ग्राम की खुराक

असम्बद्ध गोनोरिया- ओरल

वयस्क: प्रतिदिन 2 ग्राम की खुराक

प्रोफिलैक्सिसोफ द्वारा फैला माइकोबैक्टीरियम एवियम कॉम्प्लेक्स (MAC) संक्रमण- ओरल

वयस्क: प्रति सप्ताह 1.2 ग्राम। माध्यमिक प्रोफिलैक्सिस उपतार के लिए: दूसरे एंटीमाइकोबैक्टीरियल के साथ प्रतिदिन 500 मिग्रा की खुराक

ग्रैनुलोमा इंगुइनेल – ओरल

वयस्क: प्रारंभ में प्रतिदिन 500 मिग्रा। उसके बाद जब तक घाव ठीक नहीं हो जाते तब तक 3 सप्ताह के लिए 1 ग्राम

इन्ट्रावेनस – साल्मोनेला टाइफी के कारण होने वाले टाइफाइड बुखार के खिलाफ सक्रिय टीकाकरण

वयस्क: 7 दिनों के लिए प्रतिदिन 500 मिग्रा

और पढ़ें: Arnica : मांसपेशियों की सूजन को दूर करने के लिए असरदार है ये होम्योपैथिक दवा

एक बच्चे को एज़िथ्रोमायसिन (Azithromycin) की कितनी मात्रा लेनी चाहिए?

स्किन और टिशू इंफेक्शन में – ओरल

6 माह से बड़े शिशुओं के लिए- 10 मिग्रा/किग्रा (15 से 25 किलो वजन होने पर: 200 मिग्रा, 26 से 35 किलो वजन होने परः 300 मिग्रा, 36 से 45 किलो वजन होने पर: 400 मिग्रा)

श्वसन तंत्र में संक्रमण- ओरल

6 माह से बड़े शिशुओं के लिए- 10 मिग्रा/किग्रा (15 से 25 किलो वजन होने पर: 200 मिग्रा, 26 से 35 किलो वजन होने परः 300 मिग्रा, 36 से 45 किलो वजन होने पर: 400 मिग्रा)

प्रोफिलैक्सिसोफ द्वारा फैला माइकोबैक्टीरियम एवियम कॉम्प्लेक्स (MAC) संक्रमण– ओरल

6 माह से बड़े शिशुओं के लिए- 10 मिग्रा/किग्रा, दिन में एक बार, 3 दिनों के लिए

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) की खुराक छूट जाए तो क्या करें?

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) का डोज अगर छूट जाए तो याद आते ही दवा का सेवन करें। अगर आपके अगले डोज का वक्त हो गया है तो मिस हुए डोज को छोड़ दें और अभी के डोज का सेवन समयानुसार करें। डबल डोज एक साथ ना लें। इससे आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है।

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं। जब किसी दवा की अनुशंसित खुराक से अधिक खुराक ले ली जाती है, तो इसे ओवरडोज कहा जाता है। ओवरडोज को हमेशा एक क्लिनिकल टेस्ट की आवश्यकता होती है। ओवरडोज की स्थिति शरीर में गंभीर दुष्प्रभाव पैदा कर सकती है। अगर भूल से आपने दवा का ओवरडोज ले लिया है तो डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

स्टोरेज और डिस्पोज के तरीके

एजिथ्रोमायसिन के रख-रखाव के लिए रूम टेंपरेचर सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में न रखें। एजिथ्रोमायसिन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में भी नहीं रखना चाहिए। मार्केट में एजिथ्रोमायसिन के अलग-अलग ब्रांड हैं, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एजिथ्रोमायसिन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के एजिथ्रोमायसिन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : Chlorpromazine Hydrochloride : क्लोरप्रोमाजाइन हाइड्रोक्लोराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपलब्ध खुराक

एजिथ्रोमायसिन (Azithromycin) कैसे उपलब्ध है?

एजिथ्रोमायसिन निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:

  • टैबलेट, ओरलः 250 मिग्रा, 500 मिग्रा, 600 मिग्रा
  • सस्पेंशन, ओरलः 1 ग्राम
  • सस्पेंशन, ओरलः 1 ग्राम/5 मिली

दवा की उपलब्धता की स्थिति : यह दवा भारत में प्रतिबंधित नहीं है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा और उपचार प्रदान नहीं करता है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं और अन्य लोगों के साथ साझा कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 30/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड