home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Escitalopram : एससिटालोप्राम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

 एससिटालोप्राम (escitalopram) का उपयोग किसलिए किया जाता है?|एससिटालोप्राम (escitalopram) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|एससिटालोप्राम (escitalopram) के क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?|कौन सी दवाएं एससिटालोप्राम (escitalopram) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?|डॉक्टर की सलाह
Escitalopram : एससिटालोप्राम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

 एससिटालोप्राम (escitalopram) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

एससिटालोप्राम दवाओं के एक वर्ग से संबंधित है जिसे सेलेक्टिव सेरोटोनिन रीपटेक इन्हिबिटर (SSRI) के रूप में जाना जाता है। एससिटालोप्राम का इस्तेमाल डिप्रेशन और एंग्जायटी से जूझ रहे लोगों के इलाज के लिए किया जाता है। एससिटालोप्राम दिमाग में एक निश्चित प्राकृतिक पदार्थ (सेरोटोनिन) को बैलेंस करने में मदद करती है। एससिटालोप्राम आपकी ऊर्जा का स्तर और फीलिंग्स को सुधारने में मदद करती है। साथ ही इस दवा का सेवन करने से घबराहट कम होती है।

अन्य उपयोग: इस दवा का इस्तेमाल और किन परिस्थितियों में किया जा सकता है इसकी जानकारी यहां नहीं दी गई है। यूएस प्रोफेशनल लेबलिंग में यह दवा लिस्टेड नहीं हैं, लेकिन डॉक्टर के दिशा-निर्देशों के अनुसार इस दवा का सेवन किया जा सकता है। इस दवा का इस्तेमाल इन्हीं परिस्थितियों में डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करें।

एससिटालोप्राम इस दवा का इस्तेमाल कुछ मेंटल/मूड डिसऑर्डर और रजोनिवृत्ति के साथ होने वाले हॉट फ्लैश के इलाज के लिए भी किया जा सकता है।

और पढ़ें : क्या हैं वह 10 सामान्य मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम्स (Mental Health Problems) जिनसे ज्यादातर लोग हैं अंजान?

एससिटालोप्राम (escitalopram) को कैसे इस्तेमाल करूं?

एससिटालोप्राम का इस्तेमाल खाने के साथ या खाने के बाद डॉक्टर के निर्देशानुसार दिन में एक बार सुबह या शाम करें। इस दवा का खुराक आपकी स्वास्थ्य स्थिति, उपचार की प्रतिक्रिया, उम्र और आपके द्वारा ली जा रही अन्य दवाओं पर आधारित है। अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें।

अगर आप एससिटालोप्राम के लिक्विड फॉर्म यूज कर रहे हैं तो मापने वाले डिवाइज का ही इस्तेमाल करें। घर में इस्तेमाल की जाने वाले चम्मच का इस्तेमाल बिलकुल ना करें, क्योंकि यह सही माप नहीं बताता है।

यह दवा आपको कोई साइड इफेक्ट ना पहुंचाए इसके लिए डॉक्टर इसकी खुराक को कम से ज्यादा यानी धीरे-धीरे बढ़ा सकता है। इस दवा का इस्तेमाल अपने डॉक्टर द्वारा दिए गए निर्देशानुसार ही करें। बिना डॉक्टर की सलाह के दवा की खुराक में किसी तरह की वृद्धि न करें और ही एक दिन में बार-बार दवा का सेवन करें। ध्यान रहें कि बार-बार दवा का सेवन करने से आपकी स्थिति में सुधार नहीं होगा, बल्कि इससे साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ जाएगा।

अगर आप इस दवा का इस्तेमाल करने के बाद अच्छा महसूस कर रहे हैं तो भी इस दवा का इस्तेमाल करते रहें। बिना डॉक्टर की सलाह के एससिटालोप्राम का इस्तेमाल पूरी तरह बंद ना करें। दवा का इस्तेमाल अचानक बंद करने से आपको कुछ नुकसान हो सकता है। दवा का अचानक इस्तेमाल बंद करने से आपको मूड स्विंग, सिरदर्द, थकान, नींद में बदलाव और बिजली के झटके से कुछ असामान्य झटके महसूस हो सकते हैं। आपको इस तरह के लक्षण महसूस ना हो इसके लिए डॉक्टर धीरे-धीरे खुराक को घटा सकता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें। इस दवा का इस्तेमाल करने के दौरान आपको किसी भी तरह के साइड इफेक्ट महसूस होते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

इस दवा से लाभ महसूस करने में 1 से 2 सप्ताह का समय लग सकता है और एससिटालोप्राम का पूरा लाभ प्राप्त करने के लिए 4 सप्ताह का समय चाहिए होता है। दवा का इस्तेमाल करने के बाद आपको किसी तरह की परेशानी होती है या फायदा होता है तो डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

मैं एससिटालोप्राम (escitalopram) को कैसे स्टोर करूं?

एससिटालोप्राम के रखरखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। एससिटालोप्राम को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में एससिटालोप्राम के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा- निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एससिटालोप्राम खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के एससिटालोप्राम को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें : खुद को इस तरह मैंटेन रखती हैं हिना खान, ये है उनका फिटनेस सीक्रेट

एससिटालोप्राम (escitalopram) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको एससिटालोप्राम, सिटालोप्राम (सेलेक्सा), या किसी अन्य दवाओं से एलर्जी है तो इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं।
  • अगर आप वर्तमान में पीमोजाइड (ऑरेप) या मोनोऑक्साइन ऑक्सीडेज (एमएओ) अवरोधक जैसे कि आइसोकार्बॉक्सिड (Marplan), फेनिलजीन (नारदिल), सेलेजिलिन (एल्डप्रिल, एम्सम, जेलपार) और ट्रानिलिसिप्रोमाइन (Parnate) ले रहे हैं तो इसकी जानकारी डॉक्टर को दें। अगर आपने पिछले 14 दिनों के भीतर एमएओ अवरोधक लेना बंद किया है तो सकता है कि डॉक्टर आपको एससिटालोप्राम लेने की सलाह ना दें। अगर आप एससिटालोप्राम लेना बंद कर देते हैं तो आपको एमएओ लेने के लिए 14 दिनों का इंतजार करना पड़ेगा।
  • एससिटालोप्राम और एसएसआरआई, सीतालोप्राम (सेलेक्सा) एक जैसी ही हैं। इसलिए एक साथ दोनों दवाओं का सेवन ना करें।
  • कुछ दवाओं के साथ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। साथ ही अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें। अगर आप एंटीकोआगुलंट्स (ब्लड थिनर) जैसे कि वारफारिन (कौमडिन); एंटीथिस्टेमाइंस; एस्पिरिन और अन्य नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लमेटरी ड्रग्स (नेसिड्स) जैसे आईब्रूप्रोफेन (एडविल, मोट्रिन) और नेप्रोक्सन (एलेव, नेप्रोसिन); कार्बामाजेपिन (टेग्रेटोल); सीमेटीडाइन (टैगमैट); केटोकोनाजोल (स्पोरानॉक्स); लिथियम (Eskalith, Lithobid, Lithotabs); लाइनजोलिड (ज़ीवॉक्स); चिंता, मानसिक बीमारी या दौरे के लिए दवाएं; माइग्रेन के सिरदर्द के लिए दवाएं जैसे कि अल्मोट्रिप्टन (एक्सर्ट), इलेट्रिप्टन (रिलैक्स), फ्रोवेट्रिप्टन (फ़्रूवा), नराट्रिप्टन (आमेरेज), रिजैट्रिप्टन (मैक्साल्ट), सुमाट्रिप्टान (इमिट्रेक्स), और जोलमिट्रिपन (जोमिग); मेटोप्रोलोल (लोप्रेसोर, टॉप्रोल एक्सएल); अन्य एंटीडिप्रेसेंट जैसे कि डेसिप्रामाइन (नॉरप्रामिन); शामक; सिबुट्रामाइन (मेरिडिया); नींद की गोलियां; tramadol; मेथिलीन ब्लू; और ट्रैंक्विलाइजर ले रहे हैं तो इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को अवश्य दें। इन दवाओं का इस्तेमाल करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है डॉक्टर्स इसकी खुराक में बदलाव की सलाह दे सकते हैं।
  • अगर आप वर्तमान में किसी भी तरह का न्यूट्रिशनल सप्लिमेंट्स या हर्बल प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसकी जानकारी डॉक्टर को अवश्य दें। खासकर इन सप्लिमेंट्स में सेंट जॉन और ट्रिप्टोफैन जैसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया गया हो।
  • अगर आपको हाल ही में हार्ट अटैक आया हो या लिवर, किडनी, थायरॉइड या हार्ट प्रॉब्लम को इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को दें।
  • अगर आपने हाल में कोई सर्जरी, डेंटल सर्जरी करवाई है तो दवा का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।
  • आपको पहले से ही इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि एससिटालोप्राम का इस्तेमाल करने से आपको सुस्ती जैसी समस्याएं हो सकती है। इसलिए जब तक आप यह नहीं जानते कि यह दवा आपको कैसे प्रभावित करती है, तब तक कार या मशीनरी न चलाएं।
  • अगर इस दवा के सेवन के दौरान आप शराब पीते हैं तो इससे झपकी और सुस्ती ज्यादा हो सकती है।
  • इस दवा के इस्तेमाल से पहले आपको पता होना चाहिए कि इससे मोतियाबिंद हो सकता है। (ऐसी स्थिति में आंखों पर अचानक प्रेशर ना दें। अचानक प्रेशर देने से आप अपनी देखने की क्षमता को खो सकते हैं।) इस दवा को लेना शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से आंखों की जांच करवाने के बारे में बात करें। यदि आपको मतली, आंखों में दर्द, आंख में या उसके आसपास सूजन या रेडनेस होना। अगर आपको ऐसी कोई भी परेशानी है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एससिटालोप्राम (escitalopram) लेना सुरक्षित है?

अगर आप प्रग्नेंसी के आखिरी महीने में है या प्रग्नेंसी प्लान कर रही हैं, छोटे शिशुओं को स्तनपान करवा रही हैं या इस दवा का इस्तेमाल करने के दौरान प्रेग्नेंट हो जाती हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को जानकारी दें। ध्यान रहे है कि एससिटालोप्राम का इस्तेमाल करना आने वाले बच्चे के लिए समस्या पैदा कर सकता है।

एससिटालोप्राम (escitalopram) के क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

एससिटालोप्राम के आम साइड इफेक्ट में सुस्ती, चक्कर आना, अनिद्रा, मतली, वजन में परिवर्तन, और इजैकुलेशन देर से होना होना शामिल है।

अगर आपको स्किन रैशेज, हीव्स, सांस लेने में परेशानी, चेहरे होंठ, जीभ और गले में सूजन महसूस होती हैं तो तुरंत अपने नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाए।

मनोदशा या व्यवहार में परिवर्तन, चिंता, घबराहट, सोने में परेशानी, आवेग, चिड़चिड़ापन, आक्रामक, बेचैन, अतिसक्रिय (मानसिक या शारीरिक रूप से) या अधिक उदास महसूस करते हैं, या खुद को चोट पहुंचाते हैं या आत्महत्या के बारे में सोचते हैं तो ऐसी स्थिति में तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : क्या है मानसिक बीमारी और व्यक्तित्व विकार? जानें इसके कारण

अगर आपको निम्नलिखित में से किसी भी तरह की परेशानी होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। जैसे: मांसपेशियों का बहुत ज्यादा कड़ा होना, तेज बुखार, पसीना, तेज या असामान्य हार्ट बीट्स।

मतली, उल्टी, दस्त, भूख में कमी, अस्थिरता महसूस करना, आदि।

सिरदर्द, ध्यान केंद्रित करने में परेशानी, याददाश्त की समस्या, कमजोरी, भ्रम, मतिभ्रम, बेहोशी, दौरे, सांस का अचानक रूक जाना।

कम गंभीर साइड इफेक्ट्स में शामिल हैं: उनींदापन, चक्कर आना; नींद की समस्याएं (अनिद्रा); हल्की मितली, गैस, पेट खराब, कब्ज; वजन में परिवर्तन; सेक्स ड्राइव में कमी, नपुंसकता, ड्राई माउथ, जम्हाई, कानों का बजना शामिल है।

इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताएं गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

कौन सी दवाएं एससिटालोप्राम (escitalopram) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

कुछ दवाओं के साथ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। साथ ही अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें। अगर आप वर्तमान में किसी तरह की कोई दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने अनुसार दवा की खुराक को घटाएं या बढ़ाएं नहीं और ना ही पूरी तरह से दवा का सेवन बंद करें। अगर आप इनमें से किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। जैसेः

  • कोई अन्य एंटीडिप्रेसेंट;
  • बसपीरोन
  • लिथियम;
  • जॉन वोर्ट
  • ट्राईप्टोफैन
  • ब्लड थिनर – वार्फरिन, कैरामैडिन, जैन्टोवेन
  • माइग्रेन की दवा – सुमाट्रिप्टन, रिजाट्रिप्टान
  • नारकोटिक दर्द की दवा – फेंटेनल या ट्रामाडोल।

यहां पर दिए गए दवाओं के नाम पूरे नहीं है। अगर आप किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों, विटामिन और हर्बल प्रोडक्टस का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें।

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एससिटालोप्राम (escitalopram) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ एससिटालोप्राम का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

एससिटालोप्राम (escitalopram) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

एससिटालोप्राम (escitalopram) आपकी स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार काम करता है। कई मामलों में यह दवा घातक भी साबित हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि इसके इस्तेमाल से पहले अपने स्वास्थ्य की मौजूदा स्थिति के बारे में डॉक्टर को बताएं। अगर इनमें से किसी भी तरह की कोई बीमारी आपको है तो:

  • ब्रैडीकार्डिया (स्लो हार्टबीट)
  • क्यूटी लंबा होना
  • हाइपोकैलिमिया (खून में पोटेशियम की कमी)
  • हाइपो मैग्नीशिया (खून में मैग्नीशियम की कमी), बिना ठीक किए – इन स्थितियों में इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • कंजेस्टिव हार्ट फेलियर- इस दवा के दानों और टैबलेट दोनों में ही सोडियम पाया जाता है, जो आपकी स्थिति को और भी ज्यादा खराब कर सकता है।
  • एलिवेटेड लिवर एंजाइम
  • लिवर डिजीज (कोलेस्टेटिक हेपेटाइटिस); मायस्थेनिया ग्रेविस (गंभीर मांसपेशियों की कमजोरी) वाले सावधानी से इस दवा का प्रयोग करें। इस दवा का इस्तेमाल करने से आपकी स्थिति और भी ज्यादा बिगड़ सकती है।

और पढ़ें : Turner syndrome: टर्नर सिंड्रोम क्या है?

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

एससिटालोप्राम (escitalopram) कैसे उपलब्ध है?

एससिटालोप्राम निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:

टैबलेट: 10 एमजी, 20 एमजी

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर एससिटालोप्राम की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Escitalopram Accessed on 22/06/2016

Escitalopram (oral route) Accessed on 22/06/2016

Escitalopram Oxalate Accessed on 06/12/2019

Escitalopram, Oral Tablet Accessed on 06/12/2019

Escitalopram Accessed on 06/12/2019

Escitalopram Accessed on 06/12/2019

Escitalopram: What you need to know Accessed on 06/12/2019

लेखक की तस्वीर
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 07/10/2020 को
Mayank Khandelwal के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x