Lactobacillus: लैक्टोबैसिलस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    Lactobacillus: लैक्टोबैसिलस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    उपयोग

    लैक्टोबैसिलस का उपयोग किस लिए होता है?

    लैक्टोबैसिलस एक प्रकार का बैक्टीरिया है। एक बैक्टीरिया है जो शरीर में स्वाभाविक रूप से मौजूद होता है, मुख्य रूप से आंतों और योनि में।लैक्टोबैसिलस की विभिन्न प्रजातियां पायी जाती हैं। इन्हें “फ्रेंडली” बैक्टीरिया भी कहा जाता है क्योंकि ये हमारे पाचन, यूरिन और प्राइवेट पार्ट्स में बिना रोग पैदा किए रहते हैं। लैक्टोबैसिलस भी कुछ फरमेंटेड खाद्य पदार्थों में होता है जैसे कि दही में।

    लैक्टोबैसिलस का उपयोग डायरिया के इलाज और रोकथाम के लिए किया जाता है, जिसमें मुख्य रूप से शामिल हैं:

    • संक्रामक दस्त जैसे कि बच्चों में रोटावायरल डायरिया
    • एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग से होने वाला डायरिया

    कुछ लोग लैक्टोबैसिलस का उपयोग निम्नलिखित चीजों के लिए भी करते हैं:

    • पाचन संबंधी समस्याएं (digestion related problems)
    • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम (irritable bowel syndrome)
    • क्रोहन रोग
    • मल के रास्ते में सूजन
    • समय से पहले जन्म लेने वाले शिशुओं में नेक्रोटाइजिंग एंटरोकोलाइटिस (NEC)

    लैक्टोबैसिलस का उपयोग हेलिकोबैक्टर पाइलोरी के संक्रमण के इलाज लिए भी किया जाता है। यह बैक्टीरिया का एक ऐसा प्रकार है जो अल्सर, यूटीआई, वजायनल संक्रमण (vaginal infection), सर्दी और श्वसन संक्रमण को रोकने के लिए उपयोग किया जाता है।

    लैक्टोबैसिलस का उपयोग कुछ प्रकार के त्वचा विकार (skin disorder), बुखार, फफोले, घाव, एक्जिमा और मुहांसों के इलाज लिए किया जाता है।

    इसका उपयोग हाई कोलेस्ट्रॉल, लैक्टोज इंटोलरेंस, लाइम रोग और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए भी किया जाता है।

    महिलाएं कभी-कभी वजायनल संक्रमण और यूटीआई के इलाज के लिए लैक्टोबैसिलस सपोसिटरी का उपयोग भी करती हैं।

    इसके अलावा अपच, मूत्र मार्ग में संक्रमण, उच्च कोलेस्ट्रॉल, सामान्य सर्दी और अन्य स्थितियों के उपचार में भी इस दवा को शामिल किया जाता है। हालांकि, इसके बारे में अभी कोई खास रिसर्च नहीं हुई है

    और पढ़ें : वजाइनल इंफेक्शन को दूर कर सकते हैं ये 7 घरेलू नुस्खे

    यह कैसे काम करता है?

    लैक्टोबैसिलस किस प्रकार काम करता है इसके बारे में पर्याप्त अध्ययन उपलब्ध नहीं हैं। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श लें। हालांकि, लैक्टोबैसिलस को “फ्रेंडली” बैक्टीरिया के नाम से जाना जाता है जो भोजन को तोड़ने, और पोषक तत्वों को एब्जॉर्ब करने के साथ-साथ “अनफ्रेंडली” तत्वों से लड़ने में मदद हमारे शरीर की मदद करता है।

    और पढ़ें : क्या होती हैं पेट की बीमारियां ? क्या हैं इनके खतरे?

    सावधानियां

    लैक्टोबैसिलस का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

    इस दवा के उपयोग से पहले आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श लें यदि :

    • आप गर्भवती हैं या अपने शिशु को स्तनपान कराती हैं। यदि आप इस स्थिति में हैं तो बिना डॉक्टर के परामर्श के इस दवा का सेवन ना करें।
    • आप किसी और दवा का सेवन पहले से कर रही हैं। भले ही वो दवा आप किसी डॉक्टर के निर्देश के बिना ले रही हों, या बगैर किसी पर्चे के ले रही हो।
    • आपको लैक्टोबैसिलस या उससे जुड़े कम्पाउंड से एलर्जी है।
    • आपको कोई बीमारी, विकार या मेडिकल समस्या है।
    • आपको किसी अन्य प्रकार की एलर्जी है, जैसे कि खाद्य पदार्थ, डाई, प्रिजर्वटिव, या किसी पशु से।

    इस दवा के सेवन की सुरक्षा का निर्धारण करने के लिए अभी पर्याप्त अध्ययन उपलब्ध नहीं है। इस दवा के सेवन से होने वाले लाभ से पहले जोखिमों के बारे में पूरी तरह से जान लें। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

    और पढ़ें : डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए 6 असरदार घरेलू नुस्खे

    लैक्टोबैसिलस का सेवन कितना सुरक्षित है?

    इस दवा का सेवन ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है, जिनमें एक शिशु, बच्चे और वयस्क भी शामिल हैं। लैक्टोबैसिलस का उपयोग महिलाएं वजायना के अंदर भी कर सकती हैं। लेकिन, अगर आपको कोई गंभीर समस्या या हेल्थ इशू है तो डॉक्टर की सलाह से ही दवा का सेवन करें।

    और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में स्ट्रेच मार्क्स के लिए क्रीम का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

    [mc4wp_form id=”183492″]

    साइड इफेक्ट

    लैक्टोबैसिलस से क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं?

    इसके साइड इफेक्ट आमतौर पर हल्के होते हैं, जिसमें सबसे अधिक बार आंतों की सूजन या गैस शामिल होती है। हर किसी को इन दुष्प्रभावों का अनुभव नहीं होता है। ऐसे कई साइड इफेक्ट्स हैं जो ऊपर सूचीबद्ध नहीं हैं, पर आपको उनका अनुभव हो सकता है। यदि आपको किसी भी साइड इफेक्ट के बारे में कोई चिंता है, तो कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श लें।

    और पढ़ें : एक ड्रिंक बचाएगी आपको हार्ट अटैक के खतरे से

    रिएक्शन

    कौन सी दवाएं लैक्टोबैसिलस के साथ परस्पर क्रिया कर सकती हैं?

    यह उन सभी दवाओं के साथ क्रिया कर सकती है जो आप वर्तमान में ले रहें हैं। जिसकी वजह से आपकी दवा के कार्य करने का तरीका बदल सकता है। किसी भी संभावित दवा के रिएक्शन से बचने के लिए, आपको उन सभी दवाओं की एक सूची बनाक रखनी चाहिए, जिनका आप उपयोग कर रहे हैं। इसमें डॉक्टर के पर्चे की दवाएं और गैर-पर्चे वाली दवाइयां भी शामिल हो सकती हैं। इसे अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। बगैर अपने डॉक्टर के निर्देश के दवा को शुरू या बंद ना करें।

    लैक्टोबैसिलस के साथ परस्पर क्रिया करने वाले उत्पादों में निम्नलिखित शामिल हैं:

    • एंटीबायोटिक दवा:

    एंटीबायोटिक का उपयोग शरीर में हानिकारक बैक्टीरिया को कम करने के लिए किया जाता है। एंटीबायोटिक शरीर में फ्रेंडली बैक्टीरिया को भी कम कर सकते हैं। लैक्टोबैसिलस एक प्रकार का फ्रेंडली बैक्टीरिया है। लैक्टोबैसिलस के साथ एंटीबायोटिक लेने से लैक्टोबैसिलस का प्रभाव कम हो सकता है। इस क्रिया से बचने के लिए आप एंटीबायोटिक दवा (antibiotic medicine) के सेवन से कम से कम 2 घंटे पहले या बाद में लैक्टोबैसिलस उत्पाद का सेवन करें।

    • प्रतिरक्षा दमनकारी दवाएं :

    लैक्टोबैसिलस में जीवित बैक्टीरिया होते हैं। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली संक्रमण को रोकने के लिए शरीर में बैक्टीरिया के प्रभाव को नियंत्रत करती है। प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को कमजोर करने वाली दवाएं बैक्टीरिया से बीमार होने की संभावना को बढ़ा सकती हैं। प्रतिरक्षा प्रणाली को कम करने वाली कुछ दवाएं निम्नलिखित हैं:

    • अजैथोप्रिन (azathioprine)
    • बेसिलिक्सीमाब (basiliximab)
    • साइक्लोस्पोरिन (cyclosporine)
    • डेक्लिज़ुमाब (daclizumab)
    • मुरूमोनब-सीडी 3 (muromonab-CD3)
    • माइकोफेनोलेट (mycophenolate)
    • टैक्रोलिमस (tacrolimus)
    • सिरोलिमस (sirolimus)
    • प्रेडनिसोन (prednisone)
    • कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स (corticosteroids)

    और पढ़ें : चिंता और निराशा दूर करने का अचूक तरीका है गार्डनिंग

    खुराक

    आपातकाल की स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

    आपातकाल की स्थिति में, अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने निकटतम अस्पताल में जाएं।

    कोई खुराक भूलने पर क्या करें?

    यदि आप दवा की कोई खुराक भूल गए हैं तो खुराक याद आते ही इसे जल्द से जल्द लें। यदि आपकी अगली खुराक का समय आ गया है, तो छूटी हुई खुराक को रहने दें और अपनी नियमित खुराक निर्धारित समय पर ले लें। दोहरी खुराक न लें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Mayank Khandelwal


    Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित · अपडेटेड 07/10/2020

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement