backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Furosemide : फ्यूरोसेमाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 07/07/2020

Furosemide : फ्यूरोसेमाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

फ्यूरोसेमाइड (furosemide) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

फ्यूरोसेमाइड का इस्तेमाल शरीर से अतिरिक्त तरल पदार्थ (एडिमा) को कम करने के लिए किया जाता है। एकस्ट्रा लिक्विड से हार्ट का फेल होना, लिवर की बीमारी और किडनी की बीमारी हो सकती हैं। 

फ्यूरोसेमाइड का इस्तेमाल हाई ब्लड प्रेशर के इलाज के लिए भी किया जाता है। हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने से स्ट्रोक, हार्ट अटैक, किडनी की समस्याओं को रोका जा सकता है। फ्यूरोसेमाइड एक “डायूरेटिक (मूत्रवर्धक) है, जिसे शरीर में यूरिन अधिक बनती है, जिससे शरीर से अतिरिक्त पानी और नमक निकालने में मदद मिलती है।

अन्य उपयोग: इस दवा के और क्या उपयोग हो सकते हैं इसकी जानकारी यहां नहीं दी गई है। इस दवा का इस्तेमाल किसी भी स्थिति में करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। ऊपर जो लिस्ट दी गई है, केवल उन्हीं में इस दवा का इस्तेमाल करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

फ्यूरोसेमाइड का इस्तेमाल खून में हाई कैल्शियम को कम करने के लिए भी किया जाता है।

मैं फ्यूरोसेमाइड को कैसे इस्तेमाल करूं?

फ्यूरोसेमाइड का इस्तेमाल खाने के साथ या खाने के बाद दिन में एक या दो बार डॉक्टर के निर्देश अनुसार ही लें।

इस दवा को रात में सोने से 4 घंटे पहले लेने की सलाह दी जाती है, ताकि सोने के बाद आपको यूरिन पास करने के लिए बार-बार उठना पड़े।

इस दवा की खुराक आपकी मेडिकल कंडिशन, उम्र और ट्रीटमेंट के रिस्पॉन्स पर निर्धारित करती है। बच्चों के लिए खुराक वजन पर आधारित है। बड़ों में इस दवा का कोई साइड इफेक्ट ना हो इसलिए दवा की शुरुआत कम से कम खुराक से की जाती है। इस दवा को लेते वक्त इच्छा अनुसार खुराक को बढ़ाए नहीं, इसके लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

इसका सबसे अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए नियमित रूप से दवा को लें। दवा लेने में किसी तरह की परेशानी न हो इसलिए रोजाना एक ही समय पर दवा का सेवन करें। इस दवा का इस्तेमाल करने के बाद अगर आप अच्छा महसूस करते हैं तो भी इसको लेना जारी रखें। हो सकता है कि हाई ब्लड प्रेशर वाले लोग इस दवा का इस्तेमाल करने के बाद बीमार महसूस कर सकते हैं।

सुक्रालफेट, कोलेस्टेरामाइन, और कोलेस्टीपोल, फ्यूरोसेमाइड के अवशोषण को कम कर सकता है। यदि आप इनमें से कोई भी दवा ले रहे हैं, तो प्रत्येक खुराक का समय कम से कम 2 घंटे के लिए फ्यूरोसेमाइड से अलग करें।

इस दवा का इस्तेमाल करने के बाद अगर आपको किसी तरह की परेशानी होती है या आपकी स्थिति में किसी तरह का सुधार आता ह तो तुरंत अपने डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

यह दवाई मांसपेशी में इंजेक्शन द्वारा या धीरे-धीरे नस में दी जाती है जैसा कि आपके डॉक्टर द्वारा निर्देशित किया गया हो वैसे ही इसका उपयोग करें।

मैं फ्यूरोसेमाइड को कैसे स्टोर करूं?

फ्यूरोसेमाइड के रखरखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में दवा के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी फ्यूरोसेमाइड खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के ओमेप्राजोले को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

 और पढ़ें: सोने से पहले ब्लडप्रेशर की दवा लेने से कम होगा हार्ट अटैक का खतरा

फ्यूरोसेमाइड का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

  • अगर आपको फ्यूरोसेमाइड सल्फा दवाओं, या किसी दवा से एलर्जी है तो तुरंत अपने डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।
  • अगर आप वर्तमान में किसी दवा या गैर पर्चे वाली दवा का सेवन कर रहे हैं तो इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को जरूर दें। खासकर हाई ब्लड प्रेशर, एस्पिरिन, कॉर्टिकॉस्टिरॉइड्स (जैसे, प्रेडनिसोन), डिगॉक्सिन (लैनॉक्सिन), इंडोमेथेसिन (इंडोसिन), लिथियम (एस्क्लिथ, लिथोबिड), डायबिटीज, प्रोबेनेसिड (बेनीमिड), और विटामिन के लिए या अन्य किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो इसकी जानकारी डॉक्टर को दें।
  • यदि आप कोलेस्टीरामाइन या कोलस्टिपोल का सेवन कर रहे हैं तो फ्यूरोसेमाइड को एक घंटे बाद लें।
  • साथ ही आपको कभी डायबिटीज, गाउट और किडनी या लिवर से संबंधित कोई बीमारी है या कभी रही है।
  • अगर आपने हाल ही में कोई सर्जरी, डेंटल सर्जरी करवाई है तो इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।
  • इस दवा का इस्तेमाल करने से आपकी स्किन सनलाइट के प्रति सेंसिटिव बना सकती है इसलिए बेवजह और ज्यादा देर तक धूप में जाने से बचें। धूप में जाने के दौरान स्किन प्रोटेक्शन के लिए कपड़ा, धूप का चश्मा और सनस्क्रीन लगाएं।
  • इस दवा से आपको चक्कर आ सकते हैं या धुंधला दिख सकता है। एल्कोहॉल या मारिजुआना (भांग) आपको अधिक चक्कर दे सकते हैं। जब तक आप कंफर्टेबल महसूस नहीं करते तब तक ड्राइव न करें, मशीनरी का उपयोग न करें। ऐसा कुछ भी न करें जिसमें सतर्कता या स्पष्ट दृष्टि की आवश्यकता हो।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान फ्यूरोसेमाइड (furosemide) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार गर्भावस्था के शुरुआती 6 महीनों में इस दवा का इस्तेमाल खतरे की C कैटेगरी में आता है। वहीं, गर्भावस्था के आखिरी 3 महीनों में इस दवा का इस्तेमाल खतरे की D कैटेगरी में आता है।

एफडीए गर्भावस्था जोखिम श्रेणी:

  • A = कोई जोखिम नहीं
  • B = कुछ अध्ययनों में कोई जोखिम नहीं
  • C = कुछ जोखिम हो सकते हैं
  • D = जोखिम के सकारात्मक प्रमाण हैं
  • X = निषेध
  • N = कोई जानकारी नहीं
  • और पढ़ें: गर्भावस्था में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सेफ है?

    फ्यूरोसेमाइड (furosemide) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

    इस दवा का इस्तेमाल करने के बाद आपको एलर्जी, सांस लेने में तकलीफ, चेहरे, होंठ, जीभ या गले में सूजन की समस्या होती है तो तुरंत अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

    ऐसे किसी भी लक्षण आपको महसूस होते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें:

    • सुनने में परेशानी, कानों का बजना
    • खुजली, भूख में कमी, गहरे रंग की यूरिन, मिट्टी के रंग जैसा स्टूल, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना),
    • पेट के ऊपरी हिस्से से दर्द का पीठ तक पहुंचना, मतली, उल्टी जैसा महसूस करना,
    • वजन घटना, शरीर में दर्द, सुन्नता
    • सूजन, तेजी से वजन बढ़ना, सामान्य से कम यूरिन या बिलकुल भी नहीं होना
    • सीने में दर्द, बुखार के साथ खांसी, सांस लेने में परेशानी होना
    • पीली त्वचा, चोट लगना, असामान्य खून का बहना, सिर का हल्का महसूस करना, हार्ट बीट का तेज होना, ध्यान केंद्रित करने में किसी तरह की परेशानी होना, पोटैशियम की कमी (भ्रम, असामान्य हार्ट बीट, पैर की परेशानी, मांसपेशियों की कमजोरी या लंगड़ा महसूस करना), सिरदर्द, कमजोरी महसूस होना।
    • गंभीर स्किन रिएक्शन- बुखार, गले में खराश, आपके चेहरे या जीभ में सूजन, आंखों में जलन, उसके बाद लाल या बैंगनी रंग के चकत्ते जो (विशेषकर चेहरे या ऊपरी शरीर में) फैल जाते हैं। यह अक्सर छिलने के कारण होते हैं।

    कम गंभीर साइड इफेक्ट में शामिल हैं 

    इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताएं गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

    और पढ़ें- Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    कौन सी दवाएं फ्यूरोसेमाइड (furosemide) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

    कुछ दवाओं के साथ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। साथ ही अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें। बिना डॉक्टर के सलाह के किसी भी दवा का सेवन शुरू या बंद ना करें और ना ही दवा की खुराक में बदलाव करें। ऐसा करने से आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है।

    अगर आप सुक्रालफेट (कार्बोफेट) का इस्तेमाल करते हैं तो, इसको खाने के कम से कम दो घंटे बाद ही फ्यूरोसेमाइड को लें।

    अगर आप इनमें से किसी दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को खास तौर पर जानकारी दें:

    • सिस्प्लैटिन (प्लाटिनोल)
    • साइक्लोस्पोरिन (Neoral, Gengraf, Sandimmune)
    • एताक्राइनिक एसिड (एड्रिन)
    • लिथियम (Eskalith, Lithobid)
    • मेथोट्रेक्सेट (रूमेट्रेक्स, ट्रेक्साल)
    • फिनाइटोइन (दिलान्टिन)

    एंटीबायोटिक जैसे कि एमिकैसीन (एमिकिन), सीफडिनर (ओम्निसफ), सीफप्रोजिल (सीजीलिल), सीफोरोक्सीम (सेफ्टिन), सेफैलेक्सिन (केफ्लेक्स, जेंटामाइसिन (गैरामाइसिन), कानामाइसिन (कांट्रेक्स) स्ट्रेप्टोमाइसिन, टोबरामाइसिन (नेबसीन, तोबी), हार्ट या ब्लड प्रेशर की दवा जैसे अमियोडेरोन (कॉर्डेरोन, पैकरोन), बेनाजिप्रिल (लोटेन्सिन), कैंडेसेर्टन (एटाकैंड), एप्रोसर्टन (टेवेटन), एनालाप्रिल (वासोटेक), इर्बेसेर्टन (एवाप्रो, एवलाइड), लिसिनोप्रिल (प्रिंसिविल) कोजार, हयजार), ओल्मशर्टन (बेनिकर), क्विनप्रिल (एक्यूप्रिल), रामिप्रील (अल्टेस), टेलिमिसर्टन (मिकार्डिस), वाल्सर्टन (डियोवन)

    एक लैक्साटीव (मेटामुसिल, मिल्क ऑफ मैग्नेशिया, कोलस, डल्कोलेक्स, एप्सोम सॉल्ट्स, सेन्ना और अन्य)

    सैलिसिलेट्स जैसे एस्पिरिन, डिसाल्सीड, दोन के गोलियां, डोलोबिड, सैलफ्लेक्स, ट्राईकोसल या स्टेरॉयड (प्रेडनिसोन और अन्य)।

    क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ फ्यूरोसेमाइड (furosemide) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

    अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ फ्यूरोसेमाइड का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

    यह दवा आपके रक्त में पोटेशियम के स्तर को कम कर सकती है। अपने डॉक्टर से अपने आहार में पोटेशियम को एड करने के बारे में पूछें। एक पोटेशियम सप्लिमेंट आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जा सकता है।

    फ्यूरोसेमाइड (furosemide) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

    फ्यूरोसेमाइड (furosemide) आपकी स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार काम करता है। कई मामलों में यह दवा घातक भी साबित हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि इसके इस्तेमाल से पहले अपने स्वास्थ्य की मौजूदा स्थिति के बारे में डॉक्टर को बताएं। अगर इनमें से किसी भी तरह की कोई बीमारी आपको है तो:

    • सल्फा दवाओं से एलर्जी (जैसे, सल्फामेथोक्साजोल, सल्फासालजीन, सल्फिसोक्साजोल, एजल्फिडाइन®, बैक्ट्रीम®, गैन्ट्रिसिन® या सेप्ट्रा®)
    • एनीमिया
    • पेशाब के साथ मूत्राशय की समस्या
    • डीहाईड्रेशन
    • डायबिटीज
    • गाउट
    • सुनने में समस्याएं
    • हाइपरयुरिसीमिया (खून में हाई यूरिक एसिड का होना)
    • हाइपोकैल्शिमिया (खून में कैल्शियम की कमी)
    • हाइपोक्लोरेमिक अल्कलोसिस (खून में क्लोरिन की कमी)
    • हाइपोकैलिमिया (खून में पोटेशियम की कमी)
    • हाइपोमैग्नेशिमिया (खून में मैग्नीशियम की कमी)
    • हाइपोनेट्रेमिया (खून में सोडियम की कमी)
    • हाइपोटेंशन (लो ब्लड प्रेशर)
    • हाइपोवोल्मिया (खून कम होना)
    • लिवर से जुड़ी कोई गंभीर बीमारी
    • सिस्टमिक ल्यूपस एरिथेमेटोसस (एसएलई)
    • टिनिटस (कानों का बजना)
    • पेशाब करने में तकलीफ ( बढ़े हुए प्रोस्टेट, मूत्रमार्ग में बाधा) में इसका इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए। यह आपकी स्थिति और भी खराब कर सकता है।
    • अनूरिया (पेशाब करने में सक्षम नहीं)
    • किडनी प्रॉब्लम से हाइपोप्रोटीनेमिया (खून में प्रोटीन की कमी)
    • रेडियोकॉन्ट्रास्ट नेफ्रोपैथी (किडनी की समस्या) -जिससे दुष्प्रभाव और भी ज्यादा गंभीर हो सकते हैं।
    • किडनी की बीमारी वाले लोगों को इस दवा का इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए। इस दवा से इस पर प्रभाव पड़ सकता है।

    और पढ़ें- Kidney Function Test : किडनी फंक्शन टेस्ट क्या है?

    डॉक्टर की सलाह

    नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

    फ्यूरोसेमाइड (furosemide) कैसे उपलब्ध है?

    फ्यूरोसेमाइड निम्नलिखित खुराकों के तौर पर उपलब्ध है:

    सॉल्यूशन, इंजेक्शन: 10 मिलीग्राम / एमएल (2 एमएल, 4 एमएल, 10 एमएल)

    सॉल्यूशन, इंजेक्शन [प्रिजरवेटिव फ्री] 10 मिलीग्राम / एमएल (10 एमएल)

    सॉल्यूशन, ओरल: 8 मिलीग्राम / एमएल (5 एमएल, 500 एमएल), 10 मिलीग्राम / एमएल (60 एमएल, 120 एमएल)

    टैबलेट, ओरल: 20 मिलीग्राम, 40 मिलीग्राम, 80 मिलीग्राम

    इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

    इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

    क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

    अगर फ्यूरोसेमाइड की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

    [mc4wp_form id=’183492″]

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Anoop Singh द्वारा लिखित · अपडेटेड 07/07/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement