home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Doxycycline+Lactobacillus: डॉक्सीसाइक्लिन+लैक्टोबैसिलस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें |सावधानियां एवं चेतावनी |जानिए इसके साइड इफेक्ट |इन जरूरी बातों को जानें |डॉक्टर की सलाह
Doxycycline+Lactobacillus: डॉक्सीसाइक्लिन+लैक्टोबैसिलस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का उपयोग किसलिए किया जाता है?

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस दो दवाओं का संयोजन है। डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस, इन दवाओं का इस्तेमाल बैक्टीरियल इंफेक्शन में किया जाता है। इन दोनों दवाओं को इस्तेमाल करने की सलाह डॉक्टरों द्वारा सूखा रोग, संक्रमण, दस्त की समस्या और अन्य परिस्थितियों में भी दी जाती है। लैक्टोबैसिलस माइक्रोऑर्गेनिज्म है जो कि गट में अच्छे बैक्टीरिया का बैलेंस बनाए रखने में मदद करता है। गट में पाए जाने वाले अच्छे बैक्टीरिया इंटेस्टाइनल इंफेक्शन से बचाने का काम करते हैं।

लैक्टोबैसिलस का उपयोग डायरिया की समस्या से निजात पाने के लिए किया जाता है। डायरिया की समस्या दूषित खाने के कारण हो सकती है। वहीं कुछ एंटीबायोटिक मेडिसन लेने के कारण भी डायरिया हो सकता है। ऐसी समस्या से निजात पाने के लिए लैक्टोबैसिलस का उपयोग किया जाता है। डायजेशन रिलेटेड प्रॉब्लम को सही करने के लिए लैक्टोबैसिलस का उपयोग किया जाता है। वहीं इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (irritable bowel syndrome) के दौरान भी लैक्टोबैसिलस का सेवन करने की सलाह दी जाती है। डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह पर करना चाहिए।

  • क्रोनिक प्रोस्टेटाइटिस (Chronic prostatitis)
  • ट्रेवल डायरिया के दौरान (Travelers diarrhea)
  • एंटीबायोटिक ट्रीटमेंट (Antibiotic treatments)
  • कैंसर कीमोथेरिपी(Cancer chemotherapy)
  • पाचन तंत्र में लंबे समय तक रहने वाली सूजन
  • डायजेस्टिव ट्रेक में अल्सर (Ulcers in the digestive tract)

उपरोक्त दी गई बीमारी के साथ ही डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के संयोजन को अन्य बीमारी में भी डॉक्टर लेने की सलाह दे सकता है।

मुझे डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस कैसे लेना चाहिए?

डॉक्सीसाइक्लिन एक एंटीबायोटिक है, जो शरीर में प्रोटीन संंश्लेषण को बनाने वाले बैक्टीरिया के विकास को रोकने का काम करता है। लैक्टोबैसिलस एक जीवित सूक्ष्म जीव है, जो आंत में अच्छे जीवाणुओं के संतुलन को बनाने में मदद करता है।

इन दोनों दवाओं को भोजन के बाद किसी भी लिक्विड जैसे नारियल पानी या जूस के साथ ही लें। बिना डॉक्टर के निर्देश के इन दोनों दवाओं को पानी के साथ ना लें।

आमतौर पर इन दोनों दवाओं को दिन में दो बार लेने की सलाह दी जाती है। आप दिन में लंच के बाद और रात में डिनर के बाद लें।

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस की खुराक मरीज की उम्र, बीमारी और अन्य कारणों पर निर्भर करती है। इन दोनों दवाओं को एक साथ लेने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें।

[mc4wp_form id=”183492″]

मैं डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस कैसे स्टोर करूं?

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस को रूम टेम्प्रेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचा कर रखें। यूनिफ्लेक्सिन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के अलग-अलग ब्रांड हैं, जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा-निर्देशों को पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिहाज से, आपको सभी दवाइयों को बच्चे और जानवरों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए।

बिना-निर्देश के डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है, तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां एवं चेतावनी

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आप वर्तमान में किसी तरह की दवा का सेवन कर रहे हैं या आपको किसी तरह की दवा से एलर्जी है तो अपने डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से बातचीत करें।
  • इन दोनों दवाओं का सेवन करने के कम से कम 30 मिनट तक बिस्तर पर लेटे नहीं। दवा लेने के तुरंत बाद थोड़ा टहलें।
  • अगर, आपको तेज बुखार, खांसी, सिर दर्द या सर्दी का कोई भी लक्ष्ण हैं तो इस दवा का इस्तेमाल ना करें।
  • लिवर की बीमारी, शुगर और मायस्थीनिया ग्रेविस के मरीज अपनी वर्तमान दवाओं के साथ डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल ना करें। इससे साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ सकता है।
  • अगर, आपको आंतों से संबंधित कोई गंभीर समस्या है तो इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल एक साथ करने से बचें।
  • कुछ मामलों में इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल करने से ब्लड प्रेशर काफी कम हो सकता है। ब्लड प्रेशर के मरीज इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल ध्यान पूर्वक करें।
  • इन दोनों दवाओं के इस्तेमाल के दौरान ड्राइविंग, मशीनरी और उन कामों को करने से बचें, जिसमें ध्यान लगाने की ज्यादा आवश्यकता हो।
  • यदि आपको कोई पुरानी बीमारी है जिसके लिए आपको निरंतर दवा लेने की आवश्यकता होती है जैसे हार्ट प्रॉब्लम, मिर्गी तो इन दोनों दवाओं को लेने से पहले डॉक्टर से बातचीत अवश्य करें।

एक बात का ध्यान रखें कि इस दवा का इस्तेमाल करने के दौरान अगर आप किसी तरह की कोई मेडिकल और डेंटल सर्जरी करवा रहे हैं तो अपने सर्जन और डेन्टिस्ट को अपनी सभी दवाओं और डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के सेवन के बारे में जानकारी अवश्य दें।

और पढ़ें : Pulmoclear: पलमोक्लिअर क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग से दौरान डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस लेना सुरक्षित है?

हालांकि प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस दवा का इस्तेमाल करने की सलाह डॉक्टरों द्वारा नहीं दी जाती है। अगर, आप इस दवा का इस्तेमाल करने के दौरान प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से इस बारे में बातचीत करें। कठिन दिनों में महिलाओं को इन दोनों दवाएं एक साथ लेने की सलाह नहीं दी जाती है। ज्यादा जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

और पढ़ें : Ibugesic Plus : इबूगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का एक साथ इस्तेमाल करने से कई बार साइड इफेक्ट हो सकते हैंः

  • पेट दर्द, कब्ज की समस्या, दस्त, जी मिचलाना, उल्टी, बदहजमी, गले की खराश, मुंह का सूखना, जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
  • इन दवाओं का इस्तेमाल करने से अगर चकत्ते, स्किन पर किसी तरह की खुजली, चेहरे और मुंह की सूजन, या सास लेने में कठिनाई महसूस होती है तो तुरंत दवा का सेवन बंद कर दें।
  • डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल करने से डायरिया जैसे साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

इन दवाओं से होने वाले सभी साइड इफेक्ट यहां नहीं बताए गए हैं। दवाओं के इस्तेमाल से आपकी स्वास्थ्य स्थिति पहले से बिगड़ती या सुधरती है तो इस बारे में अपने डॉक्टर को जानकारी दें।

और पढ़ें : Clobetasol : क्लोबेटासोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अगर, आप वर्तमान में फिनाइटोइन, एपिसॉल, फेंटोइन 100 एमजी टैबलेट, एफ्टोकिंड 50 एमजी इंजेक्शन, एपिसोल प्लस, फेनोबार्बिटल + फेनिटोइन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें। कुछ मामलों में इन दवाओं के साथ आपकी वर्तमान दवा की खुराक को घटाया और बढ़ाया जा सकता है, इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के इन दवाओं का सेवन ना करें।

फेनोबार्बिटल, गार्डनल, बार्बिटोइन, फेनबर्ब, ल्यूमिनल, एपिफेने, स्यूडोएफेड्रिन, सिज ले डी, ट्यूडेक्स सी एस, एलट्रिफाइड, एम्ब्रोलाइट डी, एक्सपेक्ट ए का इस्तेमाल करने वाले लोग इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल ना करें।

यदि वर्तमान में किसी तरह के प्रिस्क्रिप्शन या ओटीसी, हर्बल सप्लिमेंट या विटामिन का प्रयोग कर रहे हैं तो इसे इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को इन सभी चीजों की जानकारी विस्तार पूर्वक दें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर आप किसी भी तरह की दवा या एल्कोहॉल के साथ डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का सेवन करते हैं तो इसका रिजल्ट नेगेटिव आ सकता है। कुछ मामलों में यह दवा मरीज के लिए घातक भी हो सकती है। हालांकि, कुछ खाद्य पदार्थों के साथ इस दवा का इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है।

और पढ़ें : Sucralfate : सुक्रालफेट क्या है? जानिए उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को इस बात की जानकारी दें कि आपको किसी भी पदार्थ से एलर्जी है या नहीं। इस दवा का इस्तेमाल करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि आपके डॉक्टर द्वारा इसे इसलिए सुझाया गया है क्योंकि वह जानता है कि इस दवा का साइड इफेक्ट से ज्यादा आपको लाभ मिलेगा।

हार्ट के मरीज इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल बिना किसी संकोच के कर सकते हैं। हालांकि हार्ट के मरीजों को यह दवा किसी तरह का नुकसान ना पहुंचाए इसलिए इसकी खुराक को कम से शुरू किया जा सकता है और धीरे-धीरे इसे बढ़ाया जा सकता है।

और पढ़ें : Disodium hydrogen citrate : डाईसोडियम हाइड्रोजन साइट्रेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस कैसे उपलब्ध है?

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:

डॉक्सीसाइक्लिन: टैबलेट, कैप्सूल

लैक्टोबैसिलस: कैप्सूल, टैबलेट

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल डॉक्टर दिन में दो बार करने की सलाह दी जाती है। अगर, मरीज डॉक्टरों के निर्देशानुसार दवा का इस्तेमाल नहीं करता है तो इसके साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

दवा का इस्तेमाल से आपकी स्थिति खराब होती है या दवा को डॉक्टर के निर्देशानुसार ज्यादा मात्रा में लेते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर या नजदीकी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में संपर्क करें। आप चाहे तो 102 पर कॉल करके एम्बुलेंस सहायता भी ले सकते हैं। ध्यान रहे कि इमरजेंसी वार्ड में जाते वक्त अपनी दवाओं का डिब्बा साथ लेकर जाएं।

और पढ़ें : Clonidine : क्लोनिडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर, आप रोजाना डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल कर रहे हैं और किसी दिन इसका इस्तेमाल रात को करना भूल जाते हैं तो सुबह याद आने पर इसका इस्तेमाल करते रहें। डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस की खुराक को भूलने से संबंधित आपके मन में कोई भी सवाल है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य समस्या महसूस होती है तो पहले पहले डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। बिना डॉक्टर से सलाह या जानकारी लिए डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस का इस्तेमाल न करें। हम आशा करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से डॉक्सीसाइक्लिन + लैक्टोबैसिलस के बारे में जानकारी मिल गई होगी। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Effect of doxycycline and Lactobacillus probiotics on mRNA expression of ABCC2 in small intestines of chickens/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5309459/Accessed on 25-05-2020

Effect of doxycycline and Lactobacillus probiotics on mRNA expression of ABCC2 in small intestines of chickens/https://www.researchgate.net/publication/313367501_Effect_of_doxycycline_and_Lactobacillus_probiotics_on_mRNA_expression_of_ABCC2_in_small_intestines_of_chickensAccessed on 25-05-2020

doxycycline hyclate tablet, coated https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/drugInfo.cfm?setid=115f1010-882f-11e3-baa7-0800200c9a66Accessed on 25-05-2020

doxycycline hyclate tablet, delayed release https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/drugInfo.cfm?setid=99cf2de6-e0a3-42f2-9929-d33e107af948Accessed on 25-05-2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/10/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड